बुआ की लडकी की यादगार चुदाई

(Bua ki ladki ki yadgar chudai)

बुआ की बेटी को चोदा उसके जन्म दिन पर

हेलो नमस्कार यह मेरी पहली कहानी है
इसमें कोई गलती हो जाए तो माफ़ कर देना
मेरा नाम राहुल है
में अभी 23 साल का हूं
में अभी कॉलेज के लास्ट ईयर में हूं
यह घटना तब की है जब में 21 साल का था
मेरी लंबाई 5,7 है में दिखने में ठीक ठाक ही हूं
लंड की बात करे तो इतना बोलूंगा की किसी भी चूत को आराम से शांत कर देता हूं

अब में आपको अपनी बुआ की बेटी के बारे में बताता हूं उसका नाम शिवानी है वो अभी 21 साल की है
वो दिखने में बहुत खूबसूरत है
अब तो उसकी चड्डी जवानी देख के किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है
उसका साइज 32 28 30 है
वो अभी कॉलेज कर रही है
बात उन दिनों की है जब वो अपना 19 वा जन्म दिन मनाने की तैयारी कर रही थी उसके जन्म दिन के लिए बस एक दिन बाकी था

उसने मुझे भी बुलाया था क्योंकि वो मुझे अपने हर जनम दिन पर बुलाती थी पर इस जनम दिन कुछ ऐसा हो गया कि ये जनम दिन उसके लिए यादगार बन गया
अब में सीधा कहानी पर आता हूं
में उसके जनम दिन से एक दिन पहले बुआ के घर पहुंच गया जब ने वागा पहुंचा तो सब ने मेरी खूब सेवा पानी हुई
फिर मेरी मुलाक़ात शिवानी से भी हुई वो मुझे देख के खुश हुई और मुझसे गले मिल गई और मेरे गाल पे किस करदी
हम दोनों के बीच गले मिलना किस करना आम बात थी।
भले वो किस घर के किसी सदस्य के सामने भी कर देती थी
घर के सब लोग भाई बहन का प्यार समझते थे में भी यही समझता था।

 

फिर हम सबने खाना खाया और रात को शिवानी और में टीवी देखने लगे और साथ में बाते भी करने लगे
मैने उसे चिड़ाते हुए बोला अब तो तुम कॉलेज में आ गई तो कोई बॉय फ्रेंड बनाया की नहीं वो मना करने लगी तो उसने भी मुझे पूछा कि तुमरी तो होगी जीएफ तो मैने भी मस्ती में बोल दिया कि तेरे जैसे कोई मिली ही नहीं
वो हंसते हुए बोली मेरे होते हुए किसी और की तलाश में क्यों हो
में थोड़ा चकरा गया कि ये बोल क्या रही है पर फिर में भी मजाक में बोला तो बनोगी मेरी गर्लफ्रेंड।
शिवानी: आपके लिए तो जान देडू में
में: ओह सची प्यार करती हो क्या मुझसे( हंसते हुए)
शिवानी:, है बहुत ज्यादा
में: है दिख तो रहा है तुम्हारा प्यार.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  डॉक्टरनी के साथ पंचतारा होटल में मस्ती-2

मेरा इतना बोलते ही वो उठी मेरे पास आती और सीधा मेरे गाल पर किस करदी और बोल पड़ी में आपको प्यार करती हूं
में: अरे तुम पागल हो में तो मजाक कर रहा था तुमरे साथ
शिवानी: पर में मजाक नहीं कर रही में आपसे बहुत प्यार करती हूं कब से आपको बोलना चाह रही थी पर हिम्मत नहीं कर पाई
में: तुम मेरी बहन हो तुम पागल हो क्या
शिवानी: आपको अगर मुझसे प्यार है तो हा बोलो नहीं तो आप जाओ में आपसे कोई बात नहीं करने वाली
मैने भी सोचा जब खुद सामने से मौका मिल रहा है तो मना क्यों करू
पर मैने फिर भी उसे बोला कि एक दिन का समय दो

