भाई ने बीबी की चुत चोदकर गर्भवती किया- भाग 5

Bhai ne biwi ki chut chodkar garbhvati kiya- Part 5

मालिनी ने सिंगल राउंड में झड़ने का अपना रिकॉर्ड तोड़ कर नया रिकॉर्ड बनाया था, वो अभी भी थक कर चूर होकर बेसुध सी बिस्तर पर पड़ी थी, मनु अपना ढीला लंड मालिनी के चुत के ओठों पर घिस रहा था, उसने प्यार से मालिनी के गालो पर थपकी देकर उसको आवाज दी – जान उठो पहला राउंड समाप्त हो चूका है, चलो कुछ चाय नास्ता के बाद दूसरा राउंड खेलेंगे. मालिनी ने अधखुली पलकों से मनु को देखा, मनु ने मालिनी के गालो पर एक किस कर लिया, मालिनी अंगड़ाई लेते हुए उठ बैठी और अपने दोनों हाथो को ऊपर उठाते हुए ख़ुशी जाहिर करती हुयी बोली – हुर्रे मैंने पहले राउंड में बिना चुत में लंड घुसाए ही झड़ने का रिकॉर्ड तोड़ दिया ऐसा कह कर उसने उसके दोनों गालो और माथे पर किस कर लिया. मेरी जान आज ५ बार झड़ी, मुझे जहा तक याद है पिछली बार फर्स्ट राउंड का रिकॉर्ड ४ बार का है मनु बोला, मालिनी ने मुस्कुराते हुए सर हिलाया, और वो उठने लगी।

अचानक उसके मुँह से आह! निकला शायद उसे गांड में दर्द हो रहा था, मनु ने कहा – क्या हुआ जान? ज्यादा दर्द हो रहा है क्या? मालिनी बोली – जान ये तो प्यार का दर्द है, मीठा मीठा प्यारा प्यारा ऐसा बोल के दोनों फिर से एक बार लिप किस करने लगे दोनों ने करीब पांच मिनट किस किया, फिर दोनों उठ कर बाथरूम की ओर चले गए मैंने बाथरूम की रिकॉर्डिंग ऑन की मैंने देखा की मनु मालिनी के ऊपर पेशाब कर रहा था तथा मालिनी भी मनु की पेशाब की धार का मजा लेते हुए अपने मुँह अपने स्तन और अपने बदन पर उसकी धार पड़ने दे रही थी।

अब पेशाब करने की बारी मालिनी की थी तो मनु ने मालिनी की चुत को अपने मुँह से लगा लिया, एक बून्द पेशाब भी मालिनी का बेकार नहीं हुआ, दोनों बिच बिच में कुछ बाते करते और हॅसते भी जा रहे थे, मैं यहाँ साउंड रिकॉर्डर लगाना भूल गया था तो मैंने उनकी आवाज नहीं सुन पाया. उसके बाद दोनों किचन में आ गए मालिनी नाश्ता और चाय बनाने लगी, मनु ने उसको पीछे से पकड़ रखा था और उसकी गांड में अपना लंड घिस रहा था (ये सीन मैंने लाइव में भी देखा था) थोड़ी देर बाद मनु का लंड फिर तन गया, उसने मालिनी को गांड पीछे करने कहा, मालिनी बोली – जान चाय नाश्ता नहीं करेंगे क्या? मनु बोला – करेंगे जान ये तो कॉम्प्लिमेंट्री राउंड है, इसमें मैं तुमको नहीं झड़ाउंगा, मालिनी बोली – जान ऐसा तो आज तक नहीं हुआ की तुमने मेरे किसी भी छेद में तुम्हारा औजार डाला और मैं नहीं झड़ी, चलो जल्दी से कम्प्लीमेंट्री राउंड खेल लो ऐसा बोल के उसने अपनी गांड को पीछे कर दी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आकाँशा को डाटा स्ट्रक्चर्स सिखा डाला-1

