चोद लो मालिक मेरी चूत तुम्हारी है

(Chod Lo Malik Meri Chut Tumhari Hai)

हलो फ्रेंड्स, मैं जूही आप सभी का स्वागत करती हूँ. मैं हरियाने की रहने वाली हूँ. मेरी शादी हो गयी हूँ और अभी पटियाला में अपने पति के साथ रह रही हूँ. मेरा पति एक मजदूर है तो पास की एक फैक्ट्री में काम करता है. मैं अभी घर पर सिलाई का काम करती हूँ. अपने पति के साथ मैं किराये के मकान में रह रही हूँ. सबसे पहले मैं आप लोगो को अपने बारे में बता देती हूँ. मेरी उम्र 27 साल ही हो चुकी है और मैं बहोत ही सेक्सी औरत हूँ. मेरे को सेक्स करना और चुदना बहोत पसंद है. पर फ्रेंड्स मेरा पति अच्छी तरह से मेरे को चोद नही पाता है. उसका लंड 4 इंच का है. वो मेरे को कवी भी अच्छे से चोद नही पाता है और इसी वजह से मैं हर बार प्यासी रह जाती हूँ. कितने दिनों ने मेरा दिल कर रहा था की किसी लम्बे और मोटे लंड को अपनी चूत में लेकर सेक्स करूं. Chod Lo Malik Meri Chut Tumhari Hai.
कुछ दिनों पहले की बात है मेरा मकान मालिक मेरे कमरे पर आया था. वो मेरे को घूर घूर के देख रहा था. मैं उस समय अपने घर पर थी और सिर्फ ब्लाउस पेटीकोट पहनी थी. मेरा जिस्म नीचे से उपर तक भरा हुआ था. मकान मालिक मेरे को सेक्स की नजर से देख रहा था. ऐसा लग रहा था मेरे को चोदना चाहता है.

मालिक: जूही!! मेरे को इसी समय किराया दे. आज 1 तारिक है
मैं: अवि तो मेरा मर्द घर पर नही है बाबु जी. शाम को मैं किराया खुद लेकर आपके कमरे पर जा जाउंगी
वो मेरे को बार बार नजर से देख रहा था. फिर मेरे ब्लाउस के बिच देखने लगा. फ्रेंड्स मैंने आगे से गहरा ब्लाउस पहना था जिसमे मेरे दूध बहोत ही सेक्सी दिख रहे थे. गोल गोल दूध तने हुए थे. अब मकान मालिक दूध की तरफ देखने लगा.
“बाबू जी!! ऐसे आप क्या देख रहे हो. नही जानते की किसी दूसरे मर्द की बीबी को देखना गलत होता है” मैंने बोला
“जूही!! मेरी बीवी भी तेरी तरह सेक्सी औरत थी पर उसे कैन्सर हो गया और वो मर गयी. जूही!! तू तो बहोत गरीब है. तेरा मर्द तो कम पैसा ही कमा पाता है. ऐसे कर तू मेरे को किराया मत देना. तू आराम से इस घर में रह. पर शाम को आकर मेरी मालिश कर दिया कर” मकान मालिक बोला Chod Lo Malik
उसकी बात सुनकर मैं समझ गयी थी की वो मेरे को चोदना चाहता है. वो मेरे साथ सेक्स करेंगा. रात को मेरा मर्द घर लौटा. फिर उसे खाना परोसने के बाद वो मेरे ब्लाउस को खोलने लगा. धिरे धीरे उसने मेरे को पूरी तरह से नंगा कर दिया. अब अपना 4 इंच लंड मेरी चूत में घुसाकर जल्दी जल्दी चोदने लगा. अब तो मैं मकान मालिक को याद कर रही थी. क्यूंकि वो 7 फुट लम्बा मर्द था और मेरे को भरोसा था की उसका लंड भी 7 इंच का होगा. मेरा पति मुझे चोदने लगा. मैं “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ….” करने लगी. पर पुरे समय मैं अपने हट्टे कट्टे मकान मालिक के बारे में सोच रही थी. फिर पति ने मेरे को कुछ देर चोदा. पर हर बार की तरह इस बार भी मेरे को मजा नही आया. क्यूंकि पति का लंड सिर्फ 4 का था.