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

वो बोली ठीक है
फिर हमने टीवी बंद किया और सोने चले गए उस टाइम रात के 10।30 ही बज रहे थे
में अब 12 बजने का इंतजार करने लगा
जैसे ही 12 बजे हर बार की तरह में उसके कमरे में गया और वो सो रही थी
मैने उसके पास क्या और सीधा उसके होठ को किस किया और मैने उसे आई लव यू बोल दिया वो इतना सुनते ही मुझे अपने दोनो बाहों से मुझे कसके पकड़ ली और मुझे किस करते हुए आई लव यू बोल पड़ी अब मैने उसे बर्थ डे विस किया
उसने कहा मुझे ये जनम दिन हमेशा याद रहेगा
और बोली मुझे आज आपने जिंदगी का सबसे बड़ा गिफ्ट दिया है में भी आपको कुछ देना चाहती हूं पर वो आज रात की पार्टी के बाद दूंगी

में उसकी बात समझ गया और उसे किस किया और सीधा अपने कमरे में सोने आ गया
फिर सुबह मेरी नींद किसी के होती के स्पर्श से खुली तो मैने देखा कि वो शिवानी थी मैने उसे दोबारा विश किया और उठ के जाने लगा तो वो ट्ठोड़ा गुस्से में मेको देखने लगी फिर मैने भी उसे किस किया टीवी वो भी खुश हो के चली गई
सारा दिन ऐसे ही गुजर गया
अब रात के 7 बज रहे थे अब उसके जनम दिन के लिए उसके सहेलियां थी पड़ोसी थे
उसने नीला रंग का सूट पहना था वो खूब गजब धा रही थी एक दम सज के आती थी जैसे आज जनम दिन काम और शादी हो उसकी
वो मेरे लिए इतना सज धाज के अय्यी थी
अब शिवानी ने केक जाता सबने विश किया खाया पिया थोड़ा नाच गाना हुआ और फिर इसी सब घर जाने लगे रात के
11 बज गए थे
अब घर के सब लोग ठाक गए थे तो वो भी सोने चले गए
वो भी मेरा हाथ पकड़ के अपने कमरे में ले गई
वैसे भी हम कोई डर नहीं था
जैसे ही हम कमरे में गए उसने अन्दर से कुंडी लगा दी
और अन्दर आते ही मेरे बाहों में सिमट गई और बोली
शिवानी: तुम मुझसे आज एक वादा करो
में: क्या

हिंदी सेक्स स्टोरी :  तेरी माँ को चोदूँ, बहन चोद

शिवानी: तुम बस मुझसे प्यार करोगे मेरे अलावा किसी और की तरफ देखोगी नहीं
में: वादा करता हूं मेरी जान
शिवानी: एक बात बोलूं
आपसे
में हंसते हुए अब तो सब बोल दिया अब क्या बोलना बाकी है
शिवानी: आप मुझसे शादी करोगे
में तो उसकी बात सुन के चकरा सा गया ये बोल क्या रही है
में: में तो तेयार हूं पर ये नहीं हो सकता
शिवानी : सब हो सकता है छुप छुप के करेगे जब नेक्स्ट टाइम आओगे तो मुझे अपनी दुल्हन बनाओगे
में:, अच्छा चलो अब बाते बंद करे और अपनी पार्टी मनाते है अब
अब हम दोनों बिस्तर पर लेट गए
अब हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे वो भी पूरा साथ देने लगी में उसको किस करने के साथ उसके बूब्स को सहलाने लगा उसके 32 के बूब्स को उपर से दबाने लगा अब मैने उसके सूट को उतार दिया उसने काली रंग की ब्रा पहनी थी मैने जोश में आकर उसकी ब्रा ही फाड़ दी वो हंसते हुए बोली अभी ममेरी ब्रा फाड़ी अब कुछ देर में मेरी चूत फादोग
अब उसने भी मेरे कपड़े उतार दिया उसने मुझे पूरा नंगा कर दिया मैने भी उसका सलवार और पेंटी उतार दी
जैसे ही उसने मेरे लंड को देख तो वो हैरान होते हुए बोली आज लगता है में मर ही जाऊंगी मुझे नहीं कराना
में बोला कुछ नहीं होगा

