Bahan Ke Samne Bhabhi Ki Gand Mari

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम समीर है, आप सब तो मुझे जानते ही है। आज में मेरी एक और नयी स्टोरी लिखता हूँ जिसको आप बहुत पसंद करेंगे। आपने मेरी सभी स्टोरीयों को पहले भी बहुत पसंद किया, ये स्टोरी सोनिया आंटी की चूत मारने के बाद शुरू होती है और नयी निशा भाभी और उनकी छोटी बहन नंदिनी की है। Bahan Ke Samne Bhabhi Ki Gand Mari.

यह स्टोरी तब शुरू हुई जब हमारे बाजू में एक नया कपल रहने आया था, उनकी नयी-नयी शादी हुई थी और वो करीब मेरी उम्र के ही होंगे, उनके पति का कुछ इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस था। फिर थोड़े दिन रहने के बाद उनकी हमारी फेमिली से जान पहचान हो गई और हमारे घर उनका आना जाना हो गया। फिर करीब थोड़े दिनों के बाद उस भाभी की छोटी बहन नंदिनी भी उनके साथ रहने को आ गयी, वो करीब 18 साल की होगी, वो 12वीं क्लास में पढ़ती थी,

वो भाभी की तरह ही बहुत सेक्सी थी, वैसे भाभी का फिगर 36-28-36 होगा और उसके बूब्स तो बहुत ही बड़े और सेक्सी थे, जब वो चलती थी तो उसके बूब्स हिलते थे और यह देखकर कोई भी मर्द मचल जाए और उसकी बहन भी उतनी ही सेक्सी थी। उसके भी बूब्स बहुत बड़े और सेक्सी थे।

उसका पति अक्सर महीने में 15-20 दिन बाहर रहता था और में जब भी उसके घर पर जाता था तो उसको देखता ही रहता था और उसको चोदने की सोचा करता था कि काश में इसको चोद सकूँ और घर आकर मुठ मारता था। में उसके बूब्स और गांड के बारे में सोच-सोचकर मुठ मारा करता था। में जब भी उसके घर जाता था तो मुझे ऐसा लगता था, वो उदास उदास रहती है।

फिर एक दिन जब में उसके घर गया, तो उसका घर का दरवाजा खुला हुआ था, तो में बेल बजाए बिना ही उसके घर में चला गया, तो मैंने देखा कि उसके घर में कोई नहीं है शायद वो बाथरूम में थी। तो में सोफे पर जाकर बैठ गया तो मैंने देखा कि वहाँ एक सेक्सी किताब पड़ी थी।

फिर मैंने उसको उठाकर देखा तो उसमें सेक्सी फोटो थे, तो में उसको देखकर एकदम गर्म हो गया और फिर मैंने वो किताब वही पर रख दी। अब भाभी बाथरूम में थी, तो में उसकी तरफ चल पड़ा और बाथरूम में कहाँ से देखा जाए? यह देखने लगा। फिर जब मैंने बाथरूम में देखा, तो भाभी पूरी नंगी होकर नहा रही थी और अपने पूरे बदन पर साबुन लगाकर अपने बूब्स और चूत को रगड़ रही थी।

अब यह सब देखकर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था। अब भाभी अपनी चूत में 2 उंगलियाँ अंदर बाहर कर रही थी। फिर यह देखकर में तुरंत अपने घर पर आ गया और अपने रूम में आकर अपनी पेंट उतारकर अपना पूरा लंड बाहर निकाला और मुठ मारने लगा, अब मुझे पता लग गया था कि भाभी को क्या चाहिए?

फिर कुछ दिनों के बाद मेरे घरवाले 1 हफ्ते के लिए बाहर घूमने गये, लेकिन में नहीं गया, क्योंकि मुझे पता था कि अकेला रहकर शायद भाभी को चोद सकूँ, क्योंकि उसका पति भी 15 दिन के टूर पर बाहर गया था, तो वो और उसकी बहन अकेली थी। अब मेरे घरवाले भी बाहर गये, तो मेरी मम्मी ने भाभी से कहा कि 1 हफ्ते के लिए तुम इसका खाना बना देना। फिर भाभी ने कहा कि कोई बात नहीं यह मेरे यहाँ खाना खा लेगा,

