क्लासमेट को बेंच पर पेल दिया-1

Classmate ko bench par pel diya-1

सभी दोस्तो को मेरा प्रणाम। मैं रोहित 26 का लौंडा हूं। मैं कोटा का रहने वाला हूं।मेरा लन्ड 7 इंच लम्बा है जो किसी भी चूत की भयंकर गर्मी को शांत करने के पूर्ण रूप से सक्षम है।जब मेरा लन्ड किसी भी चूत में घुसता है तो चूत पूरी तरह से पानी पानी हो जाती है।

ये कहानी मेरे स्कूल टाइम की है जब में 18 साल का था।इस समय मेरे ऊपर जवानी का नया नया जोश चढ़ा था।मेरा लन्ड चूत की तलाश में इधर उधर भटक रहा था।तभी मैंने इंग्लिश पढ़ाने वाली कल्पना मैडम को चोदकर मेरे लन्ड की प्यास बुझाई थी। अब मुझे जब भी मौका मिलता था तो मै कल्पना मैडम को चोद देता था। सब कुछ ठीक चल रहा था। मैं मैडम की चूत से बहुत ज्यादा खुश था।तभी मेरी नज़रे हमारी एक्स्ट्रा क्लास में पढ़ने वाली टीना से टकराने लगी।
टीना भी लगभग 18 साल की ही थी। उसके ऊपर अभी अभी जवानी ने अपना रंग दिखाना शुरू किया था।उसके बूब्स अच्छी तरह से उभर चुके थे जो लगभग 30 साइज के थे।टीना के चूचे एकदम कसे हुए थे।
वो हमेशा ही दुपट्टे से चूचों को अच्छी तरह से ढककर रखती थी जिससे उसके चूचों को देखने का बहुत ही कम मौका मिलता था। टीना की गौरी चिकनी कमर 28 की और गांड़ लगभग 30 साइज की थी।मतलब टीना चोदने के लिए एकदम शानदार माल थी।
अब टीना को देख देखकर मेरे लन्ड का भूगोल बिगड़ने लगा। अब मैं टीना को चोदने के बारे में सोचने लगा।तभी मैंने कल्पना मैडम को ये बात बताई तो मैडम ने कहा– ये तो अच्छी बात है।अगर तुझे मौका मिले तो टीना को लंड दे दे।
मैं– लेकिन मैडम टीना को चोदने में आपको मेरी हेल्प करनी पड़ेगी।
मैडम– हां जब भी जरूरत पड़ेगी मै तेरी हेल्प कर दूंगी।
मैं– ठीक है मैडम।

मैडम– लेकिन पहले तू टीना को पटा ले।
मैं– हां मै उसको पटा लूंगा।
अब मैं टीना को मेरे लन्ड के नीचे लाने के लिए भरसक प्रयास करने लगा। अब मैं क्लास में टीना से नज़रे मिलाने लगा।फिर कभी कभी हेल्प लेने के बहाने उसे टच करने लगा।धीरे धीरे टीना को आभास होने लगा कि मै उसकी चूत लेने की फिराक में हूं। अब वो मुझसे कन्नी काटने  लगी और धीरे धीरे बात कम करने लगी। अब मेरा लन्ड ठनका।
तभी मैंने कल्पना  मैडम को हेल्प करने के लिए कहा। अब कल्पना मैडम ने ऊपर के हॉल में एक्स्ट्रा क्लास लेनी शुरू कर दी।फिर एक दिन मैडम ने टेस्ट लिया तो मैडम ने जानबूझकर टीना को कम नंबर दिए और मैंने तो कुछ लिखा ही नहीं था। अब मैडम ने सबको घर भेज दिया और हम दोनों को फिर से टेस्ट देने के लिए रोक लिया।
अब हॉल में हम तीनो ही अकेले थे।तभी मैंने कल्पना मैडम को आंख मार दी।मेरा इशारा मिलते ही मैडम ने कहा– मै प्रिंसिपल मैडम के पास जा रही हूं। आधे घण्टे बाद वापस आऊंगी तब तक तुम दोनों एक दूसरे की हेल्प लेकर  अच्छी तरह से टॉपिक्स समझ लो। अब मैडम क्लास से बाहर निकल गई।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  रंडी माँ की चुदक्कड़ बेटी-2

