भाभी ने सुहागरात में चुत चोदना सिखाई-2

Bhabhi ne suhagraat me chut chodna sikhaai-2

मैं समझ गया कि अब खुलना ही पड़ेगा. मैंने कहा- भाभी उसके बूब्स और उसके हिप्स बहुत अच्छे थे. मुझे देख कर बहुत मजा आया.
उन्होंने कहा- इंग्लेंड की पैदाइश हो क्या … जो बूब्स और हिप्स कह रहे हो. सीधे बोलो न उसकी चूचियां और गांड मस्त थी.
मैंने हंस कर सर झुका लिया.

भाभी ने अपना पल्लू ऊपर किया और बोलीं- अभी दस प्रतिशत ही चैक हुए हो … शादी तक पूरी ट्रेनिंग देनी पड़ेगी.
मैंने हंसते हुए हां में सर हिलाते हुए कहा- भाभी, मुझे आपसे बहुत कुछ सीखना पड़ेगा.
भाभी ने मेरे करीब आकर मेरे गालों पर एक चुम्मी ली और मेरी छाती पर हाथ फेर कर कहा- चिंता न करो … बस अब मुझसे खुल कर बात करना. तुम्हारे लंड को चुत के लिए एकदम मस्त कर दूंगी.

मैं उनकी इस बात से फिर से शरमा गया और उठ कर घर आने लगा.

उन्होंने मुझसे कहा- सुनो देवर जी, दो दिन बाद सारे घर वाले एक शादी में जाएंगे. मैं तुम्हारी मम्मी से बोल कर तुम्हें अपने घर सोने के लिए बुला लूंगी और तुम्हें बताऊंगी कि Suhagraat chudai में क्या-क्या होता है. जिससे तुम्हारी परेशानी दूर हो जाएगी.

यह सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा. फिर मैं उस दो दिन बाद का इंतजार करने लगा, जब मैं भाभी से मिलूंगा.

दो दिन बाद वो दिन आया और मैं उनके घर सोने के लिए चला गया.

भाभी ने मुझसे बोला- तुम अपने कपड़े निकाल कर, इस कुर्ते पजामे को पहन लो. आज मैं पहले devar bhabhi xxx के लिए तुम्हारी शर्म खत्म करूंगी, फिर आगे सिखाऊंगी.
मैंने ओके कहा और कुरता पजामा लेकर बाथरूम में जाने लगा.

भाभी बोलीं- बिलकुल चूतिया हो का … मेरे सामने बदलने में क्या गांड फट रही है?

मैं उनकी तरफ देखने लगा, तो भाभी ने अपनी साड़ी निकाल दी और ब्लाउज पेटीकोट में हो गईं.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी को चुदवाया उसके यार से-1

मैंने उन्हें इस तरह देखा … तो वहीं मैंने अपने कपड़े बदलने शुरू कर दिए. मैंने अपनी टी-शर्ट उतारी और कुरता पहनने लगा.

इस पर भाभी ने कहा- पहले जींस और उतारो … फिर कुरता पजामा पहनना.

मैंने जींस उतारी, तो नीचे सिर्फ एक फ्रेंची में पहने भाभी के सामने रह गया.

भाभी ने मेरे लंड को फूलते हुए देखा … तो हंस कर कहने लगीं- देवर जी, तुम्हारा लंड तो फूलना भी जानता है.
मैं फिर से शरमा गया और पजामा उठा कर पहनने लगा.

तभी भाभी ने मेरे हाथ से पजामा खींच लिया और बोलीं- बड़ी जल्दी है.
ये कहते हुए भाभी ने अपना ब्लाउज खोल दिया और वे मेरे सामने लाल रंग की ब्रा में आ गईं.

इसके बाद उन्होंने मेरी तरफ देख कर अपने होंठों पर जीभ फिराई और पेटीकोट का नाड़ा खींच दिया. पेटीकोट सरसराते हुए धरती पर जा गिरा. सामने लाल रंग की डोरी वाली पैंटी में भाभी का मदमस्त जिस्म चमकने लगा था.

भाभी ने एक मस्त अंगड़ाई ली और बोलीं- मेरी चूचियां बड़ी हैं कि उस लौंडिया की चूचियां बड़ी थीं.

मैं भाभी को इस रूप में देख कर बौरा सा गया था. मेरे लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया था.

मैंने भाभी की चूचियों को देखा, तो भाभी मेरे करीब आते हुए बोलीं- दबा कर चैक करना चाहो, तो कर लो.
मैं हंस दिया और कहा- भाभी अब आगे क्या सिखाना है, वो सिखाओ नहीं तो आपका काम हो जाएगा.
भाभी हंस कर बोलीं- हां अब आए न पटरी पर … चलो अब ध्यान से सुनो. दस मिनट बाद ऊपर मेरे कमरे में आ जाना.

ये कह कर भाभी ब्रा पेंटी में अपनी गांड हिलाते हुए ऊपर वाले कमरे में जाने लगीं.

