भूगोल की मैडम का घमंड चूर चूर कर दिया– 2

Bhugol ki madam ka ghamant chur chur kar diya- 2

कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि किस तरह से मैंने महक मैडम को चोदने के चक्कर में थप्पड़ खाना पड़ा और फिर किस तरह से मैंने महक मैडम को मेरा लन्ड दिखाकर गर्म करके उन्हें होंठो को चूस डाला।

अब आगे……………….
अब मैंने रात को महक मैडम को मेसेज किया– मैडम आपने चुदाई का कोई जुगाड भिड़ाया क्या?
मैडम– यार मुझे तो कोई प्लान ही नजर नहीं आ रहा है।
मैं– यार मैडम आप बहुत ज्यादा डरपोक हो।लंड लेने वाली तो कहीं भी जगह का जुगाड करके लंड लेे ही लेती है।और आपसे दो दिन होने के बाद भी जगह का जुगाड नहीं हो पा रहा है। मैं क्लास में लंड डालने की कोशिश करता हूं तो आप वहां भी मना कर देती हो।

मैडम– यार समझा कर क्लास में मै नहीं ले सकती। किस करने तक तो ठीक है।
मैं– मैडम किस करने से अब काम नहीं बनेगा, अब तो आपको चूत में लंड लेना ही पड़ेगा।
मैडम–यार मै कैसे क्या करु? कुछ समझ में नहीं आ रहा है।
मैं– आपको को तो कुछ समझ में नहीं आ रहा है लेकिन मेरे पास एक प्लान है?
मेडम– बताओ। क्या प्लान है?
मैं– आप कल टेस्ट लेने की बोल देना।फिर परसो टेस्ट लेना। जब सभी स्टूडेंट्स टेस्ट कॉपी दे देंगे तब आप टेस्ट कॉपी चेक करने के बहाने क्लास में ही रुक जाना और मै पूरे उत्तर नहीं लिखने के बहाने क्लास में ही रहूंगा।
मैडम– अच्छा।
मैं– फिर हमें आसानी से चुदाई का मौका मिल जाएगा।

मैडम– प्लान तो अच्छा है।
मैं–लेकिन उस टाइम प्रिंसिपल मेडम और कल्पना मैडम भी स्कूल में होती है।
मैं– हां मैं जानता हूं लेकिन अपने चुदाई के कार्यक्रम में कल्पना मैडम ही हमारी हेल्प करेंगी। वो ही प्रिंसिपल मेम और स्टूडेट्स को हैंडल करेगी।
मैडम– अच्छा तो तूने कल्पना मैडम को बता दिया है कि तू मेरी चुदाई करने वाला है।
मैं– अरे हां बता दिया है लेकिन मै पहले ही चार पांच बार कल्पना मैडम को चोद चुका हूं।
मैडम– क्या? कब और कैसे?

फिर मैंने कल्पना मैडम को चोदने की पूरी कहानी महक मैडम को सुनाई।कल्पना मैडम को चोदने की बात सुनकर वो बहुत ज्यादा चौंक गई।
मैडम– ओह रोहित तू तो मुझसे भी बड़ा खिलाड़ी निकला। अब जाकर मुझे समझ में आया कि तू कल्पना मैडम से इतना क्यो चिपका रहता है।
मैं– लो कल्पना मैडम आपको मेसेज कर रही है उनसे बात कर लो।
अब कल्पना मैडम ने खुद महक मैडम को हमारी चुदाई की पूरी कहानी सुनाई और मेरे लन्ड की तारीफ में कसीदे गढ़ दिए। तभी महक  मैडम ने मुझे मेसेज किया– रोहित अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है। अब मुझसे परसो तक का इंतजार नहीं हो रहा है। मैं कल ही सरप्राइज टेस्ट लूंगी और फिर तू तेरा लंड मेरी चूत में डाल देना।

