चार दोस्तो का एक हसीन सेक्स गेम-4

Char dosto ka ek hasin sex game-4

उसके बाद बारी आती है सुहानी की वो जिसमें उसने इंट का 6 उठाया। जिसमे लिखा था
सभी एक साथ किस करो । सब किस करने लगे तभी सम्राट ने मेरा बांध दिया बोला आपका रह गया था। मेरे को बांधने के बाद सबसे पहले सुहानी अाई और मेरे होठ चूसने लगी और रिचा मेरी छाती। सम्राट दूर से देख रहा था तो रिचा ने बोला तीनो को करना था। फिर सम्राट ने कुछ पल सोचा और मेरे पैर के तलवे चूसने लागा ।

सुहानी मेरे होठ को छोड़ कर मेरे कछे को निकालने लगी। और मेरे 6 इचं के लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी। सभी नंगे हो चुके थे और उधर रिचा और सम्राट एक दूसरे में खो गए। सुहानी ने मेरा लंड चूस चूस के उसका पानी निकल दिया क्योंकि काफी देर से खड़ा था। अब उसने मेरे हाथ खोल दिए मैंने उससे लेटाया और उसकी चूत को चूसने लगा चाटने लागा। कुछ देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया। मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था। मैंने सम्राट की तरफ देखा तो वो अपना 5.5 इचं का लंड रिचा की चूत पर रगड़ रहा था। एकदम से उसने अपना लंड रिचा की चूत म डाल दिया और धके लगाने लगा। वो पहले तो कुछ झटको में चीखी लेकिन फिर सिसकी लेने लगी। वो चिल्ला रही थीं- और ज़ोर से ज़ोर से।

मैंने भी सुहानी को लेटाया और उसकी बड़ी बड़ी चूचियों को अपने हाथ लिया और ज़ोर के झटके से पूरा का पूरा लुंड डाल दिया। उसकी आंखो से हवस और चमकने लगी। वो दर्द महसूस कर रही थी लेकिन मज़ा भी आ रहा था। 20 मिनट की चुदाई मे हम चारो का पानी निकाल चुका था लेकिन दावा का असर अभी भी था।

5 मिनट बाद हमने उन दोनों को घोड़ी बनाया । वो दोनो एक दूसरे के सामने थे। जैसे ही हमने उनकी चूत में लंड डाला उन दोनों ने एक दूसरे को होठ को चूसने लगे। दोनों ने ही पहले बार किसी लड़की को किस किया था। वो और ज्यादा गरम हो चुके थे। फिर अलग अलग आसनों में हमने 1 घंटा तक चुदाई की और सारा पानी दोनों के मुंह पर डाल दिया। उन दोनों ने एक दूसरे के मुंह को चाट कर साफ़ कर दिया।

अब हम थक चुके थे और रात के 12 बज चुके थे। हमने बाहर घूमने का प्लान बनाया। हमने अपने कपड़े पहने और सम्राट ने रिचा को नई ब्रा पेंटी दी काले रंग की। सम्राट ने मेरी बाइक ली और रिचा उसके पीछे बैठ गई। सुहानी की स्कूटी के पीछे में बैठ गया और अपने दोनों हाथो से उसके 36 के संतरे छेड़ने लगा। 1 घंटा घूमने के बाद हम होटल वापिस आए। हमारी थकान उतर चुकी थी और हमने जूस पिया फल खाए। अब वापिस ताकत आ चुकी थी।

