दोस्त की माँ को दोनों ने ठोका-2

Dost ki maa ko dono ne thoka-2

उसने अपने उस पेटीकोट को भी उतार दिया, वाह क्या सुंदर जांघे थी एकदम गोरी गोरी और भरी भरी. मुझे अपनी आखों पर बिल्कुल भी विश्वास ना था कि में यह सब क्या देख रहा हूँ और वो भी अपने दोस्त के साथ उसी के घर में उसी की हॉट सेक्सी मम्मी का गोरा भरा हुआ बदन. अब वो आईने में देखकर अपने बूब्स को देखने लगी और वो अपने बूब्स को देखकर मुस्कुरा रही थी और फिर ब्रा की डोरी को ठीक करने लगी और अपनी पेंटी में ऊँगली फंसाकर उसको भी ठीक किया और ब्रा पेंटी को थोड़ा ऊपर नीचे करने के बाद अब नेहा ने गाउन पहन लिया. तब तक हम दोनों उस टेबल से नीचे उतर गये और फिर से जाकर कंप्यूटर पर बैठ गये.

दोस्तों अमित उस समय प्री मेडिकल टेस्ट की तैयारी कर रहा था, इसलिए वो कंप्यूटर पर कम बैठता था क्योंकि कंप्यूटर उसके कम काम में आता था, लेकिन में कंप्यूटर को उससे ज़्यादा काम में लेता था.

एक दिन में कंप्यूटर पर बैठा हुआ अपना काम कर रहा था इतने में अमित की मम्मी हमारे लिए चाय बनाकर ले आई और अब उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे भी कंप्यूटर चलाना सीखना है में बहुत दिनों से कंप्यूटर सीखना चाहती हूँ, लेकिन मुझे यहाँ पर सिखाने वाला कोई भी नहीं है मैंने बहुत बार अपने बेटे से भी यह बात कही, लेकिन वो हमेशा मेरी बात को अनसुनी कर देता है. तो मैंने उनसे बोला कि इसमे ऐसा क्या है, अगर आप चाहती है तो में आपको सिखा दूँगा?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की माँ के साथ पुणे में मजे

इसको चलाना बहुत आसान काम है. तब नेहा ने बहुत खुश होकर मुस्कुराते हुए मुझसे कहा कि कल से हम अपनी क्लास शुरू करेंगे, आज मुझे थोड़ा ज्यादा काम है, मैंने भी मन ही मन बहुत खुश होकर उनसे कहा कि अच्छा ठीक है आपकी जैसे मर्जी और मुझे पूरी रात वो सब सोच सोचकर नींद नहीं आई कि मुझे कल से नेहा को कंप्यूटर जो सीखना था और वो मेरे पास बैठेगी यह बात सोचकर ही मेरा लंड तो खड़ा हो जाता, मुझे उस सारी रात उसके साथ चुदाई के विचार आते रहे.

अगले दिन मैंने एकदम टाइट टी-शर्ट पहनी और सैंट भी लगाया में हर रोज की तरह उसके आने से पहले ही अमित के घर पर पहुंच गया और मैंने देखा कि उस दिन नेहा ने बिना बाँह का गाउन पहन रखा था. वो मेरे पास एक कुर्सी रखकर उस पर बैठ गई और मैंने कंप्यूटर का माउस उसकी तरफ रखा था ताकि माउस को चलते समय में जानबूझ कर अपने हाथ को आगे पीछे करते समय उसके बूब्स को भी छू लूँ.

में अब उनको कंप्यूटर के सभी हिस्से दिखा रहा था और बता भी रहा था इसको बोर्ड कहते है और बाद में माउस को छूते हुए मैंने जानबूझ कर उसके बूब्स के साथ मेरा हाथ टकरा दिया. तभी वो मेरी कोहनी के उसके मुलायम बूब्स पर छूते ही तुरंत पीछे हट गयी. मैंने उससे कहा कि माफ़ करना आंटी गलती से हो गया. तो वो बोली कि कोई बात नहीं है मैंने अब सबसे पहले माउस को चलाने के बारे में कहा जिसकी वजह से अब तो कई बार मेरा हाथ उसके बूब्स से टकरा रहा था और अब वो पीछे भी नहीं हटा रही थी और में मज़े लिए जा रहा था.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dost Ki Maa Ka Gussa-2

दूसरे दिन जब में अपने दोस्त के घर पर गया तब मुझे पता चला कि अमित कहीं बाहर गया हुआ था, इसलिए में और अमित की मम्मी घर पर अकेले ही थे और में बहुत खुश था, क्योंकि अब मुझे किसी भी बात की कोई भी टेंशन नहीं थी. अब मैंने की बोर्ड उसको चलाना सिखाया, लेकिन उसकी उंगलिया उस पर ठीक तरह से बैठ ही नहीं रही थी कई बार ऐसा किया, लेकिन कामयाब नहीं हुई और अब वो थक गयी, इसलिए उसने मुझसे कहा कि अब मुझे इससे ज्यादा कुछ नहीं आएगा.

मैंने मौका देखकर उससे कहा कि एक काम करो तुम मेरी गोद में बैठ जाओ में पीछे से जिसके ऊपर में उंगली रखूं तुम भी उस पर अपनी ऊँगली रखना वो बोली कि हाँ यह ठीक होगा है. अब वो मेरी गोदी में आकर बैठ गयी मेरा लंड तो पहले से ही पूरा टाइट हो गया, लेकिन उसकी गांड में फिट नहीं हो रहा था इसलिए मैंने उससे कहा कि थोड़ा सा ऊपर आ जाओ और वो जैसे ही ऊपर आई मेरा लंड उसकी गांड के बीच में बिल्कुल फिट हो गया, अब तो मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और शायद उसे भी मेरा लंड अपनी गांड में महसूस करके बहुत मज़ा आ रहा था और मैंने पूरे एक घंटे तक उसके बूब्स और गांड का पूरा पूरा मज़ा लिया. उसके बाद में अपने घर पर आ गया और अपने घर पर आकर मैंने उसके नाम से अपना लंड हिलाया और लंड को शांत किया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चाची को चोद के माँ बनाया-2

फिर दूसरे दिन उसने टी-शर्ट और स्कर्ट पहनी हुई थी और उसके नीचे ब्रा भी नहीं पहनी थी. में तुरंत समझ गया कि अब आंटी को भी मेरे साथ मज़ा आ रहा है मेरे पास आते ही वो सीधी आकर मेरी गोदी में बैठ गई अमित यह सब देख रहा था.

जैसे ही वो मेरी गोदी में बैठी तो मेरा लंड जींस में तन गया और उसकी गांड में एकदम फिट हो गया. अब तो में बड़े बड़े उसके बूब्स और निप्पल को हाथ लगा रहा था और मैंने कुछ देर बाद महसूस किया कि अब नेहा के निप्पल बिल्कुल टाइट हो गए थे और वो अब उसकी टी-शर्ट में से साफ साफ तने हुए दिखाई दे रहे थे.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!