बहन ने चूत पर तेल लगा कर बुलाया चोदने को

(Bahan Ne Chut Par Tel Laga Kar Bulaya Chodne Ko)

मेरा नाम नितेश है में जौनपुर का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 32 वर्ष है। मेरे पिताजी रिटायर हो चुके हैं और अब वह घर पर ही रहते हैं। मेरी एक छोटी बहन भी है उसका नाम दामिनी है उसको लेकर हम लोग काफी परेशान हैं। उसका हमारे पड़ोस में रहने वाले एक लड़के के साथ अफेयर चल रहा था। हमने उन दोनों को कई बार समझाने की कोशिश की लेकिन वह लोग उसके बावजूद भी माने नहीं। उसके बाद मेरे पिताजी को कड़ा रुख अपनाना पड़ा और जब उन्होंने गुस्से में यह बात मेरी बहन को कहीं तो वह काफी डर गई और उसके बाद वह उस लड़के से नहीं मिली। मुझे भी वह लड़का बिल्कुल पसंद नहीं था क्योंकि एक तो वह कुछ भी नहीं करता और दूसरा मोहल्ले में कोई भी उसकी तारीफ नहीं करता था जिस किसी के भी मुंह से सुन लो सिर्फ उसके बारे में बुरा ही सुनने को मिलती इसी वजह से हम लोग अपनी बहन को उससे दूर रहने के लिए कहते थे लेकिन ना जाने उन दोनों की मुलाकात कैसे हो गई और उनके बीच में नजदीकियां बढ़ने लगी इस बात से मेरे मम्मी पापा बहुत ही चिंतित थे। Bahan Ne Chut Par Tel Laga Kar Bulaya Chodne Ko.

मैंने एक दिन अपने पापा से कहा कि हम लोग बुआ के पास लखनऊ चलते हैं काफी समय से हम लोग उन्हें मिलने भी नहीं गए हैं। बुआ का मुझे फोन आया था और वह कह रही थी कि तुम लोग लखनऊ आ जाओ। पापा कहने लगे ठीक है कुछ समय बाद हम लोग उनके पास चले जाएंगे। हम लोगों ने सोचा चलो इस बहाने घूमना भी हो जाएगा और मेरी बुआ से भी मुलाकात हो जाएगी। कुछ समय बाद हम लोग लखनऊ चले गए। जब हम लोग ट्रेन में बैठे हुए थे तो मेरी बहन भी हमारे साथ थी मुझे उसका बहुत ध्यान रखना पड़ रहा था क्योंकि मुझे डर था कि कहीं वह उस लड़के से फोन पर बात ना कर ले इसलिए मैं उसे अपने साथ ही रखता। मैं उस पर बहुत ध्यान रख रहा था।

जब हम लोग लखनऊ पहुंचे तो मेरी बुआ हमारा बेसब्री से इंतजार कर रही थी हम लोग जब वहां पहुंच गए तो वह हमें देखकर बहुत खुश हो गई। अब हम लोग आपस में बैठकर बात कर रहे थे। मेरे मौसा जी भी वहीं बैठे हुए थे और उनके बच्चे भी सब लोग बैठे हुए थे। उस दिन सब लोग बहुत खुश थे लेकिन अगले दिन तो जैसे हमारे ऊपर मुसीबत ही आन पड़ी हो। दामिनी का कहीं अता पता ही नहीं था। हम लोग उसे इधर-उधर ढूंढने लगे लेकिन वह कहीं नहीं मिली मुझे तो शक उस लड़के पर हो रहा था कि कहीं वह उसके साथ भाग ना गई हो। जब उस दिन नहीं मिली तो हम लोगों ने पुलिस स्टेशन में जाकर कंप्लेंट करवा दी लेकिन फिर भी उसका कुछ दिनों तक पता ही नहीं चला। “Bahan Ne Chut Par”

हम लोग बहुत परेशान हो गए। मेरे पिताजी कहने लगे कि मैं घर चले जाता हूं और एक बार वहां भी देख लेता हूं। तुम लोग उसे यहां भी ढूंढते रहो। मेरे पिताजी घर वापस लौट गए और हम लोग लखनऊ में ही रुके हुए थे। हम लोगों ने उसे काफी ढूंढा और पुलिस भी उसको ढूंढ कर रही थी परंतु उसका कहीं अता-पता नहीं था। जब मेरे पापा घर पहुंच गए तो मेरे पापा का फोन आया और वह कहने लगे कि दामिनी तो घर आ चुकी है। हम लोगों ने भी जल्दी से अपना सामान पैक किया और हम लोग भी से जौनपुर वापस पहुंच गए। जब हम लोग जौनपुर पहुंचे तो मैं तो दामिनी पर बहुत ज्यादा गुस्सा था। मैंने उसको पूछा तुमने ऐसा क्यों किया? पहले तो वह कुछ भी नहीं कह रही थी लेकिन जब उसने बोलना शुरू किया तो जैसे उसने रुकने का नाम ही ना लिया हो।

