भाभी के साथ लेस्बियन सेक्स-1

Bhabhi ke saath lesbian sex-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम लीना और मेरी उम्र 23 साल है और में जयपुर की रहने वाली हूँ. दोस्तों यह मेरी सेक्स की एक सच्ची घटना है और मेरा पहला सेक्स अनुभव भी है.

दोस्तों मेरी पहली चुदाई के समय मेरी उम्र 18 साल की उम्र थी और वो मेरा पहला अनुभव था, दोस्तों यह तब की घटना है जब में स्कूल में पड़ती थी और हमारे पड़ोस में एक बहुत ही मस्त सेक्सी भाभी रहती थी. उनका नाम आरती था और उनकी उम्र उस समय करीब 31-32 साल रही होगी. वो बहुत गोरी, सुंदर, उनके बूब्स के साथ साथ उनके कूल्हों का आकार भी बहुत आकर्षक था, इसलिए हमारे पड़ोस के बहुत सारे लड़को की उन पर अपनी गंदी नजर थी.

दोस्तों उनके अंदर बहुत सारी अच्छाईयां होने के साथ साथ उनका व्यहवार भी सभी के लिए बहुत अच्छा था और उस वजह से वो मुझसे बहुत हंसकर अपनी सभी तरह की बातें खुलकर कहा करती थी और इस वजह से मेरी उनसे मेरी बहुत ही कम समय में बहुत अच्छी दोस्ती हो गयी थी और हम दोनों का हर कभी एक दूसरे के घर पर आना जाना लगा रहता था. दोस्तों उनके पति किसी विभाग में सरकारी नौकरी पर थे और वो हमेशा दिन के समय घर में बिल्कुल अकेली रहती थी और इसलिए में स्कूल से आने के बाद अक्सर दोपहर के समय उनके पास चली जाती थी. फिर हम दोनों के बीच बहुत हंसी मज़ाक और गपशप चला करती थी.

एक दिन में हर दिन की तरह दोपहर के समय उनके घर पर चली गयी तो मैंने देखा कि वो उस समय एक गाउन पहने हुए थी और उस गाउन में से उनकी ब्रा, पेंटी और शरीर का बहुत सारा हिस्सा साफ साफ नजर आ रहे थे. फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या बात है आज आप अभी तक नहाई नहीं? तो वो बोली कि यार में आज ब्यूटी पार्लर जाने की सोच रही हूँ और अब मैंने उनसे पूछा कि क्यों? तो उन्होंने उसी समय मुझे अपने हाथ दिखाते हुए वो मुझसे कहने लगी कि मुझे वेक्सिंग करनी है, देखो मेरे बाल बहुत ज्यादा बड़े हो गये है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhabhi aur behan ki chudai ek sath

अब मैंने उनको कहा कि क्या में आपकी कुछ मदद कर दूँ? फिर वो पूछने लगी तुम क्या मदद करोगी? मैंने कहा कि आप जो भी कहोगी में आपकी उस काम में मदद कर सकती हूँ और फिर उन्होंने कहा कि हाँ और उन्होंने मुझे उनकी वेक्सिंग में मदद के लिए बोला, उसके बाद सबसे पहले मैंने उनके दोनों हाथों में वेक्स लगाया और हाथों का काम ठीक तरह से किया, जिसको देखकर वो बहुत खुश हुई और वो मुझसे बोली कि चलो अब तुम मेरे दोनों पैरों की भी लगे हाथ सफाई कर दो, तो मैंने तुरंत उनको हाँ कर दिया और अब वो मेरे सामने अपने दोनों पैरों को पूरा खोलकर मतलब अपने गाउन को ऊपर करके मेरे सामने बैठ गयी तब मैंने देखा कि उनके पेर बहुत गोरे और सुंदर थे, मुझे उनको इस हालत में देखकर बहुत अजीब लग रहा था.

