चाची बोली मेरी चूत गांड फाड़ दो पेल पेल के-1

(Chachi Boli Meri Chut Gand Fad Do Pel Pel Ke-1)

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी सुनाना चाहता हूँ जिसमें मैंने अपनी चाची से बदला लिया और उनको बहुत जमकर चोदा और उसकी चुदाई के मज़े लिए। पहले वो नाटक करने लगी, लेकिन उसके बाद मैंने उनकी कोई भी बात ना सुनते हुए उनको जबरदस्ती चोदना शुरू किया और अपने लंड को शांत करके अपना बदला अपनी चाची से लिया। Chachi Boli Meri Chut Gand Fad Do Pel Pel Ke.

दोस्तों यह कोई झूटी कहानी नहीं बल्कि मेरा सच्चा सेक्स अनुभव है, जिसको आज में HotSexStory.xyz के सभी चाहने वालों को बताना चाहता हूँ कि कैसे मैंने अपना बदला लिया। दोस्तों मेरा नाम अर्चित है और घर पर सभी लोग मुझे प्यार से राज कहकर बुलाते है। में सूरत का रहने वाला हूँ और मेरी लम्बाई 5 फीट 7 इंच है। दोस्तों यह बात तब की है जब मेरे घरवालों ने हमारे साथ ही हमारा घर किराए पर दे रखा था और वो लोग जो हमारे साथ रहते थे वो हमारे दूर के रिश्तेदार थे, लेकिन फिर भी वो हमारे घर के सदस्यों से कम नहीं थे और उनको यह हक मेरे पापा मम्मी ने दे रखा था।

दोस्तों वो अपने छोटे से परिवार के साथ दोनों पति पत्नी साथ में उनकी एक छोटी लड़की भी रहती थी और में उनको हमेशा चाचा, चाची कहता था और उनकी शादी को करीब सात हो गए थे और मेरे चाचा एक व्यापारी थे और चाची एक ग्रहणी और उनकी एक छोटी तीन साल की लड़की भी थी।                                          Chachi Chut Gand Fad Do

दोस्तों मेरी उस चाची का पूरा बदन बहुत आकर्षक था और उनके फिगर का साइज़ 35-28-34 था। उनकी लम्बाई 5.3 फीट उनके बालों का रंग बहुत काला और चमकदार था उनका रंग गोरा और वो दिखने में बड़ी सुंदर थी और वैसा ही उनका बदन भी था, जिसको देखकर मुझे वो परी के जैसी लगती थी और उनकी उम्र 28 साल और और बच्चे की माँ होने के बाद भी वो कुंवारी लगती थी।

दोस्तों मेरा अपनी सेक्सी चाची की तरफ झुकाव तो 15 साल की उम्र से ही हो गया था, क्योंकि वो बहुत सुंदर आकर्षक लगती थी और जब एक बार मेरे किसी बात को लेकर उदास होने पर मेरी चाची ने मुझे पहली बार अपने गले से लगाकर समझाया था वो मेरे शरीर को छूने का पहला मौका था, लेकिन तब में छोटा था, इसलिए मेरी कुछ भी करने की हिम्मत नहीं थी, क्योंकि वो मुझे ज़रा सी बात पर डांट दिया करती थी और वो हमेशा मेरी शिकायत भी मेरे मम्मी, पापा से बहुत ज्यादा किया करती थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मुस्लिम आंटी की चुदाई, एक घमासान चुदाई कथा-1

वो हर एक छोटी छोटी बातें भी मेरे घरवालों को बता दिया करती थी, इसलिए में उनसे कुछ ऐसा करके अपना बदला लेना चाहता था, जिसको वो अपनी पूरी जिंदगी याद रखे, लेकिन मुझे बिल्कुल भी पता नहीं था कि वो बदला में उनकी चुदाई करके पूरा करूंगा।        ChachiChut Gand Fad Do

