अपना मुठ बहन की बुर में गिराया सेक्स के बाद

(Apna Muth Bahan Ki Bur Me Giraya Sex Ke Baad)

हेलो दोस्तों मेरा नाम अजय है. मैं MBA की पढाई कर रहा हूँ. वह मेरा एक फ्रेंड सर्किल है जिसमे कुछ लड़कियां भी है. उसमे एक लड़की है जिसका नाम शिल्पी है. शिल्पी की उम्र २३ साल है और उसका फिगर बहुत अच्छा है. उसके चुच्चे बहुत बड़े बड़े है जो हमेशा कपड़ो से बाहर निकलना चाहते है. वो मुझे अपना भाई बोलती थी. एक बार हमदोनो कॉलेज से लौट रहे थे और रस्ते में काफी बारिस हो गयी. हमदोनो पूरी तरह भींग गए. Apna Muth Bahan Ki Bur Me Giraya Sex Ke Baad.

किसी तरह हम गर्ल्स हॉस्टल पहुंचे. शिल्पी मुझे अपने कमरे में ले गयी क्यूकी बारिश काफी तेज हो रही थी. शिल्पी ने आज एक वाइट शर्ट और ब्लैक पैंट पहना था. शर्ट बहुत टाइट थी जिससे उसकी चूचियों का साइज पता चल रहा था. शर्ट गीली होने की वजह से उसके बदन से चिपक गयी थी. उसकी ब्लैक कलर की ब्रा शर्ट के ऊपर से दिख रही थी साथ ही साथ काफी चूचियां नंगी दिखाई दे रही थी. वो एक टॉवल लायी और मेरा सर पोछने लगी.. भैया आप तो काफी भींग गए हो ….अपनी टीशर्ट उतार दो. उसने मेरी टीशर्ट उतार दी और मुझे टॉवल से पोछने लगी.                              “Apna Muth Bahan Ki Bur”

मैंने बोला शिल्पी तुम भी काफी भींग गयी हो आओ मैं पोछ देता हूँ. मैंने टॉवल लिए और उसके बालो को पोछने लगा. फिर मैं कपड़ो के ऊपर से छाती को पोछने लगा. मैंने धीरे से उसकी चूचियों को भी दबा दिया, उसने कोई रिस्पांस नहीं दिया.. शिल्पी तुम्हारी शर्ट उतार देता और ठीक से पोछ देता हूँ. उसने बोला ठीक है. मैं उसके शर्ट के बटन खोलने लगा.हर बटन्स के साथ उसकी बड़ी बड़ी चूचियां नंगी होती जा रही थी. मैंने उसकी शर्ट उतार दी अब वो सिर्फ ब्लैक कलर की ब्रा में थी. आधे से ज्यादा चूचियां उसकी नंगी दिख रही थी. उसे इस हाल में देख कर मेरा लंड अकड़ने लगा. शिल्पी बोली भैया आपका पैंट भी काफी भींग गया है मैं इसे उतार देती हूँ.              “Apna Muth Bahan Ki Bur”

उसने मेरी पैंट उतार दी. अब सिर्फ मैं अंडरवियर में था. मेरे अंडरवियर में तम्बू बना हुआ था. शिल्पी ने उसे देखकर मुस्कुराने लगी और मेरे लंड को पकड़ लिया. शिल्पी: हाय भैया लगता है आपका हथियार अपनी बहन को देख कर खड़ा हो गया. मैं: हाँ शिल्पी तेरे बड़े बड़े बॉल्स देख कर ये अकड़ रहा है शिल्पी: ठीक है भैया मैं इसकी अकड़न दूर कर देती हूँ उसने मेरी अंडरवियर उतार दी. मेरा ९” का लौड़ा देख कर वो चौक गयी. हाय भैया कितना बड़ा हथियार है आपका. मैं: तुझे पसंद आया क्या शिल्पी: हाँ भैया बहुत मोटा और लम्बा लंड है आपका. इसको तो मैं बहुत प्यार करूंगी शिल्पी ने मेरा लंड मुंह में ले लिया और ब्लोजॉब देने लगी. वो बहुत जोर जोर सक कर रही थी. ५ मिनट में ही मैं झड गया. मैंने शिल्पी को पीछे से पकड़ लिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा… अह्ह्ह्हह्हह भैया और दबाओ इन्हे… चूस लो.

मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसकी चूचियों को बारी बारी दबाने लगा… फिर मैंने उसकी पैंट उतार दी और चड्डी के अंदर हाथ डाल उसकी बूर को सहलाने लगा. उसकी बूर काफी गीली हो चुकी थी. भैया प्लीज अपनी बहन को अपनी रंडी बना लो… और खूब चोदो मुझे. मैंने अपना लौड़ा धीरे से उसकी बूर में डाल दिया. लंड बूर की दीवारों को चीरता हुआ आधा अंदर चला गया. शिल्पी बहुत तेज कराहने लगी.. उईईईईई मैं भैया फट गयी मेरी चुत… साली तुझे ही चुदना था अब खा मेरा लंड. मैं और तेज तेज धक्के मरने लगा. मैंने उसकी बूर पूरी फाड़ दी और अपना ९” लौड़ा अंदर घुसा दिया. मैं बहुत तेजी से शिल्पी को चोद रहा था. उसकी चूचियों को दबा दबा कर चोद रहा था…      “Apna Muth Bahan Ki Bur”

शिल्पी: आह्ह्ह्हह भैया बड़े दिनों से आपसे चुदना चाहती थी मैं…. आज मेरे बूर को ठंडक मिली है.. मैं: मुझे तो पहले से ही पता था… तू बहुत बड़ी रंडी है… अब देख कैसे चुदाई होती है तेरी शिल्पी: उउउउउउ भैया… फ़क योर सिस्टर … गिव मी योर बिग लंड … शिल्पी बहुत तेज मॉन कर रही थी. मेरा लंड बहुत तेजी से शिल्पी की बूर चोद रहा था. उसकी बाउंस होती मोटी मोटी चूचियां मेरा धक्को की रफ़्तार बड़ा देती थी. ओह्ह्ह्हह भैया फ़क माय पुसी… मेक योर सिस्टर कम.. और तेज भैया … चोदो अपनी रंडी बहन को… फाड़ दो मेरी चुत.. मैं: खा ले साली मेरा लंड…अह्ह्ह मैंने शिल्पी को बहुत चोदा और अपना मूठ उसकी बूर में ही गिरा दिया.                  “Apna Muth Bahan Ki Bur”