उस समय मेरी नजर उनकी चूत की तरफ चली गई तब मुझे पता चला कि उन्होंने गुलाबी रंग की पेंटी पहनी हुई थी जो बहुत ही पतले कपड़े की सेक्सी पेंटी थी, जिसमे से उनकी चूत हल्की सी नजर आ रही थी और तब में पहली बार किसी को इस तरह अपने सामने नंगी देखकर अपने आपको बहुत ही उतेज़ित महसूस कर रही थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने उनके पैरों पर वेक्स लगाना शुरू किया. तब मेरी बहुत इच्छा हो रही थी कि में उनसे सेक्स के बारे में कुछ बातें करूँ और चुदाई के बारे में कुछ बातें पूछ लूँ, लेकिन में उतनी हिम्मत नहीं कर पा रही थी और में बार-बार उनकी पेंटी से बाहर झांकती और उनकी साफ चूत को देखकर सोच रही थी कि इसमे हर रात को भाईसाहब का लंड जाता होगा और में जिन पैरों को छू कर रही हूँ उन्हे किसी मर्द ने भी मुझसे पहले बहुत बार छुआ होगा और में यह सभी बातें सोचकर गरम हो रही थी. तभी आरती मुझसे कहने लगी कि में भी उससे वेक्सिंग करवा लूँ, लेकिन मैंने उसको मना कर दिया और फिर वो अचानक मुझसे पूछने लगी कि क्या में अंदर के बाल साफ करती हूँ? तो में उसके मुहं से वो बात सुनकर शरमाने लगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी की चुदाई बुड्ढे ने की-2

उसके बाद मैंने उसको बताया कि कैची से में कभी-कभी अपने बालों को काटती हूँ. अब वो मुझसे पूछने लगी क्या मेरा कोई बॉयफ्रेंड है? तब मैंने वो बात सुनकर हंसकर उसको मना कर दिया और फिर वो मुझसे बोली कि तुम केंची से बाल मत कटा करो, वरना वो कड़क हो जाएँगे. फिर मैंने कहा कि मेरे बहुत कम बाल है और वो मुलायम भी बहुत है. दोस्तों में मन ही मन में सोच रही थी कि काश आरती एक बार मेरी चूत को देखे और उसको वो अपने हाथ से सहलाए और में उसकी पेंटी के अंदर अपने हाथ को डालकर मज़ा लूँ, फिर में यह बात सोचकर डर गयी कि उसके पास तो एक जवान पति है वो मेरे साथ ऐसा क्यों करेगी?

फिर मैंने उनकी वेक्सिंग का काम पूरा करके उससे पूछा कि वो अंदर के बाल कैसे साफ करती है? तो उसने मुझसे कहा कि उनके पास एक क्रीम है जिससे उनकी चूत बिल्कुल मुलायम रहती है ऐसा करने से मज़ा भी बहुत आता है. अब मैंने उससे पूछा कि अंदर के वो बाल साफ करने के लिए क्या भाईसाहब आपकी मदद करते है?

तभी वो हंसते हुए बोली हाँ, लेकिन वो ऐसा कभी कभी करते है हमेशा तो मुझे पूरी मेहनत करनी पड़ती है और अब मैंने उनसे थोड़ी सी हिम्मत करके बोला हाँ भाई साहब को आपके बाल चुभते होंगे इसलिए वो भी आपकी चूत को साफ करने में आपकी मदद करते है और वैसे तो मुझे अभी इसकी बिल्कुल भी जरूरत ही नहीं है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेच्योर भाभी की चूत चुदाई का मौक़ा मिला

आरती बोली कि में तो शुरू से ही यह काम करती चली आ रही हूँ. में उससे अपने दोनों हाथों के और चूत के बाल साफ करती हूँ. अब मैंने उससे कहा कि हाँ शायद जैसा आप कह रही हो वैसे ही आपकी चूत के बाल मुलायम होंगे इसलिए आप इतना दबाव देकर बता रही हो. फिर मेरी इस बात पर आरती बोली कि हाँ ऐसा ही है अगर तुम्हे मेरी बात पर विश्वास नहीं होता तो क्या तुम एक बार मेरे बालों को देखना चाहोगी, तुम कहो तो में दिखा दूँ? अब मैंने उसके मुहं से यह बात सुनकर तुरंत कहा कि हाँ और उन्होंने मेरे बस कहने की देर थी.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!