बहन की चुदाई के साथ फैशन शो-1

Behan ki chudai ke saath fashion show-1

हैल्लो दोस्तों, आप सभी की सेक्सी कहानियाँ पढ़ने के बाद मैंने भी अपने जीवन का एक अनुभव आप सभी के साथ शेयर करने का मन बनाया है और अब में आप सभी को अपनी सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ.

यह बात आज से 1 साल पहले की है, मेरे घर में मेरे अलावा, मम्मी, पापा और एक बड़ी बहन रहती है, जिसकी उम्र तब 20 साल होगी और में कोई 18 साल का था. मेरी मम्मी और बहन जितनी मॉडर्न और बोल्ड थी, में उतना ही सीधा और शांत था. मेरे पड़ोस के कई लोग तो मुझे पहचानते भी नहीं थे, क्योंकि में आमतौर पर घर में रहना ही पसंद करता था, जबकि मेरी बड़ी बहन और मम्मी रोज़ाना मार्केटिंग पर जाती थी.

उन दोनों माँ- बेटी का बदन गदराया हुआ था और वो दोनों छोटी बड़ी बहन लगती थी. मेरे पापा सरकारी ऑडिटर होने के कारण अधिकतर टूर पर ही रहते थे. मेरी मम्मी और बहन बड़े खुले विचारो वाली थी और वो दोनों ही घर में बड़े बिंदास अंदाज़ में रहती थी. मेरी मम्मी को थोड़ी ब्लडप्रेशर की शिकायत थी तो इस कारण उनसे ज़्यादा गर्मी सहन नहीं होती थी इस कारण वह घर में बड़े और चौड़े गले का ब्लाउज और पेटीकोट पहने रहती या फिर नाइटी में घूमती. फिर वही मेरी बहन भी अपने बदन का भूगोल दिखाती रहती थी. उन दोनों के बदन के नज़ारे देखकर मुझे कहीं और मुँह मारने की कोई ज़रूरत ही नहीं पड़ती थी.

अब जब भी मम्मी घर का काम करती तो उनके सफेद मांसल स्तन उनका ब्लाउज फाड़कर बाहर आने को होते, तो वहीं मम्मी अपना पेटीकोट भी घुटनों के ऊपर तक उठा लेती, जिस वजह से मुझे मम्मी की सफेद केले के तने के समान गोरी जांघे भी दिखाई पड़ती रहती थी, लेकिन में जब भी उन्हें चोरी छुपे देखता, तो मेरी बहन मुझे घुरते हुए ही मिलती, तो इस कारण में अपनी निगाहें झुका लेता, तो कई बार वो हल्के से मुस्कुरा भी देती, लेकिन में उसके मन की बात भाप नहीं पाता था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सगे भाई से मेरा चुदाई का रिश्ता क्यों कब और कैसे हुआ पढ़िए

मेरी बहन ने गर्मियों में कॉलेज के समर कोर्स में ड्रेस डिज़ाइनिंग का कोर्स शुरू किया था और क्लास के आखरी में उसके कॉलेज में फैशन शो था, जिसमें मेरी बहन ने भी भाग लिया था. अब उसे अपनी खुद की डिज़ाइन की हुई ड्रेस पहनकर रेम्प पर शो देना था. अब नियम यह था कि जो भी ड्रेस बने वो महँगी ना हो और लेटेस्ट डिज़ाइन की मॉडर्न ड्रेस हो, तो मेरी बहन पूरा दिन सोचती रही कि क्या ड्रेस डिज़ाइन करे? लेकिन अब उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था और इसके अलावा उसे फैशन शो में रेम्प पर चलने की प्रेक्टीस भी करनी थी.

अब मम्मी होती तो ज़रूर कुछ अच्छा आइडिया देती, लेकिन मम्मी और पापा तो घूमने के लिए 10-12 दिनों के लिए बाहर गये थे. फिर तब उसने मेरी मदद माँगी, तो मैंने दिमाग़ पर ज़ोर देकर उसे अपने पुराने कपड़ो से कुछ नया करने का आइडिया दिया.

फिर वो कुछ सोचकर बहुत खुश हुई और मुझे घर के ऊपर बने स्टोर रूम में ले गयी. फिर वहाँ हमने पुराने कपड़ो के पोटले को खोला, जिसमें से उसके कोई 8-10 साल पुराने कपड़े मिल गये. मम्मी ने उन्हें शायद इसलिए संभाल रखा था, क्योंकि मेरी बहन का बदन बड़ी तेज़ी से विकसित हुआ था और उसके कई कपड़े उसे तब छोटे पड़ने लगे थे, तो किसी ज़रूरतमंद को देने के विचार से उन्हें मम्मी ने रोक लिया था और शायद उन्हें देना भूल गयी थी.

ख़ैर फिर हम कुछ ड्रेस लेकर नीचे आए और उन्हें साफ करके प्रेस करके उनसे कोई नयी ड्रेस बनाने का विचार शुरू कर दिया. अब एक स्कर्ट जो कि डेनिम का था, उसे हमने ढीला करके मेरी बहन की कमर के नाप का कर दिया, लेकिन उसकी लम्बाई बहन के कूल्हों पर चढ़ने के बाद वो मिनी स्कर्ट की ही रह गयी थी. अब में तो उसे इतनी छोटी मिनी स्कर्ट नहीं पहनने देना चाहता था, लेकिन उसने कहा कि वहाँ ड्रेस मॉडर्न होनी चाहिए और फिर वह लेडीस कॉलेज है, जहाँ केवल लेडीस ही होगी.