मैं– ओके मैडम।
कल्पना मैडम– साली को तड़पा तड़पा कर चोदना। इसके हुस्न की पूरी गर्मी निकाल देना।बहुत घमंड है इसको खुद के हुस्न पर।
मैं– चिंता मत करो मैडम ऐसा ही होगा।
              अब मैं लंड को पकड़ कर सो गया और सुबह मेरे लन्ड को तेल लगाकर अच्छी तरह से तैयार कर लिया। अब मैंने एक तेल की शीशी मेरे बेग में भी रख ली। अब मैं स्कूल पहुंच गया।आज महक मैडम ने शानदार बैंगनी रंग की साड़ी पहन रखी थी जिस पर  बेकलेस वाला ब्लाउज मेरे लन्ड पर कहर ढा रहा था। ब्लाउज में से उनकी पूरी मखमली पीठ दिख रही थी।   आज मैडम पूरी सज धज कर आई थी।जिससे वो बहुत ज्यादा सेक्सी लग रही थी।

                     तभी महक मैडम हमारी क्लास में आई और सभी स्टूडेंट्स को टेस्ट लेने के लिए बोल दिया।स्टूडेंट्स  टेस्ट देने में आनाकानी करने लगे तो  मैडम ने सभी बच्चो को डांट दिया।फिर सभी स्टूडेंट्स ने ना नू करके टेस्ट देने लग गए।फिर मै भी लंड को मसलता हुआ टेस्ट देने का झूठा नाटक करने लगा।मेरे लन्ड में महक मैडम को चोदने की बहुत आग लगी हुई थी।इधर मैडम की चूत में भी ज्वालाएं फुट रही थी। वो बार बार हाई हिल्स की कड़क आवाज़ के साथ इधर उधर चक्कर लगा रही थी। मैं बेसब्री से सभी स्टूडेंट्स के जाने का इंतजार कर रहा था।
                          खैर अब चुदाई की घड़ी आ ही गई।इधर मैंने पहले ही कल्पना मैडम को समझा दिया था कि अगर प्रिंसिपल मेम किसी को ऊपर भेजे तो आप सिर्फ टीना को ही भेजना।टीना की चूत की सील मै पहले ही तोड़ चुका था।इधर टीना को भी मैंने बता दिया था कि आज मै महक मैडम को पेलने वाला हूं।

                     साला चुदाई करने के लिए क्या क्या जतन करने पड़ते है। सारी सेटिंग जमानी पड़ती है।बेल बजते ही थोड़ी ही देर में सारे स्टूडेट्स टेस्ट कॉपी देकर भाग गए। मैडम टेस्ट कोपिया हाथ में लेकर सभी स्टूडेंट्स को नीचे जाते हुई देख रही थी तभी मैंने महक मैडम को अंदर खींच लिया और उन्हें बाहों में भरकर उनके रसीले होंठों को चूसने लगा।तभी मेडम ने सारी टेस्ट कॉपियां फर्श पर फेंक दी और मेरे सिर को पकड़कर मेरे प्यासे होंठो को चूसने लगी।
                                पूरी टेस्ट कॉपियां पंखे की हवा में बेंचों के नीचे उड़ गई।इधर पूरे स्कूल में स्टूडेंट्स का हो हल्ला हो रहा था। अब हम दोनों भूखो की तरह एक दूसरे के होंठो के प्यासे बन बैठे और होंठो को चूस चूस कर काटने लगे।पूरा हॉल चूमा चाटी के शोर गूंज उठा।आह आह ओह आउच पुच्छ पुच्छ पुच्छ पुच्छ पुच्छ की आवाजे पूरी हॉल में गूंज रही थी। मैं मैडम के होंठो को चूसते हुए मैडम की मखमली पीठ पर हाथ फेरने लगा। अब मेडम  हाई हील्स मेरे जूतों के ऊपर रखकर खड़ी हो गई। अब दोनों को होंठ चूसने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।तभी मैंने मैडम की गांड को  बेंच पर टिकाकर उनकी पूरी पीठ को बेंच पर टिका दिया। अब मैंने जल्दी से मैडम के साडी के पल्लू को हटाया और उनके रसदार चूचों को ब्लाउज के ऊपर से ही एक हाथ से मसलते हुए किस करने लगा। मैडम पागल सी होने लगी।
मैडम– आह ओह आह रोहित,बहुत तड़पाया तूने, अब जल्दी से तेरा लंड डाल दे।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Student ki mom ke sath sex

