चाची की कभी हाँ कभी ना

Chachi ki kabhi ha kabhi na

हैल्लो दोस्तों, यह वेबसाईट मेरी सबसे ज्यादा पसंदीदा साईट में से एक है और आज में इस साईट के ज़रिए अपनी कहानी बताने करने जा रहा हूँ. अब में आपको अपने बारे में बताता हूँ. मेरा नाम राहुल है और में 24 साल का हूँ. में सूरत गुजरात में रहता हूँ और यह कहानी मेरी सुंदर चाची नीलम के बारे में है.

यह घटना तीन साल पहले की है, मेरी फेमिली ने उस वक़्त सूरत में ही नये फ्लेट में शिफ्ट किया था, इस अपार्टमेंट की खूबी यह थी कि एक फ्लोर पर सिर्फ़ दो फ्लेट थे, हमारे सामने वाला फ्लेट मेरे चाचा जी ने लिया था. चाचा जी मेरे पापा के छोटे भाई है और चाचा की फेमिली में नीलम चाची और उनका 13 साल का बेटा था और चाची की उम्र उस समय 36 साल के करीब होगी. में अपने कॉलेज के तीसरे साल में पढ़ाई कर रहा था. मेरे कॉलेज में वैसे तो एक से बढ़कर एक सुंदर लड़कियां थी, लेकिन जब मैंने नीलम चाची को देखा तो महसूस हुआ कि वो सब गर्ल्स तो पानी कम चाय थी. नीलम चाची इस उम्र में भी हॉट लगती थी, कोई उन्हें देख ले तो यकीन भी ना करे कि उनके 13 साल का लड़का भी हो सकता है. में तो उनको देखते ही उन पर फ़िदा हो गया था.

हमारे चाचा जी की फेमिली से अच्छे रिश्ते थे और हम एक दूसरे के घर अक्सर आया-जाया करते थे और हमारे एक दूसरे के घर में डिनर हर हफ्ते में होते रहते थे. में उनको कभी-कभी घूरता रहता था, मेरी नज़र कभी अचानक से उनके बूब्स की गली, साड़ी के पल्लू के बीच में से उनकी नाभि और कभी उनके कूल्हे पर पड़ जाती तो में उनके ख्यालों में खो जाता, लेकिन कभी मैंने चाची जी को चोदने के बारे में नहीं सोचा था.

अब उनको देखने के बाद मैंने सोचा कि नीलम चाची को गर्म कैसे करूँ? वो एक भारतीय नारी है और उनकी उम्र 36 साल है और उनकी स्किन वाईट कलर की है, उनकी हाईट करीब 5 फीट 2 इंच होगी और उनकी आँखे बहुत ही सुंदर, लेकिन बड़ी थी और उनके बूब्स थोड़े से आम शेप के थे, लेकिन उनका कप साईज़ बड़ी कटोरी जितना होगा, उनके होंठ बड़े ही सेक्सी थे और उनका नीचे का होंठ थोड़ा बड़ा था जो किस करने के लिए ही बना था और उनके बाल मीडियम लंबाई के थे. उनके कूल्हें शानदार साईज़ और शेप के थे, उनकी कमर 28 इंच के करीब की होगी, उनका फेस बहुत ही सुंदर है और फेस की चमक सोने जैसी थी. उनको हमेशा गुजराती स्टाईल में साड़ी पहनना पसंद है और रात को वो गाउन पहनती है, तब वो बहुत हॉट और सेक्सी लगती है.

फिर अचानक मेरी किस्मत चमक गई और उस दिन हमारे घर केबल की प्रोब्लम थी तो में नीलम चाची के घर टी.वी. देखने के लिए गया, क्योंकि उनके घर डिश टी.वी. है. फिर में उनके घर के हॉल में बैठकर टी.वी. देख रहा था और उस समय घर पर सिर्फ़ नीलम चाची थी, क्योंकि चाचा जी ऑफिस गये हुए थे और उनका लड़का दिन की शिफ्ट में स्कूल गया था. उस समय नीलम चाची अंदर के रूम की साफ सफाई कर रही थी और में अपने टी.वी. प्रोग्राम में व्यस्त था.

फिर अंदर से नीलम चाची की आवाज़ आई और में उठकर अंदर गया तो मैंने देखा कि वो अन्दर झाडू लेकर खड़ी थी. उन्होंने अपनी साड़ी अपनी कमर में बांध रखी थी. उनको स्टोर्स के माले में सफाई करनी थी, इसलिए उन्होंने मुझे स्टूल को पकड़ने के लिए बुलाया था, स्टूल करीब 3 फुट का था. फिर वो स्टूल के ऊपर चढ़ गयी और में स्टूल को पकड़कर नीचे खड़ा था.