में फिर से उसके उपर आकर उसके बूब्स को दबाने लगा वो जोर जोर से सिसकारी भरने लगी।
मैने उसे कहा मुंह से ज्यादा आवाज़ मत निकालो
नहीं तो कोई सुन लेगा
में भी जोश में आकर उसके बूब्स चूसने लगा था वो अपना हाथ से मेरे लन्ड को सहला रही थी मैने उसे बोला इसे अब कुह में लोगों तो वो ना निकुर करने लगी मैने उसे जोर दिया तो वो मान गई फिर जैसे ही उसने मुंह में रखा तो मैने सीधा जोर लगा के उसके मुंह में घुसा दिया
वो इस हमले के लिए तेयार नी थी वो लंड को बाहर निकाल के गुस्से में बोली जाओ आप यहां से मुझे नहीं करना
में उसे फिर से मनाने लगा तो वो में गई पर वो लंड चूसने के लिए मना करने लगी मैने जोर देना सही नहीं समझा
ने अब 69 में आ गया उसकी चूत में जैसे ही मुंह लगता तो वो एक दम से पागल हो गई क्युकी ये उसके लिए पहली बार था
में अब उसकी चूत को लगातार चूसे जा रहा था और सिसकारी भी लेने लगी थी तो उसे प्ता नहीं क्या सूझा उसने लंड को मुंह में लेके चूसने लगी
पर वो ज्यादा देर तक ना आह पाई और चूत से पानी निकल गया मैने उसका सारा पानी पी लिया उसने हैरत से मुंह से लंड निकाला और बोली आप कितने गान्ड काम करते हो क्यों पिया उसे मैने कहा ये तो अमृत ह तुम भी पियो ना
वो ना बोली पर मैने सोचा लिया था इसे पीला कर ही रहूंगा
मैने उसे लंड मुंह में लेने को बोला तो वो मस्ती में दोबारा से चूसने लगी अब मेरा भी गिरने को हुए तो मैने उसके सिर को पकड़ लिया और सारा उसके मुंह मेगीरा दिया वो छत्पने सी लगी पर मैने नहीं छोड़ा उसे पूरा पानी पिला दिया अब लंड को उसके से बाहर निकाल तो वो बोली मुझे अं पता चला इसका स्वाद
अब वो बोली अब और मत तड़पाओ चोद डालो मुझे आज मुझे बना दो एक औरत।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी को चोदकर बहुत आराम दिया

तो मैने अब लंड को पकड़ा उसकी चूत पे रख के सहलाने लगा और उसके होठ को अपने होठ से किस करने लगा अब मैने एक झटका मेरा तो लंड उसकी चूत में टोपा घुस गया वो छटपटाने लगी मैने देर ना किया दूसरा झतक भी मार दिया लंड अधा घुस गया और अब तीसरा भी मार दिया लंड पूरा अन्दर घुस गया वो चीखना चाह रही थी पर मेरे होठ रखने से ना चिला पाई पर उसके आंखों से आंसू निकाल रहे थे
में अब रुक गया उसके होठ से होठ हटाए तो वो दर्द से री रही थी बोल तो थी बाहर निकालो
मैने उसे समझाया अब दर्द नहीं होगा।
5 मिनट बाद उसे फिर से आराम से आराम से चोदने लगा अब तो उसे भी मज़ा आने लगा वो भी गान्ड उठा उठा के साथ देने लगी।
अब करीब25 मिनट की चुड़ाई में वो 2 बार झड़ गई थी अब में भी झड़ने को हुए मैने उसे पूछा कहा गिराऊ
तो वो भी थोड़ा नखरे करते हुए बोली डालते समय भी पूछा कैसे डालू
वो बोली अन्दर ही डालो मैने अन्दर ही गिरा दिया
और इस तरह मैने उसे 3 बार चोदा
उसके बाद से तो मैने उसे बहुत चोदा है
आज भी चोदता हूं
अगली कहानी में बताऊंगा कैसे मैने उसकी गंद मारी
तो आपको यह कहानी कैसी लगी मुझे मेल पे बताएगा
[email protected]
धन्यवाद

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!