बीवी की मौसी का कामरस-2

Biwi ki mausi ka kaamras-2

फिर में उनके होंठो को चूसते हुए उनकी चूत को रगड़ता रहा. फिर थोड़ी ही देर में उनका नशीला बदन अकड़ने लगा तो में समझ गया कि अब मौसी जी झड़ने वाली है. फिर मैंने अपनी उंगली की स्पीड बढ़ाते हुए और तेज कर दी तो अब उनकी पकड़ टाईट होते-होते एकदम ढीली हो गई और वो झड़ गई. अब मेरा पूरा हाथ उनके रस से गीला हो गया था, अब वो मेरे सामने अपनी आँखे बंद किए हुए आराम से लेटी हुई थी. फिर मैंने उनके पूरे बदन को किस करते हुए अपना लंड उनकी चूत के पास ले जाकर सटा दिया तो अब उन्होंने मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत में डालना शुरू कर दिया.

अब मैंने पहले कोई ज़ोर नहीं लगाया तो वो खुद ही सारा काम कर रही थी, बस में तो उनकी टाईट चूत के मज़े ले रहा था. फिर जब मेरा लंड 2 इंच तक अंदर चला गया तो मौसी जी बोली कि तुम्हारा लंड तो सच में बड़ा ज़ोरदार है मुझे तो अंदर लेते ही मज़ा आ गया. फिर मैंने कहा कि मौसी जी अभी ये पूरा अंदर तक कहाँ गया है, अभी तो थोड़ा सा ही गया है, जब पूरा जायेगा तो जन्नत का मजा मिलेगा. फिर वो गहरी सांस लेते हुए बोली कि हाय जानू फिर तो इसे पूरा अंदर तक अभी ही डाल दो, में भी तो देखूं कि मेरी बिटिया रानी रोज़ कैसे लंड से खेलती है और उसे कितना मज़ा मिलता है? ये सुनते ही मैंने अपने लंड को धीरे-धीरे उनकी चूत के अंदर डालना शुरू कर दिया और उनको अपनी बाहों में कसकर उनके चेहरे को पूरा चूमना और चाटना शुरू कर दिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चाची को चोदकर बदला लिया

अब वो भी मुझे अपनी बाहों में जकड़े जा रही थी, अब जैसे-जैसे लंड अंदर जाता जा रहा था तो उनकी पकड़ और टाईट होती जा रही थी. अब मेरा लंड करीब पूरा अंदर घुस चुका था और मौसी जी अपनी आँखे बंद किए हुए अपने होंठो को दबाये हुए यू ही मेरे नीचे प्यार से लेटी हुई थी और मेरे लंड का मज़ा ले रही थी. अब उनका प्यार उनके चेहरे पर पूरी तरह से दिखाई दे रहा था. फिर मैंने अपने लंड को धीरे-धीरे से आगे पीछे करना शुरू किया और नीचे मुँह करके उनके बूब्स को चूसने लगा.

अब उनकी उंगलियाँ मेरे बालों में घूम रही थी और अब मुझे उनकी चूत सच में बहुत टाईट और हॉट महसूस हो रही थी और मौसी जी की चूत की दीवारों की रगड़ मेरे सुपाड़े को सहला रही थी. अब सच में मुझे बहुत मजा भी आ रहा था और आश्चर्य भी हो रहा था कि लगभग 40 साल में भी उनकी चूत इतनी टाईट और हॉट कैसे है? ख़ैर मुझे क्या में तो उनकी चूत मारने का पूरा मज़ा लूट रहा था. अब मैंने भी अपने लंड की स्पीड तेज कर दी थी और उनकी चूत भी गीली हो चुकी थी, जिसकी वजह से रूम में पच-पच की आवाज़ गूँजने लगी थी.

