नीतू भाभी को कंडोम लगाकर चोदा-3

Bhabhi ko condom laga ke choda-3

में : भाभी प्लीज़ आप मुझे माफ़ कर दो और यह बात आप किसी को मत बताना.

भाभी : हाँ ठीक है, में देखूंगी.

में : प्लीज़ भाभी मुझे माफ़ कर दो.

भाभी : हाँ, लेकिन तुम्हें यह सब करके ऐसा क्या मिलता है?

में : जी कुछ नहीं, लेकिन मुझसे अपनी ब्रा पेंटी को देखकर बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हुआ में क्या करता?

भाभी : तो फिर तुम ऐसा क्यों करते हो?

में : बस भाभी आप हो ही इतनी सेक्सी कि मुझसे आपको देखने के बाद रहा ही नहीं जाता.

भाभी : में खुद तुम्हारे पास रहती हूँ, तुम मुझसे बोलो यह करने को.

दोस्तों उनके यह बात सुनते ही उनके चेहरे से हंसी को देखकर मैंने भाभी को तुरंत अपनी तरफ खींच लिया और मैंने उनको किस करना शुरू कर दिया, पहले तो भाभी ने खुलकर मेरा साथ नहीं दिया, लेकिन जब मैंने भाभी के बूब्स को दबाया तो वो भी कुछ देर बाद जोश में आकर मेरे साथ खुलकर मेरा साथ देने लगी थी.

मैंने भाभी के टॉप और जींस को उतार दिया और अब वो मेरे सामने सिर्फ़ अंडरगारमेंट्स ब्रा, पेंटी में थी और उनके बड़े बड़े आकार के बूब्स उनकी ब्रा से बाहर आने को मचल रहे थे, वो उस ब्रा में बहुत सुंदर उभरे हुए लग रहे थे. फिर तभी मैंने उन्हें पूरी तरह से आज़ाद कर दिया और अब में उनके निप्पल को सक करने लगा और सक करते करते में भाभी के नीचे की तरफ अपना एक हाथ ले गया और चूत को छूते ही वो कांप उठी और मैंने महसूस किया कि वो गीली भी थी और बूब्स को सक करते करते जैसे ही मैंने भाभी की पेंटी को नीचे किया, तो देखा कि उनकी बिना बालों की गुलाबी रंग की चूत बहुत कामुक दिख रही थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  कुंवारी नौकरानी को साहब ने चोदा-3

अब मैंने बूब्स को सक करते करते एक दो लव बाइट्स ( दांत से काट दिया था ) भाभी सकिंग करते करते बोली कि राजा आज तो बहुत मज़ा आ रहा है, साले मेरे घर वाले को भी कुछ सीखा दे, तू तो बहुत कुछ करना जानता है और में तो अब तक तुझे अब तक एक नादान बच्चा समझ रही थी, वो मेरी सबसे बड़ी गलती थी, लेकिन अब में अपनी प्यास और तुझसे अपनी चुदाई करवाकर ही मिटाउंगी तू आज से में हमेशा चोदने का हक रखता है.

दोस्तों अब में सही मौका देखकर चूत को सक करने लगा और भाभी मेरे बाल पकड़कर मेरे मुहं को चूत पर दबाने लगी और वो सिसकियाँ भर रही थी, आहह्ह्ह्ह उफ्फ्फ हाँ आज खा जाओ मेरी चूत को ऊईईईईई वाह मज़ा आ गया और इतने में भाभी ने मेरे लंड को आज़ाद किया और वो उसको पूरा अपने मुहं में ले गयी और मेरे आंड को मसाज देने लगी और अपने मुहं में मेरा पूरा लंड मुहं में ले गई.

दोस्तों में शब्दों में आप लोगों को क्या बताऊं वो क्या नज़ारा था, वो कभी मेरे लंड के टोपे को चाटती और कभी आंड को अच्छे से चाट रही थी, जैसे छोटे बच्चे को किसी ने लोलीपोप दे दिया हो. फिर उसके बाद मैंने भाभी को 69 की पोजीशन में सक किया और इस बीच में और भाभी बहुत बार झड़ चुके थे और में उनकी चूत को चाट रहा था और में उनकी चूत का वो सारा रस पी गया.

अब भाभी मुझसे कहने लगी कि प्लीज मुझे अब तुम और मत तरसाओ बना दो मुझे अपनी रंडी और फाड़ दो तुम आज मेरी चूत को, प्लीज थोड़ा जल्दी करो. दोस्तों मैंने महसूस किया था कि चूत बहुत टाईट थी, जिससे लगता था कि सच में उनका पति साला नपुंसक है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  एक घंटे तक दीदी की चूत के मजे लिए

फिर मैंने भाभी से पूछा कि कंडोम तो होगा तो मेरे मुहं से वो शब्द सुनकर उनको ऐसा लगा कि जैसे झटका लग गया. फिर वो मुझसे कहने लगी कि कभी उसने मेरे साथ कुछ करने का सोचा हो, तभी तो घर में ऐसी चीज़े होगी? तभी मुझे याद आ गया कि मेरे पास मेरे पर्स में एक कंडोम होगा तो मैंने देखा और वो मुझे मिल गया.

मैंने कंडोम भाभी को दे दिया और उन्होंने मेरे लंड पर उसको जल्दी से चढ़ा दिया और फिर वो मुझसे बोली कि हाँ अब तुरंत शुरू हो जाओ. दोस्तों बस फिर क्या था? मैंने अपने लंड को भाभी की चूत के अंदर थोड़ा सा डाला तो वो बहुत ज़ोर से चीख उठी और वो मुझसे कहने लगी, उफ्फ्फफ् माँ में मर गई मेरे राजा, प्लीज धीरे से करो आईईईई तुम्हारा बहुत मोटा है, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, आह्ह्हह्ह मेरे राजा में अब से बस तेरी ही हूँ, तू मुझे अपनी रांड की तरह चोदना आह्ह्ह, लेकिन अभी थोड़ा सा धीरे धीरे कर वरना में आज ही मर जाउंगी, स्सीईईईईई उसके बाद तो मेरी चूत को भी तुम्हारे मोटे लंड की आदत पड़ जाएगी और में तुमसे कुछ भी नहीं कहूंगी. दोस्तों कुछ देर हल्के हल्के धक्के देकर चोदने के बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

उसके बाद मैंने भाभी को अलग अलग स्टाईल से चोदा और में लगातार धक्के देता रहा. कुछ देर बाद मैंने भाभी से बोला कि मेरा अब काम होने वाला है. फिर वो मुझसे बोली कि तुम उसको बाहर ही निकाल देना, जैसे ही मैंने अपना वीर्य निकाला तो भाभी ने अपने मुहं में लंड को ले लिए और मुठ मारने लगी और जैसे ही माल बाहर निकला, वो सारा पी गई. दोस्तों उस दिन मैंने भाभी को दो बार चोदा और उसके बाद हमने एक साथ में बाथरूम में जाकर नहाना शुरू किया. दोस्तों उस दिन की चुदाई के बाद अब भी हमे जब भी मौका मिलता है तो हम नई पोजीशन में चुदाई करने लगते है और बहुत मज़े लेते है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Sex With My Sweet Priya Bhabhi-1

//समाप्त//

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!