क्लासमेट को बेंच पर पेल दिया-2

Classmate ko bench par pel diya-2

आह! क्या मस्त चूचे थे टीना के कसम से मज़ा आ गया था।
अब मैं टीना के कड़क चूचों मसले जा रहा था। टीना आह आह आह ओह करती हुई कसमसाने लगी।वो बेंच पर लेटी लेटी चेहरे को इधर उधर पटकने लगी। मैं लगातार टीना के बूब्स को कुरेद रहा था। टीना बुरी तरह से पागल हो चुकी थी।तभी मैंने टीना के कड़क चूचों को मुंह में डाल लिया और जल्दी जल्दी कड़क चूचों का रसपान करने लगा। अब टीना और ज्यादा बैचने होने लगी। तभी उसने मेरे बालों को पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से पसीने में लथपथ होकर बालो को नोचने लगी।
इधर खिड़की के बाहर से कल्पना मैडम हमारी चुदाई का लाइव टेलीकास्ट देख रही थी। मैं लगातार टीना के चूचों को पिया जा रहा था। थोड़ी ही देर में टीना के कड़क चूचे थूक में गीले हो चुके थे। मैं टीना के चूचों को और चूसना चाहता था लेकिन टाइम बहुत ही कम था।
अब मैं सीधा टीना की टांगो में आ गया और उसके सलवार के नाड़े को खोलने लगा। तभी टीना ने सलवार के नाड़े को पकड़ लिया और सलवार को खोलने से रोकने लगी। मैं भी सलवार का नाडा खोलने के लिए की कोशिश करने लगा। तभी मैंने सलवार के ऊपर से ही टीना की चूत को मुठ्ठी में भीच लिया।टीना एकदम से सिहर उठी और उसकी पकड़ नाड़े पर से ढीली हो गई।तभी मैंने सलवार का नाड़ा फटाफट खोल दिया।

वो वापस नाड़े को पकड़ती तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अब मैंने झट से सलवार को टीना के घुटनो तक खिसका दिया। अब टीना की पैंटी उतारने की बारी थी। अब टीना ने पैंटी को पकड़ लिया। तभी मै बेंच पर से नीचे उतरा और टीना के मुंह की तरफ से चढ़कर 69 पोजिशन में आ गया। टीना को एकदम से समझ में नहीं आया कि ये क्या हो रहा है। तभी मैंने टीना के मुख में लंड घुसा दिया और गपाघप टीना के मुंह को चोदने लगा। मेरा बड़ा लंड बड़ी मुश्किल से टीना के मुंह में घुस पा रहा था।
टीना आह आह उह आह उह करने लगी। इधर मै टीना की पैंटी में हाथ डालने की उठापटक करने लगा।लेकिन टीना बार बार मेरा हाथ हटाने का प्रयास कर रही थी तभी मैंने टीना के दोनो हाथ पकड़ उसकी पेंटी को भी घुटनों तक खिसका दिया। अब मैं टीना की नंगी चूत को चाटने लगा

हिंदी सेक्स स्टोरी :  राते पर ठुकाई

आह क्या मस्त चूत थी टीना की,एकदम गुलाबी,गौरी चिकनी चूत।टीना की चूत बहुत ज्यादा कसी हुई थी।चूत को देखकर मै समझ गया कि अभी तक टीना ने चूत में लंड नहीं लिया है। टीना की चूत के चारो ओर काली घनी झांटों का पूरा जंगल उगा हुआ था। इसी काले घने जंगल के बीच में गुलाबी झील में पानी की बूंदे चमक रही थी।
अब मैं टीना की चूत को पागल सा होकर चाटने लगा।टीना की नई नवेली चूत की खुशबू ने मुझे पागल बना दिया था। मैं गांड़ हिला हिलाकर टीना के मुंह में लंड पेले जा रहा था। टीना बुरी तरह से पिघल कर पानी पानी हो चुकी थी। अब उसकी हॉट फिगर की गर्मी मेरे जिस्म को तपा रही थी। तभी मैंने टीना की चूत में उंगली घुसा डाली।टीना की एकदम से गांड़ फट गई और वो उछल पड़ी। टीना की चूत का छेद बहुत ज्यादा कसा हुआ था। अब मैं धीरे धीरे टीना की चूत को कुरेदने लगा। मुझे टीना की चूत कुरेदने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।

