चुदाई की पार्टी में बड़े लंड से चुदी

(Chudai Ki Party Mein Bade Lund Se Chudi Pyasi Chut)

मेरा नाम कामना है और मैं जमशेदपुर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 34 साल है और मैं गृहणी हूँ | मैं दिखने में सांवली हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच है और मेरा बदन भरा हुआ है | मेरे मम्मे बड़े हैं और मेरे चूतड़ बड़े और चौड़े हैं | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए अपनी कहानी शुरू करती हूँ | Chudai Ki Party Mein Bade Lund Se Chudi Pyasi Chut.

ये घटना पिछले साल गर्मी की है | मेरे घर में मैं मेरे पति और मेरे दो बच्चे हम सभी मेरे सास ससुर साथ रहते हैं | मैं बहुत ही चुदासी औरत हूँ और मुझे चुदाई बहुत पसंद है | अब चुदाई पसंद ही क्यूँ न हो | आखिर ये चीज़ बनी है मजे लेने और देने के लिए | इस दुनिया में शायद ही ऐसा कोई होगा जिसे चुदाई पसंद न हो | मेरा बस चले तो मैं तो भरे बाजार में चुदवा लूं पर हम इंसानों में बस एक शर्म ही ऐसी चीज़ है जो ये सब करने से रोक देती है | मेरी एक सहेली है सीमा | उसी ने मुझे इस साईट के बारे में बताया था और कहा था कि जो बात हम किसी के सामने नहीं बोल पाते वो बाते हम यहाँ हजारो लोगो के सामने पोस्ट कर सकते हैं | जिससे मन की भड़ास भी निकल जायगी और किसी को बताने से शर्मिंदगी भी नहीं होगी |

मैं बहुत कम ही इस साईट में चुदाई की कहानी पढ़ पाती हूँ क्यूंकि एक गृहणी का जीवन बहुत ही मुस्किल भरा होता है | सुबह उठ कर पति और बच्चो के लिए नाश्ता बनाना और फिर सभी को खिलाना | फिर झाड़ू पोछा उसके बाद नहाना कपडे धोना और फिर दोपहर का खाना बनाना और फिर खिलाना और शाम को नाश्ता और फिर रात को खाना | यही सब दिनचर्या रहती है एक गृहणी की | फिर जब फुर्सत हो कर टाइम मिलता है तो बस यही इच्छा होती है कि कोई प्यार से चोदे | लेकिन अगर चुदाई भी न मिले तब सबसे बड़ी समस्या हो जाती है | मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही है |                                                 “Chudai Ki Party”

मेरे पति रमेश प्राइवेट जॉब करते हैं और अक्सर लेट घर आते हैं | उनकी लेट लतीफी की वजह से मैं उनसे दो तीन बार सेक्स के लिए कहा लेकिन वो ये कह कर टाल देते कि यार आज इतना सारा काम था प्लीज आज मत बोलो कल सेक्स कर लेंगे और उनके कल को कई कल हो जाते हैं | खैर मैंने भी सोच लिया था कि मैं ऐसे ही बिना चुदे अपना जीवन बिता लूंगी | दिन बीत रहे थे और मेरी चूत चुदाई की आग में जल रही थी | मेरे पास ऊँगली डाल कर चूत को शांत करने के अलावा और कोई चारा नहीं था | मैं हर दिन ऐसा ही करती जब सब सो जाते | कई बार तो मेरे बच्चे जाग जाते तो मैं लाइट बंद कर देती जल्दी से | एक दिन की बात है मेरे पति ने मुझसे कहा कि आज मैं जल्दी घर आ जाऊंगा तो मैंने उनसे रीज़न पूछा तो उन्होंने कहा कि आज मेरे बॉस के बेटे की शादी है | मैंने कहा ठीक है कितने बजे चलना है पार्टी में तो उन्होंने कहा कि मैं 7  बजे तक फ्री हो पाउँगा तो हम वही 8 बजे करीब चलेंगे |                        “Chudai Ki Party”

