भीनी सी महकती चूत 2

Bhini si mehakti chut-2

अब मैंने हिम्मत करी और अपना हाथ उसकी पीठ पर से धीरे धीरे नीचे उसके चूतड तक ले आया!!!

उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हुआ तो मेरी भी हिम्मत बढ़ गई, मैंने हलके से अपना हाथ उसकी साडी के अंदर डाला और उसके चूतड पर फेरने लगा। श्वेता एकदम से पलटी और कहने लगी – तुम ये क्या कर रहे हो…??

मैंने घबराकर कहा – कुछ नहीं…

तो फिर उसने कहा कि उसकी पीठ में दर्द ख़तम हो गया है और कहने लगी – अगर तुम न होते, तो पता नहीं ये दर्द मेरी जान ही ले लेता!! तुम्हारी वजह से मैं काफी रिलीफ महसूस कर रही हूँ…

फिर उसने तिरछी नज़र से मेरे टॉवल की तरफ देखा, जहाँ मेरा लण्ड तम्बू की तरह खड़ा था और उसे सलामी दे रहा था!

उसने मुझ से कहा – तुम्हारी मेडिसिन से मेरा दर्द ठीक हुआ है, बताओ तुम उसके बदले में क्या चाहते हो!!

मैं सोचता हूँ, शायद मेरे टॉवल में मेरे लण्ड का उभार देख कर उसने ऐसा सवाल किया होगा…

मैं एकदम से सकपका गया और डरते हूए कहा – कुछ नहीं… पर मेरे मन में तो उसकी चूत को चोदने की इच्छा हो रही थी जो मैं कह नहीं पाया।

थोड़ी देर बाद वो खुद ही बोली कि उसका पति उसके पास कम ही रहता है और उसकी सेक्स की इच्छा पूरी नहीं हो पाती… वो सेक्स के लिए तड़पती रहती है और अपनी उंगली को चूत में डालकर अपनी इच्छा शांत करती है!!! !!

फिर वो मेरी आँखों में आँखें डालकर बोली – क्या तुम मेरी सेक्स की भूख को शांत कर सकते हो… ??

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दूध वाली नेहा आंटी की चुदाई

फिर उसने एक एक करके अपने सारे कपडे उतार दिए और नंगी होकर मेरी तरफ देख कर हँसने लगी!!

क्या बदन था उसका ऐसा लगता था कि भगवान ने बड़ी ही फुर्सत से उसे बनाया है!!! !!

बिलकुल गोल और फुले हूए उभार थे और एकदम चिकनी और गुलाबी चूत और गोल गोल चूतड देख कर मेरा तो बुरा हॉल हो गया!!!

पहले तो मैं सन्न रह गया, फिर मैंने आव देखा न ताव और मैं तुरंत उसके पास चला गया और अपने होंठ उसके होंठों से सटा दिए और किस करने लगा और अपने दोनों हाथो से उसकी चुचियों को मसलने लगा…

उसने अपनी आँखें बंद की हुई थीं और जोर जोर से आहें भर रही थी – उम्म… ऊंह… ईश इस्स… आहह अहह अहः… आ अ… उफ़… आ माँ… हाँ हाँ हाँ… ऐसे ही; ऐसे ही… ओह!! माँ मर गई रे… आह्हह आहह अहह… अहः आ आ अ अ… ऊंह… ईश इस्स…

मैंने तब तक उसकी चुचियों को मसल मसल कर लाल कर दिया था। काफी देर तक ऐसा करने से वो गरम हो चुकी थी। उसने कहा – तुम भी अपना टॉवल और अंडरवियर निकल दो… !!

मैंने टॉवल और अंडरवियर निकाल फेके और उसके ऊपर आकर उसके बदन को चूमने लगा। फिर मैंने उसको अपना लण्ड चूसने को कहा तो वो बड़े प्यार से मेरे लोडे को चूसने लगी… !!