मैं– ऊंह आह ओह आह।डाल दूंगा मैडम अभी पहले आपके सेक्सी जिस्म का पूरा मज़ा तो लेने दो।
मैडम– ओह रोहित,मुझसे रहा नहीं जा रहा है।मेरी चूत पिघल चुकी है।
मैं– ओह आह ओह।कोई बात नहीं मैडम,पिघलने दो। मैं फिर से आपकी चूत में आग लगा दूंगा।
मैडम मेरे बालो में हाथ घुमाती हुई धीरे धीरे सिसकारियां भरती जा रही थी। अब मेडम की चूत लंड लेने की आग में धधक रही थी।मैडम की पूरी सेक्सी बॉडी गरमा गर्म हो चुकी थी। तभी मै मैडम के मलाईदार पेट पर किस करने लगा। वाह।मैडम का पेट बहुत ज्यादा गौरा चिकना था।पेट पर किस करते ही मैडम मचलने लगी।वो अब बिन पानी की मछली की तरह तडपने लगी।
मैडम– आह ओह आह आह ऊंह आह ऊंह ओह रोहित।

वो गर्म होकर मेरे बालो को नोचने लगी और होंठो को दबाने लगी। मैं उनके पेट पर किस किए जा रहा था।थोड़ी सी देर में ही मैंने मेडम के चिकने पेट की सूरत बदल डाली। अब मेडम का पेट पूरा गीला हो चुका था। अब महक मैडम चुदाई की आस में तड़प रही थी। तभी मैंने मैडम की पीठ के पीछे हाथ ले जाकर उनके ब्लाऊज की लेस को खोल दिया। अब मैंने मैडम का ब्लाउज ढीला कर दिया।फिर मैडम ने तुरंत उनकी चिकनी कलाइयों में से बाहर निकाल कर फेंक दिया।
                       वाह! सेक्सी मैडम के सेक्सी बूब्स।मुझे तो मैडम के सेक्सी बूब्स देखकर ही मज़ा आ गया। मैडम के बूब्स बहुत ज्यादा गौरे चिकने थे। उन पर हल्के भूरे रंग के निप्पल थे।मैडम के बूब्स बड़े और कसे हुए थे।
                    तभी मैंने मैडम के सेक्सी बूब्स को हाथो में भर लिया और उन्हें ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा।मैडम दर्द से तड़प उठी और चू चू चू करने लगी।
मैडम– ओह रोहित,ज़रा धीरे धीरे मसलें ना।दर्द हो रहा है यार।

मैं– ओह मैडम मै कैसे धीरे धीरे मसलू,आपके बूब्स ही बहुत ज्यादा सेक्सी है।बिल्कुल आपकी तरह।
मैडम– ओह आह ओह धीरे धीरे मसल ना।आह आह आह ओह रोहित।
मैंने महक मैडम की कोई बात नहीं सुनी और ज़ोर ज़ोर से मैडम के बूब्स को दबा के कसने लगा।
मैडम ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां निकालने लगी।
मैडम– आईईईई आईईईई ओह आह ओह आईईईई रोहित।
अब दर्द से  मेडम की गांड फटने लग गई थी।
अब तक मैडम के गौरे चिकने बूब्स लाल गुलाबी हो चुके थे। मैं उनके बूब्स को मसलने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था।
             तभी मैंने महक मैडम के पेटीकोट को साड़ी सहित उनके पेट तक सरका दिया। अब मैंने झट से उनकी पैंटी को नीचे सरका दिया जिससे निशा मैडम की चूत मेरे सामने नंगी हो गई।
                  निशा मैडम की चूत आज पूरी साफ सुथरी थी,उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था।शायद मेडम ने कल रात को ही चूत की फसल काट दी थी।मैडम की चूत बड़ी थी जिसके दोनों किनारे लंबे लंबे थे।चूत में से उनका गुलाबी माल साफ साफ नजर आ रहा था।
                  अजब गजब नज़ारा था यारो जिस निशा मैडम ने कभी मुझे थप्पड़ मारा था आज वो निशा मैडम मुझसे चुदाने के लिए छटपटा रही थी।मैडम की दोनो टांगे नीचे टिकी हुई थी और पीठ बेंच पर टिकी हुई थी।
            तभी मैंने निशा मैडम की चूत में दो तीन उंगलियों एक साथ डाल था।मैडम झट से झल्ला उठी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Tution Sir Ne Chudai kar di