मैं उनकी गांड देख कर सोचने लगा कि आज भाभी की चुत में लंड पेल कर ही दम लूंगा.

जब मैं उनके कमरे में पहुंचा, तो वह साड़ी पहन कर बैठी हुई थीं और घूंघट निकाला हुआ था.
मैं उनके पास पहुंचा तो उन्होंने बोला- जैसा मैं कहूं, तुम बस वैसा करते जाओ.
मैंने ओके कह दिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  सुहागरात मन गई मौसा संग

उन्होंने कहा- सबसे पहले मेरा घूंघट उठाओ, फिर मुझे किस करो.
मैंने वैसा ही किया.

उन्होंने कहा- मेरे कपड़े निकालो.
यह सुनकर मुझे थोड़ी शर्म आ गई.

उन्होंने कहा- शरमाओ मत, जैसा बोला है, वैसा ही करते रहो.

ये कहते हुए भाभी बिस्तर से नीचे आकर खड़ी हो गईं.

फिर मैंने उनके ब्लाउज के बटन खोलने स्टार्ट किए. मैंने धीरे-धीरे करके dever bhabhi sex video सीन जैसे उनका ब्लाउज उतार दिया. उनके चूचे बहुत बड़े और गोरे थे.

ब्लाउज उतरने के बाद भाभी ने कहा- इनके बीच में किस करो.
मैंने भाभी के मम्मों में किस किया. उनकी ब्रा आड़े आ रही थी.
भाभी ने कहा- मेरी ब्रा का हुक खोल दो.

मैंने भाभी को अपनी बांहों में लेकर उनकी ब्रा को खोल दिया और साथ में उनके पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया.
अब उन्होंने कहा- तुम अपने सारे कपड़े निकाल दो.
मैं अपने कपड़े निकालकर पूरा नंगा हो गया.

भाभी ने मेरे लम्बे लंड को देखते हुए कहा- मस्त लंड है … चलो अब देर न करो … मेरी पेंटी भी उतारो … लेकिन इसे तुम अपने होंठों से उतारना.

मैंने बैठ कर उनकी पेंटी अपने होंठों से उतारी. उन्होंने कहा- मेरे मम्मों को चूसना शुरू करो.

जैसे ही मैंने उनके मम्मों को चूसना स्टार्ट किया, मुझे मजा आने लगा. धीरे-धीरे मेरा लंड लोहे की तरह सख्त होता चला गया.
भाभी ने मेरे लंड को हिलाते हुए कहा- सुहागरात में सबसे पहले हमें hindi devar bhabhi sex video वाली जोरदार चुदाई करनी चाहिए … बाकी बातें बाद में करनी चाहिए.
मैंने कहा- ठीक है.

उन्होंने कहा- तुम मुझे लिटा कर मेरी चूत में अपना ही devar chudai के लिए लंड घुसा दो.
मैंने भाभी को बिस्तर पर लिटाया और उनकी टांगों को खोल कर अपना लंड उनकी चूत में घुसा दिया. भाभी की चुत में मेरा मोटा लंड घुसा तो उनकी एक आह निकल गई.
भाभी बोलीं- बड़ा तगड़ा लंड है देवर जी … बहुरानी की चुत बड़ी नसीब वाली है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Shivani Bhabhi Ki Sexercise

मैंने उनको चूम लिया.

फिर उन्होंने कहा कि अब लंड पेले ही पड़े रहोगे … धक्के मारना स्टार्ट करो न.
मैंने धकापेल चुदाई शुरू कर दी.

थोड़ी देर बाद मुझे बहुत मजा आने लगा. लेकिन मैं बहुत जल्दी स्खलित हो गया.
इस पर मैं शर्मिंदा हो गया.
भाभी ने कहा कि कोई बात नहीं … पहली बार में ऐसा ही होता है.

इसके बाद भाभी ने मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू किया. थोड़ी देर बाद bhabhi ji ki chudai से मेरा लंड फिर से सख्त हो गया.

भाभी ने कहा- अब तुम फिर से चुत चुदाई स्टार्ट करो.
मैंने अपना अपना लंड उनकी चूत में घुसा कर जोरदार चुदाई स्टार्ट कर दी.

उन्होंने मुझे रोकते हुए कहा- धीरे धीरे मजा लेते हुए चोदो … नहीं तो फिर से झड़ जाओगे.
मैंने उनकी चुत में हल्के हल्के झटके देने शुरू किये … तो भाभी बोलीं- चूची चूसते हुए चोदो.

मैंने उनकी एक चूची अपने मुँह में दबा ली और दूसरी को मसलते हुए लंड आगे पीछे करने लगा.

फिर जैसे-जैसे भाभी बताती रहीं, वैसे वैसे मैं उनकी चुदाई करता रहा. इस तरह से मेरी प्यारी भाभी ने मुझे सुहागरात का ज्ञान दे दिया.

दोस्तो, यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है … कृपया इस choodai ki kahani कहानी को पढ़कर मुझे अपने अनुभव बताएं और मेरी गलतियां भी बताएं.
धन्यवाद.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!