एक अंजान लड़की बनी सेक्स पार्टनर-2

Ek anjan ladki bani sex partner-2

दोस्तों अब हम दोनों एक दूसरे के और भी पास आ गये थे. अब मैंने हमारे लिए एक एक पेग और बना लिए और फिर मैंने उससे पूछा कि क्या में तुम्हारे यहाँ पर सिगरेट पी सकता हूँ?

वो : हाँ क्यों नहीं मुझे इसमें कोई भी आपत्ति नहीं है और आज तुम्हारे साथ साथ में भी पहली बार वो काम करना चाहती हूँ, जो तुम अकेले करने की बात सोच रहे हो. में भी एक बार सिगरेट पीकर देखना चाहती हूँ.

में : हाँ क्यों नहीं, बेशक.

दोस्तों अब मैंने उसको भी पीने के लिए एक सिगरेट दे दी और में खुद भी पीने लगा. सिगरेट पीने के बाद उसने मुझसे बोला कि बस एक एक पेग और फिर हम बैठकर बातें करते है. फिर मैंने कहा कि ठीक है. फिर हमने एक एक पेग और पिया और बेड पर लेट गए. दोस्तों हम दोनों एक दूसरे की तरफ़ मुहं करके बिल्कुल पास पास लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे, हम दोनों को एक दूसरे की गरम गरम साँसे महसूस हो रही थी और मुझे उसकी आखों में बहुत कुछ नजर आ रहा था, जो वो मुझसे चाहती थी.

तभी अचानक से हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना शुरू कर दिया था और हमने करीब पांच मिनट तक एक दूसरे को किस किया और फिर में उसे अपने ऊपर ले आया और एक हाथ उसकी कमर में डालकर में अपना दूसरा हाथ उसकी गांड पर फेरने लगा था और में अब भी उसे लगातार किस करता रहा. थोड़ी देर के बाद मैंने उसे बैठा दिया और उसका नाईट सूट उतार दिया. अब वो मेरे सामने ब्रा में थी. दोस्तों उसने काली कलर की ब्रा पहन रखी थी, में आपको क्या बताऊँ दोस्तों वो मुझे कैसी लग रही थी? में अब उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा और वो सिसकियाँ लेने लगी, जिसकी वजह से हम दोनों अब पूरी तरह से गरम हो चुके थे, वो अब मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  SANIYA Mirza (Tennis Payer) ki Chudai kari

फिर मैंने बिल्कुल सही मौका देखकर तुरंत उसकी ब्रा को भी उतारकर उससे थोड़ा दूर फेंक दिया, जिसकी वजह से वो अब मेरे सामने ऊपर से पूरी नंगी थी, उसके बूब्स 34 साईज़ के थे. फिर मैंने जल्दी से दोनों बूब्स को अपने एक एक हाथ में ले लिए थे और में उन्हें ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और उनका रस निचोड़ने लगा था और में उसको किस भी करने लगा था.

दोस्तों वो अब बिन पानी की मछली की तरह छटपटा रही थी. करीब 5-10 मिनट तक में उसके बूब्स के साथ ही खेलता रहा, कभी उन्हें मुहं में लेता और कभी काट भी लेता और उसकी सिसकियों की आवाज़ रूम में गूंज रही थी. अब में लोवर के ऊपर से उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा था और मैंने महसूस किया कि जिसकी वजह से उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने अब ज्यादा देर ना करते हुए अपना एक हाथ उसके लोवर के अंदर डाल दिया और अपनी एक उंगली को उसकी चूत के अंदर डाल दिया तो वो आह्ह्ह्हह्हह्ह ऊईईईईइ करती रही और मुझे किस करती रही, में अब और भी समय खराब नहीं करना चाहता था, इसलिए मैंने तुरंत एक ही झटके में उसका लोवर और पेंटी दोनों को ही उतार दिया. दोस्तों में आपको क्या बताऊँ कि उसकी क्या चूत थी? उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था, वो पाव की तरह फूली हुई एकदम सुर्ख लाल हो रही थी. फिर मैंने उसे सीधा लेटा लिया और कभी में उसकी चूत में उंगली करता तो कहीं उसके बूब्स पर काटता दबाता और फिर से किस करता और रूम में ए.सी. चालू होते हुए भी वो माहोल अब तक बहुत गरम हो चुका था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Karina Kapoor (Film actress) Ke Pyar Sex ke 24 ghante

