दोस्त की बहन की सील तोड़ी-1

Dost ki bahan ki seal pack chut-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजीव है और में जयपुर से 100 किलोमीटर दूर एक कस्बे में रहता हूँ. में सी.ए की पढाई कर रहा हूँ और में हाल ही में जयपुर ही रहता हूँ, मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है, में हट्टा कट्टा नौजवान हूँ. मुझे बॉडी बनाने का शौक है इसलिए मेरी अच्छी ख़ासी बॉडी है एकदम मस्क्युलर, जिससे कोई भी लड़की मस्त हो जाए.

मेरे लंड का साईज़ 6 इंच है जो कि हर किसी लड़की को संतुष्ट कर सकता है. में बचपन में काफ़ी शर्मीला टाईप का लड़का हुआ करता था, में किसी भी लड़की को आँख उठाकर भी नहीं देखता था, लेकिन इस घटना के बाद तो मानो मेरी ज़िंदगी ही बदल गई थी. अब तक मैंने बहुत सारी लड़कियों और शादीशुदा लेडीस के साथ सेक्स किया है और जो अब मुझसे काफ़ी खुश है, तो अब में आपको मेरे जीवन की पहली चुदाई बताता हूँ.

मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती थी, जिसका नाम था प्रिया था, वो दिखने में एकदम हीरोइन जैसी, एकदम गोरी माल थी और फिगर 32-28-34 का था, उसकी गांड मानो कोई बास्केट बाल हो, मोटी गोल थी. उसके दो भाई थे और मम्मी पापा थे, वो कुल मिलाकर फेमिली में 5 लोग थे, वो खुद अभी फाइनल ईयर में पढाई करती है.

उसका सबसे बड़ा भाई बाहर सिटी में रहकर पढाई कर रहा है, वो यहाँ नहीं रहता है और दूसरे नंबर का भाई पापा के साथ शॉप पर रहता है और उसकी मम्मी हाउसवाईफ है. हमारी फेमिली और उनकी फेमिली में अच्छे रिश्ते है. हमारा रोज एक दूसरे के घर आना जाना लगा रहता है. हम कहीं बाहर घूमने जाते है तो साथ में जाते है और बहुत इन्जॉय करते है.

उसका भाई मेरा दोस्त भी है तो में पढाई के सिलसिले में उनके घर आता जाता रहता हूँ. मुझे प्रिया बचपन से काफ़ी अच्छी लगती थी, क्योंकि में शर्मीला टाईप का लड़का था, लेकिन हमारे अच्छे रिलेशन होने के कारण में उससे ज़्यादा नहीं शरमाता था और अच्छे से बात कर लेता था. जब में उसके भाई के पास पढ़ने जाता था तो जब भी मुझे मौका मिलता तो में प्रिया की पेंटी उठा लाता था और उसे सूँघकर उसमें मुठ मारा करता था और सारा माल उसमें छोड़ देता था और फिर दूसरे दिन वापस जाकर रख देता था.

मैंने कभी किसी को शक नहीं होने दिया था और इसलिए में प्रिया की चुदाई के सपने देखता था. जब मुझे ब्लू फिल्म देखकर मुठ मारने का बहुत शौक था. मेरे मोबाईल में हर वक़्त पांच दस ब्लू फिल्म पड़ी रहती थी. एक दिन की बात है, में उसके भाई के पास पढ़ने गया हुआ था तो प्रिया ने मुझे कोई गाना बताया था कि वो डाउनलोड करना है, में कॉलेज के प्रोग्राम में डांस करुँगी. में हमारे मौहल्ले में नेट चलाने में एक्सपर्ट था तो मैंने वो गाना डाउनलोड कर दिया. फिर उसने कहा कि तू मुझे अपना मैमोरी कार्ड दे दे, तो मैंने उसे अपना कार्ड दे दिया.

फिर घर आने के बाद मुझे याद आया कि उसमें तो ब्लू फिल्म भरी पड़ी थी. अब मुझे टेंशन हो गई थी, लेकिन प्रोग्राम होने के बाद उसने मुझे वापस कार्ड दे दिया और कहा कि तू अच्छे गाने रखता है. अब में खुश हो गया था तो मैंने सोचा कि चलो अच्छा है कि उसने बी.एफ नहीं देखी. अब में भी टेंशन फ्री हो गया और अब में बी.एफ को डिलीट नहीं मारता था. अब मेरे कार्ड में गाने से ज़्यादा बी.एफ भरी पड़ी थी.

फिर थोड़े दिन के बाद उसने मेरा कार्ड फिर से माँगा कि मुझे गाने सुनने है, तो मैंने उसे अपना कार्ड दे दिया. फिर ऐसे ही ये सिलसिला बहुत दिनों तक चलता रहा. फिर एक दिन मैंने ट्राई करने के लिए जब गाने डिलीट मार दिए और सिर्फ़ ब्लू मूवी भर दी और फिर उसने मेरा कार्ड माँगा तो मैंने उसे कार्ड दे दिया. फिर जब उसने मेरा कार्ड वापस दिया तो कहा कि तू अच्छे गाने रखता है और नये गाने डाल पुराने वाले सब हटा दे और स्माइल पास की.

