बुआ की लड़की की चुदाई-4

Bua ki ladki ki chudai-4

मैं- उस समय सही से नहीं देख पाया अभी दिखा दो
लवी- नही भैया
मैं- प्लीज ( और हाथ से उसकी कुर्ता हटाते हुए)
लवी- नही भैया मुझे शर्म आ रही हैं
मै- प्लीज (उसकी पैजामी नीचे खीचने लगा तो वो हलका सा कमर उपर उठाई जिससे उसकी पैजामी मैंने नीचे कर दी)
पैजामी नीचे आते ही उसकी चूत मेरी आँखों के सामने थी
उसकी चूत एक दम गोरी थी और हल्के से भूरे रंग के बाल आ रहे थे। दो मिनट मैं उसकी चूत देखता रहा फिर मैं उसकी चूत सहलाने लगा पहले तो उसने मना किया फिर मैं जब नहीं माना तो उसने विरोध करना बंद कर दिया और 5 मिनट तक उसकी चूत सहलाता रहा। और 5 मिनट में उसकी साँसे तेज हो गयी तो मैंने उसको सूट निकालने को कहा और उसके निप्पल देखने को बोला।

मै- मुझे तुम्हारे निप्पल देखने है
लवी- नहीं भैया
मैं – प्लिज एक बार कहते हुए उसका सूट उपर कर दिया और उसके निप्पल देखते ही एक दम मै उनपर टूट पड़ा बो लगभग गोल्फ वाली बाल से बड़े और क्रिकेट बाल से छोटे थे लेकिन बाल के तरह बिल्कुल गोल और सख्त थे। निप्पल देखते ही मैंने निप्पल मुह में ले लिय और चूसने लगा और हाथ से उसकी बुर सहलाने लगा। पहले तो उसने थोड़ा विरोध किया फिर नार्मल होकर सिसकी लेने लगी। ऐसे करते हुए मेरा लंड बिल्कुल फटा जा रहा था तो अब मेरा मन उसकी चुदाई का हुआ तो मैंने धीरे से उसकों बोला।
मैं- लवी एक बार अंदर डाल लू
लवी- नही भैया आपका बहुत बड़ा है कहते हुए मना करने लगी
तभी मैं समझ गया के मन तो इसका भी हो रहा है बस साइज देखकर डर रही है। क्योंकि संतोष उसी की उम्र का था तो उसका साइज भी बढ़ रहा था लेकिन उतना बढ़ा नी था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरे एप्पल फोन की रिपेयरिंग-2

मैं- कुछ नहीं होगा बस आराम से करेंगे अगर दर्द होगा तो निकाल लेंगे।
लवी- नहीं भैया अगर कुछ हो गया तो
मैं- कुछ नहीं होगा मैं हू ना
मैं- बस उपर ऊपर ही करूँगा
ये कहते हुए मैंने लवी के पैर चौड़े करने लगा और लवी ने हल्का विरोध करते हुए पैर खोल दिये।
लवी- भैया बस ऊपर ही करना
मैं- ठीक हैं
फिर मैंने धीरे धीरे लंड उसकी बिना बालों वाली चूत मे डालना शुरू किया और लंड थोड़ा अंदर जाते ही लवी मना करने लगा।

लवी- भैया दर्द हो रहा है
मैं- ज्यादा हो रहा है या सहन कर सकते हो
लवी- हो रहा है लेकिन भैया इतना ही रहने दो
मैं- ठीक है
और फिर धीरे धीरे मैं लवी की चुदाई करने लगा और जैसे जैसे वो उत्तेजित होती गयी वैसे वैसे लंड को उसकी चूत के अंदर पहॅुचाते गया और करीब 10 मिनट में मैंने पूरा लंड लवी की चूत मे पूरा डाल दिया था। और चुदाई की स्पीड बढ़ा दी। कमरे मे तेजी से चुदाई की आवाज आ रही थी और लवी की सिसकरी लगातार निकल ने लगी।
फिर मैंने उसके निप्पल चूसते हुए लवी के दोनो हाथ उपर करके उसका सूट निकाल दिया और पूरी नँगी करते हुए उसको फुल स्पीड में चुदाई करने लगा।
मैं- लवी मजा आ रहा है?
लवी कुछ नहीं बोलती है और आँखे बंद करके सिसकरी लेते हुए चुदाई का मजा ले रही थी