अगले दिन शाम के 4 वजे मैं अपने मकान मालिक के पास चली गयी. उसके घर में और भी नौकर थे. काफी पैसे वाला आदमी था वो. मेरे को उसने देखा और मुस्कुराने लगा.
मालिक: आजा जूही आजा. कल से मैं तेरी राह देख रहा हूँ. चल मेरे बदन में अच्छे से मालिश कर दे. कबसे बदन टूट रहा है
मैं: मालिक मैं भी आपकी सेवा करने को व्याकुल हूँ. आज के जमाने में कौन मकान मालिक किराया माफ़ करता है. आप इंसान नही भगवान हो. आप हजारो साल जियो!! Chod Lo Malik
उसके बाद मैं उसके साथ कमरे में चली गयी. मालिक ने दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया और कुण्डी लगा दी. मेरे को लग गया था की आज वो मेरे को अपने मोटे लंड से चोदेगा. उसने अपने कपड़े निकाल दिए और पेट के बल लेट गया. मैंने सरसों के तेल से उसकी मालिश शुरू कर दी. मेरे को मालिश करना अच्छा लगता था. मेरे को ये काम बहोत पसंद था. मैं उसकी पीठ रगड़ रगड़ कर मलने लगी. उसे बहोत सुकून मिल रहा था. उसे मेरी सेवा पसंद आ रही थी. उसकी पूरी पीठ पर मैंने अच्छे से मालिश कर दी. वो सिर्फ कच्छा पहने था. अब मैं उसके पैर में तेल लगाने लगी. फिर जोर जोर से रगड़ रगड़ पर मालिश करने लगी थी. मालिक की बॉडी किसी पहलवान की तरह बनी थी. रोज सुबह उठकर वो दंड पेलता था. कुश्ती के अखाड़े में जाकर कुश्ती करता था. जिम भी जाता था.
रोज 2 से 3 लिटर दूध पीता था. इसी वजह से उसकी बॉडी बड़ी सेक्सी दिख रही थी. अब मैं उसके घुटनों और जांघो पर हाथ से मलने लगी. कुछ देर बाद मेरा हाथ और उपर उसके पोते पर चला गया और गलती से मैंने उसकी गोलियों को छू लिया. मैंने 2 घंटे मेहनत से उसके सेक्सी बदन को अच्छे से मला. वो बहोत खुश हुआ. मैंने साड़ी पहनी थी जो बहोत पुरानी थी. मकान मालिक ने अपनी जेब से 500 के 2 नोट निकाले और मेरे को थमा दिया. Chod Lo Malik

मालिक: जूही!! तेरी साड़ी फट गयी है. देख ये पैसे लेकर अच्छी से साड़ी ले ले और मेरे पास आकर रोज की मालिश कर दिया कर. अब मैं तेरे से घर का किराया नही लूँगा क्यूंकि तू मेरे को अब अच्छी लगने लगी है Chod Lo Malik
मैं: क्या सच में मैं आपको अच्छी लगती हूँ??
मालिक: हाँ!! तेरे को देखकर मेरे को मेरी औरत की याद आती है
मैं ये बात सुनकर मुस्कुरा दी. मालिक ने अपना हाथ मेरे हाथ के उपर रख दिया.
मालिक: जूही!! मेरा तेरे से प्यार करने का दिल करता है
वो बोले और मेरे हाथ को पकड़कर मेरे को पास लाने लगे. अंदर से मेरा भी चुदने का दिल था तो मैंने भी कुछ नही बोला. फिर मालिक ने मेरे को बिलकुल करीब खींच लिया और गालो पर चुम्मा देने लगे. मेरे को बिलकुल पास कर लिया और बाहों में भर लिया. फिर तो बार बार चुम्मा देने लगे. अब मेरे को भी मजा आने लगा. मैं भी अपनी तरफ से किस करने लगी. दोनों की आशिक बन गये. आज मेरा भी दिल था की मालिक के मोटे लंड से चुदवा लूँ. इस लिए मैंने कुछ नही बोला. मेरे को उन्होंने सीने से लगा लिया और सब जगह चुम्मा देने लगे. Chod Lo Malik