दोस्तों अब मैंने महसूस किया कि जोश के साथ साथ अब उसकी सिसकियाँ भी बढ़ती जा रही थी, इसलिए मैंने भी ज्यादा समय खराब करना ठीक नहीं समझा और मैंने तुरंत अपने सारे कपड़े उतारकर फेंक दिए और अब में उसके ऊपर आकर उसको किस करने लगा और अपने लंड के टोपे से उसकी गुलाबी रसभरी चूत की पंखुड़ियों को रगड़ने लगा और अपने टोपे को चूत के दाने पर घिसने लगा था. अब वो मुझसे कहने लगी कि सब कुछ तुम ही करोगे या मुझे भी कुछ करने दोगे? और फिर उसने मुझे बेड पर लेटा दिया और वो मेरा लंड चूसने लगी. दोस्तों मैंने देखा कि वो तो लंड चूसने में एकदम अनुभवी थी, मानो उसका मुहं सिर्फ़ मेरा लंड लेने के लिए ही बना था और थोड़ी देर लंड चूसने के बाद उसने मुझसे बोला कि यार अब नहीं सहा जाता, प्लीज अब तुम मुझे चोद दो, में अब ज्यादा नहीं सह सकती, प्लीज जल्दी से कुछ करो.

फिर मैंने उसे मिशनरी पोज़िशन में ले लिया और उसकी गांड के नीचे मैंने एक तकिया रख दिया और फिर मैंने लंड को चूत के मुहं पर रखकर अपना लंड सेट किया और एक ज़ोरदार झटका दे दिया, जिसकी वजह से मेरा आधे से ज्यादा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ अंदर चला गया और उसके मुहं में से हल्की सी चीख निकल गई. फिर मैंने फिर से दूसरा झटका दे दिया और अब मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया और उसने एक ज़ोरदार चीख मारी तो अब में थोड़ी देर रुक गया और बूब्स को सहलाने के साथ साथ हल्के हल्के झटके देने लगा. दोस्तों थोड़ी देर के बाद वो भी अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी थी, उसके मुहं से कभी सिसकियाँ और कभी चीखे निकल रही थी, उसकी वो दोनों ही आवाजें एकदम मदहोश कर देने वाली थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  नाईट क्लब में सेक्सी लड़की के साथ चुदाई

करीब दस मिनट के बाद अचानक से उसने मुझे बहुत ज़ोर से पकड़ लिया और फिर वो झड़ गयी. उसके 5-7 मिनट बाद में भी उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया और अब में उसके ऊपर ही गिर पड़ा और थोड़ी देर के बाद हम दोनों उठ गए. अब में उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में लेकर चला गया, वहां पर हम दोनों नहाने लगे और उसके बाद हम दोबारा बाहर आकर बेड पर लेट गये. अब हमने समय देखा तो सुबह के 2.30 बज रहे थे. थोड़ी देर बात करने के बाद हमने एक बार फिर से जमकर चुदाई के मज़े लिए और फिर हम सो गये.

दोस्तों हम दूसरे दिन सुबह 11 बजे के आसपास उठे और वो हम दोनों के लिए कॉफी बनाकर लेकर आ गई और हम कॉफी पीने लगे और बातें करने लगे. दोस्तों कॉफी पीने के कुछ देर बाद मैंने उसकी एक बार फिर से चुदाई शुरू कर दी और उसके बाद में अपने घर पर आ गया. उस रात दिन की चुदाई के बाद दोस्तों मैंने उसे लगातार चार महीने तक चोदा और उसकी चुदाई के बहुत मज़े लिए. मैंने कई बार अपने रूम पर तो कभी उसके रूम पर बहुत मज़े लिए और उसे अपने लंड से चोदकर मैंने हमेशा पूरी तरह से संतुष्ट किया, वो मेरी चुदाई से बहुत खुश थी, लेकिन दोस्तों उसका मेरा यह साथ कुछ दिनों ही चला, लेकिन इस बीच हमने बहुत मज़े किए. हम बहुत घूमे और बहुत मज़े मस्ती की और अब उसका तबादला बेंगलोर में हो गया है.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!