2 मिनट बाद उसकी पूरी तेजी से चुदाई करते हुए
मैं- लवी तुम और तुम्हारी बुर दोनो ही बहुत मजेदार हैं
आज मैं तुमको जी भरके चोदु गा।
लवी ने अब मुझे पूरी तरह से पकड़ लिया और सिसकरी ले रही थी शायद उसका होने वाला था
लवी- आह्ह आह्ह् भैया आआआआहहहहहह भैया अअअआआआआहहहह आआआहहहह
और लंबी आआह्ह्म के साथ ही वो मुझे कसकर पकड़कर के झड़ने लगी थी। और उसके झड़ने के साथ ही मेरी भी स्पीड दोगुनी हो गयी और अगले २ मिनट बाद मै भी उसकी चूत में पानी छोड़ने लगा और पूरी चूत को मेरे लंड ने पानी से भर दिया। और उसके उपर ही लेट गया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी मुनिया उसका पप्पू-1

अब लवी दोबारा शरमाने लगी
और आँखे नहीं मिला पा रही थी। लेकिन मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर नहीं निकाला और तभी मैंने उसको दुबारा किस करना शुरू कर दिया। और उसके निप्पल चूसने लगा। लेकिन अब उसने भी मेरे सिर को सहलना शुरू कर दिया तो उसकी चूत मे पड़ा मेरा लंड दोबारा तैयार हो गया तो मैंने दुबारा धक्के लगाना शुरू कर दिया। अब दोनो एक दूसरे को किस करने लगे और मै उसके निप्पल की मालिश और चुसाई लगातार कर रहा था और लवी की चूत मे मेरा लंड पूरी स्पीड से चोदन करने लगा।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

कमरे में दोबारा सिसकारी गुजने लगी और बाहर बारिश हो रही थी इसलिए हमारी आवाज किसी को बाहर सुनने का डर भी नही था। इसलिए चुदाई और सिसकरी की आवाज से पूरा कमरा गूज रहा था और करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद लवी का शरीर अकड़ने लगा और मुझे तेजी से पकड़ते हुए झड़ने लगी और ढीली पड़ गयी उसको झड़ते देख मेरी स्पीड और बढ़ गयी और अगले 1 मिनट मे मैनें भी उसकी चूत में पानी छोड़ दिया। और उसके उपर ही लेट गया।
फिर 2 मिनट बाद उसको किस करते हुए उसके बगल मे लेट गया और बातचीत करने लगा।

मै- मजा आया
लवी नही बोली शर्मा रही थी
मैंने दोबारा पूँछा
मैं- मजा आया
फिर उसने हा में सिर हिलाया
मैं- संतोष की चुडाई में ज्यादा मजा आया या आज।
लवी- आज
मैं- कैसे
लवी- वो आपकी तरह नही किया कभी आपने बहुत देर तक किया और अच्छे से किया वो जल्दी जल्दी करता है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बुआ की लड़की की चुदाई-1

मै- अब मै ऐसे तुमको चोदु गा आज पूरी रात ।
और फिर हमने दुबारा रोमांस शुरू कर दिया।
इस तरह से उस रात पूरी रात बारिश हुई थी और हमने पूरी रात चुदाई की उस रात मैंने लवी की 8 बार चुदाई की और
इतेफाक से अगले तीन दिन ना तो बारिश रुकी और ना ही कोई मकान पर आया जिससे मैंने लवी को उन तीन दिनों में करीब 30 बार चोदा। और फिर लवी की मैंने डेढ़ साल जमकर चुदाई की।

फिर वहा से मै बरेली चला आया और उसकी चुदाई छूट गयी। लेकिन इस डेढ़ साल में लवी खुद तो जमकर चुदी और उसने अपनी सहेली राधा की भी चुदाई करवाई और उसको भी मैंने जमकर चोदा। जब मैंने राधा को चोदा तो राधा बिल्कुल कुंवारी थी उसकी सील मैंने कैसे तोड़ी ये मै आपको अगले पार्ट में बताऊंगा।
दोस्तो मेरी स्टोरी कैसी लगी आप मुझे
मेरी email id [email protected] पर जरूर बताये। अगर आपको ये स्टोरी पसंद आयेगी तो मै अगला अनुभव आपको पेश अवश्य करूँगा। धन्यवाद

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!