भाभी की गांड का गुलाम-1

Bhabhi ki gand ka gulam-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम मोहन है, में एक बार फिर से एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ, जवान औरत से सेक्स करना और औरत को चोदना हर जवान लड़के का सपना होता है, जो मेरा भी था कि किसी मस्त जवान औरत की गांड और चूत मारी जाए और उसकी गांड में जीभ डालकर उसका रस चखा जाए.

औरत की भारी-भारी, कसी-कसी उठान लिए ब्लाउज में दूध से भरी चूचीयाँ (बूब्स) हमेशा हिलते हुई मुझे अपनी और आकर्षित करती थी और में उनको दबाने के सपनों में खो जाता था कि कब ब्लाउज के बटन खोलकर उन चूचीयों को आज़ाद करूँगा? ब्लाउज के हुक खोलकर ब्रा को हटाकर दोनों चूचीयाँ (बूब्स) अपने हाथों में लेकर दबाऊँगा? कब औरत के बूब्स स्तन मेरे हाथों में आएँगे? कब में भी उन निपल्स को अपने मुँह में लेकर पी पाउँगा? मौहल्ले की हर जवान गोरी सुंदर और प्यारी भाभी के बारे में सोचता था कि रात को यह कितना मज़ा लुटवाती होगी और लंड की सवारी करके रोज जन्नत घूमने जाती होगी.

हर भाभी भी मुझसे बहुत घुली-मिली थी और उन्हें कभी भी कोई काम होता तो उनका यह देवर हमेशा उनका काम करने को तैयार रहता था. फिर एक बार मेरे एक दूर के भैया हमारे यहाँ अपनी बीवी के साथ रहने आए.

ये बात एक रात की है, जब मुझे गर्मी के कारण नींद नही आ रही थी तो में ऐसे ही बाहर आँगन में निकलकर आ गया, तो सामने बेडरूम की खिड़की से हल्की ट्यूब लाईट की रोशनी बाहर आ रही थी, क्योंकि खिड़की के काँच पर कपड़ा पड़ा था, परंतु खिड़की का एक दरवाज़ा हल्का टेढ़ा खुला था ताकि साफ हवा कमरे में आ-जा सके. फिर मैंने सोचा कि भैया क्या पढ़ रहे है? तो मैंने बस हल्के से दबे पैर पास जाकर खिड़की के नीचे से अंदर देखा तो मेरी सांस जैसे रुक गयी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  जेठ ने खेला प्यार भरी चुदाई वाला खेल

अब भाभी पूरी नंगी होकर अपने पेट के बल लेटी थी और उनकी मस्त, मांसल गांड ऊपर की तरफ थी. अब भैया उनकी पीठ पर सरसों के तेल से मसाज कर रहे थे और साथ-साथ वो उनके चूतड़ की भी मसाज कर रहे थे. अब भाभी हल्के-हल्के अपने मुँह से आहह, सस्स्सस्स, आहह हमम्म्ममम, म्‍म्म्ममममम, ऊऊ की आवाजे निकाल रही थी.

जब भैया तेल लगाकर अपनी उंगली भाभी की गांड को फैलाकर उनकी गांड में अंदर घुसा डालते तो भाभी कह उठती धीरे-धीरे डालो बाबा दर्द होता है. अब भैया लुंगी पहने अपने दोनों हाथों से उनके ऊपर जाँघो पर बैठकर उनके दोनों चूतड़ों की मसाज कर रहे थे. अब भाभी अपनी गांड की मालिश से बहुत खुश नजर आ रही थी. फिर भाभी के उल्टा होकर लेटने पर मैंने देखा कि भैया हल्के से लेटकर पीछे से उनकी गांड में अपनी जीभ भी लगा रहे थे, जिससे भाभी आआहह, ऊहहहह कर रही थी.

फिर पीछे से ही भैया ने भाभी के जांघों को फैलाया, जिससे उनकी चूत भी दो फांको में बट गयी और उनकी चूत के गुलाबी छेद में अपनी एक उंगली डालकर अंदर-बाहर करने लगे. अब भाभी को अजीब सा नशा चढ़ने लगा था और वो मदहोश होने लगी थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

भैया धीरे से भाभी की चूत के नीचे आ गये और अपनी जीभ से भाभी की चूत को लप-लप कर चाटना शुरू किया. फिर इससे भाभी की सिसकियाँ और साँसे और गर्म और तेज हो गयी थी. फिर भाभी अपनी पीठ के बल लेट गयी और भैया ने आगे वाले हिस्से की मालिश करनी शुरू की और भाभी की दोनों टांगो को फैलाकर उनकी गोरी, मांसल जांघो की रगड़-रगड़कर मालिश की और अपने अंगूठों से उनकी चूत की दोनों फांको की मसाज की और फिर खूब सारा थूक डालकर उनकी चूत पर लेप लगा दिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मौसी की बड़ी बहु की चुदाई

भैया ने अपनी जीभ से उनकी चूत को रगड़-रगड़ लाल करके उसके गुलाबी छेद में अपनी जीभ अंदर-बाहर करके अपनी उंगली को तेज़ी से अंदर-बाहर करके उनकी चूत को गीला करके चोदने का प्रोग्राम बनाया.

अब भैया बार-बार भाभी की चूत के ठीक बीच में ऊपर उगी हुई हल्की काली घुँगराली झांटो को भी अपने मुँह से अपने होंठो में दबाकर नोच रहे थे, जिससे भाभी को बहुत नशा छा जाता था. भाभी की झांटो के नीचे उनकी चूत की सुंदरता देखते ही बनती थी, वो बड़ा ही सुहावना सीन था, जिसे देखकर मेरा लंड तनकर कुतुब मीनार सा टाईट खड़ा हो गया था और मेरी चड्डी में ही मेरे लंड ने अपना पानी भी छोड़ दिया था.

अब मेरा लंड भी खड़ा होकर भाभी को चोदने के लिये हो गया था. फिर मैंने देखा कि भैया भाभी के सिर की तरफ अपनी टांगो को करके लेट गये है और भाभी की चूत में अपनी जीभ से खेल रहे है और भाभी भैया का 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड पकड़कर अपनी जीभ से भैया के लंड का गुलाबी सुपाड़ा चाट रही थी.

फिर थोड़ी देर में भाभी ने भैया का लंड अपने मुँह में ले लिया और शांति के साथ अंदर-बाहर का मज़ा लेकर हम्मम्मम्म, ऊओ कहकर अपने हाथ में मज़बूती से भैया का लंड पकड़कर भैया के लंड को पूरा खड़ा कर दिया.

भैया ने अपने लंड को पकड़कर भाभी की चूत फैलाकर अंदर डाला तो उनका लंड खप की आवाज़ के साथ नरम रेशमी सी, चिकनी चूत की मखमली गहराई में समा गया. फिर भैया का लंड बहुत देर तक अंदर-बाहर चला, अब भैया ने भाभी को जन्नत की सैर करवानी शुरू कर थी. फिर भाभी बोली कि अब गांड भी तो मारो.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!