भाभी मोटा लंड चाहती है अपने चूत के लिए

(Bhabhi Mota Lund Chahti Hai Apni Chut Ke Liye)

मेरा नाम संतोष है | मेरी उम्र 26 साल है और मैं अभी कुछ भी नहीं करता | आप लोग मुझे नल्ला कह सकते हैं | वैसे मैंने अपना ग्रेजुएशन बी.कॉम से किया हुआ है | दोस्तों मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है और मेरा शरीर थोडा पतला है लेकिन मेरा लंड बड़ा और लम्बा है | मेरे लंड की लम्बाई 8 इंच है और मोटाई 3 इंच है | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी पहली कहानी पेश करने जा रहा हूँ जो मेरी ये एक दम सच्ची दास्तान है | तो अब मैं कहानी लिखना चालू करता हूँ | ये घटना पिछले साल पहले की है | जैसा कि मैंने आप लोगो को बताया कि मैं नल्ला हूँ और मैं ज्यादातर घर के बाहर ही घूमता रहता हूँ या कभी पार्क में क्रिकेट खेलता रहता हूँ | Bhabhi Mota Lund Chahti Hai Apni Chut Ke Liye.

मेरे घर में मैं, मेरे पापा, मम्मी, बड़े वाले भाई और उनकी बीवी और उनके दो बच्चे और मेरे बीच वाले भाई की पत्नी और उनकी एक बेटी रहते हैं | मेरे पापा भी सरकारी नौकरी करते हैं | मेरे दोनों भाई भी सरकारी नौकरी करते हैं | बस घर में मैं ही एक नल्ला हूँ जो कुछ नहीं करता | मैं रोज रात को घर में दारू पी कर आता हूँ और मैं सिगरेट का बहुत शौक़ीन हूँ | मुझे डेली दो सिगरेट के पैकेट लगते हैं | एक दिन की बात है हमारे पड़ोस में एक कपल रहने आये थे | भैया जो कि प्राइवेट जॉब करते थे और उनकी बीवी | वाह क्या बीवी है उनकी | मछली के जैसा फिगर | रेशमी बाल | पतली कमर और हिरन जैसे चाल | ये देख कर तो किसी भी लंड खड़ा हो जायेगा और चोदने की इच्छा को मार नहीं मार पायेगा | बस यही हाल मेरा भी हो गया था | जब से मैंने उसे देखा था उसका तो मैं कायल ही हो गया था |

मैं रोज रात को उसके सपने देखता और उसके नाम की न जाने कितने बार मुट्ठ मारता | अब मैं तो किसी भी कीमत में उनको चोदना चाहता था इसलिए मैंने अपने मोहल्ले में इज्जत बनाना चालू कर दिया | एक दिन की बात है दोपहर का समय था और गर्मी के दिन थे | मैं भी उस समय घर में ही था और मैं और भाभी खाना खा रहे थे | तभी पड़ोसन भाग कर मेरे घर आई और रोने लगी | तभी मम्मी गई और उनसे पुछा क्या हुआ ? तब तक भाभी ने भी उनके लिए पानी ले कर आई | उन्होंने बताया कि मेरे हस्बैंड का एक्सीडेंट हो गया है और पता नहीं वो कौनसी जगह है | मुझे बहुत चिंता हो रही है उनकी | मैंने भी जल्दी से खाना ख़त्म किया और उनसे पुछा कोई नंबर है क्या उनके पास | उन्होंने कहा हाँ |                              “Bhabhi Mota Lund Chahti”

मैंने कहा दीजिये मैं अपने मोबाइल से फ़ोन लगाता हूँ | जब मैंने फ़ोन लगाया तो उन्होंने कहा कि वो जगह उनके लिए अनजान है और जगह का नाम नहीं पता | मैंने उनसे लोकेशन पुछा तो उन्होंने मुझे बता दिया | मैं समझ गया कि वो जगह कहाँ है और मैं अकेले ही उनके पास गया |  तभी वो सामने वाले भाभी घर पर ही थी | जब मैं वहां पंहुचा तब तक वो बेहोश हो चुके थे | मैंने तुरंत ही अमबुलंस को फ़ोन किया और जैसे तैसे हॉस्पिटल में एडमिट करा दिया | उसके बाद मैं घर गया तो सामने वाली भाभी मुझे देख कर बेहोश हो गई क्यूंकि मेरी टी-शर्ट में खून लगा हुआ था | जब भाभी को होश आया तो उन्होंने मुझसे पुछा वो कहाँ है ? तो मैंने उन्हें बता दिया कि आप चिंता मत करे मैं आपको ले चलता हूँ |                              “Bhabhi Mota Lund Chahti”

