दूध दे कर दबाये भाभी के दूध

Doodh de kar dabaye bhabhi ke doodh

हाय दोस्तो, मेरा नाम कान्हा है।

मैं आपको अपने जीवन की सच्ची भाभी का सेकस आप बीती सुनाना चाहता हूँ।

मैं भोपाल का रहने वाला हूँ और मैं अभी ब.ए. कर रहा हूँ। मेरा लंड 6 इंच का है।

जब मैं बारहवीं में पढ़ता था तो मुझे लड़कियों को चोदने का बहुत शौक था पर बहुत कम चुदाई ही कर पाया क्यूंकी पढ़ाई के कारण समय नहीं मिल सका।

तो अब शुरू करता हूँ अपनी कहानी।

मेरे पड़ोस मैं एक भाभी रहती थीं एक दम टनाटन माल, bhabhi ki chudai ki photo गजब सेक्सी फिगर था उनका।

मैं उनको हमेशा चोदने के सपने देखने लगा। पर यार, क्या करे? ऐसे एकदम कैसे चोद देता?

एक दिन मैं अपनी छत मैं पढ़ रहा था कि अचानक भाभी भी उनकी छत मैं आ गई। वो नहा कर आई थीं और अपने बाल सूखा रही थीं।

मेरा मन कर रहा था कि अभी उन्हें चोद दूँ पर मैंने कंट्रोल किया और घर जाकर मुठ मारने लगा।

फिर मैं कोलेज चला गया। शाम को आते ही भाभी को मैंने देखा, वो बालकनी मैं खडी थीं।

उन्होंने मुझसे कहा – कान्हा,chudai devar se मेरे यहां दूध ख़त्म हो गया है, क्या, तुम सामने की दुकान से ला दोगे।

मैंने कहा – जी भाभी जी।

उन्होंने कहा – पैसे तो ले लो।

मैंने कहा – अभी तो मेरे पास हैं भाभी।

उन्होंने कहा – ठीक है, पर दूध मेरे घर पर ले कर आना।

मैंने कहा- जी भाभी, मैंने अपने घर जाकर कपडे बदले और उनके घर चला गया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी की नंगी जाँघे देख कर चुदाई की प्यास जगी

वो गाउन में थीं, उनके मम्मे फूले-फूले लग रहे थे। bhabi chut pic ऐसा लग रहा था कि अभी किसी ने दबाए हों।

मैंने भाभी से कहा – ये लो दूध, ठीक है भाभी मैं चलता हूँ।

भाभी ने कहा- रुको, चाय पीकर जाना।

मैंने कहा – नहीं, भाभी फिर कभी।

भाभी ने कहा – नहीं, थोडी सी पी लो और वैसे भी घर पर कोई नहीं है, भैया काम से बाहर गए हैं, शायद कल लाटेंगें। आजा पी ले अब।

मैं मना नहीं कर सका।

मेरा सारा ध्यान उनके मम्मो में था।

मैं जाकर सोफे मैं बैठ गया, वो चाय बनाने लगीं। मैंने सोफे मैं देखा – कोने में एक सेक्सी किताब पड़ी थी, मैं पडने लगा अचानक भाभी आ गयीं।

मैंने तुरन्त वो किताब वहीं रख दी और चाय पीने लगा, वो भी मेरे पास आकर बैठ गईं। हम बातें करने लगे।

उन्होंने एकदम से पूछ लिया कि तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड है?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने कहा – नहीं है।

मेरी नजर तो बस उनके चुचों पर थी और devar bhabhi ki chodai अब मेरा लंड भी खडा होने लगा था।

मैंने उनसे कहा – क्या भैया आपको प्यार करते हैं?

वो तो रोने लगीं और कहने लगीं – वो प्यार ही नहीं कर पाते हैं, उनके पास समय कहाँ है।

मैंने उनके कंधे पर हाथ रखा और उन्हें दिलासा दिया।

इतने में उन्होंने मेरे लंड को देख लिया। bhabi ki sexy photo मेरा लंड तना हुआ था।

उन्होंने कहा – ये क्या है?

मैंने कहा – कुछ नहीं भाभी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की नयी बीवी ने पूरी की सेक्स की इच्छा-1

पर उन्होंने बिना कुछ कहे मेरे लंड में हाथ रख दिया और मेरी पेंट की जीप खोल दी।

एक झटके से उन्होंने मेरा लंड बाहर निकाल दिया।

मेरा लंड देख कर वो बोलीं – हे राम, बहुत बङा है तुम्हारा लंड तो, क्या इससे मेरी प्यास बुझा दोगे?

मैं तो था ही इसी इंतेज़ार में। मैंने तुरंत उनके सारे कपडे उतार दिए और उनके मम्मे दबाने लगा।

वो कहने लगीं – हाँ राजा, ऐसे ही बहुत मजा आ रहा है, बस किये जाओ bhabhi ji chudai स्सीईईइ आह्ह्ह स्स्सीईईईईइ आह्ह्ह्हस्ससीईइ आह्ह।

कुछ देर उनके चुचे दबाने के बाद मैंने लंड उनकी चूत के दरवाजे पर रखा और जोर से धक्का मारा।

और वो कुछ इस तरह से आवाज़ें करने लगीं – स्सीईईइ bhabhi ko choda jabardasti आह्ह्ह स्स्सीईईईईइ आह्ह्ह्हस्ससीईइ आह्ह

मैंने उन्हें जी भर के चोदा।

40 मिनट तक मेरा नहीं झडा। फिर मैंने उनकी गांड मारी और वो कहने लगीं – हाँ राजा, बहुत मजा आ रहा है, बस किये जाओ स्सीईईइ आह्ह्ह स्स्सीईईईईइ आह्ह्ह्हस्ससीईइ आह्ह

अब मैं झडने वाला था तो मैंने उनसे पूछा – कहाँ गिराऊँ?

उन्होंने जवाब दिया – चूत में ही डाल दे।

मैंने अपना सारा वीर्य उनकी चूत bhabi xx में ही डाल दिया।

मेरी चुदाई करने से वो बहुत खुश हुई और मुझे पैसे भी दिए।

आज मैं भोपाल का एक काल बाय हूँ।

तो ये थी मेरी सच्ची कहानी।

आपको कैसी लगी?

मुझे मेल करें –

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!