हाँ, तुझसे चुदूँगी जरूर !

(Haan Chudungi Jarur)

लण्ड देव का प्यार भरा नमस्कार।

मैंने जब इस वेबसाइट को देखा, तो मुझे भी लगा कि क्यों न मैं भी अपना अनुभव आपके साथ शेयर करूँ।

मैं केरल का रहने वाला हूँ पर अभी बंगलौर में रह रहा हूँ, उम्र 25 साल, लम्बाई 5’7″

यह कहानी आज से 2 साल पहले की है, तब मेरी उमर करीब 23 साल की थी। मैंने अपना रियल नाम नहीं बताया है, मुझे अपने आपको लण्ड देव बुलवाना अच्छा लगता है इसीलिए मैंने यह नाम दिया है।

मुझे वो लड़कियाँ पसंद हैं जिनके कूल्हे यानि चूतड़ काफी बड़े होते हैं, बड़े स्तन वाले लडकियाँ पसंद है। मैं उनको बिल्कुल नहीं देखता हूँ, जिनकी पिछाड़ी काफी छोटी और पतली होती है।

जब मेरा एमबीए में चयन हुआ था, तब मैंने एक लड़की को देखा था। उसका नाम है नेहा (बदला हुआ नाम) है। वो भी केरल वाली थी। उसका कद मुझसे काफी बड़ा था, 3 या 4 इंच लम्बी थी। उसके चूचों का तो मैं फैन हो गया था।

मुझे पता लगा कि वो भी मेरे ही क्लास की स्टुडेंट है। फिर मैंने सोचा कि अगर यह घोड़ी मिल जाये तो इसको तो मैं घोड़े की तरह चोदूँगा। हालांकि मेरा कोई चुदाई का कोई अनुभव नहीं था। मैं अपने लौड़े में रोज तेल लगा कर हिलाता था। उससे मेरा लण्ड मोटा भी हो गया था। मगर मुझे आयल लगा कर हिलाना अच्छा लगता था।

जब भी वो क्लास में आती थी। मैं बस उसके मम्मों को देखता था। मन ही मन में उसको चोदता था। एक बार तो मैंने फेसबुक में उसके फोटो को देख कर ही हिलाया और उसके फोटो पर पूरा माल निकाल दिया।

पूरा लैपटॉप का स्क्रीन गीला हो गया। मगर उसके चेहरे पर स्पर्म डालने में मजा आता था। मगर सिर्फ फोटो में ही डालता था। जबकि मन करता था कि उसकी चूत में डालूँ।

मैंने सोचा कि कुछ करना पड़ेगा। इस घोड़ी को चोदना है, तो कुछ तो करना ही पड़ेगा। एमबीए के फर्स्ट सेमेस्टर में मैंने उससे दोस्ती कर ली थी, तब मुझे पता लगा कि उसका एक बॉय-फ्रेंड भी है, सुन कर थोडा दुःख हुआ।

जब भी क्लास खत्म होती थी तो हमेशा मैं उसको लंच पर लेकर जाता था। हाँ मगर वो लड़की मनी-माइंडेड थी। मतलब वो भी चाहती थी कि उसके पास बहुत पैसा हो और एक अमीर की तरह ऐश करे।

इसलिए पैसे की बदौलत उसको कभी-कभी कपड़े भी खरीद कर देता था। अब हम दोनों काफी अच्छे दोस्त बन चुके थे। एक दिन मैंने उसे प्रपोज किया।

उसने कहा कि ‘यह प्यार नहीं है, यह तो क्रश है।’

मुझे थोड़ा दुःख हुआ। मैंने उसे लंच करवाया और दोनों घर के लिए निकल लिए। फिर रोज इसी तरह दोस्ती चलती रही।

एक दिन हम असाइनमेंट में काम कर रहे थे, तो मैंने उसके लैपटॉप में देखा कि उसके लैपटॉप में तो कई सेक्स वीडियो हैं। वो भी हार्डकोर। उनको देख कर ही में मेरा लण्ड खड़ा हो गया। यह घोड़ी तो मेरे टाइप की है। इसको तो सेक्स वीडियो देखना भी पसंद है, शायद इसका मतलब वो अपने बॉय-फ्रेंड से चुद चुकी होगी। मैंने उसका लैपटॉप उसको वापस कर दिया।

एक दिन जब हम मॉल में गए तो उसने कहा कि उसको टी-शर्ट चाहिए।

मैंने कहा- चलो ठीक है हम शॉपर्स-स्टॉप में गए और उधर टी-शर्ट देखी, उसको 4 टी-शर्ट पसंद आ गईं।

मैंने कहा- इनको पहन कर देख लो।

जब वो चेंजिंग- रूम में गई तो देखा कि जहाँ से दरवाजा बंद होता है उधर थोड़ा एक इंच का गैप था। जब मैंने उसे कपड़े बदलते हुए देखा तो उसने तो ब्रा ही नहीं पहनी और उसके स्तन देख कर ही मेरा लण्ड ऐसा खड़ा हुआ कि पूछो मत दोस्तो ! इतना टाइट हो गया था कि पब्लिक प्लेस में ही मन कर रहा था कि उसे चोद दूँ।

जब वो बाहर निकली तो उसने पूछा- टी-शर्ट कैसी है?