मनु ने किचन में से तेल अपने लंड पर और कुछ मालिनी की गांड के छेद पर चुपड़ाया और और एक ही झटके में अपना सुपाड़ा उसकी गांड में घुसा दिया, मालिनी के मुँह से आह निकल गया, मनु धक्के लगाने लगा और मालिनी फिर से सिसकारने लगी आआह अह्ह्ह्हहए ईईईईई एसससससससस उफ्फ्फ्फफ्फ्फ्फ़ ममममममममम मनु झटके देने लगा मालिनी ने किचन के ओटे को पकड़ लिया और वो उसके धक्को का मजा लेने लगी, मालिनी बोली जान मलाई अंदर मत करना मुझे आज ये चाय के साथ टेस्ट करनी है, मनु खुश हो गया उसने मालिनी की दोनों चूचियों को कस के पकड़ के अपने धक्को की स्पीड बड़ा दी, मालिनी इस बिच एक बार झड़ गयी।

अचानक मनु ने माल निकलने का संकेत मालिनी को दिया मालिनी ने तुरंत एक कप आगे कर दिया मनु ने तुरंत मालिनी की गांड से लंड निकाला और अपने वीर्य की पिचकारी उस कप में मार दिया, मनु के वीर्य से कप पूरा भरकर भी कुछ वीर्य बाहर निकलने लगा जिसे मालिनी ने जमीन पर गिरने से पहले ही अपने ओठों से चाट लिया., मनु अब हाफने लगा फिर मालिनी ने नाश्ता और चाय बनाया दोनों ने मिलकर चाय नाश्ता किया मालिनी मनु का वीर्य अपने चाय में मलाई जैसे मिलाकर और कुछ मख्खन की तरह टोस्ट में लगाकर बड़े ही चाव से खाने लगी. मालिनी मनु से बोली – जान आज तुमने सुबह से मेरी गांड दो बार मारी है क्यों न हमारी शादी होते तक आज दिन भर तुम मेरी गांड ही मारो, मनु खुश होते हुए बोला – इससे अच्छी बात क्या हो सकती है आज तुम्हारी चुत मैं सिर्फ सुहागरात में ही चोदूँगा. इसके बाद मनु ने दिन भर में करीब 5-6 बार मालिनी की गांड मारी किचन, बेडरूम, हाल, बाथरूम यहाँ तक की उसने टॉइलट में उसकी गांड मारी, खाना खाते हुए भी मनु ने मालिनी को नहीं छोड़ा, दोफहर के करीब ३ बजे दोनों एक दूसरे की बाहो में बाहे डाल कर सो गए।

शाम करीब ५ बजे मालिनी की आँख खुली मनु अभी भी मालिनी की चूची पकड़ कर सोया था तथा उसका लंड मालिनी की गांड से चिपका हुआ था, मालिनी बड़े प्यार मनु को देखने लगी उसने धीरे से मनु का हाथ अपनी चूची पर से हटाया और और बाथरूम में चली गयी, करीब आधा घंटा बाद मालिनी बाथरूम से नहाकर आयी, उसने अब लाल कलर की सिल्क की पेंटी और ब्रा पहनी हुयी थी, आज के दिन पहली बार मालिनी ने अपने बदन पर कोई कपडा पहना था. उसने मनु के माथे पर और गालो पर किस कर के बोली – जानू अब उठ भी जाओ शादी की तैयारी नहीं करना है क्या? मनु उठ बैठा बड़े प्यार से देखा और उसका चेहरा पकड़ कर उसके माथे और गालो पर किस करने लगा, मालिनी बोली – जानू मैं कही भागी नहीं जा रही हूँ।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  My Sex Story-5

चलो जल्दी से फ्रेश हो जाओ तब तक मैं भी बाकि की तैयारी कर लेती हूँ. ये बोल के वो उठ गयी मनु भी बिस्तर से उठ कर उसने मालिनी को किस किया और फ्रेश होने चला गया. करीब १० मिनट बाद मनु नहाकर आया, उसने २-३ जगह फ़ोन किया (यहाँ मैं बताना चाहूंगा की मनु ही हैसियत शहर में एक युवा नेता की थी, कोई भी काम हो वो चुटकियो में करवा देता था), मालिनी ड्रेसिंग के सामने अपना मेक अप कर रही थी वो अभी भी अंडरवियर और ब्रा में ही थी, मनु भी अभी तक सिर्फ अंडरवियर में ही था उसने जा के मालिनी के गले में पीछे से बाहे डाल दी, मालिनी उसके हाथो पर चुम्बन देती हुयी बोली – जाइये आप भी तैयार हो जाओ, मैं जल्दी से तैयार हो जाती हूँ।

