चाह थी ननद की, भाभी चुद गयी-2

(Chah Thi Nanad Ki, Bhabhi Chud Gayi-2)

मैंने भी सोचा ऐसे बॉम्ब का इतना गुरुर तो चलता है. मैंने उनका हाथ पकड़ा और अपनी ओर खींच कर बोला- भाभी आई लव यू.
तो भाभी बोलीं- लव यू कहना है, तो भाभी मत कहो, तुम मुझे नैना कहो.
मैंने कहा- भाभी कहने में जितना मजा आता है, वो नैना कहने में नहीं आएगा.
भाभी हंस दीं.

बस फिर क्या था. मैंने उनको bhabhi and devar sex के लिए बिस्तर पर चित लिटा दिया और उन पर कूद पड़ा. मैंने भाभी की साड़ी का पल्लू उठा के नीचे कर दिया. मैं उनके लाल ब्लाउज में से मचलते हुए उनके मम्मों को निहारने लगा. फिर अपने दोनों हाथ मम्मों पे रखकर मसलने लगा. कुछ देर मम्मों को मींजने के बाद मैं थोड़ा नीचे होके उनकी नाभि के ऊपर किस करने लगा.

वो चुदास से गर्म हो गयी थीं और चुदाई के लिए पूरी तैयार थीं. मैंने अपने हाथ से ब्लाउज के हुक खोल दिए और ऊपर से ब्लाउज को निकाल फेंका. अन्दर लाल ही रंग की छोटी सी ब्रा में भाभी के चूचे बड़ी चमक मार रहे थे. फिर ब्रा का हुक निकाल के मैंने उन्हें ऊपर से पूरा नंगा कर दिया. मैं भाभी के एक मम्मे को चूसने लगा, दूसरे को मसलने लगा. भाभी के मम्मों में बहुत कसावट थी. ऐसा लग रहा था कि इनको अब तक किसी ने दबाया ही नहीं होगा.

वो कामुकता से सीत्कार कर रही थीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ … आह..’

मैंने एक हाथ से उनकी साड़ी उतार दी. अब मेरे सामने भाभी सिर्फ पैंटी में रह गई थीं. मैं सामने खड़ा होकर उनको निहारने लगा, तो वो शर्मा कर अपने हाथ से चेहरा छुपाने लगीं.

भाभी बोलीं- मुझे तो पूरी नंगी कर दिया और खुद अभी भी कपड़ों में हो.
बस इतना कहते ही मैंने टी-शर्ट और पेन्ट निकाल दी और अंडरवियर में आ गया.

मेरा एक हाथ उनके मम्मों पे जम गया और दूसरा हाथ उनकी पैंटी में घुसने की कोशिश करने लगा. मैं उनका हाथ मेरे अंडरवियर में खड़े लौड़े पे लेकर गया, तो भाभी मेरे लंड को टटोलने लगीं. वो लंड सहलाते वक्त मेरी आंखों में देख रही थीं. उनकी आंखों में वासना की भूख साफ़ नजर आ रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhabhi ko chod ke bachcha diya

फिर भाभी ने लंड के ऊपर से अपना हाथ हटा कर मेरे सर पे रख दिया. अब वो मेरा सर नीचे की ओर दबाने लगीं.

मैं समझ गया. अब मैं उनके मम्मों और पेट के ऊपर से होते हुए hindi bf bhabhi की चूत के ऊपर चला गया. मैंने अपने हाथों से भाभी की गीली पैंटी निकाल फेंकी. भाभी की चुत से पानी निकल रहा था. मैंने चूत में एक उंगली डाली, तो वो चिल्ला दीं- आउच.
फिर दो मिनट तक मैंने उंगली को चूत के अन्दर बाहर करके उनकी चुत को पैंटी से साफ कर दिया.

अब उन्होंने अपने दोनों पैर अलग कर दिए थे और मेरा सर अपनी चूत के ऊपर दबाने लगी थीं. मैं भाभी के बिना कहे ही समझ गया कि ये मुझे चूत चाटने को बोल रही हैं.

उनकी चुदास अब बाहर निकलने लगी थी. मैंने अपनी जीभ से चूत के दाने को चाटना और होंठों से मसलना चालू कर दिया.
भाभी ‘स्स … स्स … आह आह … और करो..’ कहने लगीं.

कोई 5 मिनट के बाद भाभी कहने लगीं- बस आ जाओ राजा.
वो मुझे अपने ऊपर बुलाने लगीं. मेरे ऊपर आते ही भाभी ने मेरी अंडरवियर को निकाल दिया.

भाभी गांड उठाते हुए बोलीं- अब डाल दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है.
मैंने कहा- भाभी प्रोटेक्शन नहीं है, आप प्रेगनेंट हो गयी तो?
वो बोलीं- होने दो … उसी के लिए तो सोयी हूँ तुम्हारे नीचे.
यह कहते हुए उन्होंने मुझे अपनी ओर खींचा और अपने पैर को फैला के लंड खुद से ही चूत में डाल लिया.

मैंने भी धक्के लगाने चालू कर दिए, तो वो sexy bhabhi chudai video के जैसे चिल्लाने लगीं- आह … आउच … और जोर से और जोर से आह आह.
उनके चिल्लाने से मैं घबरा गया कि कहीं कोई आवाज सुनकर न आ जाए.

