भाई ने बीबी की चुत चोदकर गर्भवती किया- भाग 7

Bhai ne biwi ki chut chodkar garbhvati kiya- Part 7

मालिनी के मुँह से अब सिसकारियां निकल रही थी मालिनी – आआआह उउउउउह उफ्फ्फफ्फ्फ़ ईईईईई इस्स्स्सस्स, मनु का जोश मालिनी की सिसकारियों से और बढ़ गया उसने मालिनी की गांड के निचे एक तकिया लगा दिया जिससे मालिनी की चुत और खुल गयी, अब उसने मालिनी के दोनों कूल्हों को जोरो से पकड़ कर अपना लंड मालिनी की चुत के छेद पर लगाया, उसने अपनी गांड को पीछे करते हुए एक जोरदार झटका मारा, मनु के लंड का सुपाड़ा मालिनी की चुत को चीरते हुए अंदर प्रवेश कर गया।

मालिनी के मुँह से जोरदार चीख निकल गयी मनु ने तुरंत मालिनी के मुँह पर हाथ रख दिया और बोला – जान तुम मुझसे दो साल से करीब करीब रोज ही चुदाती हो पर आज तो ऐसे चीखी जैसे की कोई नई नवेली पहली बार चुद कर अपनी सील तुड़वा रही हो सारे मोहल्ले को बताओगी क्या की हम दोनों घर पर है. मालिनी बोली – सॉरी जानू मैं मानती हूँ की तुम मुझे रोज ही चोदते हो पर हम लोगो ने अभी करीब ५-६ दिनों से चुदाई नहीं किये है, आज भी सुबह से तुमने मेरी गांड ही मारी है, हो सकता है की इतने दिनों से नहीं चुदने के कारन मेरी चुत में कुछ कसाव आ गया हो, आप चुदाई चालू रखो अब मैं नहीं चिल्लाऊंगी मनु ने ये सुनकर मालिनी के ओठों को चुम लिया अब उसने अपने को थोड़ा सा पीछे किया और एक जोरदार शॉट लगाया।

मनु के इस शॉट से मालिनी की आँखों के आँखों में आंसू आ गए लेकिन उसने इस बार अपने आप को काबू में रखा, इस धक्के से मनु का लंड मालिनी की चुत को ओठों को फैलाते हुए एक चौथाई अंदर चला गया, चुत के ओठों ने लंड को जकड़ लिया था, मालिनी अपने दोनों ओठों को मुँह में दबाकर दर्द सहन कर रही थी, मनु ने फिर लगातार दो धक्के लगाए और उसका १ फिट लम्बा लंड मालिनी की चुत की गहराइयों में समा गया अब मनु मालिनी को जोर जोर से चोदने लगा, हर धक्के के साथ मालिनी आनंद के सागर में गोते लगा रही थी पुरे कमरे में मालिनी की सिसकारियों की आवाजे और चुत और लन्ड के टकराने से टप – टप, पट-पट की आवाजों से कमरा गूंजने लगा, मालिनी की सांसे धोकनी के समान चलने लगी साथ ही अब वो जोर जोर से आवाजे भी निकल रही थी आआआआह उफ्फ्फफ्फ्फ़ आइइइइइइ एससससस उईईईईई साथ ही अब मनु के धक्के भी काफी तेज हो गए थे मालिनी ने मनु को एकदम से जोरो से पकड़ लिया और वो जोर जोर आअह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह करते करते हुए फिर से झड़ने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सावन में मस्ती..-2

परन्तु मनु के धक्को में कोई कमी नहीं आयी उसका लंड अभी भी मालिनी की चुत को बुरी तरह चोदे जा रहा था, मालिनी के झड़ने के कारण अब कमरे में पट पट की जगह फच फच की आवाजे आ रही थी, करीब १० मिनट बाद मालिनी के चेहरे पर फिर से उत्तेजना के भाव आ गए वो फिर चुदने का मजा लेने लगी, मनु के लंड का हर धक्का मालिनी की बच्चेदानी तक चोट कर रहा था, अचानक मनु ने अपनी स्पीड बड़ा दी अब उसने मालिनी को अपनी गोद में बिठाकर धक्के देने लगा मालिनी ने अपने पैर मनु की कमर में लपेट लिया मालिनी अब मनु की गोद में ऊपर निचे होने, मनु मालिनी की चूची चूसने लगा वो उसके दूद पर इधर उधर चूमने काटने लगा मालिनी इन धक्को को बर्दाश्त नहीं कर और दूसरी बार भरभरा कर झड़ने लगी, मनू फिर भी नहीं रुका और वो मालिनी को जोर जोर से चोदने लगा, लगातार दो बार झड़ने के कारन मालिनी की चुत से अब काफी लसलसा, चिपचिपा पानी बहार आ रहा था।