फिर मैंने जब ऊपर देखा तो मुझे नीलम चाची की गोरी-गोरी जांघे साफ़-साफ दिख रही थी और उनकी लाल कलर की छोटी सी पेंटी भी मुझे साफ दिख रही थी. में उसी वक़्त काफ़ी उत्तेजित हो गया और मुझ पर सेक्स का भूत सवार हो गया था. अब मुझे होश नहीं रहा और में उत्तेजना में आकर उनके पैर को किस करने लगा और अब मेरे हाथ नीलम की जांघो को रगड़ने लगे थे और में पता नहीं क्या कर रहा था, लेकिन जो भी हो मुझे बहुत ही मजा आ रहा था. उतने में नीलम नीचे उतर आई और में उनको किस करने लगा. में पागलों की तरह यह सब कर रहा था. फिर नीलम भी अचानक से हुए इस बर्ताव को समझ नहीं पाई और वो भी भावना में बहने लगी थी. अब में उसके होंठ पर किस करने लगा तो उसने भी मेरा अच्छा साथ दिया. फिर उसने अपने होंठ खोल दिए और हम एक दूसरे के होंठ को चूस रहे थे, लेकिन अचानक नीलम को पता नहीं क्या हुआ और उसने मुझे धक्का देकर किस करना छोड़ दिया.

फिर वो बोली कि यह सब ठीक नहीं है, प्लीज़ तुम चले जाओ और यह सब भूल जाओ तो में एकदम से हैरान हो गया और मुझे भी एक पल के लिए यह सब ग़लत लगा, लेकिन जैसे ही वो चलने लगी तो मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और उसके मुलायम पेट पर एक हाथ रखकर सहलाने लगा और दूसरा हाथ उसके बूब्स पर रखकर दबाने लगा और साथ ही में उसकी गर्दन को किस कर रहा था.

नीलम वापस से पिघल गयी और आगे से मुझे किस करने लगी. फिर में उसको बेडरूम में ले गया और उसकी साड़ी निकाल दी, वो पूरी तरह से कांप रही थी और उसके मन में अजीब-अजीब से विचार आ रहे थे तो वो उत्तेजित भी थी, लेकिन वो बार-बार यह ठीक नहीं है, हमें यह नहीं करना चाहिए आदी बोल रही थी, लेकिन वो पूरी तरह से विरोध भी नहीं कर रही थी. फिर मैंने अपनी टी-शर्ट उतार दी और अब वो अपने ब्लाउज और पेटिकोट में थी.

फिर मैंने उसको बेड पर लेटा दिया और वो अभी भी कांप रही थी. फिर में उसके गालों को किस करते हुए मैंने उसकी गर्दन को किस किया. फिर में जैसे ही उसके पेट पर अपनी जीभ को फेर रहा था तो उसका पेट बहुत ही कांपने लगा. अब नीलम जैसे ही बोलने जा रही थी कि यह ग़लत है, तभी मैंने उसके पेट की नाभि में अपनी जीभ डाल दी और उसके मुँह से आमम्मह अयाया यह ठीक नहीं है, निकल गया. अब में उसकी नाभि को चूस ही रहा था तो वो बोली, उउम्म्म्म राहुल प्लीज़ सस्स अया मुझे छोड़ दो, चले जाओ और में उसकी सिसकियाँ सुनकर बहुत ही उत्तेजित हो गया. अब नीलम की सांसे काफ़ी भारी हो गयी थी और में अब उसके ब्लाउज की गली को चूसता हुआ, गर्दन को चूसते हुए, अब उसके गालों को चूसने लगा. फिर में अपने होंठ उसके होंठ के पास ले गया तो वो मुझे किस करने के लिए खींचने लगी. में उसके होंठो पर टूट पड़ा और बड़े ज़ोर से उसके होंठ को अपने होंठो से चूसने लगा, अब उसने अपना मुँह पूरा खोल दिया और हमारी जीभ आपस में मिल गयी और हम एक दूसरे की जीभ को बारी-बारी चूसने लगे, यह काफ़ी अच्छा और लंबा फ्रेंच किस था.

फिर किस तोड़ने के बाद मैंने उसके ब्लाउज के बटन खोल दिए, उसने ब्रा नहीं पहनी थीऔर अब उसके बूब्स नंगे हो गये और उसके बूब्स ब्लाउज के अन्दर छोटे दिखते थे, लेकिन यह तो बहुत बड़े थे. फिर में उसके बूब्स को चूसने लगा और दूसरे बूब्स को मसलने लगा, उसके बूब्स बहुत ही नरम थे, जैसे कोई रुई का गोला हो.