वह कहने लगी मेरा तो बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था और मेरा दम भी घुटने लगा इसलिए मैं वापस जौनपुर चली आई। मैंने दामिनी से कहा हम लोग कितना ज्यादा चिंतित हो गए थे। क्या तुम हमारे बारे में कभी सोचती भी हो। वह कहने लगी कि आप तो मेरे बारे में बिल्कुल नहीं सोचते। मैं अनुराग से प्रेम करती हूं और आप मुझे उससे कब तक दूर रखेंगे। मैं तो उससे ही शादी करूंगी। उसने तो जैसे जिद ही पकड़ ली थी लेकिन मैं भी अनुराग से उसकी शादी नहीं होने देना चाहता था क्योंकि मुझे उसके बारे में सब कुछ पता था वह सिर्फ लड़कियों के साथ फ्लर्ट करता है वह किसी के साथ भी प्यार नहीं करता। मैं अपनी बहन को बर्बाद होते हुए नहीं देख सकता था। मैंने भी एक दिन उसकी असलियत अपनी बहन के सामने खोल दी। जब मेरी बहन को यह बात पता चली तो उसे बहुत ही दुख हुआ लेकिन उसके बाद भी दामिनी ने हिम्मत नहीं हारी और धीरे धीरे वह पहले जैसे होने की कोशिश करने लगी। हम लोगों ने भी उसका बहुत साथ दिया और जब वह पूरी तरीके से नॉर्मल हो गई तो हम लोग भी बहुत खुश हो गए। “Bahan Ne Chut Par”

वह अब हमारे साथ पहले की तरह ही बात करने लगी थी और हम लोगों ने भी पुरानी बात को भुला दिया था। मुझे इस बात की खुशी थी कि दामिनी अब पहले जैसी हो चुकी है और वह अब अच्छे से बात करने लगी है। एक दिन रात को मैं दामिनी के कमरे में गया तो वह नंगी लेटी हुई थी उसने अपनी चूत पर तेल लगाया हुआ था। मैं उसकी तेल लगी चूत को देखकर पूरी तरीके से मड मे आ गया। मैंने उसे कहा तुम यह क्या कर रही हो। वह कहने लगी भैया यह तो हर इंसान के लिए जरूरी है मेरी चूत में खुजली हो रही थी तो मैंने अपनी चूत में तेल लगा लिया और अपनी चूत के अंदर मैंने उंगली डालना शुरू कर दिया मुझे ना जाने कब नींद आ गई मुझे कुछ पता ही नहीं चला। मैंने जब उसकी चूत मे अपनी उंगली को लगाया तो वह मजा लेने लगी मैंने भी उसकी चूत के अंदर अपनी उंगली डालनी शुरू कर दी वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो गई थी। “Bahan Ne Chut Par”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

वह मुझे कहने लगी भाई अब आप मेरी तल लगी चूत मे अपने लंड को डाल दो। मैंने भी ज्यादा देर नहीं की और अपने लंड बाहर निकालते हुए उसकी चिकनी चूत के अंदर प्रवेश करवा दिया जैसे ही मेरा मोटा लंड उसकी योनि में गया वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो गई। वह मुझे कहने लगी मुझे आपके साथ संभोग करके बहुत अच्छा लग रहा है। मैंने उसे तेज गति से धक्के देना प्रारंभ कर दिया दामिनी मुझे कहने लगी भैया यदि आप पहले ही बोल देते तो मैं कहीं बाहर अपनी चूत नहीं मरवाती और आप लोगों को इतना शर्मिंदा नहीं होना पड़ता। उसकी चूत मारकर मुझे बड़ा मजा आ रहा था और उसके साथ सेक्स करना मेरे लिए जैसे बड़े ही मजे की बात थी मुझे नहीं पता था उसका हुस्न इतना ज्यादा सेक्सी है।

म उसकी चूत के पूरे मजे ले रहा था वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और जिस प्रकार से वह मुझे अपनी ओर आकर्षित करती मैं भी उसे तजी से चोदता जाता। मेरा लंड उसकी योनि के अंदर बाहर हो रहा था उसे बहुत ही मजा आ रहा था। वह मुझे कहने लगी मुझे मुझे आप ऐसे ही चोदते रहो आपके मोटे लंड ने मुझ पर पूरी तरीके से जादू कर दिया है मेरी इस तेल लगी चूत मे आपका लंड लेकर मुझे बड़ा ही मजा आ रहा है। मैंने भी उसे तेज गति से धक्के मारे जिससे कि उसका पूरा बदन गर्म होने लगा था। जब उसकी योनि से कुछ ज्यादा ही गर्मी बाहर निकलने लगी तो मेरा वीर्य उसकी टाइट योनि के अंदर जा गिरा। मैंने भी उसे कहा तुम्हें जब भी जरूरत हो तुम मुझे बता देना। उसके बाद में उसकी इच्छा पूरी कर दिया करता। हम दोनो बहुत ही ज्यादा खुश है वह कहीं भी बाहर अपनी चूत नहीं माराती। “Bahan Ne Chut Par”

पहले हम लोग उसकी वजह से काफी परेशान थे परंतु अब हम लोग बहुत ही खुश हैं। मैं तो कुछ ज्यादा ही खुश हो गया हूं जिस प्रकार से मैं उसे चोदता हूं वह मेरी इच्छा को पूरी करती है। मैं उसके बिना अब रह नहीं सकता मैं सुबह और शाम को उसे एक एक शॉट मारता हूं उसके चेहरे पर भी बहुत ज्यादा चमक आने लगी है यह चमक मेरे वीर्य की ही है क्योंकि मैंने अपने वीर्य को कई बार उसकी योनि के अंदर डाल दिया है। हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत खुश हैं। मैं उसका पूरा ख्याल रखता हूं और उसे सेक्स की कोई कमी नहीं होने देता यह बात हम दोनों के बीच तक ही सीमित है। “Bahan Ne Chut Par”

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!