मैडम– आईईईई रोहित आईईईई आईईईई बहुत दर्द हो रहा है,आईईईई।
मैं– ओह मैडम,आपकी चूत भी कमाल की है,देखो इसने मेरी उंगलियां अंदर लेे ली है।
अब मैंने मैडम की चूत के आखिरी पड़ाव तक उंगलियां सरका दी।मेरी पूरी उंगलियां मैडम की चूत के पानी में पानी पानी हो गई।मेरी उंगलियों के प्रहार से निशा मैडम की गांड फटकर हाथ में आने लगी।वो दर्द से बिलखती हुई मेरे बालो को नोचने लगी।
मैडम– ओह आईईईई आईईईई ओह सिसिसिस उउन्नःह आह ओह आईईईई।
धीरे धीरे मेडम की चूत में उफान आना शुरू हो गया। अब मैं फुल स्पीड में मैडम की चूत को उंगलियों से कुरेदने लगा।मैडम पागल हो उठी।मेरी उंगलियां धकाधक मैडम की चूत को पिघला रही थी। अब मेडम का हॉट सेक्सी जिस्म अकड़ने लगा। मैं समझ गया कि अब मेडम की चूत ने हार मान ली है।कुछ ही पलों में मैडम ज़ोर से चीखने लगी।

मैडम– आईईईई रोहित,
मैडम ने मुझे कस कर थाम लिया और मैडम का लावा उफन कर चूत में से बाहर आ गया। अब उनका गरमा गर्म लावा मेरे हाथ में भर गया।तभी मैंने पूरा लावा हाथ में भरकर निशा मैडम के कसे हुए बूब्स पर रगड़ दिया।निशा मैडम निढाल होकर पड़ गई।वो पसीने में पूरी लथपथ हो चुकी थी।
                     अब मैं नीचे बैठ गया और निशा मैडम के बहते हुए लावा को पीने लगा। मैं चाट चाट कर उनके लावे को साफ करने लगा।मुझे निशा मैडम की कड़क उफनती जवानी का आनंद लेने में बड़ा मजा आ रहा था। अब मैंने मैडम की चूत के छेद में जीभ घुसा दी और चूत के गुलाबी भाग को सहलाने लगा।तभी मेडम के मुंह में से सिसकारी फुट पड़ी।चूत में अंदर हमला होने की वजह से मैडम सिहरने लगी।वो टांगो के बीच में मुझे फसाने लगी।तभी उन्होंने  उनकी मजबूत टांगे मेरी कंधो पर रख दी। अब मेडम धीरे धीरे आहे भरने लगी।
मैडम– आह आह ओह आह उन्नन्ह आह ओह,रोहित और चूस मेरी चूत को आह आह ओह और चूस।

मैं– आज तो मेडम आपकी चूत को पूरी बहा दूंगा।
मैडम– आह रोहित, बड़ा मज़ा आ रहा है आह आह ओह ओह, तू बहुत अच्छे से चूसता है यार।
मैं– मैडम मै तो ऐसे ही चूसता हूं।चूत चूसने में बहुत मज़ा आता है ।
मैडम– आह आह आह ऊंह ऊंह खाजा मेरी चूत को रोहित।
मैं– आह आह ऊंह ओह बस खा रहा हूं आपकी चूत को।
मैडम– ओह आह बहुत दिनों से मेरी चूत तेरे लंड के लिए तड़प रही है।आज मेरी चूत की पूरी तड़प मिटा दे।आह ऊंह ओह आह।
मैं– आह ओह ऊंह मैडम आज तो आपकी चूत की क्या आपकी पूरी सेक्सी बॉडी की तड़प मिटा दूंगा।
                        अब धीरे धीरे मेडम की नदी फिर से उफान पर आने वाली थी। अब मैं खड़ा हो गया है। अब मैंने मेरी टाई और शर्ट खोलकर पेंट खोल दी। अब मेरी वी शेप की अंडरवियर में मेरा लन्ड समा नहीं रहा था। अब मैं लंड को मसलता हुआ मैडम के कसे हुए बूब्स पर टूट पड़ा और उन्हें ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा।मुझे मैडम के सेक्सी बूब्स को चूसने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। तभी मेडम ने मुझे सीने से चिपका लिया।
मेडम– ओह रोहित,आज मेरे बूब्स को पूरा निचोड़ डालो।आह ओह ओह रोहित।

