सामने वाली भाभी की चूत का कचूमर-2

Bhabhi ki choot ka kachumber-2

हम साथ में खाएगें तो हमे कुछ देर एक दूसरे का साथ मिल जाएगा, तो मैंने कहा कि हाँ ठीक है आप जैसा ठीक समझो, में चला आऊंगा उनसे यह बात कहकर में उनके साथ ही फ्लेट में चला गया और वो किचन में खाना बना रही थी में ड्रॉयिंग रूम में था और चुपके से उनको देखकर में मन ही मन खुश हो रहा था. तभी वो पीछे मुड़कर मेरी तरफ देखते हुए मुझसे बोली कि अमित तुम मुझे ऐसे क्या देख रहे हो?

मैंने कहा कि कुछ नहीं, तभी उन्होंने कहा कि क्या खाने से पहले कुछ ड्रिंक्स हो जाए? तब मैंने कहा कि हाँ ठीक है आपका यह बहुत अच्छा विचार है में अभी लेकर आता हूँ, तो वो बोली कि नहीं रहने दो क्योंकि घर पर पहले से ही आपके भाई साहब की रखी हुई है, में वो लाकर देती हूँ और फिर उन्होंने एक बहुत ठंडी बियर को लाकर ठीक मेरे सामने वाली टेबल पर रख दिया. फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या आप नहीं पियोगी?

तब उन्होंने कहा कि में यह सब नहीं पीती हूँ, लेकिन हाँ में आपके साथ में बैठकर सॉफ्ट ड्रिंक जरुर पी लूंगी और अब हम दोनों ने साथ में बैठकर पीते हुए बहुत सारी बातें हंसी मजाक किया और तभी में सही मौका देखकर धीरे धीरे उनके ज्यादा पास आने लगा और फिर में बिल्कुल उनके पास में बैठ गया.

वो मुझसे बहुत हंस हंसकर बातें मज़ा कर रही थी और कुछ देर बाद मैंने सही मौका देखकर अपने एक हाथ को उनके कंधे पर डाल दिया, तो वो मुझसे बोली कि अमित यह क्या कर रहे हो? चलो अब बहुत हुआ हमारा खाना भी अब ठंडा हो रहा है ठंडा खाना खाने में ज्यादा मज़ा नहीं आएगा, तो मैंने बोला कि आप प्लीज कुछ देर बैठो फिर में चलता है और फिर में उसके साथ मस्ती करने लगा और में जानबूझ कर उस मस्ती मस्ती में उनको इधर उधर छू रहा था और मज़े ले रहा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी चुद्द्कड़ बीबी मेरे दोस्त से रोज चुदाती है.

अब वो मुझसे कह रही थी कि अमित अब तुम प्लीज बस करो और यह सब जो तुम कर रहे हो बिल्कुल भी ठीक नहीं है, लेकिन में तब भी अपने काम में लगा रहा, जिसकी वजह से वो भी धीरे धीरे गरम होने लगी और तभी उसने मेरी पेंट पर अपना एक हाथ रख दिया और उस वजह से मेरा लंड तुरंत सन सना गया और लंड खड़ा होकर अब पूरी तरह से बाहर निकलने के लिए तड़पने लगा और भाभी जी मेरी पेंट के ऊपर से मेरे लंड को सहलाने लगी.

लंड बाहर निकलने को पागल हो गया और फिर उन्होंने मेरी पेंट की चेन को खोलकर मेरी पेंट को उतारने लगी और मैंने अपनी पेंट को खोल दिया और जल्दी से अंडरवियर को भी उतार दिया, जिसकी वजह से मेरा लंड झट से बाहर आ गया और वो उनके सामने तनकर खड़ा था और जब उन्होंने मेरे 6 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड को देखा तो वो एकदम पागल होकर उस पर टूट पड़ी और लंड को तुरंत अपने मुहं में लेकर चूसने लगी.

