बुआ को लॉकडाउन में चोदा

Bua ko Lockdown me Choda

नमस्ते मैं आप सभी का दोस्त कृष्णा
एक नई कहानी लेकर आया हूँ यह कहानी मेरी और मेरे बुआ के बारे में जिन्हें मैंने लॉकडाउन में चोदा
सर्वप्रथम मैं आप सबको अपनी बुआ के बारे में कुछ बताना चाहता हूं मेरी बुआ बहुत ही सेक्सी और हॉट लुकिंग है एक मोटे गाँड के साथ ही उनके बड़े बड़े बूब्ज़ है और वहां बहुत ही शानदार दिखती है उनके बूब्ज़ को एक बार देख ले तो उनको चोदे बिगर नहीं रह सकता
ओर मेरी उमर २१ साल है मारी बुआ लगभग ४२ की है

और ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी कहानी शुरू करता हूं बात उस समय की है जब लॉक डाउन चल रहा था और मैं मेरी बुआ के यहां पर रहने गया था और वहां पर ही फस गया था

पहले तो 15 दिन कुछ नहीं हुआ पर ऐसे ही दिन बीते चले गए और मेरे बुआ के बारे में कुछ गलत ख्याल नहीं थे और दिन ऐसे ही बीतते चेले गए एक दिन ऐसा हुआ जिससे मेरे ख्याल ही बदल गए
हुआ यह कि मैं लॉकडाउन ने मैं देर तक सोता रहता था और जल्दी उठकर नीचे नहीं आता था तो उस दिन जब मेरी नींद सुबह जल्दी खुल गई और मैं सीढ़ियों से नीचे आ रहा था तो मैंने देखा कि मेरी बुआ पूरी नंगी बाथरूम में

गेट खुला छोड़ कर नहा रही थी वह मैं उनको देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया
और मैं वहां पर छुप छुप कर उनको देखने लगा और देख देख कर अपने लंड को धीरे से सहलाने लगा और मेरी बुआ की चिकनी गाड़ और उनके बड़े बड़े बूब्ज़ को देख देख कर मेरा दिल जोरों से धड़क रहा था और साथ ही मेंने अपना लंड धीरे धीरे हिलना शुरू कर दिया ओर वहाँ पर ही अपना सफ़ेद पानी गिरा दिया आऽऽऽऽऽ म्य्ह्ह्ह

हिंदी सेक्स स्टोरी :  वो पहली बार, मौसी की चूत का स्वाद-1

फिर मैं अपनी बुआ का नहाना होने से पहले वहां से हटकर ऊपर जाके लेट गया जिससे कि मेरे बुआ को शक ना हो मैं उनको देखा हूं
जब मेरी बुआ नहा कर मुझे उठाने आई तो मेंने उनको गुड मॉर्निंग कहा और उनके बूब्स को देखने लगा और आनंद लूटने लगा

फिर कुछ दिन ऐसे ही बीते चलेगा और में उनको किसी ना किसी बहाने से उनको नहाते हुए देखने लगा उनको शक भी ना हो और मैं अपना काम करने लगा पर एक दिन उनको मुझपर शक हो गया और उन्होंने मुझे रंगे हाथों पकड़ लिया और मुझ पर चिल्लाने लगी यह सब गलत है और तुम मुझे नहाते हुए मत देखा करो नही तो में तुम्हारे पापा को बोल दूँगी मैंने अपनी बुआ से हाथ जोड़कर माफी मांगने लगा और उनसे कहा कि में ऐसा नही करूँगा आप यहां बात पापा को मत बताना नहीं तो मुझे बोहोत मर पड़ेगी ओर सॉरी बोल कर वाहा से निकल गया

फिर ऐसे ही दिन बीते चले गए और मैंने बुआ से बात करना छोड़ दिया वह भी मुझेसे अच्छी से बात नहीं करती थी और नाराज नाराज रहती थी

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर एक दिन ऐसा हुआ जिससे मेरी किस्मत ही खुल गई