मैं– हां मैडम आज तो मै इनको पूरा निचोड़ डालूंगा।रोजाना आपके बूब्स के दर्शन कर करके मै बहुत ज्यादा तड़पता था।
मैडम– ओह रोहित आह ओह बहुत मज़ा आ रहा है यार ओह आह और चूस मेरे बूब्स को।आह ओह ओह आह।
मैं रगड़ रगड़ कर मैडम के सेक्सी बूब्स को चूस रहा था।मैडम बहुत ज्यादा पागल होने लगी थी। अब मेडम नाखूनों से मेरी पीठ को कुरेद रही थी।मेडम के नाखून मुझे बहुत ज्यादा चुभ रहे थे। मै मैडम के बूब्स को चूस चूसकर लाल कर चुका था।
मैडम– चूसो ना रोहित,और चूसो मेरे बूब्स को।
मैं– ओह मैडम आपके बूब्स मुझे पागल कर रहे हैं।
मैडम– ओह रोहित तो आज मेरे बूब्स को उखाड़ कर फेंक दो।
मैं– ओह मैडम आज तो मै आपके बूब्स की हालत खराब कर दूंगा।

तभी मै फिर से ज़ोर ज़ोर से मेडम के बूब्स को रौंदने लगा।इस मैंने एक हाथ मैडम की चूत पर रखकर उसमे उंगलियां पेल दी। अब मैडम की जान हलक में आ गई। अब मेडम बुरी तरह से मचलने लगी।
मेडम– ओह आईईईई ओह ऊंह ओह आईईईई।रोहित ऐसा मत करो।
मैं ऐसे ही करता रहा। अब मेडम की गांड फिर से फटने लगी।
मैडम– ओह रोहित मै मर जाऊंगी।प्लीज उंगलियां बाहर निकाल लो।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कंप्यूटर वाली रीमा मैडम को चोदा

लेकिन मैडम की कौन सुनता। मैं तो बूब्स को चूसता हुआ उनकी चूत में लगातार हमला करता रहा।तभी मेडम का हॉट जिस्म फिर थर थर कांप उठा और अबकी बार उन्होंने मुझे कसकर बाहों में जकड़ लिया।फिर कुछ ही देर में उनकी नदी उफान पर बहने लगी। अब फिर से मैडम की नदी का लावा मेरे हाथो में आ गया।मैंने पूरा लावा मैडम के मुंह में भर दिया।मैडम ना नू करते हुए पूरा लावा पी गई।मैडम थोड़ी देर तक ऐसे ही बेंच पर पड़ी रही।
                    चूत का पूरा लावा झड़ने के बाद महक मैडम बेंच पर से उठ गई उठी। तभी मैंने मैडम के पेटीकोट और साड़ी को खोल फेंका।फिर मैडम की पैंटी भी खोलकर मैडम को पूरी नंगी कर दिया।लेकिन मैडम की टांगो में अभी भी हाई हील्स अटकी पड़ी हुई थी। मैंने उन्हें खोलना नहीं चाहा।

                        अब मैं महक मैडम की चमचमाती टांगो और गुद्देदार जांघो को चूमने लगा।धीरे धीरे मेडम गर्म होने लगी।कुछ देर बाद उन्होंने मुझे बेंच पर टिका दिया और नीचे बैठकर मेरी टांगो को चूमने लगी। अब मेरे जिस्म में भी अजीब सी सुरसुरी होने लगी।फिर धीरे धीरे वो मेरी अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को किस करने लगी।मेरा लन्ड पूरा खड़ा होकर महक मैडम को सलामी देने लगा। अब महक मैडम मेरे लन्ड की आस पास जगह पर किस कर करके मुझे तड़पाने लगी।महक मैडम के इस वार से लंड बाहर आने के लिए बल खाने लगा।
मैं– ओह मैडम क्यो इतना तड़पा रही हो। बाहर निकाल लो ना मेरे लन्ड को।
मैडम– साले,तूने मुझे तड़पाया उसका क्या। अब देख मै तेरे लंड का क्या हाल करती हूं।