मेरे गाल, गले, और फोरहेड पर कई बार किस किया. अब मेरे ब्लाउस पर हाथ रखकर दूध दबाने लगे. फ्रेंड्स, मेरे दूध 36 इंच के थे और बहोत रसीले थे. मेरा फिगर 36 30 34 का था इसलिए मैं बहोत हॉट औरत दिख रही थी. इसके साथ ही मेरा रंग चांदी जैसा गोरा था. मैं सेक्सी औरत दिख रही थी. अब मालिक मेरे ब्लाउस के उपर से दूध दबाने लगे. मैं परेशान होकर “ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह…अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” करने लगी क्यूंकि मेरे को बहोत सेक्सी लग रहा था. अब तो मालिक जैसे पागल हो गये और मेरे ब्लाउस के बटन उपर से खोल दिए और हाथ अंदर डाल दिया. मेरे दोनों 36 इंच के दूध सफ़ेद ब्रा में कैद थे. मालिक ने मेरे दूध पकड़ लिए और जोर जोर से मसलने लगे. अब तो मेरे को नये तरह का मजा मिलने लगा. मकान मालिक ने 15 मिनट तक वारी वारी से मेरे दोनों दूध को दबा लिया. मुझे अपने पास ही लिटा दिया और उपर चढ़ गये. मेरा ब्लाउस को मालिक ने उतार दिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब ब्रा भी उतार दी. अब मालिक जल्दी जल्दी मेरी 36 इंच की सेक्सी चूची को मुंह में लेकर चूसने लगे. मेरे को इतना मजा मिला की मैं “आआआअह्हह्हह…..ईईईईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” करने लगी. मालिक जल्दी जल्दी मेरी दूध को चूस रहे थे. मैं सेक्सी सिस्कारे निकाल रही थी. मैं भी उनसे प्यार दिखा रही थी. आज मेरा भी चुदने का दिल था. इसलिए प्यार दिखा रही थी. मालिक जल्दी जल्दी मेरी निपल्स को मुंह में भरके चूस रहे थे. मेरे तन बदन में जैसे आग जल रही थी. मालिक से कई बार मेरे दूध को दांत से काट लिया. मेरे को बहोत दर्द हुआ पर मजा भी आया. अब उन्होंने मेरी साड़ी को खोलना शुरू कर दिया. फिर पेटीकोट खोलकर मेरे को नंगा कर दिया.  Chod Lo Malikअब मालिक मेरी चूत को देखने लगे
मालिक: जूही!! तेरी चूत तो बहोत सुंदर है
मैं: सुंदर है तो आप इसे आज चोद लो मालिक
मालिक: आज तेरी ख्वाहिश मैंने जरुर पूरी करूंगा
उसके बाद मालिक मेरी चूत को जल्दी जल्दी चाटने लगा. फ्रेंड्स आप लोगो को बता दूँ की मेरे को चूत के बाल जरा वी पसंद नही है. इसलिए मैं रोज की अपनी चुत को अच्छे से साफ कर लेती थी. मैं कभी अपनी चुत पर बाल नही रखती थी. मेरे को हमेशा पता था की कभी भी चुत चुदवाने के मौका मिल सकता है. इसलिए मैं रोज ही ब्लेड से चुत के बाल साफ़ कर लेती थी. मेरी चिकनी चमेली चुत को देखकर मकान मालिक तो जैसे पागल हो गया था. वो जल्दी जल्दी अपने ओंठो और जीभ से मेरी गुलाबी चुत को चाट रहा था. मैं “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” कर रही थी क्यूंकि मेरे को बहोत सेक्सी फील हो रहा था. मालिक चूत की एक एक तह को ऊँगली से फैला रहा था और चुत के अंदर जीभ घुसा रहा था. मेरी को बहोत सेक्सी लग रहा था. फिर उसने ऊँगली डालना शुरू कर दिया. मेरी तो गांड फी फट गयी. Chod Lo Malik

