चचेरी बहन ने xxx फिल्म देख कर चूत चुदवाई-1

(Chacheri Bahan Ne xxx Film Dekh kar Mujhse Choot Chudwai-1)

chacheri bahan ki chudai मैं करण पाटिल, आज अपनी जिंदगी की पहली चुदाई की सेक्सी कहानी बताने जा रहा हूँ, जो कि पूरी तरह सच है, इसको लिखते समय कुछ गलती दिखे तो माफ करना.

मैं पुणे से हूँ.. मेरी उम्र 23 साल है. ये कहानी तब की है, जब मैं 18 साल का था. मेरे घर में मैं मम्मी पापा और छोटी बहन है, जोकि मेरे से 3 साल छोटी है. वो पंचगनी में हॉस्टल में पढ़ रही थी. मैं भी 10 वीं तक हॉस्टल में रह कर पढ़ा हूँ. उस वक्त 12 वीं पास करके मेरा नए कॉलेज में एडमिशन हुआ था. उन दिनों हमारे घर का मरम्मत का काम चल रहा था, इसलिए हम सभी एक फ्लैट में रहने आ गए थे.

रोज सुबह 8 बजे पापा अपने फैक्ट्री के ऑफिस चले जाते, हमारी एक बड़ी कास्टिंग इंडस्ट्री है. मम्मी का लेडीज कपड़ों का बड़ा शोरूम है. वो भी 8 बजे तक निकल जाती थीं. मेरा कॉलेज सुबह 7 बजे का होता था. जब कॅालेज से घर आता, तब तक 12-1 बज जाते. फिर पूरे दिन भर घर में कोई नहीं रहता था.. बस मैं अकेला ही रह जाता था.
मम्मी खाना बनाकर जाती, पर बरतन साफ करने काम वाली आती. वो 9 बजे तक आती. तो घर बंद रहता था, इसलिए हम घर की चाभी हमारे पड़ोसी के यहां रख जाते थे. वैसे वो पड़ोसी मेरे दूर के चाचा लगते थे, उनकी पहचान से ही हमने वहां फ्लैट खरीदा था.

चाचा-चाची का भी कपड़ों का व्यापार था.. पर ज्यादातर चाची घर ही रहती थीं. चाची की बेटी थी जो कि 20 साल की थी. उसका नाम मीरा (बदला हुआ) था. मैं उसको दीदी बोलता था.

पहले तो मैं उससे बात नहीं करता था. पर रोज कॉलेज के बाद उनके यहां चाभी लेने जाना पड़ता था सो बोलचा ल शुरू हो गई थी. दीदी एम एस सी में पढ़ती थीं.. उन्होंने एक्सटर्नल एडमिशन लिय़ा था.

रोज मिलने से मुझसे दीदी काफी फ्री हो चुकी थीं. अब तो वो मुझसे बातें करने हमारे फ्लैट में भी आ जाती थीं. फिर वे घंटों हमारे घर में बैठती थीं. मुझे मारती, चिढ़ातीं, मैं भी उन्हें मारता, चिढ़ाता.. हम दोनों बहुत मस्ती करते थे.
हम अपनी सारी बातें शेयर करते थे. पर अब तक मैंने उन्हें गंदी नजर से नहीं देखा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी की चुदाई की तड़प

मैं बहुत पोर्न देखता हूँ. मेरे कम्प्यूटर में बहुत पोर्न वीडियो हैं. पर मैंने इस बारे में दीदी को कुछ बताया नहीं था.
एक दिन दीदी मेरा कम्प्यूटर चला रही थीं, वे मुझसे बोलीं- जा मेरे लिये शरबत बना कर ले आ. chacheri bahan ki chudai

थोड़ी देर बाद मैं लौटा तो मैं हतप्रभ हो गया. दीदी मेरे कम्प्यूटर में एक चुदाई वाली xxx वीडियो देख रही थीं. दीदी ने मेरी तरफ देखा और शरबत उठाते हुए बोलीं- चाचा को बताना पड़ेगा.
मैंने शरबत वाला ट्रे बाजू में रखा. और सीधा उनके पैरों में गिर के माफी मांगने लगा.
दीदी बहुत मुश्किल से मानी.. पर बोलीं- इसके बाद जो भी करोगे, पहले मुझे बताओगे.

इतना बोल कर दीदी उठ कर चली गईं. उसके बाद 2-3 दिन वो मेरे घर नहीं आईं.
तीसरे दिन दीदी आईं और बोलीं- अब तो बताना पड़ेगा.
मैं बोला- अब क्या किया?
तो बोलीं- तुझमें बहुत घमंड है. मैंने बात नहीं की, तो तू भी मुझसे नहीं बोला?
मैंने बताया- दीदी मैं बहुत डरा हुआ था, इसलिए मैंने आपसे नहीं बात की.

वो मेरे बाजू में आकर बैठ गईं और मेरे कंधे पर हाथ रख कर बोलीं- इस उम्र में ऐसा होता ही है.
मैंने पूछा- क्या अभी भी आप मुझसे नाराज हो?
तो बोलीं- तुझे ये बातें मुझे बतानी चाहिए थीं.
मैं बोला- कोई लड़का कैसे किसी लड़की को ये चीजें बताएगा.
वो बोलीं- लेकिन तू मेरा अच्छा फ्रेंड है, तो इतना तो बता सकता था.
मैंने पूछा- आपने xxx वीडियो ढूंढी कैसे?
तो बोलीं- रिसेंट डाक्यूमेंट्स से.