मुझे अपनी कोई चिंता नहीं थी … बस उनकी फ़िक्र थी. मैंने अपने होंठों को होंठों से मिला दिया और नीचे की ओर चूत में जोरदार झटके देने लगा. झटकों की स्पीड से उनकी आवाज मेरे मुँह में ही दब रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी पड़ोसन की ठुकाई-1

जब मैंने आंखें खोलीं, तो वो मेरी ओर ही देख रही थीं. उनकी आंखों से पानी निकल रहा था.

करीब 15 मिनट की जोरदार चुदाई के दौरान भाभी 1-2 बार झड़ चुकी थीं. वे हर बार अपना गर्म पानी निकाल रही थीं, जो मेरे लंड को महसूस हो रहा था.

आखिर में मेरा टाइम भी आ गया और मैंने अपना लंड बाहर खींच कर पानी उनके पेट पे निकाल दिया.
इससे वो गुस्सा हो गईं और बोलीं- अन्दर ही निकालना था ना.
मैंने कहा- भाभी आज ही मिली हो, आज ही सुहागरात और आज ही प्रेगनेंट कैसे कर दूँ. थोड़े दिन तो मजे ले लेने दो.
भाभी हंस दीं.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैं दस मिनट तक वैसे ही उनके ऊपर पड़ा रहा.

कुछ देर बाद भाभी फिर से तैयार हो गयी थीं. पर मेरा हथियार सो रहा था. उन्होंने मुझे नीचे धकेल दिया और मेरा लंड मुँह में लेके चूसने लगीं. लंड चुसाई से मुझे मजा आ रहा था. कोई 3 मिनट में ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. इस बार भाभी खुद ही मेरे खड़े लंड के ऊपर आकर बैठ गयी और खुद चुदने लगीं.

मैंने कहा- नैना कितने दिनों से भूखी हो?
वो बोलीं- बहुत दिनों से … मेरे उनसे कुछ होता ही नहीं … आकर खाना खाकर सो जाते हैं, इसलिए तो मैं तुम्हारे पास आ गयी हूँ.
करीब 10 मिनट तक वो लंड की राइड करती रहीं.

फिर उनको डॉगी होने को कहा और पीछे से जोरदार झटके देने लगा. उनकी चीखें बढ़ती ही जा रही थीं. मैं झड़ने वाला था, करीब 4-5 झटकों में चूत में ही अपना लावा निकाल दिया.

इसके बाद हम दोनों बाथरूम में चले गए. हम दोनों ने मिलकर शावर ले लिया. उधर नहाते हुए ही हम दोनों में गर्मी बढ़ने लगी. मैंने भाभी को शावर के नीचे ही लिटा दिया. मैंने उनके दोनों पैर अपने कंधों पे लेकर उनकी गांड पे लंड लगा दिया और धीरे धीरे अन्दर डालने लगा.

गांड में लंड जाते ही भाभी चिल्ला उठीं और उठ कर खड़ी हो गईं. भाभी मुझ पर बहुत गुस्सा होने लगीं.
मैंने सॉरी कहा और फिर से उनको अपनी ओर खींच लिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कविता भाभी की चुदाई

भाभी की गांड बहुत टाइट थी, इसलिए उनको दर्द बहुत हो रहा था. उनको उनके हिसाब से सेक्स करना पसंद था. मुझे क्या चाहिए … इसमें उनको कोई रूचि नहीं थी, तब भी मैं खुश था. क्योंकि भाभी को खुश करने में ही अब मुझे ख़ुशी मिल रही थी.

करीब करीब एक दूसरे की बांहों में लिपटे हुए हम दोनों शावर लेते रहे. वो मेरे कंधे पे अपना सर रखकर आंखें बंद किये खड़ी थीं.
मैंने उनसे कहा- बैठ जाओ और मुँह में लंड ले कर चूस लो.

इस पर उन्होंने मना किया, तो मैं नाराज हो गया. उनको पता चला तो वो बैठ गईं और दस मिनट तक लंड चूसती रहीं. मैंने अपना हाथ उनके सर पे रखके लंड अन्दर गले तक धकेलने लगा, तो उन्हें उलटी होने लगी.

फिर मैंने sexy bhabhi chudai video जैसे उनको उठाया और अपनी ओर खींच कर हग किया.

इसी तरह करीब तीन महीनों तक हमारा प्रोग्राम चलता रहा. हर शनिवार को तो मैं सुबह 8 से शाम के 5 बजे तक उनके ही बेडरूम में रहता था. कुछ ही दिनों में भाभी प्रेग्नेंट हो गईं.

फिर उनसे मैं दूर चला गया. मेरी दूसरी जगह जॉब लग गई थी.

आज भी उनका कॉल आता है और वो बोलती हैं- देख तेरा बच्चा बहुत तंग करता है.
मैं भी बोल देता हूं- दूसरा बच्चा चाहिए तो आ जाना.

अब वो पुणे में नहीं रहती हैं, इसलिए मिलना नहीं होता.

अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि भाभी के प्रेग्नेंट होने के बाद कैसे उन्होंने अर्चना को पटाने में मेरी मदद की. मैंने अर्चना की चुदाई का मजा कैसे लिया.

दोस्तो, कैसी थी मेरी नैना भाभी की चुदाई कहानी, अपनी प्रतिक्रिया जरूर बताना.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!