खैर मेरी उंगलियों का कहर टीना ज्यादा देर तक सहन नहीं कर पाई। उसने मेरी पीठ को कसकर पकड़ लिया और भट्टी की तरह तपती हुई चूत में से गरमा गर्म लावा बाहर निकाल दिया। अब मैं टीना के गरमा गरम लावे को पीने लगा।थोड़ी सी देर में मैंने टीना की चूत को चाट कर साफ़ कर दिया।इधर मेरा लन्ड टीना के मुंह में पूरा गीला हो चुका था।
अब मैंने 69 पोजिशन को छोड़ा और सीधा टीना की टांगो को फोल्ड कर दिया। अब मैंने टीना की टांगो को पकड़कर मेरे लन्ड का सुपाड़ा टीना की कसी हुई चूत के मुहाने पर रखा। अब मैंने टीना की गांड़ पर पूरा दबाव डालकर टीना की चूत में लंड पेल दिया। अब मेरा काला घोड़ा टीना की गुफा के दरवाजे को तोड़ता हुआ सीधा गर्भ गुफा तक पहुंच गया। टीना ज़ोर ज़ोर चीख पड़ी।
टीना– आईईईई मम्मी मर गई।
अब मैंने  मेरे घोड़े को बाहर निकाला और फिर से उसे दरवाजे से गर्भ गुफा तक दौड़ा दिया। अब टीना ज़ोर ज़ोर से बिलखने लगी।
टीना– आईईईई आआईईई ओह आह आह आईईईई ओह आह आह।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गर्ल्स हॉस्टल की लड़की की चुदाई

अब मैं धकाधक टीना की चूत के किले को भेदने लगा।टीना दर्द से करहाती हुई रोने लग गई।उसकी आंखो में से आंसुओ की धाराएं बहने लगी।
अजब गजब नज़ारा था यारो जिस टीना को मै इतने दिनों से पेलने के बारे में सोच रहा था आज वो टीना क्लासरूम में बेंच के ऊपर मुझसे चुद रही थी।उसका कुरता और ब्रा उसके गले में अटके हुए थे और उसकी पैंटी ,सलवार उसकी टांगो में लटके हुए थे।मेरे लन्ड के हर शॉट के साथ मेरी शर्ट में लगी हुई टाई बार बार हिल रही थी।
मैं धकाधक टीना की चूत में लंड पेल रहा था।
टीना– आईईईई ओह आह ओह आईईईई मत चोदो अब।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

लेकिन आज मै नहीं रुकने वाला था। मैं हांफता हुआ टीना को बेंच पर लगातार पेले जा रहा था।टीना की चूत बुरी तरह से घिस चुकी थी।थोड़ी देर में ही टीना की चूत में खून की धाराएं बहने लगी।टीना की चूत की सील टूट चुकी थी  अब मेरा काला लंड चूत के खून में पूरा लाल हो गया। अब मेरे लन्ड के हर एक शॉट के साथ चूत में से खून निकल कर बेंच पर बहने लगा।
अब मैंने टीना की टांगो को छोड़ा और उसके बूब्स को पकड़कर चोदने लगा। अब टीना से बर्दाश्त नहीं हो रहा था।कुछ ही पलों में टीना ने चीखते हुए गरमा गर्म लावा बाहर निकाल दिया। अब टीना निढाल हो चुकी थी। अब उसने मुझे बाहों में कस लिया और चुदाई का मज़ा लेने लगी। अब लंड की पेलमापेल के साथ ही फ्फाच फ्फ्फ घास्सस की आवाज़ गूंजने लगी। अब टीना चुदाई के आनंद के सागर में डूबकर मादक सिसकारियां भरने लगी।
टीना–आह आह ओह आह आह ओह आह।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Lund Hila Kar Girlfriend Ne Chudai Karwai

मैं टीना को गांड़ हिला हिलाकर ठोक रहा था। अब मेरा लन्ड पिघलने वाला था।तभी मैंने टीना को कसकर बाहों में जकड़ लिया और मेरे लन्ड का पूरा मावा टीना की चूत में भर दिया। मैं पसीने से लथपथ होकर टीना के सेक्सी हॉट जिस्म के ऊपर ही गिर गया। थोड़ी देर तक हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे।
टीना की चूत लहूलुहान हो चुकी थी। अब मैंने मेरी चड्डी से टीना की चूत को अच्छी तरह से साफ किया।फिर मैंने बेंच और नीचे पड़े खून के धब्बों को भी साफ कर दिया। अब टीना ने पैंटी पहनकर सलवार का नाड़ा बांध लिया।फिर ब्रा और सलवार को ठीक कर लिया। अब मैंने भी अंडरवियर पहनकर पेंट पहन ली। अब टीना और में वापस पढ़ने बैठ गई।थोड़ी देर बाद मैडम क्लास में आ गई।

मैडम– चलो आज तो बहुत लेट हो गया है।आज तुम घर पर अच्छी तरह से टेस्ट की तैयारी कर लेना।
हम– जी,मेम।
अब हम तीनो नीचे आए और टीना घर चली गई।
मैडम– वाह रोहित तूने टीना को क्या जमकर बजाया है बेचारी की चीखे निकाल दी।
मैं– यार उसकी चूत बहुत ज्यादा टाइट थी।
मैडम– तूने तो उसका पूरा मज़ा लूट लिया।
मैं– मज़ा लूटने के बदले में उसे भी तो पूरा मज़ा चखाया है।
आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!