भाभी को चोदा अहमदाबाद में-2

(Bhabhi ko choda ahmedabad me-2)

मैंने बोला कि तुम बहुत अच्छी लगती हो और तुम्हे देखकर बिल्कुल भी नहीं लगता कि तुम 32 साल की हो. फिर उसने थोड़ा मुस्कुराते, शरमाते हुए मुझसे बोला कि आप भी दिखने में बहुत अच्छे लगते हो. फिर मैंने उससे उसकी बेटी के बारे में पूछा तो उसने बोला कि वो इस समय दूसरे रूम में सो रही है और उस समय शायद उसका पति नौकरी पर गया हुआ है और वो रात को ही लोटेगा.

फिर वो मेरे सामने बैठ गई और हम बातें करने लगे. में तो उसको पहली बार देखकर ही उसकी तरफ बहुत आकर्षित हो गया था और अब मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा हो रहा था और में उससे मेरे खड़े लंड को छुपाने की कोशिश कर रहा था.. लेकिन उसने वो देख ही लिया और मंद मंद मुस्कुरा रही थी और उसके हाव भाव से लगता था कि उसे क्या चाहिए?

लेकिन हम दोनों में से कोई भी पहल नहीं कर रहा था. तभी उसने मुझसे कहा कि क्या बार बार मुझे देख रहे हो और अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था.. तो मैंने उससे बोला कि आपकी कमर बहुत अच्छी है एकदम पतली. तो वो शरमाने लगी और धन्यवाद बोला. मेरी हिम्मत अब और बढ़ गई.. तो उसने मुझसे बोला कि मेरे शरीर में आपको और क्या क्या अच्छा लगता है?

मैंने बोला कि आपके होंठ बहुत रसीले है.. आपकी गर्दन पतली सुराही जैसी है.. आपकी आखें एकदम नशीली है और आपके वो तो बहुत ही बड़े बड़े है. तो वो और शरमाने लगी और में बोला कि और क्या क्या बताऊँ आपके सेक्सी जिस्म बारे में.. जिसे एक बार देखकर हर कोई आपका चाहने वाला बन जाए और मुझे पता चल गया था कि अब मेरी लाईन साफ है.. में एकदम से खड़ा होकर उसके पास चला गया और उसे छूकर बोला कि यह आपके बूब्स.. तो वो एकदम से चकित हो गयी और उसने ज़्यादा शरम की वजह से अपना मुहं दूसरी तरफ फेर लिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी की नंगी टांगो पर पैर रगड़ कर गरम किया-2

मैंने उसका मुहं मेरी तरफ करके उसे लिप किस करने लगा और वो मेरी आखों में आखें डालकर मुझे देखने लगी और मुझसे छूटने का नाटक करने लगी.. लेकिन जब कुछ देर विरोध करने के बाद उसे महसूस हुआ कि वो अब मुझसे नहीं छूट सकती.. तो वो भी थोड़ी देर बाद मेरा साथ देने लगी. फिर मैंने उसे कुछ देर किस करने के बाद बोला कि में कब से तुम्हे मिलना चाहता था.. लेकिन में तुमसे यह बात कह नहीं पाता था.

फिर उसने मुझसे कहा कि में भी यही सब चाहती थी.. लेकिन आप ही पहले मुझसे मिलने को बोले तो उस बात का कुछ और ही मज़ा है इसलिए में इतने दिन चुप रही. फिर यह सब बातें सुनकर मुझे और जोश आ गया और में उसे अपनी गोद में उठाकर उसके बेडरूम में ले गया और वहाँ पर उसे किस करने लगा और धीरे धीरे उसके बूब्स दबाने, सहलाने लगा और वो भी मेरी पेंट के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ घुमा रही थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने धीरे धीरे करके ऊपर से उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसे पूरा नंगा कर दिया और अब में भी अंडरवियर में आ गया और उसने नीचे पेंटी नहीं पहनी हुई थी और में बेड पर लेटाकर उसके पूरे शरीर पर किस करने लगा और बूब्स दबाने लगा. फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों एकदम नंगे हो गये और एक दूसरे के जिस्म से खेलते रहे और फिर उसी समय उसने मुझे बोला कि वो अपने पति से आज तक कभी भी उतनी संतुष्ट नहीं हुई है इसलिए वो अब किसी और के साथ सेक्स करना चाहती है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी की चूत का भोसड़ा बनाया

मैंने उसको बोला कि मेरी जान तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो.. आज हम दोनों एक दूसरे को जी भरकर प्यार करेंगे और हम दोनों एक दूसरे के तड़पते हुए शरीर से खेलते रहे और में उसकी चूत में ऊँगली करने लगा.. जिसकी वजह से उसकी मचलती हुई चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.. वो मोनिंग किए जा रही थी और वो मेरे लंड को मसाज किए जा रही थी और अब हम दोनों चुदाई के लिए तैयार थे.. मैंने कंडोम निकाला और लंड पर लगाकर उसके ऊपर बेड पर आ गया. उसने मुझसे बोला कि जानू थोड़ा आराम से करना.. तुम्हारा लंड बहुत लंबा और मोटा है और मुझे मेरे पति के अलावा आदत नहीं है इतने बड़े लंड से चुदने की.. तो मैंने बोला कि तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो डार्लिंग आज यह तुम्हे थोड़े दर्द के साथ साथ मज़ा भी कराएगा.

फिर मैंने उसके दोनों पैरों को फैला दिया और लंड को चूत पर सेट करके धीरे धीरे धकेलते हुए चूत में डालना शुरू किया और अब लंड धीरे धीरे फिसलता हुआ उसकी चूत की दीवार पर रगड़ खाता हुआ पूरा का पूरा अंदर चला गया. तो उसे थोड़ी तकलीफ़ जरुर हुई.. लेकिन वो हर रोज चुदने वाली थी तो उसे इतना दर्द नहीं हुआ फिर में उसको लिप किस करते करते बहुत तेज़ी से धक्के देकर चोद रहा था. फिर हम ऐसे ही चुदाई करते हुए एक दूसरे की तरफ देखकर हंस भी रहे थे. तो मैंने उसको बोला कि वाह जान क्या चूत है तुम्हारी? और में पहली बार किसी की बीवी को चोद रहा हूँ.. मुझे इस चुदाई में बहुत मज़ा आ रहा है. तो वो भी हंसने लगी और सिसकियाँ लेने लगी और लगातार 15-20 मिनट धक्के देने के बाद में झड़ने वाला था और उस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थी. फिर मैंने उसे तेज तेज धक्के देकर चोदना शुरू किया और में थोड़ी ही देर में उसकी चूत में झड़ गया..

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Mast padosh ki Bhabhi ki Chudai

मेरे लंड से एक एक गरम वीर्य की बूंद उसकी चूत में टपकने लगी और उसके चेहर से साफ दिखने लगा था कि वो मेरी इस चुदाई से कितनी संतुष्ट है. तो अब हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे की बाहों में लिपटकर लेटे रहे.. क्योंकि हम दोनों उस चुदाई से बहुत थककर पसीना पसीना हो गये थे. फिर कुछ देर बाद हम उठकर फ्रेश हुए और हमने खाना खाया और उस दिन हमने दो बार और चुदाई की. दोस्तों अभी वो गुजरात में नहीं है.. लेकिन वो जब तक यहाँ पर थी हमने बहुत समय तक जमकर चुदाई की और आज भी में उससे ऑनलाईन बातें करता हूँ और हम बहुत मज़े करते है ..

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!