दस लड़कियों की नंगी चूत

Das ladkiyon ki nangi chut

दोस्तो, पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूँ, मैं एक बड़ी कंपनी में सेल्स का काम करता था, तो इसी कारण मुझे दूसरी कम्पनियों में मीटिंग के लिये जाना पडता था और कभी कभी तो कंपनी के बड़े लोगों से भी मिलना पडता था, कभी कभी बाहर भी जाना पडता था।

अब मैं एक जिगोलो के तौर पर काम करता हूँ, इसलिए मेरी जिन्दगी से बहुत सी कहनियाँ जुडी हैं।

आज मैं आपको जिगोलो कैसे बना, ये कहानी सुनता हूँ…

एक दिन मेरे सीनीयर ने मुझे एक बडा मुश्किल सा काम दिया। वो एक ऐसे ग्राहक से चेक लाना था, जो एक अमीर मां बाप की बेटी थी और एकदम घमंडी… वीक-एनड पर वो सिर्फ़ एन्जोय करती थी, चाहे कुछ भी हो।

उसका नाम दिव्या था।

शुक्रवार का दिन था और सोमवार को मुझे चेक ला कर देना था और उस दिन दिव्या के पास टाइम नहीं था।

मैंने उसे किसी तरह समझा कर शानिवार के लिये मना लिया, लेकिन शर्त ये थी कि मुझे उसका इन्तजार काफ़ी देर तक भी करना पड़ सकता है।

दिव्या ने मुझे एक बार का 7 बजे टाइम दिया कि वो दोस्तो के साथ आयेगी और कागज साइन करके चेक दे देगी। मैं टाइम पर आया और इन्तजार करने लगा, इन्तजार करते करते 10 बज गये। लेकिन वो नहीं आई, फिर मैंने दिव्या को फोन किया तो उसने मुझे कहा कि उसका प्रोग्राम चेन्ज हो गया है और वो अपने दोस्त के फार्महाउस पर है।

मेरे बहुत कहने पर उसने मुझे फार्महाउस का पता दे दिया और मैं आटो कर के आ गया और जैसे ही अंदर गया, मैंने देखा कि ये तो अमीर लड़कियों कि बेचलर पार्टी थी!!

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पापा और भाई की रंडी बनकर चुद गई-3

करीबन 10 अमीर लड़कियाँ थीं, एक दम मोर्डन छोटे-छोटे कपडे में!!! !!

मैं दिव्या के पास गया तो देखा कि वो नशे में थी और उसने मुझसे कहा कि बैगर कागज पडे, वो ना तो साइन करेगी ना चेक देगी।

मैं उदास हो गया और मैं उससे कहने लगा कि ये मेरी नौकरी का सवाल है, तभी उसकी एक दोस्त ने कहा कि तुम रात को रुको, कल सुबह वो साइन करा देगी और मुझे को दारु पीने के लिये दी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मगर मेरे मना करने पर उसने मुझे कहा कि अगर मुझे कागज साइन कराने है तो वही करना होगा जो भी वो कहेगी। फिर मेरे पास कोई चारा नहीं था और मैंने दारु पी ली… 5-6 पैक पिलाने के बाद उसने मुझे कपडे उतारने के लिए कहा और मुझे ऐसा ही करना पड़ा।

एक एक करके मैंने सारे कपडे उतार दिए, अब मैं नंगा 10 लड़कियों के बीच था।

उसने फिर अपनी ड्रेस उपर कर के अपनी पैंटी उतार दी, मैं तो एक दम दंग रह गया, एक दम दूध के रंग सी टाँगें, मुलायम चिकनी चूत… एक भी बाल नहीं था!!

फिर मुझे उसे चाटने को कहा, मैंने भी उसे चाटना शुरु कर दिया और उसने मेरा मुँह चूत पर दबा लिया।

दूसरी लडकी ने मेरे लण्ड को मुँह में ले कर चूसना शुरु कर दिया, तभी पहली लड़की ने जोर जोर से चिल्ला कर कहा – सही से चाट, मेरी चूत!!

एक और लड़की मेरे पास आयी और मुझे जोर से चांटा मारा और बोली – भोसडी के चूत चाटनी भी नहीं आती… चल बहन चोद, मैं सिखाती हूँ!! और मुझे चूत चाटना सिखाने लगी और जैसे जैसे वो चाट रही थी, वैसे ही मुझे भी उसकी चाटनी पडी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आंटी और उसकी बेटी की चुदाई

एक एक करके सबने मेरे लण्ड को चूसा और मैं सबकी चूत चाट रहा था, जब मैं झडने को हुआ, तो उन्होने मेरी वीर्य एक गिलास में डाल ली। फिर एक लडकी ने मुझे लिप किस किया और किस करने के बाद सारी लड़कियों ने सर से पैर तक मुझे चाटा और चाट चाट कर गिला कर दिया और फिर मेरे लण्ड को चूसना शुरू कर दिया और चूस कर वीर्य निकाली और उसे भी गिलास में डाला गया।

फिर उसे विस्की में मिला कर सबने पिया और मुझे भी पिलाया, फिर एक लड़की ने अपनी चूत चोदने के लिये कहा।

फिर रात भर चुदाई हुई, फिर थक कर सब एक साथ उसी हाल में सो गये और अगले दिन सुबह सबने 5000 – 5000 रुपए निकाले और मुझे दे दिए!! !!!

यदि ये कहानी आप को पसंद आयी है, तो मुझे अवशय मेल करें

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!