फिर मुझे कुछ मिठाई और वरमाला भी बनाना है, और इस बिच आप सुहागरात की सेज भी सजा लेना, मनु मालिनी के कंधे और गले पर किस करता हुआ बोलै – डार्लिंग तुम मनुज लोखंडे की दुल्हन हो तुम सिर्फ अपने को सँवारने में ध्यान दो, एक घंटे के अंदर मिठाई, खाना, वरमाला और भी बहुत कुछ यहाँ थोड़ी देर में आप की खिदमत में हाजिर हो जायेगा, मालिनी – और सुहागरात की सेज, क्या वो भी कोई आ के सजाने वाला है? मनु – हां मेरी जान उसकी चिंता मत करो संजू को तो तुम जानती ही हो न जिसके घर ले जाकर एक दो बार मैंने तुम्हे चोदा था, वो सुहागरात के बेड सजाने में माहिर है वो अभी १ घंटे के अंदर आके अपना काम कर देगा।

मालिनी – अच्छा जी, याने मेरे दूल्हे ने पुरे शहर में ढिंढोरा पिट दिया और मोहल्ले वाले क्या इनको शक नहीं होगा? मनु – डियर तुम इतना स्ट्रेस मत लो तुम सिर्फ दुल्हन बनो तुम्हे तो मालूम ही है की ये मेरे खास लोग है और साथ ही ये मेरे दबैल भी है, ये सब पीछे से आके अपना काम कर देंगे, किसी को कानो कान भी खबर नहीं होगी, मालिनी अब मनु के उत्तर से संतुष्ट होकर तैयार होने लगी, इधर मनु ने भी दूल्हे का लिबास पहना और वो भी सजने लगा, इस बिच करीब एक घंटे बाद, वरमाला, खाना, शादी का सामान आदि एक लड़के ने पीछे से ला के दे दिया. जबकि संजू ने बेड को काफी सुन्दर तरीके सजाया ही नहीं सजाया बल्कि उसने हाल में शादी के लिए छोटा सा मंडप भी तैयार कर दिया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  परियों के साथ चुदाई का मजा-2

करीब ८.३० बजे मनु और मालिनी दोनों पूरी तरह तैयार हो गए, मनु ने क्रीम कलर की शेरवानी, सर पर पिंक कलर की पगड़ी बाँधा था उसने हल्का मेक अप किया था वो भी काफी खूबसूरत लग रहा था. इधर मालिनी ने नेट का कत्थई कलर का लहंगा, चोली और उस पर रेड कलर की चुन्नी ली थी, मालिनी ने पूरा ब्राइडल मेक अप किया था, नाक में बड़ी सी नथ कानो में बाली और गले में गोल्ड का नेकलेस पहने हुए मालिनी स्वर्ग से उतरी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी. करीब ९ बजे मनु ने मालिनी को आवाज दिया – जान जल्दी करो मुहूर्त निकला जा रहा है, मालिनी ने दरवाजा खोला तो मनु मालिनी को देखकर दंग रह गया, मालिनी ने मनु से पूछा – मेरी जान कोई कमी तो नहीं रह गयी? मनु अभी भी मालिनी को देखे ही जा रहा था।

मालिनी ने चुटकी बजाते हुए फिर एक बार वही बात दुहराई, मनु की तन्द्रा टूटी वो बोला – मेरे जैसा खुशकिस्मत तो कोई भी नहीं है, आसमान से भी खूबसूरत चाँद तो आज मेरी झोली में आने वाला है, ये बोल के उसने मालिनी के गाल पर किस ले लिया मालिनी अपनी तारीफ सुनकर मुस्कुरा दी, फिर मनु मालिनी का हाथ अपने हाथ में लेकर उसके साथ मंडप में आ गया वहा दोनों ने वेदी जलाई, फिर मनु ने मालिनी को मालिनी ने मनु को वरमाला पहनाया, उसके बाद उसने मालिनी की मांग में सिन्दूर भर दिया और मालिनी को एक मंगलसूत्र सोने का था पहनाया फिर दोनों ने ७ फेरे लेकर अपने विवाह को संपन्न किया। दोस्तों कहानी जारी है और इसका छटवा भाग भी इसी तरह उत्तेजित करने वाला है, आप अपनी प्रतिक्रिया मुझे इस मेल id भेजने की कृपा करे [email protected]

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!