दोस्तों मेरे कुछ साल उनको देखने और उनकी डांट फटकार सुनने में ही निकल गया और में अब पहले से बड़ा हो चुका था, लेकिन मेरे मन में अब भी उनसे बदला लेने की वो बात थी, जिसको में अभी तक नहीं भूल सका और मुझे कैसे भी करके उनसे अपना बदला पूरा करना था। में उसके विचार में लगा रहा। दोस्तों यह बात आज से एक दो साल पहले की है जब में अपनी कॉलेज की पढ़ाई कर रहा था और में उस समय कॉलेज के पहले साल में था और अपने कॉलेज में आने वाले पेपर की तैयारी कर रहा था इसलिए मेरा ध्यान उस समय अपनी पढ़ाई में ज्यादा था,

तो में जब भी अपने कॉलेज से घर आता, तब घर में चाची के अलावा कोई नहीं होता था, क्योंकि मेरी मम्मी और पापा उनके ऑफिस चले जाते थे और वो दोनों अपनी एक कंपनी में काम करते थे और फिर में घर आने के बाद अपने सभी कामों को खत्म करने के बाद अपनी चाची के साथ टीवी देखता था। उस वक़्त मेरी चाची की सिर्फ़ एक लड़की थी जो सिर्फ़ एक साल की ही थी और वो हर दिन दोपहर में सो जाया करती थी।

मेरी चाची की लेटकर टीवी देखने की आदत थी और में उनसे बहुत घुलमिल जाने की वजह से कभी कभी आगे बढ़ने के लिए में उनके कंधे पर बातों ही बातों में हाथ या अपना सर रख देता था। यह ऐसी हरकते में इसलिए करता था, क्योंकि में धीरे धीरे उनसे अपनी दूरी खत्म करना चाहता था।                                                    Chachi Chut Gand Fad Do

फिर वो कई बार मुझे ऐसा करने के लिए मना कर देती थी और मुझे उनसे वापस दूरी बनानी पड़ती थी, लेकिन दोस्तों सच कहूँ तो में अब अपनी चाची के बारे में सोचते हुए मुठ मारते मारते बहुत थक चुका था और इसलिए शायद में उनकी चुदाई का प्रयास करता था, इसलिए में यह काम करता था कि शायद मुझे उनकी चुदाई का कोई भी अच्छा मौका मिल जाए और इसलिए में अपनी चाची के सोने के बाद जानबूझ कर उनके पास में ही सो जाता था और में कुछ देर बाद उनकी लड़की को चुपके से हमारे बीच में से हटाकर अपने दूसरी तरफ सुला देता था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  आधी रात में चाचा को छोड़कर चाची आई मुझसे चुदवाने-2

जिससे हमारे बीच की दूरी खत्म हो जाती और में अपनी चाची से एकदम चिपककर सो जाता था। दोस्तों मेरी इस हरकत को चाची बहुत दिनों से गौर कर रही थी और उन्होंने मुझे बहुत बार अपने चिपककर सोता हुआ पाया था, लेकिन उन्होंने मुझसे कभी भी कुछ नहीं कहा था, जिसकी वजह से मेरी हिम्मत अब और भी ज्यादा बढ़ गयी और उस बात को सोचकर में मन ही मन बहुत खुश रहता था, क्योंकि अब मुझे उम्मीद थी कि चाची भी मुझसे कुछ चाहती है और तभी तो वो मेरी उन हरकतों का कोई भी विरोध नहीं कर रही थी।           Meri Chut Gand Fad Do

एक दिन ऐसे ही जब चाची दोपहर के समय टीवी को देखते देखते अचानक से सो गयी। फिर तब मैंने उनके सो जाने के करीब दस मिनट के बाद थोड़ी सी हिम्मत करके अपना एक हाथ उनके पेट पर रख दिया, तो मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ, क्योंकि उनका पेट बहुत मुलायम गरम था और मैंने उनके पेट को पहली बार छूकर महसूस किया था।

फिर कुछ देर बाद मैंने पेट से उनकी साड़ी का पल्लू भी हटा दिया, लेकिन तब भी चाची ने कुछ नहीं कहा और उनकी तरफ से कोई भी हलचल नहीं हुई जिसका मतलब साफ था कि वो उस समय गहरी नींद में सो चुकी थी, जिसकी वजह से मेरे मन में हिम्मत कुछ ज्यादा ही बढ़ रही थी। अब में अपने हाथ से उनके गोरे गोरे पेट को सहलाने लगा था और अपने हाथ को बहुत धीरे से उस पर घुमा रहा था, लेकिन तभी वो हिलने लगी और मैंने अपना हाथ तुरंत वहां से हटा लिया और अब उन्होंने अपनी पीठ को मेरी तरफ कर दिया और वो दोबारा से सो गयी,                                                                     Meri Chut Gand Fad Do