फिर इसके बाद उसने एक स्मोकिंग वर्क किया हुआ टॉप निकाला, अब उसको सभी साईड से ढीला करने के बाद भी वो उसकी बॉडी पर टाईट था तो तब वो बोली कि चल मेरी मदद कर और मेरा सही से नाप ले. फिर पहले तो में कुछ समझा नहीं, लेकिन जब वो अपने हाथ में इंच टेप लेकर मेरे सामने खड़ी हो गयी तो मैंने कहा कि मुझे नहीं आता.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  बहन बनी रोमेंटिक वाइफ

वो बोली कि यदि मेरी सहेलियाँ उस फैशन शो में भाग नहीं ले रही होती, तो वो मुझे तकलीफ़ नहीं देती, क्योंकि यदि उसकी सहेलियों को उसका यह आइडिया पता चल गया तो वो भी ऐसा ही कुछ ड्रेस तैयार करके प्रतियोगिता जीत जाएगी और यदि फिर भी मुझे कुछ तकलीफ़ है तो कोई बात नहीं, में अपना बॉडी का नाप गली के कोने वाले जेंट्‍स टेलर से करवा लूँगी या फिर शो से अपना नाम वापस ले लूँगी.

उसकी यह बातों को सुनकर मैंने अपने हाथ में इंच टेप ले लिया और कहा कि बताओ नाप कैसे लेना है? तो वह खुश हो गयी और बोली कि मुझे बिल्कुल फिक्स नाप चाहिए क्योंकि में ऐसी ड्रेस डिज़ाइन करूँगी, जो कि मेरे बदन को छुपाए कम और दिखाए ज़्यादा.

अब उसकी बातों को सुनकर में चुप सा हो गया था. फिर उसने तत्काल अपनी टी-शर्ट मेरे सामने ही खोल दी, जिसमें उसने एक लेडीस शमीज़ पहन रखी थी और उसमें से उसकी ब्लेक ब्रा की स्ट्रिप्स बाहर आ रही थी. फिर उसने बिना शर्म संकोच के मुझे नाप लेने का बोला, तो पहले तो में अपने हाथों को उसके बदन से बड़ी दूरी से ही कोशिश कर रहा था, लेकिन जब वो गुस्सा करके बोली कि तुम मेरे सगे भाई हो कोई गैर मर्द नहीं हो, तो में कुछ नॉर्मल हुआ.

मैंने उसके फिगर का सही से नाप लिया और उसने उसी मिनी स्कर्ट और शमीज में अपनी ड्रेस तैयार की, लेकिन जब उसने उसे ट्राई किया तो शायद वो सही से फिट नहीं रही, तो उसने मुझे फिर एक बार अपने सीने का नाप लेने को बोला और इस बार उसने अपनी शमीज भी उतार फेंकी, क्योंकि उसके अनुसार इसके कारण उसका सही नाप नहीं आ पा रहा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी ने सबको बचाया ठंड में मरने से-2

अब उसे केवल ब्लेक ब्रा में देखकर मेरे होश उड़ गये थे, उसके सफेद मांसल स्तन ऐसे लग रहे थे मानों उन्हें जबरदस्ती ब्रा में ठूस रखा हो. फिर मुझे इस तरह फटी-फटी आँखो से घुरते हुए देखकर वो बोली कि क्या पहले कभी किसी लेडी के सीने को नहीं देखा क्या? तो मेरे मुँह से बोल नहीं फूटे. फिर वो बोली कि मम्मी के सीने को तो बड़ी आँख फाड़-फाड़कर देखता है, क्यों है ना? नहीं देखता है क्या? अब में क्या जवाब देता? तो में चुपचाप अपनी निगाहें नीची किए देखता रहा.

वो बोली कि छोड़ में तो मज़ाक कर रही थी, चल फटाफट से मेरा सही नाप ले और इस बार के नाप में सही में कुछ अंतर आया है. फिर इसके बाद तो उसने नये नाप से जो ड्रेस तैयार की और उसे पहनकर जब वो मेरे सामने आई, तो में चौंक सा पड़ा. अब उसका पुराना सा स्मोकिंग ड्रेस काट छांटकर एक ऐसी डिज़ाइनर ब्रा का रूप ले चुका था, जिसमें मेरी बहन की छाती मुश्किल से समा रही थी.

अब ऐसा लग रहा था कि मानों अब फटा अब फटा और नीचे पहना मिनी स्कर्ट इतना छोटा था कि जरा सा झुकने पर उसकी सफ़ेद पेंटी दिखाई पड़ती थी और ऊपर नाभि से भी इतना नीचे बँधा था की 1 इंच और नीचे शायद उसके गुप्तांग ही दिखाई पड़ जाते. फिर इस प्रकार की उसने लगभग 4-5 ड्रेस तैयार की और अब इन सभी ड्रेस में उसके शरीर का पूरा मुआयना हो रहा था और ऊपर से वो थोड़ी मांसल देह की थी, लेकिन में खुद भी उसके बदन के भूगोल को निहारते हुए उसको अपने विचारो में लाकर दो बार मुठ मार चुका था.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!