मैंने उनको हॉस्पिटल में एडमिट करा दिया हूँ और कोई घबराने की बात नहीं है बस ब्लीडिंग ज्यादा हो गई है तो खून की कमी है | तो उन्होंने मुझसे पुछा कि ब्लड कितने का मिलता है | तो मैंने कहा कि आप चिंता मत करिए मैं सब करवा दूंगा | फिर उन्होंने मुझसे कहा प्लीज मुझे हॉस्पिटल ले चलो | मैंने कहा चलो | उस वक़्त शाम हो चली थी | हमने रस्ते में कुछ फल लिए और हॉस्पिटल पंहुच गए | उस समय भाभी वहीँ बैठी हुई थी | मैंने उनसे नाम पुछा तो उन्होंने अपना नाम प्रिया बताया | उसके बाद मैं दवा की पर्ची ले कर दवा लेने गया | थोड़ी देर के बाद डॉ. ने कहा की इनको अभी आराम कर लेने दीजिये | मैंने कहा ठीक है भाभी उनके पास से हटने के लिए तैयार ही नहीं हो रही थी | मैंने कहा आप चिंता मत करिए और मेरे साथ घर चलिए आप भी फ्रेश हो जाना मैं भी हो जाऊँगा और फिर मैं आप को हॉस्पिटल छोड़ दूंगा | भाभी मुझसे इम्प्रेस तो हो ही गई थी | उन्होंने मुझे थैंक्यू कहा तो मैंने कहा भाभी ऐसी कोई बात नहीं है आखिर पडोसी ही काम आता है | फिर उन्होंने मुझे हग कर लिया तो मेरे दिल के तार बज उठे |

जब मैं उन्हें ले कर घर आ रहा था तब रात के 8 बज रहे थे | गाडी मैं जानबूझकर दूसरे रास्ते से ले कर जा रहा था जहाँ बहुत गड्ढे रहते हैं | भाभी बहुत उचक रही थी और उनके दूध मेरे पीठ से लग रहे थे जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया | भाभी और मैं बात भी करते जा रहे थे और भाभी गड्ढो से परेशान भी थी | मैंने उनसे कहा कि आप मुझे कास कर पकड़ लो | उन्होंने वैसा ही किया | उसके बाद हम जैसे ही घर पंहुचे | तो भाभी ने कहा कि तुम अभी घर मत जाओ मेरे ही घर में फ्रेश हो जाना | मैंने कहा नहीं भाभी अच्छा नहीं लगता ऐसे | तो वो बोली कुछ नहीं होता | सबसे पहले भाभी नहाने गई | नहा कर आई तो मेरा दिमाग हिल गया | वो बहुत ही सुन्दर और सेक्सी लग रही थी | उसके बाद मैं जैसे ही अंडरवियर में हुआ तो भाभी मेरे खड़े लंड को देखने लगी | फिर मैं भी जल्दी से नहा कर टॉवल लपेट कर बाहर आ गया |       “Bhabhi Mota Lund Chahti”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने भाभी से पुछा कि भैया की अंडरवियर कहाँ हैं ? तो वो मुझे रूम में ले कर गई और जैसे ही उन्होंने अंडरवियर मुझे दी तभी मेरी टोवल खिसक गई | मेरा मूसंड लंड अब उनके सामने था | भाभी मेरे लंड को देख कर मुझे बोली बाप रे इतना बड़ा लंड | मैंने कहा तो क्या हुआ आपने कभी इतना बड़ा लंड नहीं देखा था | फिर मैंने पुछा आपके पति का कितना बड़ा है ? तो उन्होंने कहा इसका आधा भी नहीं है | उसके बाद उन्होंने मुझसे कहा क्या मैं इसे छू कर देख लूं | तो मैंने कहा देख लो जी | जब वो मेरे लंड को हाँथ में ले हिलाने लगी तो मैंने कहा कैसा है ? तो उसने कहा ऐसा लग रहा है जैसे मैंने किस मोटे सब्बल को हाँथ में लिया है | फ्फिर मैंने उनसे पुछा कि लेना पसंद करोग ? तो उसने कहा नहीं मेरी हालत खाराब हो जाएगी | इतना बड़ा मैं सह नहीं पाउंगी | मैंने कहा कोशिश कर के देख लो | उसने कहा ठीक है | फिर मैंने अपने लंड का सुपाड़ा पीछे किया तो उन्होंने लपक मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मेरे मुंह से आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह की सिस्कारियां निकलने लगी |                       “Bhabhi Mota Lund Chahti”

वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह करते हुए उनके मुंह को चोद रहा था | थोड़ी देर के बाद मैंने भी उन्हें नंगी कर दिया और उनके मस्त कोमल दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह करते हुए मेरे सिर के बाल को सहलाने लगी | मैं जोर जोर से उनके दोनों दूध को बारी बारी से चूस रहा था और वो आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी |

फिर मैंने उन्हें लेटा दिया और चूत को चाटने लगा तो वो आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह करते हुए कसमसाने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए चूत के अन्दर ऊँगली डाल कर भी चोद रहा था और वो आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह की सिस्कारियां भरते हुए अपने दूध को दबा रही थी | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत में रख कर अन्दर डाल दिया तो उसके मुंह से चीख निकल गई | मैंने तुरंत ही अपने होंठ से उसके होंठ को दबा दिया जिससे चीख दब कर रह गई | फिर मैं धक्के लगा कर चोदने लगा और वो अपनी गांड उचका उचका कर चुदाई में साथ देने लगी | अब उसे भी मजा आने लगा था और मैं जोर जोर से चोद रहा था और वो भी आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह आहा उन्ह उमह करते हुए चुदवा रही थी | मैंने उसे 20 मिनट चोदा और अपना वीर्य उसके मुंह पर ही निकाल दिया |                               “Bhabhi Mota Lund Chahti”