अब मेरी ख़ुशी का तो ठिकाना ही नहीं रहा था, अब में समझ गया था कि वो कौनसे गानों की बात कर रही है? दरअसल वो ब्लू फिल्म्स देखने लग गई थी और वो नये वीडियो डालने को बोल रही थी. अब में हमेशा मौके की तलाश में रहता था कि कब वो अकेली मिले? और कब में उसके घर जाऊं?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर एक दिन वो मौका आ ही गया. उसके पापा और भाई तो दुकान पर चले गये थे और उसकी माँ मंदिर चली गई थी. उस दिन सत्संग था तो उन्हें पूरा दिन लगने वाला था और मेरे घर में भी मम्मी आंटी के साथ ही सत्संग में चली गई थी, तो में अकेला था और वो भी अकेली थी. अब उनके निकलते ही में सीधा प्रिया के घर गया तो उसने मुझे अंदर बुला लिया, वो नहा रही थी, तो में टी.वी देखने लगा. फिर वो नाहकर टी-शर्ट और केफ्री पहनकर बाहर आई.

फिर मैंने कहा कि आ जा तुझे एक चीज़ दिखाता हूँ, तो फिर वो मेरे पास आकर बैठ गई. फिर मैंने उससे कहा कि तेरे लिए नये वाले गाने लाया हूँ, तो वो शरमा गई और बोली कि में तेरे सामने कैसे देख सकती हूँ? फिर मैंने उसका हाथ पकड़ा और कहा कि पागल हम तो दोस्त है, मेरे से क्या छुपाना? में थोड़ी ना किसी को कहने जाऊंगा.

फिर वो बोली कि ठीक है दिखाओ. अब वो मुझसे टच होकर बैठी थी. फिर मैंने कहा कि ऐसे नहीं तुम मेरा मोबाईल पकड़ो और में तेरे पीछे बैठता हूँ, तो उसने ब्लू फिल्म स्टार्ट कर दी. अब उसमें एक लड़का एक लड़की के कपड़े उतार रहा था, तो मैंने पीछे से उसके बूब्स को पकड़ दिया और सहलाने लगा. फिर उसने मेरा हाथ हटा दिया और कहा कि तुम क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि कुछ भी तो नहीं, फ्रेंड्स में तो ये आजकल सब करते है.

फिर में फिर से उसके बूब्स को उसकी टी-शर्ट के ऊपर से ही सहलाता गया. अब उसके निप्पल कड़क हो रहे थे और अब उसे भी मज़ा आ रहा था. फिर मैंने कहा कि कभी तुमने यह सब किया है? तो उसने कहा नहीं और तुमने किया है? तो मैंने भी कहा कि नहीं. फिर मैंने कहा कि आज घर पर भी कोई नहीं है तो आज करे क्या ट्राई? तो उसने कहा कि मन तो कर रहा है, लेकिन में तुम्हारे साथ कैसे कर सकती हूँ?

फिर मैंने उसे विश्वास दिलाया कि में किसी को कुछ नहीं बताऊंगा और हम हमेशा मज़े करेगें, तो फिर वो मान गई और मैंने कहा कि ये बंद करो और अब बेड पर लेट जाओ, तो वो बेड पर लेट गई. फिर में उसके ऊपर आ गया और उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए और फिर हम ऐसे ही स्मूच करते रहे. अब में उसकी जीभ और लिप्स को चूस रहा था और वो मेरी जीभ को और लिप्स को चूस रही थी. अब हमें काफ़ी मज़ा आ रहा था.

फिर हम ऐसे ही 10 मिनट तक करते रहे. फिर में नीचे आया और उसकी गर्दन पर और गले पर किस किया और उसके गले को अपनी जीभ से पूरा चाट लिया. फिर मैंने उसके कान के पीछे अपनी जीभ से चाटा और किस किया. अब वो गर्म हो रही थी. फिर में उसकी टी-शर्ट के ऊपर आ गया, वहाँ उसके निप्पल खड़े हो गये थे. फिर मैंने उन्हें अपने हाथ में पकड़ा और ज़ोर से मसल दिया, तो वो जोर से चीखी आहह धीरे करो ना, बहुत दर्द होता है. फिर में आगे भी ऐसे ही करता रहा. फिर मैंने उसके दोनों बूब्स को अपने हाथ में लिया और उनको दबाने लगा. अब में उसके बूब्स को अपने मुँह में भर रहा था.

फिर मैंने उसकी टी-शर्ट निकाल दी और अपनी भी टी-शर्ट निकाल दी और में बनियान नहीं पहनता था. अब वो सिर्फ़ ब्लेक ब्रा में थी और उसके बूब्स बड़े ही शानदार थे एकदम गोल साईज़ में. फिर मैंने उनको खूब देर तक दबाया और उसकी चूचीयों को मसला. फिर मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया और उसके बूब्स अब मेरी आँखो के सामने थे.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!