भाई से जवानी के रसीले छेद को चुदवाया-1

Bhai se jawani ke rasile ched ko chudwaya-1

हैल्लो दोस्तों, मेरी आदत भाई के साथ लिपटकर सोने की है और पहले तो सब ठीक था, लेकिन जब इस बार भाई घर आया, तो में पूरी बदल चुकी थी क्योंकि में किसी से अपनी चूत चुदवा चुकी थी. अब मामा ने मेरी चूत मारने के बाद मेरी चढ़ती जवानी को और निखार दिया था. में 18 साल की उम्र में ही बड़ी ही गदराई मस्त लड़की हो गयी थी, मेरा कमसिन कुँवारा बदन भर गया था और में भाई के साथ चुदाई की सोचने लगी थी.

में पहली रात को भाई के साथ सोई और भाई से चिपक गयी और कोशिश यही करती रही कि भाई के लंड से मेरी चूत चिपकती रहे और मेरे उभरते हुए स्तन भाई को मज़ा देते रहे. में मामा की आख़िरी चुदाई के बाद चुदवाने को बेहद तड़प रही थी, मेरी चूत बार-बार कुछ अंदर लेकर चुदना चाहती थी, मेरा मदमस्त यौवन प्यासा था इसलिए में भाई से चिपक-चिपककर उसे बहकाने लगी तो भाई भी मेरे गुदगुदे रसभरे जवान होते जिस्म का सुख भोगने लगा. अब मेरी चढ़ती मादक जवानी का असर उस पर उसी रात हो गया था और उसने भी मुझे अपने से चिपका लिया था.

अब उसका लंड एकदम कड़क था और अब में बार-बार अपनी चूत उसके लंड पर दबा-दबाकर उसके साथ बातें करते-करते सो गयी थी. उस टाइम में 12वी क्लास में थी और मेरे सीने पर उम्र की उठान साफ दिखती थी और बाकी गर्ल्स के मुक़ाबले मेरी शर्ट ज़्यादा उठी और नुकीली थी, मेरे निपल्स भी बड़े नुकीले है तो मेरी शर्ट पर सभी की नजरे रहती थी जहाँ मेरा यौवन उभरकर इतरा रहा था. में स्कर्ट छोटी पहना करती थी जिससे मेरी दूध जैसी गोरी और चिकनी-चिकनी जांघे सबका दिल धड़का देती थी.

अगले दिन में स्कूल से आकर लेट गयी, जब घर में कोई नहीं था. मैंने एक तकिया अपने मुँह पर रखकर लेटी थी और सोचा अगर भाई आएगा तो देखूँगी क्या करता है? तो मेरा अनुमान सही निकला.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Didi Bani Meri Life Partner-2

भाई आया और धीरे से उसने मुझे देखा कि में गहरी नींद में हूँ या नहीं. भाई ने मेरी स्कर्ट पकड़कर ऊँची कर दी और मेरी कमसिन और निखरती हुई जाँघो को देखने लगा. अब उसके हाथ मेरी चिकनी- चिकनी जाँघो को सहलाने लगे थे और मेरे उभरते यौवन के मज़े लेने लगा.

अब में धीरे- धीरे उसके हाथों की गर्मी से बहकने लगी थी, इसलिए मेरी गर्म सांसो से भाई ने मुझे छोड़ दिया और बाहर चला गया. उसके जाते ही मैंने अपनी शर्ट के ऊपर के चारों बटन खोल दिए और लापरवाही से लेट गयी, तो थोड़ी देर के बाद भाई से आया और मेरी उठी हुई स्कर्ट से चमकती मेरी गोरी-गोरी नंगी जांघे देखने के बाद मेरी चिकनी-चिकनी जांघे से सहलाने लगा और बोला कि मीनू. में कुछ नहीं बोली, तो उसे लगा कि में नींद में हूँ.

वो धीरे से फुसफुसाया हाए कैसी कसी हुई जांघे है मीनू? और मेरी चिकनी जांघे अपने हाथ से सहलाकर मज़े लेते हुए कहने लगा कि कितनी मस्त हो गयी है मीनू? कितना चिकना और सख़्त बदन है तेरा मीनू? काश में एक बार तेरे छोटे-छोटे सख़्त निपल्स चूसता, तेरी छोटी सी कुँवारी चूत चोदता, हाए मीनू कैसे ऊहहम्म ऊहम्म करके कसमसायेगी मेरी मीनू? तेरी चूत कितनी कसी-कसी होगी? एकदम टाईट.

