भाई ने तो मेरी चुत गांड की माँ चोद दी

Bhai ne to meri chut gand ki maa chod di

दिल्ली की रहने वाली मुस्कान अपने ही भाई से सेक्स कर बैठी। मुस्कान का कहना है की उसे अपने भाई का लिंग काफी पसंद था इसलिए उसने अपने भाई के साथ सेक्स कर लिया पर उसे क्या पता था की उसका भाई उसकी इतनी जबरदस्त चुदाई कर देगा। मुस्कान की ये कहानी भाई ने तो मेरी चुत गांड की माँ चोद दी हमे ये बताती है की जो जैसा दिखता है वो वैसा होता नहीं है।

मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ने के बाद भी आपके लंड और चुतो से पानी निकल जायेगा।

मैं अपने भाई को कामुक और गन्दी नजरो से देखा करती थी। एक बार मैंने उसे घर में अपना लंड हिलाते देख लिया थे बस तभी से मैं उसके अपने भाई के साथ सेक्स करने के सपने देखने लगी थी।

उसका लंड मोटा तो था ही साथ ही काफी नसों से भरा भी था और यही बात मुझे उसके लिंग की पसंद थी। मैं उसका मर्दाना शरीर मैं छूने के बहाने ढूंढती थी।

मैं उसके साथ सेक्स करना चाहती थी पर कभी मौका नहीं मिला पर उस दिन घर पर कोई नहीं था। मम्मी पापा किसी काम से बाहर गए थे।

मैंने सोचा की भाई के पास जाकर कुछ कामुक हरकते करती हूँ क्या पता वो मेरे इशारे समझ जाये। मैं जैसे ही उसके कमरे के पास गई और दरवाजा खोला मैंने देखा की वो अपना लिंग पकड़ कर ऊपर के लाल टोपे को रगड़ रहा है।

ये देख कर मेरी चुदाई की चाहत को पंख लग गए। मैंने जल्दी से अपनी शर्ट उतारी और अंदर चली गई।

भाई (फटी में) – मुस्कान ?

भाई ने अपना लिंग अपने कच्छे में डाला और शर्म के मारे कुछ नहीं बोला। पर मैं अपने स्तन निकाल कर उसे हिला हिला कर दिखाने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dono Sister ki chudai ek saath maa papa ke absent me

भाई – ये क्या कर रही है पगल है क्या ??

मैंने कहा – क्यों तुम्हे पसंद नहीं आया ?

मैं भाई के ऊपर चढ़ी और उसके मुँह को अपने स्तनों के बीच दबा दिया। अब भाई से रहा नहीं गया और वो भी मेरी तरह बेशर्म हो कर मेरी दोनों दूध बारी बारी से चूसने लगा।

भाई मेरी छाती की अच्छी चुसाई करने लगा और मेरी दोनों चूची पर अलग सा एहसास होने लगा। भाई ने मुझे चूस चूस मेरी स्तनों पर लाल निशान बना दिया। ऐसा लग रहा था की मैं किसी जानवर को अपना दूध पीला रही हूँ।

उसके बाद भाई मेरी तरफ देखा और कहा “ये हम दोनों क्या कर रहे है ?” उसकी इस बात का जवाब मैंने मुस्कुरा कर दिया “भाई बहन अब प्यार भी नहीं कर सकते क्या ?”

भाई – पर ये प्यार अलग है जो हमे नहीं करना चाहिए !!

मैं पीछे हटी और उसका लंड निकाल कर हिलाने लगी। मेरे नरम हाथो में सख्त और गर्म लंड की वजह से मेरी योनी में खुजली शुरू हो गई। मैं अपने पैर चिपका कर उसका लंड चूसने लगी और भाई गहरी सांसे लेने लगा।

मेरी चुत से हल्का हल्का पानी निकलने लगा और मुझ से और रुका नहीं गया मेने अपनी जीन्स उतारी और भाई के सामने पैर खोल कर लेट गई। उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को देख देख और अपने निजी शरीर के अंग सहलाने और हिलाने लगे।

मैं कभी भाई की आँखों में देखती तो कभी भाई के लंड को। पर मेरे भाई की नजर तो बस मेरी गुलाबी योनी और मोटे स्तनों पर ही जमी थी।