मैं उनका मुँह देखने लगा. chacheri bahan ki chudai

दीदी आगे पूछने लगीं- वो पोर्न वीडियो अभी है या फिर डिलीट कर दी?
मैं बोला- है ना..
फिर दीदी पूछने लगीं- नंगी वीडियो देख के तू क्या करता है?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं शरम के मारे लाल हो रहा था. मुझे अजीब सा लग रहा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी नैनीताल वाली दीदी की चुदाई -1

फिर दीदी खुद ही बोलीं- हिलाता है न.. पता है मुझे.
मैं अवाक सा उनका मुँह देखने लगा.
दीदी बोलीं- कितने सेक्स वीडियो हैं तेरे पास?
मैं बोला- बहुत हैं.
दीदी बोलीं- चल दिखा.

हम दोनों बेडरूम में आ गए, मैंने कम्प्यूटर चालू किया और वीडियो दिखाना शुरू कर दिया. उसमें से एक वीडियो दीदी ने प्ले किया. वो एचडी वीडियो थी, उसे 5-10 मिनट देखने के बाद मैं अपना लंड हिलाने के लिये उठकर बाथरूम जाने लगा तो दीदी अचानक से बोलीं- जो करना है.. मेरे सामने कर..

मैं चुपचाप बैठ गया. मेरे लंड का उभार दीदी ने देख लिया था. मैं लंड छुपाने के लिए उसे नीचे दबा रहा था. तभी दीदी ने मेरे लंड पर हाथ रखा. मुझे एकदम से करंट सा लगा. मैं दीदी को वो टच फील करने लगा, फिर मैं भी दीदी की जांघ पे हाथ फिराने लगा.
दीदी मेरा लंड दबाए जा रही थीं. मैं भी कपड़ों के ऊपर से दीदी की चूत पर हाथ दबा रहा था. दीदी की सांसें तेज हो गई थीं.

इसके बाद मैंने दीदी के चूचों पर हाथ रखा और उनकी चूचियों को दबाने लगा. मेरी इस तेजी से दीदी चौंक गईं और पागलों की तरह मुझे किस करने लगीं. मैंने दीदी को कम्प्यूटर के सामने से उठाया और बेड पर लिटा कऱ हाथों से गरदन पकड़ कर होंठों से होंठ मिलाने लगा. मैं दीदी के होंठ चूम रहा था, जीभ से होंठ सहला रहा था. दीदी ने भी जीभ बाहर निकाली, फिर हम दोनों जीभ से खेलने लगे, एक दूसरे की लार पीने लगे.

दीदी तो मानो पागल सी हो गईं, वो मुझे सहलाए जा रही थीं, उन्होंने मेरी आधी शर्ट निकाल दी थी, मैंने वो पूरी उतार दी, उसकी गरदन पर कान पर छाती पर पागलों की तरह किस करने लगा “मुआहहहह.. मुआहहह.. मुआहहहह..”
मैंने दीदी की गरदन पर काटा तो वो सिसकारी लेने लगी थीं- इशस्सस.. बस्सस.. आहहहह.. ईशस्स.. आहम्म..

दीदी मेरे बाल खींच रही थी. मैं शर्ट की ऊपर से चूचे दबाने चूसने लगा. वो पागल हो रही थीं. मैंने शर्ट उठाई.. उनकी गोल नाभि देख कर पागल हो गया. जीभ को दीदी की नाभि में घुसेड़ कर चाटने लगा, पेट पर काटने लगा. वो हल्के हल्के से चिल्ला रही थीं “आआह.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह.. इस्स..”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Didi Chudi Rat Bhar Mere Sath – Hindi Sex Story

दीदी ने अपनी शर्ट और स्लिप को उतार दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं. मैं उनके ऊपर आ गया. दीदी के 34 इंच के तने हुए बोबे देख कर मैं पागल ही हो गया और ब्रा के ऊपर से ही दीदी के चूचे निचोड़ने लगा क्योंकि मुझसे जल्दबाजी में ब्रा खोली नहीं जा रही थी.

फिर उन्होंने ब्रा का हुक खोला तो मैंने ब्रा खींच कर हटा दी. आह.. क्या मक्खन की तरह मुलायम और गोरे मम्मे थे. दीदी का पूरा गोरा बदन, उस पर 34 के तने हुए बोबे.. उन पे गुलाबी रंग के हल्के भूरे से निप्पल एकदम कड़क हो उठे थे.
मैंने दीदी के एक निप्पल को किस किया तो उन्होंने मेरा सिर पकड़ कर कसके अपने निप्पलों पर दबा लिया. मैं मजे से निप्पल चूस रहा था “मु.. मुआ.. हहह..”

मैं मस्त होकर लपक लपक कर दीदी के निप्पलों को चाट रहा था.. और अपनी जीभ से सहलाए जा रहा था. दीदी भी मजे ले रही थीं “इस्स्स्स.. शशश.. आआहहह.. उम्म.. अहहह.. उफ्फ..”
बीच में धीरे निप्पल काट लेता, तो “ओहह.. आआह.. उहहम्म..” करती जाती.

मैं नीचे आया और दीदी की लेगिंग्स उतार दी.. उनको पलटा दिया.. और उनकी फूलों वाली पैंटी नीचे खिसका दी, दीदी के चूतड़ दूध की तरह गोरे चिट्टे थे. कम से कम 36 इंच के तो होंगे ही.
मैं जैसे ही दीदी के चूतड़ चाटने लगा, वैसे ही वो ज्यादा हरकत में आ गईं.. और गांड उठाते हुए मुझे अपनी चूत चाटने को बोलीं.
मैंने सर हां में हिलाया तो वो सीधे हो कर लेट गईं.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!