मैंने कहा- अच्छी है।

वो टी-शर्ट मैंने उसके लिए खरीद दी मगर मेरा लण्ड अभी भी खड़ा हुआ था। मगर मैंने यह नहीं देखा कि वो मेरे पैंट से भी दिख रहा था। नेहा ने उसे देख लिया। फिर वो दूसरी जगह देखने लगी।

मैंने सोचा कि उसने ऐसा क्या देख लिया जो दूसरी जगह देखने लगी। फिर मैंने देखा कि मेरा लण्ड तो पैंट से साफ़ देखा जा सकता है। मगर क्या करता इतना टाइट था कि बहुत मुश्किल था डाउन करना। फिर मैंने अपने पैंट के सामने बैग रख दिया।

अगले हफ्ते जब हम लंच करने गए तो हम दोनों ने आइसक्रीम आर्डर किया और पार्क में जाकर खाने लगे।

जब वो आइसक्रीम खा रही थी तो मैंने उससे कहा- मैं तुम्हें किस करना चाहता हूँ।

इतना सुनकर उसने कहा- तुम्हें मानना पड़ेगा कि तुममें काफी हिम्मत है, एक लड़की को यह बोलना, जबकि तुमको मालूम है कि मेरा एक बॉय-फ्रेंड भी है।

मैंने उसे ‘सॉरी’ कह दिया।

उसने कहा- कोई बात नहीं मैं समझ सकती हूँ कि तुम्हारी कोई गर्ल-फ्रेंड नहीं है।

मैंने उससे कहा- क्या तुम मेरी गर्ल-फ्रेंड बन सकती हो? मैं तुम्हें बहुत प्यार करूँगा।

उसने पूछा- तुम्हें देख कर लगता नहीं कि तुम प्यार करोगे। तुम्हें देखने से लगता है कि तुम्हारा इरादा कुछ और है।

मैंने उससे कहा- सच बात बताऊँ, मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ। मुझे तुम्हारे बूब्स बहुत अच्छे लगते हैं।

उसने मुस्कुरा कर कहा- तुम इतने महीने से मेरे बेस्ट फ्रेंड हो और तुमने अपने दिल की बात भी मुझसे शेयर नहीं की। तुम सच बोलते हो, इसलिए मुझे तुम्हारी दोस्त अच्छी लगती है। पता है जब तुम्हारा उस दिन खड़ा हुआ था। तब मैं मन ही मन में सोच रही थी कि तुमसे चुद लूँ।

यह सब सुन कर ही मेरे मन और तन में आग लग गई। यह कहानी आप HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे हैं।

मैंने पूछा- तुम्हारा बॉय-फ्रेंड तुमसे प्यार नहीं करता क्या?

उसने कहा- करता है मगर बहुत ही झगड़ा करता है।

“ओह, यह तो बुरी बात है !”

मैंने उससे पूछा- तुम्हें सेक्स करना अच्छा लगता है क्या?

उसने कहा- हाँ, मन करता है कि 50 लण्ड हर हफ्ते मिल जायें, तो लाइफ में मजा ही मजा है।

मेरा तो लण्ड ही खड़ा हो गया फिर मैंने पूछा- प्लीज़ बुरा मत मानना, क्या तुम मुझसे चुदोगी?

उसने कहा- अरे बुद्दू जिस दिन तेरा खड़ा हुआ लण्ड देखा था, तभी मुझे पता लगा कि तू मुझे चोदना चाहता है। और वैसे तू भी मुझे पसंद है, मगर क्या करूँ अपने बॉय-फ्रेंड को नहीं छोड़ सकती। मगर हाँ, तुझसे चुदूँगी जरूर ! बस मुझे टाइम बता दे और प्लेस बता दे ! ठीक है?

यह सब सुन कर ही मेरे मन तो बस उछल पड़ा। मैंने उसे अपने अपार्टमेन्ट में बुलाया। मैं अकेला रहता हूँ। इसलिए यहाँ पर तो कोई डर नहीं है।

जब वो मेरे अपार्टमेन्ट में आई तो उसने टाइट कुर्ती पहनी हुई थी। उसको देखते ही मैंने उससे चूमना शुरू कर दिया।

उसने कहा- इतनी जल्दी भी क्या है, मेरे घोड़े?

