भिखारी के झोपड़े में भोसड़ा !! Part – 2

Bhikhari ke jhopade mein bhosada Part – 2

लॉकडाउन की वजह से मैं भिखारियों की मदद करना चाहता था। अपने पड़ोस के ही एक भिखारी के पास मैं खाना पूछने के लिए गया। लेकिन वह भिखारी झोपड़े में भोसड़ा चोद रहा था। क्योंकि मैं अपनी सेल्फी कैमरा ऑन कर कर वीडियो भी बना रहा था तो उसकी भोसड़ी की चुदाई भी कैमरे में कैद हो गई।

अब जरा आप ही लोग सोचो मुझे ऐसा मौका मिला तो मैंने क्या किया होगा?!!

सही सोचा मैंने इस मौके का फायदा उठाया!!

चलिए सब को शुरू से शुरू करते हैं।

मैंने सोचा लॉकडाउन में गरीबों की मदद करनी चाहिए। तो यही सोच कर मैंने अपना सेल्फी कैमरा ऑन किया और चल पड़ा भिखारियों की मदद करने।

मैंने शुरुआत अपने मोहल्ले के चार गली छोड़कर रहने वाले भिखारी से शुरुआत करी। मैंने सेल्फी कैमरा इसलिए ऑन कर रखा था क्योंकि इससे मैं लोगों की मदद करते हुए वीडियो बना था और उन्हें सोशल मीडिया पर अपलोड करके सिंपति पागल लाइक मिलते।

लोग ऐसी चीजों को बहुत ज्यादा लाइक करते हैं मैं भी फेमस हो जाता मदद करने के बहाने। वैसे मेरा कोई इरादा था नहीं मदद करने का मैं तो बस फेमस होना चाहता था टिक टॉक के ऊपर।

तुम्हें उस झोपड़े के पास पहुंच गया मेरा 20 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा टनाटन ऑन था। जैसे ही मैं झोपड़े के पास पहुंचा तो कुछ आवाजें आ रही थी जैसे कि आ आ आ अम्म आ

पहले तो मुझे यह लगा भिकारी सारा 3GP मोबाइल में पोर्न वीडियो भरवाकर देख रहा है या ऑडियो वाली अंतर्वासना कहानियां सुन रहा है।

लेकिन जैसे ही मैंने उस झोपड़े में झांका वह साला किसी मोटी गांड वाली औरत की चुदाई कर रहा था। या देखकर मैं बिल्कुल हैरान हो गया मैं और मेरा लंड हम दोनों हैरान थे।

मैंने सोचा माधर्चोद यहां ऐसी हालत होकर गर्लफ्रेंड नहीं मिल रही है मुट्ठ मार कर काम चलाना पड़ रहा है और यहां भिखारियों को भी चूत मिल रही है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  माँ ने चूत देकर बचाई मेरी नौकरी

वैसे तो एक शरीफ लड़की की तरह मुझे चुपचाप वहां से चले जाना चाहिए था और उनकी प्राइवेट जिंदगी में दखल नहीं देना चाहिए था।

लेकिन मैं आज के जमाने का हरामि लड़का हूं मौके का फायदा कैसे छोड़ सकता था और कब तक मुट्ठ मार कर काम चलाता।

मैंने अपना 20 मेगापिक्सल का सेक्स सेल्फी कैमरा बंद किया और 40 मेगापिक्सल का बैक कैमरा खोला और उनकी वीडियो बनाना चालू कर दी। वह साला भिकारी उस मोटी गांड वाली औरत को कूद कूद कर चोद रहा था और वह औरत भी खूब मजे ले रही थी।

आ! आ! चोदो ना… बेबी… आ! आ!!

“बेबी” शब्द सुनकर मेरे कान फट गए। मेरे मुंह से बस गालियां ही निकल रही थी बहन चोद भिखारियों के भी पूरे मजे हैं साले।

वह दबा दबा कर घचाघच उसकी चूत की चुदाई कर रहा था और अपना पूरा दमखम निकाल रहा था। वैसे तो साला जब देखो भीख मांगता रहता था पैसे दे दो दो रोटी खानी है कितना कमजोर हो गया हूं।

और यहां पर साला अपनी सारी कमजोरी दिखा रहा था उस औरत की दबा दबा कर घटाकर चुदाई कर कर के।

यह सब देख देख कर मैं जल भुन ही रहा था कि वह भी जारी के झोपड़े में लगी हुई तीन मेरा कंधा लगने से गिर गई।