मैं– ओह मैडम आप भी बड़ी चुदासी हो।
मैडम– तू तो पूरा चूत खोर है।
अब मेडम मेरे लन्ड को ऊपर से ही किस कर करके मुझे तड़पाने लगी। मैं पागल हो उठा। फिर मैडम मेरी छाती पर किस करने लगी। अब मैंने उन्हें पूरा मेरी छाती से चिपका लिया। मैं उनकी शानदार गौरी चिकनी पीठ को सहलाने का मज़ा लेने लगा।उनके पूरे बाल मेरी छाती पर फ़ैल रहे थे।महक मेडम बार बार अपने बालो को संवार रही थी।फिर मैडम ने वापस नीचे आकर मेरी अंडरवियर को नीचे सरका कर मेरे तंनतनाए लंड को बाहर निकाल लिया।
मैडम– वाह रोहित,तेरा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है,आज तो मज़ा आ जाएगा।
मैं–हां मैडम,ये लंड बहुत दिनों से आपकी चूत फाड़ने के लिए तड़प रहा था।
मैडम– मेरी चूत भी तो तेरे लंड के लिए तड़प रही थी।

         अब महक मैडम मेरे लन्ड को आराम से मसलने लगी। मुझे लंड मस्लावने में बहुत ज्यादा मज़ा आने लगा।फिर धीरे धीरे मेडम ने स्पीड बढ़ा दी और फिर वो ताव में आकर मेरे लन्ड को मसलने लगी। मुझे दर्द होने लगा।
मैं– ओह मैडम थोड़ा धीरे धीरे करो ना।
मैडम– ओह रोहित,मज़ा तो ज़ोर ज़ोर से मसलने में ही मिलता है।
मैडम को देखकर मुझे समझ में आ रहा था कि महक मैडम ने कई लंडो का पानी निकाला है। अब मेडम ज़ोर ज़ोर से कसकर मेरे लन्ड का पानी निकालने की कोशिश करने लगी।
मैं– मैडम आप जो कोशिश कर रही हो ना,उसमे सफल नहीं हो पाएगी।
मैडम– अच्छा,मै अच्छे अच्छे लंडो का पानी निकाल चुकी हूं। तो तेरा लंड कौनसे खेत का मूला है।

मैं– ठीक है तो फिर मैडम कोशिश करके देख लो।अगर नहीं निकाल पाई तो फिर मेरा लन्ड आपकी गांड़ में ही जाएगा।
मैडम– हां पक्का लगी शर्त।
अब मेडम ज़ोर ज़ोर से मेरे लन्ड को हिला हिलाकर और मसल मसलकर मेरे लन्ड का पानी निकालने लगी। उन्होंने बहुत कोशिश की लेकिन मेरे लन्ड का पानी नहीं निकाल पाई। फिर मैडम ने हार मान कर मेरे लन्ड को मुंह में भर लिया और ज़ोर ज़ोर से लंड को चूसने लगी।वो कभी मेरे लन्ड को चूसती तो कभी मेरे लन्ड के अंडो को मुंह में भर लेती। महक मैडम बड़ी सेक्सी अंदाज में मेरे लन्ड को चूस रही थी।
मैं– ओह आह ओह मैडम बड़ा मज़ा आ रहा है,और चूसो मेरे लन्ड को,पानी निकाल दो मेरे लन्ड का।
अब मेडम फिर से मेरे लन्ड का पानी निकालने की कोशिश करने में लग गई।उन्होंने मेरा पूरा लन्ड चूस चूस कर लाल गुलाबी कर दिया। लेकिन मेरे लन्ड का पानी उनसे नहीं निकल पाया।

कहानी जारी है……….
आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!