कुछ देर के बाद हम दोनों अन्तर्वासना इतनी बढ़ गई की हम दोनों ने चुदाई करने की ठान ली।

भाई अपना खड़े लंड को लेकर खड़ा हुआ और मेरे पैर खोल कर मेरी योनी चाटने लगा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  शादीशुदा बहन का गेट खोला-1

चाट चाट कर जब उसने मेरी योनी चुदाई के लिए तैयार कर दी तो उसने अपना लंड हाथ में लेकर मेरी चुत में दे मारा।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब लंड तो उसका छोटा था नहीं और मेरे कभी चुदाई की नहीं थी इसलिए मेरी चीख निकल गई। लंड अंदर जाते ही मेरी योनी में जलन्द वाला दर्द शुरू हो गया।

और तब मुझे पता लगा की मैं चुदाई के लिए अभी तैयार नहीं हूँ। पर भाई तो पूरा शुरू हो चुका था उसने मेरी कमर के साथ में दोनों हाथ जमा कर रखे और मेरी चुत अपने लंड से चोदने लगा।

मेरी चीख से लगा की मुझे मजा आरहा इसलिए वो मरी चुत की माँ चोदने लग गया। और अपनी कमर जोर से हिला कर मेरे पेरो के बीच मारता जिस से मेरी चुत की माँ चुदने लग गई।

मुस्कान – अहह अहहह ऊह्ह्ह नहहीं बस बस रुको !!!

भाई के शरीर में करंट दौड़ने लगा और वो मेरी चुत ऐसे चोदने लगा जैसे उसके गई सालो का अनुभव हो।

भाई ने अपना लंड निकाला और मुझे दो पल की राहत मिली। फिर उसने मेरी गांड के छेद में आधा लंड डाला और कहा “अब यहाँ चोदू ?”

मुझे समज नहीं आ रहा था की क्या बोलू क्यों की मैंने कभी अनल सेक्स नहीं किया था। फिर भाई ने मेरी चुपी को हाँ समझा और मजे से लंड पूरा अंदर दे मारा।

लंड अंदर जाते ही मेरी गांड फट गई और वो मेरी गांड की और माँ चोदने लगा।

कुछ देर उसने मेरी गांड चोद कर उसका छेद बड़ा किया फिर उसके बाद वो वापस मेरी योनी चोदने लगा।

मैंने कहा – क्या कर रहे हो कही एक जगह नहीं टिक सकते ?

भाई – नहीं समझ नहीं आरहा मजा किस छेद में ज्यादा है ?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-1

बस उसके बाद तो वो बारी बारी से मेरी गांड चुत की माँ चोदने में लगा रहा। उसने मुझे गले लगाया और अपनी कमर उछाल उछाल कर मेरी गांड चुत चोदता रहा।

भाई बहन की जबरदस्त चुदाई से पूरा बेड हिलने लगा और कमरे में मेरी गांड पिटाई की आवाज गूंजती रही।

मैं तो बस हल्का फुल्का सेक्स का मजा लेना चाहती थी पर भाई ने चुत गांड की माँ चोद दी। वो मेरी गर्दन पर कभी चूमता तो कभी मेरी स्तन चुस्त। इतनी जबरदस्त चुदाई से मेरी आँखों से ख़ुशी के आंसू निकलने लगे और मैं बस चुपचाप वही लेटी अपने दोनों छेदो को चुदवाती रही।

कुछ देर बाद भाई की रफ्तार किसी मोटर कार की तरह हो गई और वो मेरी चुत गांड और दम लगा कर चोदने लगा।

भाई – अहह मुस्कान मेरा होने वाला है !!! कहा निकालू ??

मैंने कहा – अहह नहीं नहीं नीचे मत निकालना प्लीज !!!

भाई ने कुछ देर और मुझे जबरदस्त तरीके से चोदा और एकदम से लंड बाहर निकाल कर मेरी नरम छाती के बीच अपना सारा माल उड़ेल दिया।

मैं वही बेबस भाई के लंड से नाहा गई और कामुकता का चरम सुख प्राप्त कर बैठी।

ये थी मेरी कहानी मेरी गांड चुत की जबानी। अगर आपको मेरी कहानी भाई ने तो मेरी चुत गांड की माँ चोद दी पसंद आई तो कमेंट करके जरूर बताना।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!