भाभी को उसके पति के साथ मिलकर चोदा-1

Bhabhi ko uske pati ke saath milkar choda-1

हैल्लो दोस्तों, में मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर से हूँ और में 25 साल का हूँ. मेरे लंड का आकार पांच इंच है. दोस्तों यह बात आज से करीब एक महीने पहले की है जब फेसबुक पर मुझे एक कपल ने मैसेज किया और कहा कि हम दोनों तुम्हारे साथ मिलकर सेक्स के मज़े लेना चाहते है, लेकिन हाँ यह बात बस हम तीनों के बीच में ही रहनी चाहिए और किसी को कुछ भी पता नहीं चलनी चाहिए. फिर मैंने उनको मैसेज किया और उसके घर का सही पता माँगा, तब मुझे पता चला कि वो भी ग्वालियर शहर के ही रहने वाले थे.

यह बात जानकर में मन ही मन बहुत खुश हुआ और फिर उसने मुझे अपने घर का पता दे दिया और हमारे मिलने का समय भी बता दिया. दोस्तों उस दिन रविवार का दिन था और में सुबह करीब 6.00 बजे ही उसके बताए पते से उसके घर पर पहुंच गया.

मैंने जैसे ही दरवाजे पर लगी घंटी को बजाया तो एक 35 साल की सुंदर औरत ने दरवाजा खोलकर मेरी तरफ मुस्कुराना शुरू किया. उसने उस समय बिना बाह का सफेद रंग का ब्लाउज पहना हुआ था, उस बड़े गले के ब्लाउज में से उसके बड़े आकार के गोल गोल बूब्स मुझे साफ साफ दिखाई दे रहे थे, क्योंकि उस ब्लाउज का गला कुछ ज्यादा ही बड़ा था और उस वजह से उसके उभरे हुए बूब्स का बहुत सारा हिस्सा नंगा था और उन दोनों बूब्स के बीच की गली मुझे साफ साफ दिखाई दे रही थी और उसके उस पेटीकोट को भी उसने अपनी नाभि के नीचे बंधा हुआ था, जिसकी वजह से उसकी बड़े आकार को गहरी गोल और गोरी नाभि के साथ साथ उसके उस पूरे जिस्म की कपड़ो से बाहर नजर आती और थोड़ी बहुत सुंदरता को देखकर मेरा लंड तो उसी समय पूरा तनकर खड़ा हो गया. दोस्तों मैंने देखा कि उसके होंठ हल्के गुलाबी रसभरे और मोटे थे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दो सहेलियों की चूत की सिंचाई

अब उसने सबसे पहले मुझसे मेरा नाम पूछा और उसके बाद मेरी तरफ मुस्कुराकर उसने मुझे अब अंदर आने को कहा. अब मैंने उससे पूछा कि क्या आपके पति इस समय घर पर नहीं है? तो वो बोली कि हाँ है, लेकिन वो इस समय बाथरूम में नहा रहे है और तभी मुझे उसकी बाथरूम से आवाज़ आई और वो पूछने लगा कि कौन है?

भाभी मेरा नाम बताकर अपने बेडरूम में चली गयी और फिर कुछ देर बाद भाभी ने मुझे आवाज़ लगाकर कहा कि तुम भी अंदर आ जाओ. फिर में बेडरूम में अब उठकर अंदर चला गया और वहां गया तो मैंने देखा कि बाथरूम का दरवाजा पहले से ही खुला हुआ था और अमित उस समय पूरा नंगा होकर खड़ा हुआ था. मैंने देखा कि उसका लंड करीब चार इंच लम्बाई का था और अमित उस समय भाभी के बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था भाभी उस समय उसके सामने आधी नंगी होकर खड़ी हुई थी. वो दोनों बड़े मस्त मज़े कर रहे थे और मेरा लंड तो यह मस्त सेक्सी नजारा देखकर तुरंत ही तनकर खड़ा हो गया. वाह क्या मस्त गोरे बड़े आकार के बूब्स थे.