लेकिन मैंने देखा कि अब भी उन्होंने मुझसे कुछ नहीं कहा और मैंने कुछ देर बाद दोबारा से अपनी चाची की पीठ पर जो उन्होंने बड़े गले का ब्लाउज पहना हुआ था, उसमे से उनकी पीठ आधी खुली थी, जिसको देखकर में अपने आप को रोक ना सका और मैंने तुरंत उनकी खुली हुई गोरी पीठ पर एक किस किया और फिर उनके पेट पर मैंने अपनी पकड़ को मजबूत कर दिया और उनको कसकर अपनी बाहों में जकड़ लिया।

अब चाची करवट लेकर अपनी पीठ के बाल सीधी होकर लेट गयी, तब मैंने उनका एक हाथ उठाकर अपने सर के नीचे रख दिया और कुछ देर बाद अपना सर उनके बूब्स पर और अब एक हाथ उनकी कमर के नीचे और दूसरा हाथ उनके दूसरे बूब्स पर रखकर में हल्के हल्के उनके बूब्स को दबाने सहलाने लगा और फिर में अपने एक पैर से चाची की चूत के ऊपर हल्के हल्के रगड़ने लगा और चूत को कपड़ो के ऊपर से सहलाने लगा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामी को होटल में चोदा

दोस्तों मेरा लंड जो कि 6 इंच लंबा और 2 इंच मोटा है, वो अब चाची की जांघ से छू रहा था और वो तनकर खड़ा था, जिसकी वजह से उससे हल्का सा पानी भी निकलने लगा था। तभी अचानक से चाची ने अपने होंठो को मेरे होठों पर रखकर हटा लिया और में तुरंत समझ गया कि चाची सो नहीं रही है और वो तो मेरे सामने जानबूझ कर सोने का नाटक कर रही है और फिर मैंने चाची का चेहरा पकड़कर अपनी तरफ घुमा दिया और में उनके गुलाबी रसभरे होठों पर किस करने लगा,                                     Meri Chut Gand Fad Do

लेकिन अब भी चाची सोने का नाटक करती रही और उसके बाद में धीरे धीरे चाची के ब्लाउज के हुक को खोलने लगा और ब्लाउज के हुक खोलने के बाद में अब चाची के बूब्स को उनकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने सहलाने लगा और तब मुझे चाची के चेहरे की बनावट से साफ साफ पता चल रहा था कि वो अब तक कितनी गरम हो चुकी है। अब मैंने उनकी साड़ी को ऊपर से हटा दिया और उनके ब्लाउज में अपना हाथ डालकर मैंने उनकी ब्रा का हुक भी खोल दिया और उसके बाद में धीमे धीमे उनके बूब्स को सक करने लगा। वो अब भी अपनी दोनों आँख बंद किये हुए थी, लेकिन अब उन्होंने मेरे सर के नीचे वाले हाथ से मुझे कसकर पकड़ लिया था।

तब मैंने उठकर कमरे का दरवाजा लगा दिया और मैंने दोबारा उनके पास जाकर उनको अपनी गोद में उठाकर उनकी ब्लाउज और ब्रा को मैंने अब उतार दिया था। जिसकी वजह से अब वो मेरे सामने आधी नंगी थी और में अपने एक हाथ से उनके एक बूब्स को दबा रहा था और दूसरे बूब्स को चूस रहा था और अपने दूसरे हाथ को में उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनकी चूत पर घुमा रहा था। अब वो धीरे धीरे मोन करने लगी थी आह्ह्हह ऊऊम्म्म्म ऊओह्ह्ह्ह, लेकिन उनकी आँखे अब भी बंद थी।                                Meri Chut Gand Fad Do

 

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!