मैंने उसके कपड़े उतारे और उसके बूब्स को देखा तो बाप रे ऐसा लगा कि यह तो किसी भैंस के स्तन जैसे लग रहे थे। मैंने उसके मम्मों को चूसा।

जबरदस्त मजा था, लाइफ में पहली बार ऐसा किया था। फिर उसकी चूत को देखा, लाइफ में पहली बार असल में किसी लड़की की चूत देखी, उसकी जब चूत की खुशबू सूंघी, तो क्या खुशबू लग रही थी।

जब पहली बार मैंने किसी लड़की की चूत चाटी तो एक अलग ही अनुभव हो रहा था, उसकी चूत का स्वाद नमकीन था। उसने चूत पर मेरी जीभ का स्पर्श पाते ही आहें भरी। फिर उसकी चूत में मैंने अपनी उंगलियाँ भी डालीं।

दोस्तो, आप यकीन नहीं करोगे उसकी चूत मैंने 30 मिनट तक चाटी। वो तो पागल ही हो गई थी।

उसने पागलों की तरह मेरी पैंट उतारी और मेरा लण्ड देख कर बोली- तुम्हारा लण्ड है कि किसी घोड़े का लण्ड है। इतना मोटा क्यों है?

मैंने कहा- मैं रोज तेल से इसकी मालिश करता हूँ।

उसकी आखें फटी की फटी रह गईं।

फिर क्या था उसने मेरे लण्ड ऐसा चूसा, ऐसा चूसा कि मेरा लण्ड तो डाउन होने का नाम ही नहीं ले रहा था। यह मेरा लाइफ का सबसे बड़ा हसीन पल था और अलग ही अनुभव हो रहा था।

उसने मेरे लण्ड को 15 मिनट तक चूसा। मैं भी कब तक रुकता सो मैं भी झड़ गया। मेरा लण्ड 5 मिनट बाद फिर खड़ा हो गया।

उसने कहा- बाप रे तुम्हारे लण्ड में तो काफी ताकत है। इतना जल्दी फिर खड़ा भी हो गया।

वो इसलिए क्योंकि नेहा का बदन इतना कामुक था कि जो भी उसको देखेगा तो उसका लण्ड खड़ा हो ही जायेगा। वैसे भी मैं जिम जाता हूँ और अच्छा खाना खाता हूँ। इसलिए मेरा लण्ड काफी दमदार है।

उसने कहा- मुझे ऐसा ही लण्ड अपनी चूत में डलवाना है। प्लीज़ इसको मेरी चूत में पेल दो। मेरी चूत को फाड़ दो।

जब मैंने लण्ड उसकी चूत में डाला तो अंदर घुस ही नहीं रहा था। उसने मेरे लण्ड को पकड़ा और अपनी चूत में घुसेड़ा, फिर जो मुझे एहसास हुआ वो अलग ही पल था।

फिर क्या दोस्तो, उसकी चूत में मैंने लण्ड को आगे-पीछे किया। वो अलग ही मजा था।

उसने कहा- अबे, और अंदर तो डाल मेरे घोड़े।

मैंने भी अपने लौड़े को रफ़्तार दे दी।

हम दोनों की चुदाई धकापेल चलने लगी।

इतने में वो जोर से ऐंठने लगी और झड़ गई। लेकिन मैं तो अभी मस्त लगा हुआ था।

मैंने कहा- अब तू घोड़ी बन जा !

और अपना लण्ड उसकी गाण्ड में डाल दिया। उसकी गान्ड भी खूब चुदी हुई लग रही थी।

गाण्ड और चूत दोनों में अलग-अलग मजे हैं। मुझे तो उसकी गाण्ड बहुत अच्छी लगी। बीस मिनट तक उसको मैंने कुतिया की तरह चोदा।

वो चिल्लाये जा रही थी। आहें भर रही थी। वो तो बस मेरे लण्ड की दीवानी हो गई थी। फिर मैं भी झड़ गया। मैंने अपना माल उसकी गाण्ड में छोड़ दिया।

पंद्रह मिनट बाद उसने फिर से लण्ड चूसा और मैंने कहा- पूरा पी जा मेरे रस को !

और वो पी भी गई।

उसको मैंने सबसे ज्यादा घोड़ी बना कर चोदा और पूरी रात भर चोदा।

उसने मुझसे कहा- तू इंसान नहीं है। तू इंसान के रूप में एक बहुत बड़ा खतरनाक घोड़ा है। तेरे लण्ड से तो कोई भी लड़की पागल हो सकती है।

दोस्तो, उस रात को मैंने उसको सात बार चोदा और उसकी चूत की वाट लगा डाली। उस दिन से वो मेरे लण्ड की दीवानी हो गई है। वो हर हफ्ते शनिवार को मुझसे चुदने आती है। अपने बॉय-फ्रेंड को बोलती है कि मैं अपने दोस्तों के साथ पढ़ने जाती हूँ।

दोस्तो, यह मेरा पहला अनुभव था, उस दिन के बाद मेरा लण्ड और भी उछलने लगा है।

कैसी लगी आपकी मेरी यह सत्य घटना?

अगर आपको अच्छी लगी हो तो मुझे प्लीज़ मेल करें।

Loading...