मुझे बूब्स चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था और में बारी-बारी से उसके दोनों बूब्स को चूसने लगा और उन्हें मसलने लगा. फिर में नीलम के निप्पल को चूसने लगा तो उसकी सिसकियां तेज होने लगी और में उसके निप्पल को ज़ोर-जोर से चूसने लगा तो उसका बर्ताव सस्शहशहस आआहह आआ स्शहस्स्स के जैसे कुछ था और चूसने के कारण उसके निप्पल खड़े हो गये थे और उसके खड़े निप्पल काफ़ी सेक्सी लग रहे थे.

अब बूब्स के साथ बहुत टाईम तक खेलने के बाद मैंने उसके सपाट चिकने पेट को चूसते हुए, उसके पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया और एक ही झटके से उसे निकालकर फेंक दिया. अब वो सिर्फ़ उसकी लाल पेंटी और खुले हुए ब्लाउज में बेड पर कांपते और भारी साँसे लेते हुए हॉट बदन के साथ लेटी हुई थी. वो अभी भी बोल रही थी कि राहुल यह ठीक नहीं है, प्लीज़ चले जाओ, लेकिन उसकी आवाज़ अब कमज़ोर और धीरे हो गयी थी. फिर मैंने उसका एक पैर पर उठाया और उसके पैर के अंगूठे को किस करने लगा. फिर में उसके पैरों को किस करते हुए उसकी सेक्सी मुलायम जांघो को चूसने लगा और उसकी जांघे मुलायम, सिल्की और गोरी थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर कुछ देर बाद में उसकी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत को रगड़ने लगा. अब नीलम की आवाज़े तेज हो रही थी, आअहहा स्शहस्स उम्म्म आअहह. फिर उसकी जांघो को रगड़ने के बाद मैंने उसके ब्लाउज को निकाल डाला. फिर मेरी नज़र उसकी पर गयी, उसमें छोटे-छोटे बालों की उलझी हुई गुच्छी थी, शायद उसने 10-12 दिन से शेव नहीं की होगी. में यह देखकर बहुत ही उत्तेजित हो गया और मुझे बालों वाली आर्मपॉइंट बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

फिर मैंने उसके दोनों हाथों को ऊपर किया और अपना मुँह उसकी बगल में डाल दिया और में उसकी बघल को बारी-बारी से चाट रहा था, नीलम के लिए शायद यह नया था, लेकिन वो भी इससे उत्तेजित हो गयी थी. अब में वापस से नीलम के बूब्स चूसने लगा और उसके बाद उसके पेट को चाटते हुए उसकी लाल पेंटी तक जा पहुँचा और एक ही झटके में उसकी पेंटी उतार कर ज़मीन पर फेंक दी और अब वो पूरी तरह से नंगी हो गयी थी और उसकी चूत पर भी बड़े-बड़े बाल थे, उसने विरोध करना पूरी तरह से छोड़ दिया था और अब वो सिर्फ़ आहें भर रही थी और सिसकियाँ ले रही थी.

अब में अपने कपड़े उतारने के लिए खड़ा हुआ तो मुझे नीलम का खूबसूरत बदन नज़र आया. अब वो भारी साँसे लेते हुए, हाथ सर के ऊपर रखकर लेटी हुई थी, वो क्या हॉट और सेक्सी नज़ारा था? नीलम का पूरा चिकना, गोरा बदन, उसकी सुंदर काली बड़ी-बड़ी आँखे, उसके सेक्सी लाल मोटे होंठ, उसके हाथों की बगल के सेक्सी छोटे-छोटे भूरे बाल, उसके बड़े बूब्स के निप्पल और नीलम का सपाट चिकना पेट और पेट की गहरी नाभि, उसकी सिल्की मुलायम जांघे, पतले लंबे पैर और सबसे हॉट उसके काले घने बालों वाली चूत, में तो हक्का बक्का रह गया. फिर जल्दी से में अपने कपड़े उतार कर पूरा नंगा हो गया और मेरा लंड अभी से तनकर खड़ा हो गया था.

फिर में नीलम को किस करता हुआ उसकी चूत को हाथों से रगड़ रहा था. फिर उसके बूब्स को चूसते हुए उसकी चूत में अपनी उंगली डालकर उसे उंगली से चोदने लगा. अब में उसका एक बूब्स और निप्पल को चूस रहा था और साथ ही अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसकी चूत में उंगली अन्दर बाहर कर रहा था.