फिर दोनों लड़कियों ने हमें रूम से बाहर निकाल दिया बोली तुम लोगो के लिए एक गिफ्ट है हमारे पास 10 मिनिट बाद आना । हमने भी बोल हमारे पास भी कुछ है। 10 मिनट बाद रूम खोला तो देखा कि सुहानी मेरे सामने काली साड़ी में खड़ी थी और रिचा ने बिकिनी पहन रखी थी। (क्योंकि मेरे को साड़ी अच्छी लगती थी और सम्राट को बिकिनी) मैंने सुहानी को पकड़ा और डांस करने लगा उसकी बड़ी गांड और बड़े चूचे ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था ।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तभी मैंने अपना बैग खोला उसमे से बीयर कि बोत्तल बाहर निकली। दोनों लड़कियां खुश हो गई। धीरे धीर हम चारो फिर से नंगे हो गए। मैंने बीयर खोली और उसके शरीर पर डाल कर चूसने लगा। मैंने अपने मुंह म बीयर भरी और उसके मुंह से मुंह लगा कर उसे पिलाने लगा। उधर सम्राट भी अपना ही लगा पड़ा था। तभी रिचा ने पूछा_ तुम आज बीयर कैसे ले आए। मै और सम्राट एक दूसरे की और देख कर हसने लगे। फिर हमने एक एक बोतल बीयर पी ली। लकड़ियां काम पित्ती थीं तो उसे थोड़ा नशा चढ़ने लगा। फिर हमने दोनों को बेड पर एक साथ बांध दिया। उनकी गांड उपर कर दी।

फिर उनको शक होने लगा। तो हमने कहा आजतक तुम लोगो ने सब कुछ किया हमारे लेकिन कभी गांड नहीं मारने दी। तो वो डर गई लेकिन हिम्मत करके बोली_ आज तुम लोगो ने हमे इतना मज़ा दिया आज हमारी गांड आपके लिए तोफा। हम खुश हो गए और दोनों की गांड म खूब सारा तेल डाला। मैंने जो किया सम्राट ने भी वही किया। मैंने अपनी एक उंगली डाल दी सुहानी की गांड में वो चिलाने लगी। मै अपनी उंगली अंदर बाहर करने लगा उसको धीरे धीरे मज़ा आने लगा। फिर मैंने अपनी बेल्ट ली और सुहानी की गांड पर ज़ोर ज़ोर से मारने लागा। वो मज़े में और दर्द में चिल्ला रही थी। मार मार कर उसकी गौरी गांड लाल हो चुकी थी फिर मैंने अपने लंड पर तेल डाला और उसकी गांड में घुसने की कोशिश करने लगा । काफी मुश्किल के बाद लंड का थोड़ा सा हिस्सा अंदर गया उसकी गांड बहुत टाइट थी।

वो दर्द में चिलाने लगी तो तो मैंने उसके मुंह पर पट्टी बांध दी ताकि आवाज बाहर ना जाए। फिर मैंने ज़ोर का झटका लगाया और आधा लंड अंदर डाल दिया। उसकी आंखो से आंसू आने लगे लेकिन आवाज बाहर ना अाई। धीरे धीरे में झटके लगाने लगा और उसे मज़ा आने लगा। मैंने पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया। 10 मिनट गांड मारने के बाद हम बुरी तरह थक गए। और एक दूसरे से लिपट कर सो गए। 2 घंटे बाद मेरी आंखे खुली मैंने सुहानी को सीधा किया और मेरा खड़ा लंड उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा वो भी उठ गई और मज़ा लेने लगी। इतने में रिचा भी उठ गई और मुझे किस करने लगी । सम्राट उठा और सुहानी की गांड में एकदम लंड डाल दिया।

इस झटके से वो चिलाने लगीं तो रिचा ने उसको किस करने लगी और उसके चूचे दबाने लगी। कुछ देर कि चुदाई बाद सुहानी का पानी निकाल गया। हमारे लंड अभी भी खड़े थे। तभी हमने रिचा को पकड़ लिया। मैंने उसकी गांड मारी और सम्राट ने रिचा की चूत। अब हम सबका पानी निकाल गया। और तीनो बाथरूम में जाकर नहाने लगे और वहां भी सबने चुदाई की। हमने अगले पूरे दिन और रविवार की रात को भी एक साथ बिताई। हमने जम कर चुदाई की। अब हम कई बार मिल कर चुदाई करते है लेकिन कभी भी अकेले ले जा कर उनको नहीं चोदा। अब उन दोनों लड़कियों की चूची और गांड और बड़ी हो गई । आशा करता हूं आपको कहानी पसंद आई होगी।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!