मालिनी की चुत ने मनु के लंड को कस कर जकड़ा हुआ था और जब मनु जोर से धक्का देकर लंड बहार खींचता था तो कुछ पानी बहार आकर बिस्तर पर टपक गया था, मनु मालिनी को करीब एक घंटे से चोद रहा था और मालिनी इस बिच २ बार झड़ गयी थी, पर मनु अभी भी झड़ने का नाम नहीं ले रहा था लगता था की ये दोनों कोई रेस में हिस्सा ले रहे हो और दोनों ही अपने फिल्ड के माहिर खिलाडी थे मालिनी झड़कर फिर से ५ मिनट में तैयार हो जाती थी तो मनु बिना झड़े मालिनी को कस कस के चोद रहा था. मनु ने अब मालिनी को पलंग के किनारे में लिटा दिया और उसकी गांड के निचे एक तकिया रख कर उसे फिर से चोदने लगा, मालिनी आह्ह्ह्हह्ह उससस ईईई इस तरह की आवाजे कर रही थी चुत भरपूर गीली होने के कारण मनु का १ फिट लम्बा और ३ इंच चौड़ा लवड़ा अब आसानी से अंदर बहार हो रहा था शायद मनु ने अपनी स्पीड को अब और तेज कर दिया शायद इंतजार की घडी अब ख़त्म होने वाली थी।

मनु भी अब कांपने लगा उसने मालिनी अपने से जोरो से चिपका लिया और वो अंट शंट बकने लगा जब की मालिनी भी फिर से अपने चरमोत्कर्ष पर थी वो जोर जोर से आआअह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ आईआआआआआ इस तरह से चीखने लगी पुरे कमरे में मनु के धक्के जो मालिनी की चुत पर पड़ रहे थे उसके कारण फच फच फच फच, पच पच पच पच की आवाजे आने लगी और मनु ने भी मालिनी को माल निकलने का संकेत दे दिया और वो मालिनी की चुत में झड़ने लगा साथ ही साथ मालिनी ने भी मनु को जोरो से पकड़ लिया और अपने नाखुनो से मनु की नंगी पीठ पर खरोंच कर निशान बनाते हुए झड़ने लगी, दोनों साथ साथ झड़ रहे थे मनु के झटके अब धीमे हो गए थे करीब १०-१२ झटके मारते हुए अपने वीर्य की पिचकारी पूरी की पूरी मोना की बच्चेदानी में उड़ेल दिया मोना की चुत मनु के वीर्य से लबालब भर गयी और ओवरफ्लो होकर मालिनी के रस के साथ मिश्रित होकर चुत से बहार उसकी जांघो तक बह रहा था, झड़ने के बाद मनु धम से मालिनी के ऊपर गिर गया दोनों इस जोरदार चुदाई से बुरी तरह थक गए थे।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  अय्याश सहेली के भाई से पट के चुदी

करीब डेढ़ घंटा चुदाई चली थी , दोनों ने १० बजे से चुदाई आरम्भ की थी और अभी ११.३० हो गया था मनु का लंड अभी भी मालिनी की चुत में फसा था उस रात मनु ने मालिनी को ४ बार जमकर चोदा और हर बार अपना वीर्य उसकी चुत में ही डाला रात के करीब ४.३० बजे मनु ने मालिनी की गांड मारी और मनु ने झड़ने के बाद मालिनी की गांड में लंड फंसा ही रहने दिया और इसी हालत में दोनों ने एयर कंडीशन ऑन किया और नंगे ही चिपक कर कम्बल ओढ़ कर सो गए. मालिनी उस दिन करीब करीब १७-१८ बार झड़ी मैंने उनकी पूरी रिकॉर्डिंग देखी जो यहाँ लिखना संभव नहीं मैंने भी अपना लैपटॉप ऑफ़ किया मुठ्या मारा और सो गया, मैंने दूसरे दिन की रिकॉर्डिंग ऑन की मैंने देखा चिपक के सोये हुए कम्बल उन दोनों के नंगे बदन से सरक कर अलग हो चूका था, एसी की ठंडक के कारन शायद दोनों को ठण्ड लग रही थी, मनु मालिनी के पीछे से चिपका हुआ था उसने मालिनी को अपनी टांगों के बिच में फसा रखा था उसके दोनों हाथ मालिनी की चूची को पकड़े हुए थे।