फिर मैंने 69 की पोज़िशन में आकर उसकी चूत में अपनी जीभ लगा दी और चूसना शुरू कर दिया।

बीच-बीच में मैं उसकी जांघो और पीठ को भी सहलाने लगा। अब उसकी सिसकारियाँ पूरे कमरे में गूंजने लगीं – आह: आह: उह्ह उह्ह्ह उह्ह्ह्ह्ह्ह उईईईई उईईईईईइ करने लगी…

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पहली बार भैया ने चोदा

उसने मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया और मैं तेजी से उसकी चूत को चाटने और चूसने लगा…??

एक भीनी सी महकती हूई खुश्बू आ रही थी, उसकी चूत से…

मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था उसकी चूत को चाटने में। थोड़ी देर के बाद मुझे ऐसा लगा कि श्वेता का बदन ऐठने लगा है… …

फिर तुरंत ही उसकी चूत में से रस निकलने लगा और में उसकी चूत का सारा रस गटक गया!! !!!

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

थोड़ी देर के बाद मुझे लगा की में भी झड़ने वाला हूँ तो मैंने उस से कहा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो उसने कहा कि मेरे मुँह में ही सारा माल गिर दो!!! …

थोड़ी देर में मैंने उसका मुँह अपने रस से भर दिया और वो भी मेरा सारा रस गटक गई और फिर मेरे लण्ड को लोलीपोप की तरह चूसने लगी।

थोड़ी देर में मेरा लण्ड दोबारा तैयार हो गया…

अब मैं उसकी चुचियों को मुँह में लेकर चूसने लगा तो वो थोड़ी ही देर में गरम होकर चुदाई के लिए तैयार हो गई और कहने लगी – जल्दी से अपना लण्ड मेरी चूत में डालो, अब बर्दास्त नहीं हो रहा है…

फिर क्या था, मैंने उसे नीचे लिटा दिया और मैं उसके ऊपर आ गया। मैने देर न करते हूए अपना 7 इंच का लोड़ा उसकी चूत में डाल दिया… !!!

अभी लण्ड आधा ही गया था कि उसके मुँह से आ आ… आह आहः… आहह… की आवाज़ आई।

मैने तभी अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और फिर मैंने धीरे धीरे लण्ड को अंदर बाहर करना शुरू किया। फिर एक और झटका मारा तो उसकी फिर से चीख निकल गई…

हिंदी सेक्स स्टोरी :  किराए वाली सेक्सी भाभी की चुदाई

वो दर्द के मारे तड़प रही थी पर मैऩे उसकी एक नहीं सुनी…

कुछ देर बाद मैंने अपने आप को थोड़ी देर रोका और फिर अपना लण्ड उसकी चूत में एक ही झटके में पूरा डाल दिया।

उसके मुँह से आ आ… उई माँ, मर गई… निकलने लगा… …

अब उसको भी मजा आने लगा था, वो अपने चूतड उठाकर मेरा साथ देने लगी थी!!

मैंने चोदना जारी रखा। अब उसका दर्द बिलकुल खत्म हो चुका था। फिर मैंने अपनी गति बढाई और जोर-जोर से उसे चोदने लगा!!

तभी मुझे लगा की मेरा होने वाला है तो वो बोली – मेरी चूत में ही झडना, मुझे अपनी कोख में तुम्हारा बच्चा चहिए… और मैं उसकी चूत में ही झड गया!!!

फिर कुछ देर हम ऐसे ही चिपक कर लेटे रहे।

उस रात हमने पाँच बार सेक्स किया…

सुबह उसने मुझ से कहा – आज तक इतना मजा मुझे कभी नहीं आया था, जितना मजा तुमने मुझे दिया है… तुमने मुझे सच्चा सुख दिया है!! सच में, तुम ही औरत की योन-भावना को समझ सकते हो…

मित्रो, उस दिन के बाद मैंने उसे बहुत बार चोदा। मैंने उसकी गाण्ड भी मारी, लेकिन वो अगली बार…

आपको याद होगा, ये मेरी पहली कहानी है…

मुझे मेल करके बताना कहानी कैसी लगी… ??

मुझे आपकी मेल का इंतजार रहेगा… …

सेक्सीबोय

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!