कॉलेज की लड़की की खिड़की खोली-2

Collage ki ladki ki khidki kholi-2

मैंने खोलकर देखा कि बाहर दरवाजे पर शिखा ही खड़ी हुई थी. दोस्तों अहह वो तो उस समय जींस और टॉप में क्या मस्त सेक्सी लग रही थी? में अपनी चकित नजर से कुछ देर उसको देखता ही रह गया, क्योंकि मैंने तब देखा कि उसके गोल गोल बड़े आकार के बूब्स उसके टाईट कपड़ो से बाहर निकलने को बेताब थे और उनको देखकर ऐसा लगता था कि जैसे उन दोनों कबूतरों को जबरदस्ती अंदर बंद किया है.

दोस्तों उसने सफेद रंग का टॉप और काले कलर की बिल्कुल चपकी हुई जींस पहनी हुई थी और सफेद रंग के उस टाईट टॉप से उसकी काले कलर की ब्रा हल्की हल्की दिखाई दे रही थी और में उसकी गांड के बारे में क्या बताऊँ? मुझे तो उसको देखकर ऐसा लग रहा था कि में उसको उसी समय पकड़कर जबरदस्ती उसकी गांड में अपना लंड डाल दूँ क्योंकि में उस समय उसका गोरा कामुक बदन देखकर पूरी तरह से जोश में आ चुका था, लेकिन मैंने फिर भी किसी तरह से अपने आपको कंट्रोल किया और उसके अंदर आने के लिए कहा और उसको बैठाकर पानी लाकर पिला दिया और उससे उसकी समस्या के बारे में पूछा तब उसने मुझे बताया.

फिर मैंने उसके साथ बैठकर उसकी उस समस्या का हल उसको बताया, वो उस समय मेरे सामने ही मेरे बेड पर बैठी हुई थी जिसकी वजह से उसके बूब्स को मैंने अपनी चकित नजर से देखा और वो बाहर की तरफ झांक रहे थे और अब में उसको बताने के साथ साथ उसके उभरे हुए गोरे गोरे बूब्स को भी लगातार देखे जा रहा था जिसको देखकर मेरा मन बड़ा खुश था और में मन ही मन उन बूब्स को छूने उसी समय पकड़कर दबाकर निचोड़ने के सपने देख रहा था, लेकिन थोड़ी देर के बाद जब वो उठकर जाने लगी.

फिर मैंने मन ही मन में सोचा कि आज अगर यह चली गई तो फिर दोबारा मुझे इसकी चुदाई करने का ऐसा मस्त मौका कभी नहीं मिलेगा और यह बात सोचकर मैंने उससे कहा कि शिखा तुम अभी से कहाँ जा रही हो अभी तुम यहाँ पर बैठो में तुम्हारे लिए कुछ खाने को लेकर आता हूँ. फिर उसने कहा कि हाँ ठीक है और फिर मैंने उससे कहा कि तब तल तुम चाहो तो कंप्यूटर पर अपना टाईम पास कर सकती हो और तब मैंने ही जानबूझ कर उस सेक्सी फिल्म की सीडी को कंप्यूटर से बाहर नहीं निकाली थी और उससे यह बात कहकर में उठकर वहां से रसोई की तरफ चला गया.

फिर में करीब 15 मिनट बाद वापस आया तो मैंने देखा कि अब शिखा उस ब्लूफिल्म को बड़े मज़े से आंखे फाड़ फाड़कर देख रही थी. उस समय फिल्म में उस लड़के ने उस लड़की की चूत में अपने लंड को डालकर वो धक्के दिए जा रहा था और लड़की दर्द से आहे भर रही थी और फिर अचानक से मुझे अपने पीछे खड़ा देखकर वो एकदम से शरमा गई और उसने फिल्म को तुरंत बंद कर दिया.

फिर उसके चेहरे से साफ साफ पता चल रहा था कि वो फिल्म देखकर शिखा खुश थी, लेकिन मेरे आ जाने से थोड़ा डर भी गई थी, तो इसलिए मैंने उससे कहा कि कोई बात नहीं है तुम यह सब देख सकती हो और इसमें कोई बुराई नहीं है और तुम इस उम्र में यह सब नहीं करोगी तो फिर कब करोगी? लेकिन फिर भी उसने उस फिल्म को दोबारा नहीं देखा और अब हम दोनों साथ में बैठकर खाने पीने लगे, लेकिन वो अब मुझसे शरमाकर अपनी नजरे चुरा रही थी और में उसका मतलब साफ साफ समझ चुका था और तभी मैंने उससे पूछा कि क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसने कहा कि नहीं और तभी उसने मुझसे भी पूछ लिया कि क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? तो मैंने भी उससे कहा कि नहीं और में उस समय उसकी हालत देखकर झट से समझ गया था कि वो उस ब्लूफिल्म को देखकर बहुत गरम हो चुकी है और मैंने मन ही मन में सोचा कि यही सही मौका है वार करने का.

अब मैंने उससे पूछ लिया कि क्या कभी तुमने किसी के साथ सेक्स किया है? तो उसने कहा कि नहीं और यह बात मुझसे कहकर वो उठकर जाने लगी, लेकिन तभी मैंने झटके से उसका एक हाथ पकड़ लिया और उसको अपनी तरफ खींच लिया, जिसकी वजह से वो सीधा मुझसे आकर चिपक गई और मैंने उसको अपनी बाहों में ज़ोर से जकड़कर किस करना शुरू कर दिया, लेकिन तब मैंने महसूस किया कि उसने भी मुझे यह सब उसके साथ करने से मना नहीं किया और वो भी कुछ देर बाद मुझे किस करने लगी और मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी. अब में तुरंत समझ गया कि वो भी गरम हो चुकी है इसलिए वो भी मेरे साथ शुरू हो गई है और अब मैंने ज्यादा देर ना करते हुए तुरंत उसको बेड पर लेटा दिया और में उसके बूब्स पर अपने हाथ फेरने लगा और वो अपनी दोनों आँखे बंद किए हुए लेटी हुई थी.

अब मैंने ज्यादा देर ना करते हुए तुरंत उसका टॉप उतार दिया और फिर जींस को भी खोल दिया था. अब वो मेरे सामने केवल अपनी ब्रा और पेंटी में लेटी हुई थी और उसका वो गोरा कामुक बदन किसी संगमरमर की तरह सुन्दर लग रहा था. वो मेरे सामने बेड पर लेटी हुई काम की देवी लग रही थी और फिर उसने भी आगे हाथ को बढ़ाकर मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया था और थोड़ी ही देर के बाद हम दोनों ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए, जिसकी वजह से अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे और अभी भी हम दोनों एक दूसरे को चूम रहे थे और वो मेरा लंड बहुत धीरे धीरे सहला रही थी.

फिर में भी उसके बूब्स को चूस रहा था और अब उसके मुहं से हल्की हल्की अहह्ह्ह्हह उहह्ह्ह्हह की आवाजें आ रही थी वो सिसकियाँ भरने लगी थी. तभी मैंने उसकी चूत को देखा जो बिल्कुल गुलाबी थी और थोड़ी सी फूल भी चुकी थी जिसको देखकर में बड़ा चकित था और मैंने झट से उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से उसके मुहं से अब इसस्स्स्स्स्स्स्स् उहह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह आवाज़े आ रही थी. अब वो पूरी तरह से गरम हो चुकी थी और उस वजह से अब उसकी चूत से पानी भी निकलने लगा था तभी उसने मुझे अपने ऊपर से हटाकर खुद उठकर मेरा लंड अपने मुहं में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!