अब भाई की हरकतों से मेरे प्यासे बदन में आग लगा गयी थी. भाई ने मेरी खुली हुई शर्ट पर ध्यान दिया तो वो समझ गया कि मैंने ही जानबूझकर शर्ट के बटन खोले है. अब उसकी हिम्मत खुल गयी थी और वो बोला कि मीनू तो में कुछ नहीं बोली. उसने धीरे से मेरे उभरते हुए सीने पर अपना हाथ फैर दिया. ओह माई गॉड कितने दिनों के बाद ऐसा मज़ा आया था? और में चुपचाप नहीं रह सकी और जब भाई ने मेरे निप्पल को दबा दिया तो मेरे मुँह से श्श्श्श्सशाआ निकल ही गया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  कजिन बहन गरम होकर आपे से बाहार हो गई-1

भाई ने मेरे मुँह से तकिया हटाया और बोला कि चल मीनू आज तेरी उठती जवानी को मज़ा दे दूँ, तू बड़े दिनों से किसी से चुदने की सोच रही होगी, है ना? तो मैंने भाई से लिपटकर कहा कि हाँ भाई इस जवानी की जलन अब सही नहीं जाती, भाई मुझे प्यार करो प्लीज, तो भाई ने मुझे अपनी गोदी में उठा लिया और मेरे बेडरूम में ले गया.

उसने मुझसे पूछा कि इतनी सेक्सी कैसे हो गयी मीनू? और अब भाई मुझे पागलों की तरह चूमने लगा था और उसे मालूम है कि मेरी जैसी कम उम्र की लड़कियों का बदन कितना मस्त होता है, तभी तो लोग स्कूल गर्ल्स को चोदने की ख्वाहिश रखते है. अब उसने मेरी स्कर्ट पूरी उतार दी थी और मेरी शर्ट भी उतार फेंकी थी. मेरे सख़्त और नुकीले स्तनों को देखकर भैया से रहा नहीं गया और वो मेरे तने हुए बूब्स को चूमने चाटने लगा.

अब भाई मेरे स्तनों को अपने मुँह में पूरा भरकर चूस रहा था, क्योंकि मेरे छोटे-छोटे समोसे जैसे बूब्स उसके मुँह में पूरे समा रहे थे. अब भाई मुझे मौका नहीं दे रहा था और मेरे स्तनों को अपने हाथ में मसलता और निपल्स चूसता और बोला कि हमम्म मीनू क्या निपल्स है यार तेरे? ऐसा लग रहा है कि गुलाबी आइसक्रीम हो और तेरे निपल्स जैसे आइसक्रीम पर चैरी रखी हो. में बोली कि चैरी को चूसो भैया आहह बड़ा मज़ा आता है, तो भाई बोला कि किसमें मीनू? तो में बोली कि ये चैरी चुसवाने में भाई. भाई बोला कि अरे रुक मीनू चूत चाटूँगा तो और मज़ा आएगा, हाए तू जब चुदेगी तब कितना मज़ा आएगा? तुझे नहीं पता मीनू.

मैंने पूछा कि चुदाई में और मज़ा आता है भैया? तो भाई बोला कि हाँ चुदाई में चूत में बड़ी गुदगुदी होती है और बड़ी खुजलाहट होती है मीनू, लड़कियों की चूत में खूब मस्ती होती है, अरे बदकिस्मत है वो लड़की जिसने कभी चुदवाई नहीं करवाई. थोड़ी देर के बाद भाई ने मेरी मरमरी चिकनी-चिकनी जांघे चूमी. अब भाई पागलों की तरह मेरी जांघो को अपने मुँह से सहला रहा था और चूम रहा था और धीरे से भाई ने मेरी पेंटी खींच दी और बोला कि हाए मीनू कैसी कच्ची कली है तू?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बहन को चोदकर बहनचोद बन गया

अब भैया मेरी बिना बालों वाली अधखिली गोरी गुलाबी चूत को देखता रह गया था. भाई ने मेरी पूरी चूत अपने हाथ में थाम ली और मेरी पूरी चूत को दबा दिया और बोला कि हाए मीनू मेरी बहन क्या चीज है तू? क्या मस्त बदन है? कैसी चटकती मस्त कली है मीनू? हमम्म ससस्स हहा. भाई ने मेरी अंदर की जांघे बड़े प्यार से चूमी और सहलाते हुए मेरी जाँघो को फैला दिया.

भैया ने मेरी कमसिन कच्ची कली की खुशबू सूँघी और बोला कि हमम्म आह वाहह मीनू कुँवारी कली की कुँवारी खुशबू, हाए मेरी बहन कितनी मस्त है? और में बाहर की लड़कियों को चोदता रहा और भैया ने धीरे से मेरी फैली जाँघो के बीच में देखा जहाँ मेरी चढ़ती जवानी का रसीला छेद है.

मेरी चूत की कली एकदम कसी हुई थी और दोनों फांके चिपकी हुई थी, तो भाई ने धीरे से मेरी चिपकी हुई फांको को अपनी उंगली से रगड़ दिया सस्सस्स, हहाआआआआआआआ, उई भैया, आआआआआ और भैया ने मेरी नहीं सुनी और मेरी गुदगुदी चूत को चाटने, चूसने में जुट गये और मेरी नंगी चिकनी चूत की कली पर धीरे से अपनी जीभ चला दी.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!