और भैया सब लोग बहुत ज्यादा चौंकाने हो गए उस औरत ने जल्दी से अपनी साड़ी नीचे कर ली और वह भिखारी अपना लंड लेकर नंगा खड़ा हो गया।

उसके चेहरे पर साफ साफ दिख रहा था उसकी गांड फटी पड़ी है और मेरे हाथ में मोबाइल भी था। वह समझ गया था कि क्या मामला चल रहा है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  नौकरी में मिली प्यासी मेडम की चूत

मैंने बोला – वह अंकल जी मैं तो खाना पूछने आया था लेकिन आप तो यहां गरम गरम सेब खा रहे हो।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

और यह गलती से वीडियो बन गई मैं तो टिक टॉक पर डालने वाला था

वह भिखारी बोला – अरे भैया कहीं मत दयालु हमरी बीडीओ।

वह औरत भी बोली – बाबूजी कहीं मत डालना यह वीडियो हम तो बस आजे आय रहन।।

मैंने बोला इतना परेशान मत हो मैं एक अच्छा लड़का हूं मैं यह वीडियो डिलीट कर दूंगा लेकिन वह सेब हमें भी खिला दो।

वह दोनों एक साथ बोले – कौन सा सेब बाबूजी?!!

मैंने कहा – वही सब जो तू अभी खा रहा था अपनी गांड से उसकी गांड पर मार रहा था।

उन दोनों के पास कोई भी रास्ता नहीं था तो वह औरत मान गई सच में उसकी हार सुनकर मेरा लंड लंड खड़ा था और मेरा लंड लंड का रोम-रोम खुश था।

वह भिकारी कपड़े पहनकर कोने में एक तरफ हो गया और वह औरत अपनी खोलकर टांगे फैला कर लेट गई। बस मैंने अपना खड़ा लंड लिया और उसकी चूत में खड़े-खड़े घुसा दिया।

वो एकदम से चीख पड़ी और बोली – धीरे बाबूजी दर्द हो रहा है आपका उनसे ज्यादा बड़ा है

मैंने कहा – बाबूजी नहीं पहले की तरह बेबी बोलो मुझे

और मैंने उस मोटी गांड वाली आंटी की चुदाई करना चालू कर दिया मैं उसकी चूत की जबरदस्त चुदाई कर रहा था। घचाघच बस को चोद रहा था सच में चुदाई करने में बहुत ही ज्यादा मजा आता है पहली बार एहसास किया।

अब तक तो मुट्ठ मार कर जो लड़का काम चला रहा था आज उसे एक बढ़िया मोटी गांड वाली औरत की चुदाई करने का मौका मिल रहा था।

और वह भिखारी कोने में खड़ा होकर सब कुछ देख रहा था उसका भी लंड पूरा खड़ा था बेचारा झाड़ भी नहीं पाया मैं आ गया था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चुदाई का संदेशा

मैंने कहा – भैया तुम ऐसे खड़े मत रहो मैं इसकी चुदाई कर रहा हूं तुम देख कर मुट्ठ मारो।।

और वह हम दोनों की चुदाई देख कर मुठ मारने लगा और मैं उसकी औरत की और जोर-जोर से चुदाई करने लगा। जितनी बार मैं उसकी चूत को अपने लंड से झटका देता था उतनी बार उसके बड़े-बड़े बूब्ज़ ऊपर-नीचे होते थे।

उसके बड़े बड़े दूधों को मैं अपने हाथों से मसल रहा था और पकड़ कर उसकी चूत की चुदाई कर रहा था। सच में बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था और कुछ ही देर में उस भिखारी का भी झड़ने वाला था मेरा भी झड़ने वाला था और उस औरत को भी वासना आनंद मिलने वाला था।

और जैसे ही मेरा झड़ने वाला था मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उस औरत के मुंह में अपना सारा माल झाड़ दिया। और उस भिखारी का भी झड़ गया वह औरत का भी झड़ गया और तीनों को एक साथ वासना का सुख मिला।

वह औरत बोली – तुमका जो चाहिए रहा वो मिल गवा अब हमरी बीडीओ ना डाल्यु।।

मैंने कहा हां ठीक है नहीं डालूंगा बस इसके बारे में किसी को पता नहीं चलना चाहिए वरना तुमको वायरल औरत बना दूंगा।

और बस यह क्रिया कांड करने के बाद मैंने 2000 का नोट निकालकर उस भिखारी को दे दिया और वहां से चुपचाप चला गया।

अब इतना भी हारामी नहीं हूं मैं जैसा आप लोग सोच रहे हो मदद तो तब भी करी मैंने।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!