भाभी को दोनों तरफ से चोदा-1

Bhabhi ko dono taraf se choda-1

हैल्लो दोस्तों, में हैदराबाद का रहने वाला हूँ और मैंने भी अपनी एक सच्ची कहानी को आप सभी तक पहुँचाने का विचार बनाया, जो मेरे एक दोस्त की पत्नी की है और जिसमें मैंने उसको बहुत जमकर चोदा और उस चुदाई के बाद अब वो भी मुझसे बहुत जमकर चुदाई करवाती है, क्योंकि मैंने उसको चुदाई का वो सुख दिया जिसके लिए वो बहुत सालों से तरस रही थी और हम दोनों की चुदाई उसके पति के कहने पर हर कभी वैसे ही चलती रही और अब आप उसके बारे में पूरी तरह विस्तार से सुनिए और मज़े लीजिए.

दोस्तों मेरा एक बहुत पक्का दोस्त है जिसका नाम अनिल है और मेरे उस दोस्त की शादी कुछ सालों पहले हो चुकी है और उसकी पत्नी का नाम स्नेहा है, वो बहुत ही हॉट और सेक्सी है और उसको सेक्स करने का बहुत शौक है, उसकी चूत में चुदाई की खुजली हमेशा उसको परेशान करती है, इसलिए वो लंड लेकर उसको मिटाने का मौका देखती रहती है और इसलिए वो हर वक़्त सेक्स के मूड में रहती है

उसकी उम्र करीब 26 साल है और उसका फिगर का आकार तो आप पूछो मत, उसके वो गोल गोल गोरे बूब्स, गोल गोल मोटी गांड और उसकी चूत के बारे में तो आप पूछो ही मत वो क्या मस्त ग़ज़ब की है जो हमेशा बिना बालों की बिल्कुल चिकनी साफ रहती है और उसका पूरा जिस्म जोश से भरा हुआ बड़ा ही आकर्षक लगता है, जिसको देखकर किसी बूढ़े का भी लंड तनकर खड़ा हो जाए ठीक वैसा ही हाल पहली बार उसके कामुक जिस्म को देखकर मेरे भी लंड का था, लेकिन वो मेरे दोस्त की पत्नी थी और यह बात सोचकर में पीछे हट गया वरना में तो उसको पहली बार में ही उसके साथ उसकी चुदाई के सपने देखने लगा था.

दोस्तों अनिल और स्नेहा ने अपनी मर्जी से शादी की थी और उनके अब दो बेटे भी थे जो उनकी शादी के करीब दो साल बाद ही हो गए थे, मेरी उम्र 29 साल है और मेरे दोस्त की उम्र 32 साल है. में अक्सर उनके घर चला जाता था और वो भी मेरा बहुत ध्यान रखते थे. में और मेरा दोस्त कभी कभी मौका मिलने पर सेक्सी फिल्म भी एक साथ में बैठकर देखते थे और उसकी पत्नी दूसरे रूम से हम दोनों को देखा करती थी और में कभी कभी तो उसके साथ सेक्स करने के लिए बड़ा ही जोश से भरा रहता था.

एक दिन में हर दिन की तरह अपने दोस्त के घर पर चला गया और फिर हम दोनों ने हमेशा की तरह उस दिन भी साथ में बैठकर सेक्सी फिल्म देखी. फिर रात को खाने के समय मेरे दोस्त ने मुझसे कहा कि आज हम दोनों कहीं बाहर किसी होटल में चलकर आज का खाना वहीं पर खाएगें और हम दोनों वहां पर चले गये और जाते समय रास्ते में उसने मुझसे कहा कि मेरी एक समस्या है अगर तू उसको हल कर दे तो उससे तेरी भी समस्या अपने आप हल हो जाएगी.

मैंने उससे पूछा कि हाँ तुम मुझे बताओ कि वो क्या बात है? तुम्हारी ऐसी क्या परेशानी है जिसकी वजह से मेरी भी समस्या हल हो सकती है? अब उसने मुझसे कहा कि उसकी पत्नी उसके साथ सेक्स करके कभी भी पूरी तरह से संतुष्ट नहीं होती और वो हर समय मुझसे सेक्स चाहती है. में कब तक उसकी वो प्यास बुझाऊँ और उसकी उस इच्छा को पूरा करूं?

में हर दिन लगातार उसके साथ ऐसा नहीं कर सकता, लेकिन उसको तो हर दिन मेरे साथ अपनी चुदाई के मज़े चाहिए और वो अब में उसको नहीं दे सकता और वैसे सेक्स करने के लिए तू भी हमेशा परेशान है, तू मुझे पहले भी यह बात बता चुका है तो तू मेरी पत्नी के साथ सेक्स कर ले, उसकी वजह से तेरी भी समस्या खत्म हो जाएगी और मेरी भी परेशानी बहुत दूर चली जाएगी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब मैंने उससे पूछा कि क्या तेरी पत्नी मेरे साथ यह सब करने के लिए तैयार हो जाएगी? तब उसने कहा कि हाँ वो उसको कैसे भी समझाकर इस काम के लिए मना लेगा और फिर मैंने उससे कहा कि हाँ ठीक है में उसके साथ यह सब करने के लिए तैयार हूँ अगर वो भी तैयार हो जाए तो मुझे इस काम को करने में किसी भी तरह की कोई भी आपत्ति नहीं होगी.

फिर हम दोनों कुछ देर और बातें करके खाना खाकर उसके घर पर आ गए और फिर घर पर पहुंचकर देखा कि स्नेहा ने भी हमारे आने से पहले खाना खा लिया था. दोस्तों में आज उसको अपनी बदली बदली नज़र से देख रहा था तो मुझे लगा कि हाँ वो सही में बड़ी हॉट सेक्सी है जैसा मेरे दोस्त ने उसके बारे में मुझे बताया था, उसका क्या मस्त फिगर था.

अब हम दोनों ने फिर से सेक्सी फिल्म देखना शुरू किया, लेकिन इस बार अनिल ने अपनी पत्नी स्नेहा को भी हमारे साथ ही बैठने को कहा तो उसने कुछ आना कानी करने के बाद वो हमारे साथ वो फिल्म देखने के लिए तैयार हो गई, लेकिन वो एक तरफ बैठी हुई थी और मेरा दोस्त अनिल हम दोनों के बीच में और में भी एक तरफ बैठा हुआ था.

दोस्तों वो फिल्म बहुत ही सेक्सी और जोश से भरी हुई थी और उसको कुछ देर देखकर ही मेरा तो लंड एकदम तनकर खड़ा हो गया था, जिसको में बार बार अपने कपड़ो में छुपा रहा था और स्नेहा भी उस फिल्म को हमारे साथ बैठकर देखकर बहुत शरमा रही थी, लेकिन वो फिल्म को देख रही थी. दोस्तों उसने उस समय बड़े आकार की जालीदार मेक्सी पहनी हुई थी जिसके अंदर से मुझे उसकी काले रंग की ब्रा और पेंटी साफ साफ नजर आ रही थी इसलिए में अब उस फिल्म को कम और स्नेहा को ज्यादा देख रहा था.