अब हम दो जवान जिस्म एक दूसरे के पास एक ही बेंच पर बैठकर टॉपिक्स को समझने लगे।खैर टॉपिक्स समझने में मेरा ध्यान कहां लगने वाला था।मेरा लन्ड तो टीना को चोदने के लिए ज़ोर ज़ोर से मचलने लगा।टीना टॉपिक्स समझ रही थी और मैं टीना को हवस भरी नजरो से देख रहा था।तभी मैंने हिम्मत करके टीना से कहा– टीना, तुम्हारा फिगर बहुत ज्यादा हॉट है।
मेरी बात सुनकर टीना सकपका कर मेरी तरफ देखने लगी– यहां पढ़ाई करने के लिए रुका है या मेरे फिगर को देखने के लिए।
मैं– तेरे फिगर को देखने के लिए।
टीना– चुप कर। तू बहुत दिनों से मुझे ताड़ रहा है।
मैं– अब क्लास में इतनी हॉट फिगर वाली लड़की हो तो लंड की तो हालात खराब हो जाती है ना।
टीना– तुम लडको की यही प्रॉबलम है।बस लड़की देखी नहीं कि शुरू हो जाते हो।
अब मैंने सोचा टाइम बहुत कम है, टीना को जल्दी से मेरे लन्ड के दर्शन करा देता हूं। तभी मैंने पैंट नीचे खिसकाकर झट से लंड बाहर निकाल लिया। मेरे लन्ड का उभर देखते ही टीना के हॉट फिगर का भूगोल बिगड़ गया और उसकी नज़रे मेरे लन्ड पर टिक गई। कुछ देर बाद वो होश में आई।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

टीना– ये तू क्या कर रहा है? जल्दी से इसको  पेंट के अंदर कर।
मैं– अब ये पैंट के अंदर नहीं जाएगा,जब तक तुम चूत नहीं दोगी तब तक मै पैंट नहीं पहनूंगा।
टीना– यार तू खुद तो मरेगा ही,साथ में मुझे भी मरवाएगा। जल्दी अंदर कर मेम आ जाएगी
मैं– मेम तो प्रिंसिपल मेम के पास गई है। अब सोच लो तुम इतना मस्त लंड ,तुम्हारी चूत की पूरी गर्मी निकाल देगा।
टीना– नहीं, मुझे नहीं निकलवानी गर्मी वर्मी।
मैं– ठीक है जैसी तुम्हारी मर्ज़ी।
अब मैं पेंट को पूरी खोलकर, लंड को तानकर टीना के ठीक सामने बेग को हटाकर बेग पर बैठ गया। अब मेरे लन्ड की खुशबू टीना को मदहोश करने लगी।वो बुक को मेरे लन्ड के सामने पकड़कर टॉपिक्स  समझने में ध्यान लगाने लगी लेकिन जब नंगा तना हुआ लंड किसी लड़की के सामने खड़ा हो तो उसकी चूत अपने आप ही लंड लेने के लिए तड़प उठती है। टीना धीरे धीरे मेरे लन्ड को निहार रही थी। अब मैं समझ चुका था कि टीना की चूत पिघल रही है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की बीवी ने मुझसे भी चुदवा लिया

तभी मै टीना के दुपट्टे को हटाकर उसके मस्त कड़क चूचों पर हाथ फेरने लगा। तो टीना मेरे हाथो को हटाने लगी। मैं हाथ हटाकर फिर से उसके चूचों को दबाने की कोशिश करने लगा।लेकिन बार बार टीना मेरे हाथो को हटा रही थी। मैं समझ चुका था टीना अब सिर्फ मात्र दिखावा करने के लिए विरोध कर रही है।
तभी मैंने टीना के हाथो में से बुक को छुड़ा लिया और उसे बेंच पर लेटाकर ताबड़तोड़ उस पर चढ़ाई शुरू कर दी।टीना नखरे करते हुए मुझे उसके ऊपर से हटाने लगी।लेकिन टीना अच्छी तरह से जानती थी कि अब तो उसकी चूत की सील टूटनी ही है। तभी मैंने टीना के दुपट्टे को हटा दिया और उसके मस्त कड़क चूचों को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा। मुझे टीना के मस्त कड़क चूचों को मसलने और दबाने में बहुत ज्यादा मज़ा आने लगा।टीना अब भी अपने आप को छुड़ाने की कोशिश कर रही थी।तभी मैंने उसकी गौरी चिकनी कलाइयों को मसलते हुए उसके रसीले थिरकते होंठो पर मेरे प्यासे होंठ रख दिए। अब मैं टीना के रसीले होंठों का जाम पीने लगा। मैं फूल स्पीड में टीना के रसीले होंठों को चूसने लगा।टीना टांगो को इधर उधर फेंक रही थी।

वो अभी भी विरोध करने की पूरी कोशिश कर रही थी। मैं टीना के होंठो को रगड़े जा रहा था। थोड़ी देर बाद टीना भी गर्म हो गई और वो भी मेरे होंठो में होंठ मिलाकर किस करने लगी। अब पूरे हॉल में चुंबनों की बारिश की आवाज़ गूंजने लगी। अब हम दोनों चुदाई की आग में जल चुके थे। इधर मेरा लन्ड टीना की चूत में घुसने की कोशिश करने लगा।
कुछ देर तक टीना के होंठो का जाम पीने के बाद मैंने टीना के कुर्ते को पूरा ऊपर गले तक खिसका दिया।टीना ने अंदर ब्रा पहन रखी थी।तभी मैंने ब्रा को भी एक झटके में गले तक खिसका कर कड़क चूचियों को नंगा कर दिया। टीना के चूचे बहुत ज्यादा गौरे चिट्टे थे। अब टीना के मस्त कड़क चूचे मेरे हाथो में थे। अब मैं उन्हें ज़ोर ज़ोर से मेरी हथेलियों में लेकर कसने लगा।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!