तो में ये सुनकर खुश हो गया और पहले दिन रात को खाना खाने के बाद मैंने भाभी को हमारे फ्लेट की चाबी दे दी और कहा कि कल मॉर्निंग में मुझे उठा देना, में देर से उठता हूँ और लेट हो जाता हूँ। फिर भाभी ने कहा कि कोई बात नहीं में तुमको उठा दूँगी और में उनको चाबी देकर अपने फ्लेट पर आ गया। फिर भाभी सुबह मुझे जल्दी जगाने आ गयी। अब मेरा लंड हार्ड था, अब में भाभी के बारे में सोचने लगा था तो मेरा लंड और कड़क हो गया तो मैंने अपना शॉर्ट उतारा और भाभी को याद करके मुठ मारना शुरू कर दिया।                 “Bhabhi Ki Gand”

अब में मुठ मारने में मस्त था, तो तभी अचानक से मेरे बेडरूम में भाभी मुझे उठाने को आ गई। अब में मुठ मारने में इतना मस्त था कि मुझे पता ही नहीं चला कि भाभी कब आ गई? तो उसने मुझे देखा और कहा कि क्या कर रहे हो? तो में एकदम से घबरा गया और अपना शॉर्ट पहनने लगा। फिर भाभी मुस्कुराई और कहा कि तुम्हारा तो बहुत बड़ा है इतने बड़े लंड को हिला-हिलाकर क्यों तंग कर रहे हो?

तो मैंने भाभी से कहा कि यह मुझे बहुत तंग करता है इसलिए इसे हिला रहा हूँ। फिर उसने कहा कि में इसका आज से तंग करना बंद करवा दूँगी, क्योंकि मुझे मेरी चूत भी बहुत तंग करती है, वैसे तुम्हारा तो बहुत ही सेक्सी है और तुम खुद भी बहुत सुंदर हो और कोई भी लड़की तुमको देख ले तो वो तुमसे चुदवाना चाहेगी और फिर वो मेरे पास आई और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर प्यार करने लगी और उसको अपने मुँह में लेकर मुठ मारने लगी। अब मेरा लंड तो पहले ही गर्म था तो मेरा वीर्य जल्दी ही आ गया। अब भाभी का पूरा मुँह भर गया था और वो मेरा सारा पानी पी गई थी।

फिर भाभी ने मुझसे कहा कि तुम उसकी बहन जाने के बाद आना, आज में इसका तंग करना बंद कर दूँगी, तो में खुशी के मारे उछल पड़ा। फिर करीब 12 बजे में उनके घर गया, तो भाभी अकेली ही थी, तो में जाकर सोफे पर बैठ गया। फिर थोड़ी देर के बाद भाभी आई तो उसने आज बहुत ही सेक्सी ड्रेस पहनी थी। मुझे लगता था कि आज उसने उसकी छोटी बहन की मिनी स्कर्ट और टाईट टॉप पहना था, वो उसमें कमाल की सेक्सी लग रही थी और फिर वो मेरे पास आकर बैठ गई।                             “Bhabhi Ki Gand”

फिर मैंने उसके हाथ पर अपना हाथ फैरना शुरू कर दिया और उसके बूब्स को भी रगड़ने लगा था। फिर धीरे-धीरे भाभी भी गर्म होने लगी और मुझे किसिंग में साथ देने लगी थी। अब में उसका स्कर्ट उतारकर उसकी चूत को रगड़ रहा था, आज उसने ब्रा और पेंटी नहीं पहनी थी। अब वो पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी और में भी पूरा नंगा हो चुका था। अब वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी थी।

अब में भी पूरा गर्म था और मेरा लंड पूरा तन गया था। अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैंने उससे कहा कि चलो अब मुझे तुम्हारी चूत मारनी है। तो उसने कहा कि मैंने कब मना किया? मेरी चूत कई दिनों से प्यासी है, तुम्हारे भैया इसको चोदते ही नहीं है और जब चोदते है तो जल्दी से पानी छोड़ देते है और में प्यासी ही रह जाती हूँ। में तो कब से तुम्हारे पास चुदवाने का मौका ढूढ़ रही थी और यह कहकर वो मेरे साथ लिपट गई।                                                          “Bhabhi Ki Gand”