जबकि उसका लंड अभी भी मालिनी की गांड में ही फसा करीब पौन घंटे बाद मनु की नींद खुली शायद उसे टॉयलेट जाना था उसने मालिनी की चूची पर से अपने हाथ हटाए और धीरे सेअपना लंड मालिनी की गांड से निकाला, उसने मालिनी के गाल पर एक किस किया, एसी को बंद किया और टॉयलेट के लिए चला गया मालिनी अभी भी सोयी हुयी ही थी उस समय सुबह के ११ बजे थे .करीब १५ मिनट बाद मनु वापस आया उसने मालिनी को एक नजर देखा फिर अपने लंड को हाथ से दो तीन बार हिलाया उसके बाद वो मालिनी जो की पीठ के बल सीधी सोयी थी के गालो पर किस करते हुए उसकी नाभि में अपनी जीभ फिराने लगा मालिनी अब कुनमुनाने लगी कुछ देर इसी तरह करने के बाद मनु मालिनी की एक चूची को पकड़, दूसरी चूची को मुँह से चूसते हुए अपने दांतो से हलके हलके से काटते हुए उसके गले तक बेतहाशा चूमे जा रहा था, मालिनी भी अब अंगड़ाई लेते हुए जग रही थी उसने अपनी बाहें फैला दी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्स (Sex) ड्राइव और पावर बढ़ाने के बेहतरीन टिप्स

मनु को इससे मालिनी पर बहुत प्यार आ रहा था उसने मालिनी को अपनी बाहों में जकड़ लिया और उसे बेतहाशा चूमने लगा मनु मालिनी के पुरे बदन, माथा, चूची, ओठ, गर्दन, पेट, जांघ, गांड,चुत इत्यादि सभी जगह पर जबरदस्त चुम्बन ले रहा था, उसने मालिनी को अपने सीने से बुरी तरह जकड़ा हुआ था, मालिनी की चूची उसके सीने से चिपकी हुयी थी, अब मालिनी भी मनु का भरपूर साथ दे रही थी, अब मनु ने मालिनी को चित्त लिटा दिया और उसपर सवार होकर उसको जगह जगह चूमने लगा, करीब आधाघंटा इसी तरह मनु मालिनी को सारे बदन पर चूमता चाटता रहा मालिनी की सांसे अब धोकनी की तरह तेज तेज चल रही थी।

वो अब पूरी तरह उत्तेजित हो गयी थी अब मनु मालिनी की चूची मींजने लगा और उसने अपना दांया हाथ निचे ले जाकर मालिनी की चुत ने अपनी दो ऊँगली गुसाकर ऊँगली से उसकी चुत चोदने लगा, मालिनी अब जोर जोर से आवाजे आवाजे कर रही थी उफ्फफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ आआआआह…. आआआआ… ईईईईईईईई…इस्स्स्सस्स्स्स… आअअहह…कर रही थी मनु समझ गया की मालिनी अब कभी भी झड़ सकती है इसीलिए उसने अपना मुँह मोना की चुत से लगाकर चुत के दाने को जोर जोर से चाटने लगा, मालिनी ये बर्दाश्त नहीं कर पायी और आआआआह आआह अहहहहह करते हुए बुरी तरह झड़ने लगी, करीब आधा कटोरी माल मोना की चुत ने निकला जिसे मनु ने बिना वेस्ट किये पि गया, उसके बाद उसने मालिनी का मुँह चोदा, उसकी गांड मारी इसी तरह चलता रहा, इन १० दिनों में मालिनी की चुत को मनु ने बम भोसड़ा बना दिया उन दोनों ने घर के हर एरिया में चुदाई की इस तरह मेरे भाई ने मेरी बीबी को चोदा, दोस्तों कहानी कैसी लगी प्लीज मुझे बताये मेरा मेल id है [email protected]

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!