उस दिन बुआ गच्ची पर से कपड़े धो कर नीचे उतरते हुए उनका पेड़ स्लिप हो गया और वहां सीढ़ियों से नीचे गिर पड़ी और मैंने आवाज सुनकर वहां पर आकर देखा कि मेरी बुआ के कमर के बल जोरदार गिरी थी मैंने उसको उठाकर उनके रूम तक ले गया उनको पलंग पर लेटाया और डॉक्टर को बुलाने के लिए बुआ ने मुझे कहा ओर आप जानते हे लॉक डाउन चल रहा था तो कोई भी डॉक्टर घर पर आने को तैयार नहीं था तो फिर एक डॉक्टर तयार हुआ

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामा के घर मे अकेली मामी को चोदा 2

तो जैसे ही डॉक्टर घर पर आया हूं मैं उन्होंने बुआ का चेकअप करा और कहा कि दवाइयां आप सुबह शाम दीजिए और उनकी कमर की मालिश के लिए एक तेल लिख दिया जिससे कि उनकी कमर का दर्द कम हो जाए और कहा कि दिन में दो बार मालिश कीजिए
डॉक्टर के जाने बाद मैंने बाहर से जाकर दवाई और तेल लेकर आ गया अंदर आकर बुआ से कहा यहां दवाई ले लीजिए और साथ में आपकी कमर पर तेल लगाने के लिए डॉक्टर ने कहा है तो उन्होंने मुझे कहा कि मैं अपने कमर पर तेल कैसे लगा सकती हूँ और मालिश कर सकती हूँ तुझे ही मेरे कमर की मालिश कर के देना पड़ेगा तो मैंने उनसे कहा कि आप लेट जाइए और मैं आपके कमर की मालिश कर देता हूं और मैंने बुआ कमर की मालिश शुरू कर दी पहले तो मैंने धीरे-धीरे उनके कमर की मालिश करने लगा उनसे पूछा कि आपको कैसा लग रहा है

उन्होंने बताया कि आपको अब थोड़ा ठीक लग रहा है और दर्द भी कम है तो ऐसे ही दो दिनों तक मैं उनके उनकी मालिश करता रहा और अगले दिन उन्होंने मुझसे कहा क्या तुम मेरे पैरों की भी मालिश कर दे सकता है क्या तो मैंने हां कर दी और धीरे-धीरे मैंने उनके पैरों की मसाज शुरू कर दीं और कुछ ही देर बाद मैंने देखा कि बुआ को उनको नींद लग गई है मैंने अपना हाथ धीरे-धीरे उनके जांघों पर बढ़ाना शुरू कर दिया ऐसे करते हुए मैंने उनकी साड़ी को अपर करने लगा तो मुझे उनकी पिंक कलर की पैंटी दिखने लगी और मेरा लंड धीरे से खड़ा होने लगा और मैं लवर में था इसलिए मेरा खड़ा लैंड दिख रहा था

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मोटी भोजपुरी आंटी की चुदाई

और मैंने अपना हाथ धीरे से अपने बुआ के पिंक पेंटिंग पेंटी तक लेकर जाना शुरू किया और धीरे से अपने हाथ से उनकी चूत साल आने लगा तो मैंने महसूस किया कि उनकी चूत बहुत ही नरम है उन एकदम मुलायम दायक है और मैंने धीरे से अपनी उंगली उनके पेंटिंग में डालकर अपनी एक उंगली से उनकी चूत के दरार में डालना शुरू किया और फिर ऐसे मेरे बुआ की सिसकारी निकल पड़ी और मैं समझ गया कि वहां सो नहीं रही है सोनेका नाटक कर रही

फिर मैंने अपनी उंगली की स्पीड बढ़ा दी और धीरे-धीरे उनकी सिसकारियां बड्ने लगी मेने मौके का फायदा उठाते हुए उनकी पैंटी निकल दीं
और उनकी चूत को सहलाने लगा और देखते ही देखते मैंने अपने लवर को नीचे कर उनकी चूत में अपना लंड डाल दिया और बुआ भी जाग रही थी और मेरा साथ देने लगी थी और हमने वहां पर बहुत जोरदार सेक्स किया उन की चूत बहुत ही मुलायम दायक थी और हमने पूरे 2 घंटे तक सेक्स किया बहुत ही मजा दिया और ऐसे ही पूरा लॉकडाउन हमने सेक्स किया और फिर बाद में मैं अपने घर आएगा कैसी लगी मेरी कहानी आप सबको पलज मुझे बताए [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!