फिर मैंने उसकी दोनों टांगो को अपने कंधे पर रख लिया और अपना लंड उसकी चूत के टॉप पर रखकर एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया। फिर जैसे ही मेरा पूरा लंड उसकी चूत में गया तो वो चिल्ला पड़ी और कहा कि धीरे करो मेरी चूत अभी भी टाईट है, यह फट जाएगी, मैंने अभी भी बहुत कम बार चुदवाया है। सच में उसकी चूत अभी भी टाईट थी और फिर में सोफे पर ही धक्के लगाने लगा।                         “Bhabhi Ki Gand”

अब वो भी मस्ती में घूम रही थी और कह रही थी बहुत मज़ा आ रहा है मेरे राजा, चोदो ज़ोर से चोदो, आआआआआअहह मार डालो, आआआआआहह फाड़ डालो, मेरे राज़ा बजा दे मेरी चूत का बाजा, आआआहह और चोदो और चोदो, मैंने कई दिनों से नहीं किया है, आआआआअहह समीर, मेरे राजा चोद दे अपनी भाभी को, आआआआआहह ज़ोर से कर, आआआआअहह फक मी।          “Bhabhi Ki Gand”

अब तक भाभी दो बार झड़ चुकी थी और करीब 20 मिनट के बाद मेरा भी पानी निकल गया और में सोफे पर ही बैठ गया और वो मेरे बाजू में बैठ गई थी। फिर थोड़ी देर के बाद वो फिर से मेरे लंड को पकड़कर रगड़ने लगी, तो मेरा लंड फिर से टाईट होने लगा। फिर तब मैंने कहा कि मुझे आपकी गांड मारनी है, में आपकी गांड का दीवाना हूँ। फिर उसने कहा कि में गांड नहीं मवाऊंगी क्योंकि मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है और तुम्हारा तो लंड भी बहुत बड़ा है, मेरी गांड फट जाएगी और फिर में ठीक से बैठ भी नहीं पाऊँगी।

तो मैंने कहा कि कुछ नहीं होता है में आपको धीरे-धीरे चोदूंगा। फिर थोड़ी देर मना करने के बाद वो मान गई और फिर में पहले उसकी गांड पर अपना थूक लगाकर अपनी एक उंगली अंदर बाहर करने लगा। फिर मैंने उससे कहा कि थोड़ी क्रीम या तेल लेकर आओ, तो वो तेल लेकर आई, तो मैंने थोड़ा तेल उसकी गांड पर और थोड़ा तेल अपने लंड पर लगाया और उसको सोफे पर उल्टा करके उसकी गांड को अपनी साईड पर रखकर मेरा लंड टारगेट की और बड़ा दिया और उसकी गांड के छेद में अपना लंड डालने लगा।               “Bhabhi Ki Gand”

अब मेरा लंड उसकी गांड में नहीं जा रहा था और उसको दर्द भी बहुत हो रहा था। अब वो मना कर रही थी कि मुझे गांड नहीं मरवानी, तुम मेरी चूत मार लो, लेकिन मेरी गांड मत मारो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और एक ज़ोरदार झटका दिया, तो जैसे ही मैंने झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया और जैसे ही मेरा लंड घुसा, तो वैसे ही उसकी छोटी बहन का घर में घुसना हुआ और मेरा लंड घुसते ही भाभी ने एक ज़ोरदार चीख मारी आआआआअहह समीर में मर गई, बाहर निकाल, आआआअहह मेरी गांड फट जाएगी, प्लीज मेरी गांड मत फाड़, आआअहह में मर गई, उउऊईई माँ, प्लीज अपना लंड बाहर निकाल।              “Bhabhi Ki Gand”

अब यह सब देखकर उसकी बहन की आँखें खुली की खुली रह गई थी और फिर मैंने जानबूझकर उसकी बहन के सामने ही और एक ज़ोर से झटका दिया, तो वो फिर से चिल्लाई और अपनी बहन को देखकर घबरा गई, लेकिन उसकी बहन भी चुदक्कड़ रंडी थी। फिर उसके बाद उसकी बहन ने बोला कि डरने की कोई बात नहीं है, में किसी को भी कुछ नहीं बताऊँगी। फिर मैंने भाभी को उसकी बहन के सामने चोदा और उसकी बहन ने भी खूब मजा लिया ।                                                         “Bhabhi Ki Gand”

Loading...