मैं: मालिक!! अब आप मेरे को कितना तरसाओगे. अब आप मेरे को चोद दो!! Chod Lo Malik
मालिक: जूही!! आज मेरे को तेरे साथ सुहागरात बनाना है. आज तेरे से मैं पूरा मजा लूँगा. अब तुम कुतिया बन जाओ!
उसके बाद मैं मालिक का हुक्म सर आँखों पर रखकर कुतिया बन गयी. उसने अपना कच्छा उतार दिया और अपने लौड़े को जल्दी जल्दी फेटने लगा. फ्रेड्स जब मैंने उसके 7 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड को देखा तो फूली न समाई. आज मेरा भी मोटे लंड से चुदने का दिल था. मकान मालिक ने जल्दी जल्दी लंड को फेट कर खड़ा कर दिया और पीछे से मेरी चुत में गुसा दिया. फिर मेरे को चोदना शुरू कर दिया. मैं “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह…”करने लगी क्यूंकि मेरे को बड़ी एक्साईट्मैंट मिल रही थी. मालिक का लौड़ा तो बहोत मोटा था. मेरी चूत की मरम्मत कर रहा था. मैं तो बिस्तर पर कुतिया बनी थी किसी प्यारी दासी की तरह. मालिक हूँ…हूं… हूं बोलकर हुनक हुनक के धक्के चुत में मार रहा था. मेरे को फील हो रहा था मेरी चुत आज फाड़ ही देगा. Chod Lo Malik
मैं: और तेज मालिक!! और तेज!! मजा आ रहा है
मालिक मेरी बात सुनकर और ठरकी हो गया और धम धम मेरी चूत का बाजा बजाने लगा. अब तो फ्रेंड्स वो मेरे को बहोत जल्दी जल्दी फक करने लगा. वो इतना जोश में आ गया की मेरे गोल मटोल चूतड पर तेज तेज चांटे मारने लगा. वो अब बहोत जल्दी जल्दी किसी कुत्ते की तरह मेरे को चोद रहा था. मैं “हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….” चिल्ला रही थी क्यूंकि मेरे को बहोत मजा मिल रहा था. मालिक जल्दी जल्दी धक्के देता रहा. उसकी दोनों गोलियां जल्दी जल्दी आपस में टकरा रही थी. अब बहोत जोश में आ गया था. फिर वो थक गया और उसने अपना पानी मेरी चूत में छोड़ दिया. वो स्खलित हो गया और थक गया.
मालिक: जूही!!! आज तुने मेरे को बहोत मजा दिया है. मैं तेरे से अब प्यार करने लगा हूँ
मैं: मालिक!! मेरे को भी पास लव हो गया है
उसके बाद वो लेट गया. मैंने उसके 7 इंच लंड को जल्दी जल्दी फाट से फेटने लगी. और फिर से खड़ा होने लगी. मैं अब मुंह में लेकर उसके लौड़े को चुस रही थी. उसके पानी का टेस्ट काफी नमकीन था. मैं हाथ से जल्दी जल्दी मुठ देने लगी. कुछ देर बाद मालिक ने मुझे फिर से कुतिया बना दिया. इस बार उसने मेरी गांड को फक किया और बहोत मजा दिया. Chod Lo Malik