में भी उसको पकड़कर किस करने लगा और हम दोनों जोश में आकर बिल्कुल पागल हो चुके थे और हमें किसी भी बात का होश नहीं था और ना ही हम अब होश में आना चाहते थे, इसलिए हम दोनों उस मस्ती में लगे रहे.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर में धीरे धीरे उसको चूमता रहा और जब मुझे एहसास हुआ कि वो पूरी तरह से गरम हो चुकी थी तब सही मौका देखकर मैंने उसके कपड़े उतारने शुरू कर दिए और उसके कपड़े उतारने के बाद उसकी कोमल नाज़ुक जवानी को देखकर में थोड़ी देर एकदम दंग सा रह गया क्योंकि उसका फिगर बिल्कुल मस्त आकार का था और उसके फिगर का आकार यही कोई 30-28-30 होगा. उसके बूब्स तो बड़े मस्त गोलमटोल और गोरे गोरे थे जिसको देखकर में बड़ा चकित था और तभी मैंने देखा कि उसकी चूत भी बहुत कामुक नजर आ रही थी और उस पर एक भी बाल नहीं था और वो गुलाबी रंग की बड़ी ही रसीली चूत थी. फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दो भाभी की चूत गांड का मज़ा

में उसको अपना लंड मुहं में डालकर चुसवाने लगा. फिर वो मेरा लंड अपने मुहं में लिए करीब बीस मिनट तक लगातार किसी अनुभवी रंडी की तरह बहुत मज़ा लेकर चूसती रही. वो पहली बार यह सब कर रही थी, क्योंकि शर्मा जी ने कभी भी उसके साथ ऐसा नहीं किया था, लेकिन फिर भी वो किसी अनुभवी लड़की की तरह यह सब कर रही थी और उसके लंड चूसने में ही कुछ देर बाद मेरा पानी निकल गया, जिसको मैंने उसके मुहं में निकाल दिया और जिसको वो बहुत मज़े से चूसकर चाटकर गटक गई.

अब में बहुत जोश में आकर उसकी चूत को चाटने और चूसने लगा तो वो छटपटाने लगी और में अपनी जीभ को उसकी चूत में गहराई तक डालकर उसको अपनी जीभ से चोदने लगा. फिर कुछ देर बाद अब मेरा लंड एक बार फिर से लोहे की तरह सख़्त होकर तनकर खड़ा गया और में बहुत जोश में था तभी मैंने उसको बेड पर लेटा दिया और अपना लंड उसकी चूत के मुहं पर रखकर में धीरे धीरे अंदर डालने की कोशिश कर रहा था, लेकिन वो अंदर नहीं जा रहा था, क्योंकि उसकी चूत बहुत टाइट थी.

थोड़ी देर तक धीरे धीरे कोशिश करने के बाद मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रखकर में उसको किस करने लगा और उसी के साथ मैंने एक ज़ोर का झटका दिया जिसकी वजह से मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया और उसके मुँह से एक बहुत ज़ोर की चीख निकल गयी, लेकिन वो मेरे मुँह के अंदर ही दबकर रह गयी और अब में थोड़ी देर उसकी टाइट और रसीली चूत में अपना बड़ा और मोटा लंड डाले हुए बिना हिले उसके ऊपर पड़ा रहा और उसके बूब्स को दबाता रहा और उसको किस करता रहा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पड़ोसन की खूबसूरत चूत-1

फिर थोड़ी देर बाद उसको जब अच्छा लगने लगा तो मैंने धीरे धीरे झटके देना शुरू कर दिया और में उसकी बिल्कुल मस्त चूत में अपना मोटा, लंबा लंड अंदर, बाहर करके उसकी चुदाई करता जा रहा था और वो भी नीचे से उसके कूल्हे उठा उठाकर मेरे साथ मज़े लेकर मुझसे अपनी चुदाई करवा रही थी और उसके मुँह से सिसकियों की आवाजे आ रही थी.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!