फिर मैंने अपने इस तिहरे काम की गति बढ़ा दी, तब नीलम की सिसकियाँ और तेज हो गयी, सस्स्शह आआअहह उउम्म्म्म अहहा आहह हा हा हा. अब वो अपने हाथों से मेरे बालों को सहला रही थी तो अचानक से उसकी सिसकियां और तेज़ हो गयी और वो ऊओह आअहह सस्स्सिईई ऊओह और वो अपनी कमर को दो तीन बार हिलाते हुए मेरे बालों को खींचने लगी. फिर 15-20 सेकेंड के बाद वो शांत होकर फिर से लेट गयी. शायद उसका बहुत टाईम के बाद पानी निकला था. मेरा लंड अब और इंतज़ार करने को तैयार नहीं था. फिर मैंने नीलम की कमर के नीचे एक तकिया रख दिया, नीलम ने ख़ुशी से अपने पैर खोल दिए और उसकी चूत में उंगली अन्दर बाहर करने की वजह से उसकी चूत पहले से ही गीली हो गयी थी.

फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर रखा और नीलम को किस करते हुए एक ही धक्के में मेरा लंड उसकी चूत में चला गया, उसकी चूत बहुत ही गर्म और चिकनी थी. मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत के अन्दर गया तो ऐसा लगा कि जैसे मेरा लंड जन्नत में पहुँच गया हो. फिर थोड़े ही धक्को में मैंने अपनी लय पकड़ ली और नीलम ने मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया. फिर में अपनी स्पीड में धीरे-धीरे बदलाव ला रहा था, कभी लंबे और धीरे धक्के तो कभी तेज धक्के लगा रहा था. फिर नीलम ने अचानक से अपने पैरों को मेरी कमर के ऊपर लपेटकर अपनी पकड़ बना ली थी. अब पूरे रूम में हमारे सेक्स की आवाज़े आ रही थी, सस्स्शह आआअहह उउम्म्म्म अहहा आहह हा हा हा सस्शहशहस आआहह आआ स्शहस्स्स उउम्म्म्म राहुल और मेरी भी सिसकियाँ निकल रही थी, अघह आअहह ईईईईल्ल्ल्ल्लम आअह.

फिर मैंने उसको चोदते हुए ही अपनी पोज़िशन चेंज कर दी, अब नीलम ऊपर आ गयी थी और उसको भी यह स्टाईल बहुत अच्छी लगी और वो अपनी गांड ऊपर नीचे करते हुए धक्के लगा रही थी और वो जब धक्के लगा रही थी, तब उसके बूब्स जोर-जोर से ऊपर नीचे हो रहे थे. अब में उसके बूब्स और निप्पल मसलने लगा, वो अचानक से अपने हाथों की बगल मेरे मुँह के पास ले आई और में उसकी सेक्सी बगल को चाटने लगा. फिर अब उसके बूब्स की बारी थी, में उनको भी चूसने लगा. फिर थोड़ी देर के बाद हम वापस मिशनरी पोज़िशन में आ गये. नीलम ने अपनी पकड़ बहुत ही मजबूत कर दी थी, राहुल आआहह आआ राहुल बोलते हुए उसने इतना जोर से मुझे जकड़ लिया कि शायद उसने मेरी पीठ को नोच दिया था. वो अपनी गांड ज़ोर-ज़ोर से मेरी स्पीड की लय के साथ हिलाने लगी, यह उसका दूसरा स्खलन होगा. फिर मैंने नीलम को किस करते हुए अपनी स्पीड बहुत ही तेज कर दी.

फिर में उसकी जीभ को चूसते हुए जोर-जोर से धक्के मार रहा था और फिर अचानक से एक भारी आवाज के साथ आघ आअ आघ आअ के साथ मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया. मैंने कभी इतना सारा वीर्य बाहर नहीं निकाला था. फिर मुझे वीर्य निकलने के टाईम कुछ देर तक मस्त आनंद महसूस हुआ. फिर हम दोनों अब धीरे-धीरे शांत हो रहे थे, में नीलम के माथे पर किस देते हुए उसके ऊपर ही लेटा हुआ था, मेरा लंड अभी भी उसकी चूत में था और लंड भी धीरे-धीरे सिकुड़ने लगा था. हम दोनों पसीने से पूरे भीग चुके थे और हमारी भारी साँसे अब हल्की हो रही थी. फिर में आखरी किस करके उसके पास में लेट गया. अब नीलम भी बहुत खुश थी और उसने बताया कि पिछले 2 साल से उसने सेक्स नहीं किया था. मेरे साथ सेक्स करके उसने अपनी 2 साल की दबी हुई प्यास को शांत कर लिया था. फिर थैंक्स कहते हुए उसने मेरे माथे और मेरे होंठो पर किस किया. दोस्तों मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा था कि मैंने सच में नीलम को चोद दिया था.