अब में उनके ऊपर लेटा हुआ, उनकी चूत में पूरा लंड डाले हुए उनको जोरदार चोद रहा था. अब मुझे उनको चोदते हुए करीब 20 मिनिट हो चुके थे, अब में भी अपनी फुल स्पीड से चोदने की वजह से थोड़ा थक चुका था. फिर मैंने उन्हें चोदना रोककर उन्हें किस करता हुआ उनको पलटकर अपने ऊपर ले आया और उन्हें सेक्स करने के लिये कहा तो अब वो मेरे ऊपर लेटकर आगे पीछे हिलने लगी. इस पोजिशन में उनको खूब मजा आ रहा था तो उनके मुँह से अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा जैसी आवाज़े आने लगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मम्मी को मिला दो लोड़ो का मजा-3

फिर इसी पोज़िशन में सेक्स करने के बाद वो हिलती हुई धीरे-धीरे मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और हिलने लगी, जिससे उनके बड़े और टाईट बूब्स भी ऊपर नीचे उछलने लगे, जिन्हें देखकर मुझे बड़ा मज़ा आने लगा और में भी नीचे से उछल-उछलकर शॉट मारने लगा. इस बीच वो झड़ गई और मेरे ऊपर लेटकर मुझे कसकर पकड़ लिया और किस करते हुए बोली कि आज में कई सालों के बाद ऐसे झड़ी हूँ, सच में बहुत मजा आ गया, लेकिन इस बीच मैंने नीचे से अपना लंड उनकी चूत में हिलाना बंद नहीं किया और धीरे-धीरे शॉट मारता रहा.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब वो और उनकी चूत थोड़ी ढीली हो चुकी थी तो में उठकर बैठ गया और उन्हें अपनी गोद और बाहों में लेकर किस करता हुआ चोदता रहा. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उन्हें वापस बेड पर लेटा दिया और उनके ऊपर आकर शॉट मारने लगा. इस बीच मैंने अपना लंड एक बार भी उनकी चूत से बाहर नहीं निकाला.

अब हमें सेक्स करते हुए करीब 1 घंटा हो गया था और अब में भी झड़ने वाला था फिर मैंने अपने लंड की स्पीड बढ़ा दी, जिसे वो भी समझ गई और मुझे अपनी बाहों में कसकर मेरे होंठो को चूमते हुए मेरी पीठ पर अपने हाथ ज़ोर-ज़ोर से फेरने लगी. फिर मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और किस करते हुए में भी उनके अंदर ही झड़ गया और मौसी जी ने मुझे कसकर पकड़ लिया और अपनी चूत को टाईट कर लिया और बोली कि में फिर झड़ गई हूँ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मम्मी की समझदारी

अब हम इसी तरह करीब 5 मिनट तक लेटे रहे और एक दूसरे को किस करते रहे. अब मेरे लंड का तनाव थोड़ा कम हो चुका था, मगर अभी भी उसमें काफ़ी जान थी तो में अपने लंड को मौसी जी की चूत से बाहर निकाले बिना धीरे-धीरे उसे ऐसे ही हिलाए जा रहा था. फिर हम जब अलग हुए तो हम दोनों बुरी तरह से पसीने से भीगे हुए थे. फिर उन्होंने एक टावल लिया और मुझे और अपने आपको अच्छे से साफ़ किया और मेरे लंड को बड़े प्यार से अपने नाज़ुक मुलायम हाथों में लेकर बड़े आराम से साफ़ किया और उसे 5-6 किस की.

फिर हम दोनों अलग हो गये और फिर उन्होंने अपनी बेटी को फ़ोन करके उनकी मार्केटिंग और उनके आने के बारे में पूछा. मेरी साली ने उनसे कहा कि वो अभी दूर है और उनको आने में करीब 2 घंटे लग जायेगें. फिर हम ये सुनकर बहुत खुश हो गये और एक साथ नहाने के लिए बाथरूम में घुस गये. फिर वहाँ पर हम दोनों ने खूब मस्ती की और वहाँ पर मैंने एक शॉट और लगाया.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!