बगल वाली मस्त पड़ोसन 2

(Bagal Wali mast pasosan-2)

वो मेरे बालो में हाथ फिराते हुये मेरे को किस कर रही थी.

करीब 20 मिनिट तक हम ऐसेही किस कर रहे थे.

तो फिर मेनें उसके टॉप के अंदर हाथ डालके उसके दूध दबाने लगा.

वो भी आह्ह उउउउउउउम्म्म्म्मआआआ कर के मेरा साथ दे रही थी.

उसकी ये सेक्सी आवाज से मेरेको बहुत जोश मिल रहा था.

इसलिये में भी उतनि सिद्धत से उसके दूध दबा रहा था और टॉप के उपर से ही चुस रहा था.

वो बस आह्ह उउउउउउउम्म्म्म्मआआआ आह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह उउउउउउउम्म्म्म्मआआआ करने में लगी थी जिससे मेरेको उत्तेजना मिल रही थी.

मेनें उसका टॉप निकाल के फेक दिया और उसके दूध चूसने लगा.

वो भी मेरा पुरा साथ दे रही थी.

उसके बडे बडे बूब्स (bade boobs) देख कर में हैरान रेह गया.

में उसके बूब्स मेरे मूह में लेके चुसने लगा और बीच बीच में उसके निप्पल्स भी काट रहा था.

जब में उसके निप्पल काटता तो वो बडी कंसीन आवाज निकाल रही थी.

में कभी उसके लिप्स पे किस करता तो कभी उसके नाभी में मेरी जीभ डालके उसको चाटता था.

में बडे मझे से उसके बूब्स दबा रहा था. करीब 20 मिनिट के बाद में बूब्स दबाते दाबते उसके पॅंटी में हाथ डाल दिया.

उसकी चुत पुरी तरह से गिली हुई थी और पाणी छोड रही थी.

उसने भी मेरा शर्ट उतार दिया और मेरे चेस्ट पे मेरे निप्पल्स को कान्टने लगी.

मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था.

मेनें धीरे धीरे उसकी नायटी निकाल के फेक दी.

वो अभि बस पॅंटी में थी. ब्लॅक कलर कि पॅंटी में वो और जबरदस्त माल दिख रही थी.

उसने मेरी भी लोवर निकाल दी, में भी बस अंडरवियर में था. मेरा 7″ का लंड उसमे से पुरी तरह से खडा दिख रहा था.

में अब नीचे आगया था.

में पॅंटी के उपर से ही चुत को सहला रहा था.

वो बस आआआअह्हह्हह……ईईईईईईई….ओह्ह्ह्हह्ह….अई. .अई..अई….कर रही थी.

मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” आवाज से पुरी रूम में एक तरह का नशा छा गया था.

मेनें उसकी पॅंटी भी उतार दी और दोनो पैर के बीच में सेट हो गया वो भी पैर फैलाके मेरेको पुरा साथ दे रही थी.

उसकी गुलाबी चुत पुरी तरह से गिली हो चुकी थी.

खूब सारा कामरस उसकी चुत से बह रहा था.

उसकी वो गुलाबी चुत देख के मेरे मुह में भी पाणी आगया.

उसके चूत कि खुशबू मेरेको मदहोश कर रही थी.

मेने टाइम वेस्ट नही करते हुए झट से उसके चुत को मुह लागाया और उसका पुरा पानी पिगया.

अब में उसके चुत में मेरी जीभ डाल के उसकी चुत चुस रहा था और साथ में एक उंगली डाल के अंदर बाहर कर रहा था.

अनन्या पुरी तरह से पागल हो रही थी.

में उसके चुत के दलो को एक एक करते हुए बडे आराम से चुत कि मालिश कर रहा था.
आंटिया सेक्स के लिए mail kre @gaganmehra882@gmail.com

कहानी अगले अंक में जारी रहेगी..