तभी अमित ने मुझे बाहर खड़ा हुआ देखकर मुझसे कहा कि तुम बाहर क्यों खड़े हो. तुम भी अब बाथरूम के अंदर आ जाओ और उसके कहते ही में भी खुश होकर तुरंत ही बाथरूम में चला गया और में भी अब भाभी के बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने मसलने लगा. फिर मैंने छूकर महसूस किया कि उनके बूब्स क्या मस्त एकदम रुई जैसे मुलायम थे. में तो अब जैसे बिल्कुल पागल हो चुका था और मैंने उसके बूब्स पर सभी जगह पर किस करना शुरू किया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गर्लफ्रेंड और उसकी सहेली की चुदाई

उसके बाद में अब उसके तनकर उठे हुए निप्पल को चूसने लगा. तभी अमित ने बिना देर किए मेरे बदन से पूरे कपड़े उतारकर हटा दिए और मेरे गोरे गठीले बदन को देखकर उसने मुझसे कहा कि वाह यार तुम्हारा यह शरीर तो बहुत अच्छा दमदार है और फिर मुझसे इतना कहकर अब उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और फिर उसको वो भाभी को दिखाते हुए कहने लगे देखो इसका कितना बड़ा है.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसी समय भाभी ने भी मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और वो दोनों मेरे लंड से खेलने लगे. उसको ऊपर नीचे करने लगे हिलाने और सहलाने लगे. फिर मैंने तभी भाभी का पेटीकोट उतार दिया और उसकी गीली पेंटी के अंदर अपना एक हाथ डालकर में उसकी गरम उभरी हुई चूत पर हाथ फेरने लगा और तब मैंने छूकर महसूस किया कि उसकी चूत उस समय पूरी गीली हो चुकी थी और वो बहुत ही चिकनी भी हो गयी थी.

फिर मैंने चूत से सहलाते हुए ही भाभी के गुलाबी होंठो पर एक किस किया और अपने दूसरे हाथ से मैंने उसकी पेंटी को धीरे धीरे करके नीचे उतार दिया और उसके बाद में अपनी एक उंगली को उसकी चूत पर फेरने लगा. तभी अमित ने नीचे बैठकर मेरा लंड अपने मुहं में ले लिया और वो उसको बड़े मज़े लेकर चूसने लगा. फिर मुझे तो उनके साथ यह सब करने में बहुत मज़ा आ रहा था. फिर मैंने फव्वारे को चालू किया, जिसका पानी हम तीनों के नंगे गरम बदन पर बहकर नीचे गिरने लगा और अब में नीचे बैठकर भाभी की चूत को चाटने लगा.

कुछ देर बाद में अपनी जीभ को उसकी चूत के अंदर बाहर करने लगा, जिसकी वजह से अब भाभी पहले से ज्यादा मदहोश हो चुकी थी और वो जोश में आकर अपने मुहं से आऊऊऊऊ आह्ह्ह्हह्ह ऊईईईइ माँ मर गई की आवाज़ निकालने लगी थी और वो मुझसे कहने लगी हाँ और चाटो ज़ोर से चाटो, हाँ पूरा अंदर तक अपनी जीभ को डालकर चाटो, मुझे बहुत मज़ा आ रहा है, तुम बहुत अच्छा कर रहे हो.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  धोकेबाज भाभी की चुदाई खेत में

अब अमित भी मेरे लंड को पूरे जोश में आकर चाट रहा था जिसकी वजह से अब में भी बहुत गरम हो चुका था और मेरे मुहं से भी आह्ह्ह्ह उफ्फ्फ की आवाज़ निकल रही थी. फिर मैंने उससे कहा तुम मेरा पूरा लंड अपने मुहं में डाल लो और अब अमित ने मेरा पूरा लंड अपने मुहं में डालकर चूसना शुरू किया. फिर मैंने भाभी के दोनों हाथों पर साबुन लगाया उसके बाद उसके दोनों बूब्स पर भी मैंने साबुन लगा दिया जिसकी वजह से भाभी के वो दोनों बूब्स बहुत ही चिकने हो गये थे.

उसके बाद मैंने अब अपने दोनों हाथों पर बहुत सारा साबुन लगा लिया और उसके बूब्स को मसलने लगा अपने हाथों को गोल गोल घुमाकर अच्छे से साबुन लगाने लगा था उसके बाद मैंने उसकी नाभि पर भी साबुन लगाया और उस पर अपने हाथ को घुमाने लगा, उसकी नाभि बहुत गहरी बड़ी और मुलायम थी. अब मैंने उसकी नाभि में अपनी एक उंगली को डाल दिया और अपनी ऊँगली को धीरे धीरे अंदर बाहर कुछ देर करने के बाद मैंने अब नीचे आकर उसकी चूत पर भी बहुत सारा साबुन लगाया और उस पर अपनी उंगली को फेरने लगा.

कहानी जारी है……

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!