मैंने कहा ठीक है | हमारे पास कार तो है नही वरना हम सभी जाते | मेरे हस्बैंड के पास स्प्लेंडर गाड़ी है | हम दोनों शाम को 8:३० के लगभग उनके वेन्यू में पंहुच गए | उस दिन मैं ब्लैक कलर की नेट वाली साड़ी पहने हुए थी | जब हम वहां पंहुचे तो काफी रिच लोग वहां आये हुए थे और सभी ये सोच रहे थे कि शायद हम भी रिच फैमिली से हैं | पर जो मेरे हस्बैंड के साथ के वर्कर थे वो तो जानते ही थे हमे कि हम कितने रिच हैं | थोड़ी देर तक मेरे पति ने मुझे उनके बॉस और उनके बेटे से मिलवाया और मैंने सभी को बहुत अच्छे से नमस्ते किया | सभी मेरे हस्बैंड से कह रहे थे कि भाभी कितनी खूबसूरत हैं और भाभी का स्वभाव एक दम भारतीय नारी जैसा है | यहाँ पर सब कैसे कैसे कपडे पहने आये हैं और भाभी एक दम सिंपल और सुन्दर साड़ी में | मैं अपनी तारीफ़ सुन कर बस मुस्कुरा रही थी | तभी मेरी नजर एक लड़के पर जो मुझे लगभग 24 साल की उम्र का लग रहा था और वो मुझे लगातार घूरे जा रहा था | वो लड़का भले ही छोटा लग रहा था लेकिन उसकी कदकाठी और उसका लुक बहुत ही शानदार था | उसने बड़े ही डैशिंग कपडे पहने हुए थे | मुझे उसका देखना अच्छा लग रहा था |

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं बार बार यहाँ वहां देख कर उसकी तरफ देखती तो वो मुझे ही देखता | उसके ऐसा देखने से मेरी चूत में कुलबुली सी होने लगी | फिर उसके बाद हम खाना खाने लगे | तो मैंने दाल चावल और सब्जी पुड़ी लिया हुआ था | मैं ज्यादा खाना नही खाती | जब मैं प्लेट ले कर आ ही रही थी चेयर पर बैठने कि तभी किसी ने मुझे पीछे से धक्का दे दिया तो वो सारी दाल मेरी साड़ी में गिर गई | मैं उसे पलट कर गाली ही देने वाली थी कि वो मुझे सॉरी बोलने लगा और जब मैंने ऊपर नजरे उठाई तो देखा कि ये तो वही लड़का है जो मुझे घूर रहा था | उसने मुझसे कहा कि प्लीज आप गुस्सा मत होना | आप चलिए मेरे साथ वाशरूम | मैं पता नहीं क्यूँ उसके साथ चलने भी लगी | वो मुझे वाशरूम ले कर गया और वहां पर कोई नहीं था | उसने मुझसे वहां पर कहा कि आप शोर मत करना पहले मेरी बात सुन लो | मैं साड़ी साफ करते हुए कह रही थी हाँ जल्दी बोलो क्या बोलना है मेरे पति भी यहाँ आये हैं क्या पता वो मुझे ढूंढते हुए यहाँ न आ जाए | उसने कहा कि मेरा नाम बंटी है और मैं आपको बहुत पसंद करने लगा आज से ही | मैंने कहा हाँ मैं समझ गई थी जब तुम मुझे घूर रहे थे | फिर उसने कहा कि मैं आपको किस करना चाहता हूँ | ये सुन कर मेरे शरीर में सिहरन सी दौड़ गई मैंने उससे कहा कि अगर कोई आ गया तो प्रोब्लम हो जायगी |        “Chudai Ki Party”

उसने कहा कि आप चिंता मत करो कोई नहीं आयगा | फिर वो मेरे पास आया और अपने होंठ मेरे होंठ से लगा कर किस करने लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए उसे किस करने लगी | किस करने के बाद उसने मेरे साड़ी के पल्लू को नीचे किया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे उभारो को मसलने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह की आवाज़ निकलने लगी फिर उसने मेरे ब्लाउज का हुक खोला और ब्रा के नीचे करते हुए मेरे दोनों उभारो को निकाल कर अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मैं आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मेरे दूध पीने के बाद उसने मेरी साड़ी को उपर चढ़ाया और पेंटी को नीचे करते हुये मेरी चूत को चाटने लगा जीभ से तो मैंने आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह करते हुए अपनी एक टांग उसके कंधे पर रख दी |                         “Chudai Ki Party”

वो मेरी चूत को बहुत अच्छे से चाट रहा था और मैं आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह करते हुए उसकी मुंह को अपनी चूत में दबा रही थी | उसके बाद उसने अपने मूसंड लंड को बाहर निकाल लिया तो मैं उसके लंड को देखते ही रह गई | काला बड़ा मोटा सा लंड था उसका | मैं झट से उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने और चाटने लगी तो उसके मुंह से भी आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह कि सिस्कारियां निकलने लगी | उसके लंड को मैंने करीब 5 मिनट तक चूसा | फिर उसने मुझे वहीं घोड़ी बनाया और फिर मेरी टांगो को फैला दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊनंह ऊम्मंह आहा ऊनंह ऊउमंह आहाआ ऊउंह ऊउन्न्ह ऊनंह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदाई में साथ देने लगी | करीब उसने मुझे 15 मिनट तक चोदा और मेरी चूत में ही अपना माल झड़ा दिया |      “Chudai Ki Party”