चिकनी चाची की चूचिया चूस चूस कर चोदा चोदी की

Chachi ke boobs aur choda chodi

मेरा नाम रौनक है मै आजमगढ़ का रहने वाला हू .मैं बीटेक करने के लिए अपने चाचा के पास लखनऊ आ गया मेरे चाचा आई टी कंपनी मे काम करते है जिसके कारण उनको अक्सर घर से बाहर जाना पड़ता है और चाची अकेले घर पर रहती है. और चाचा के घर पर न रहने से हमेसा उदास रहती है. मैं हमेसा चाची की बड़ी बड़ी चुचियों को देखता रहता था. एक दिन की बात है चाचा को काम से कुछ दिनों के लिए बहार जाना पड़ा. मेरी कमसीन जवान चाची जो 26 साल की जवान कली है की जिनका फिगर 36,34,40 है,

मैं हमेसा उनको चोदने के मौके खोजने लगा , मैं उनको नहाते हुए बाथरूम मे हर रोज बिना कपड़ो के देखता और उनकी पैंटी मे मुठ मरता था, मैं उनके पास बैठता और देर तक बाते करता रहता और उनकी रसीली चुचियों को देखता रहता .फिर रात मे चाची बोली मेरे पास सो जाओ मैं खुश हो गया की आज तो चोद के रहूँगा. रात मे मैं चाची के पास उनके बेड पर सो गया पर मुझे नींद कहा आ रही थी थोड़ी देर बाद चाची सो गई मैं उनकी चुचियों को देख रहा था और फिर अपने हाथ को उनकी चूची पर रखा और धीरे धीरे धीरे दबाने लगा चाची की नींद खुल गई वो गुस्से से बोली ये तुम क्या कर रहे हो और फिर मैं डर के मारे सो गया. मैं डर रहा था की वो मम्मी को बता देंगी पर उन्होंने नहीं बताया वो मुझे देखी और मुस्कुराई.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Pados vali Aunty Ki Gand Mari

वो नहाने बाथरूम मे गई मैं चुपके से उनके नंगे बदन को देख रहा था फिर मैं जाकर उनके कमरे मे बैठ गया वो बाथरूम मे से पेटीकोट और ब्रा मे बाहर आई और मुझे अपने कमरे मे देख कर बोली तुम यहा क्या कर रहे हों और अपने हाथों से अपनी चुचियों को छुपाने लगी मैं उठा और उनको अपनी तरफ खीचा उनकी कमर मे हाथ डाला और बेड पर लिटा दिया और उनकी चुचियों को जोर से मसल्ने लगा उनके होठों को चूसने लगा उन्होंने रोका और बोली रात मे आना मैं तुम्हारी ही तो हूँ.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने उनकी ब्रा ली और मूठ. मार कर खुद को शांत किया.
फिर मैं रात मे खाना खा के चाची के कमरे मे गया वो बस ब्रा और पैंटी मे थी मैं जाते ही उन पर टूट पड़ा मैंने उनकी ब्रा और पैंटी निकाल कर उनको नंगा कर दिया और खुद भी हो गया मैं उनकी चुचियों को मसल्ने लगा वो कामुक हो कर आवाजे निकालने लगी आ. आह् आह आह….. आह मैं उनकी चुचियों को पीने लगा वो पागल सी हो गई और जोर से आवाज करने लगी आह उ आह उ…. आह… उ त.. फिर मैं अपने होठो को उनकी गुलाबी बुर पर रख दिया वो मचल गई

आह रौनक मैं अपनी जीभ उनकी बुर मे डाल दिया वो उछल गई वो मचल गई आह उ आह… उ आह अब वो बोली चोद दो मुझे अब और मत तड़पाओ मैंने अपना 7 इंच का मोटा लंड उनकी बुर पर रख कर धक्का दिया मेरा लंड पुरा चाची की बुर मे चला गया उनकी चीख निकल गई और वो चुदाई के मजे लेने लगी पुरा कमरा कामुक अवजो से गुज गया आह आह आह… उ आह.. उ पुरा कमरा आह उ.. आह. उ… आह की अवजो से गुज गया फिर हम दोनो एक दूसरे से लिपट कर सो गए अब हमे जब भी समय मिलता है हम सेक्स करते है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!