एक अंजान लड़की बनी सेक्स पार्टनर-2

Ek anjan ladki bani sex partner-2

में : कोई बात नहीं जी में पेपर और पेन लेकर अभी आता हूँ और आप मुझे लिखकर बता देना.

तो वो थोड़ा सा हंसी और फिर चुप हो गयी.

में : चलो ठीक है, बेसमेंट डूबने से तो बच गया, वर्ना में अपनी कार को भी नहीं निकाल पाता.

वो : आपकी समस्या क्या है आप मुझे छोड़ क्यों नहीं देते?

में : हाँ तो जल्दी से बताओ ना कि आपको कहाँ छोड़ना है?

वो : जी मेरा मतलब वो नहीं था.

में : हाँ ठीक है.

वो : फिर.

में : तो बताइए क्या समस्या है? ताकि में आपको रोने में साथ दे सकूं.

अब वो थोड़ी देर तक बिल्कुल चुप रही और फिर वो मुझसे बोली कि मेरा मेरे बॉयफ्रेंड के साथ झगड़ा हो गया है और में आज यहाँ पर ड्रिंक करने के लिए आई थी, लेकिन में ऐसा नहीं कर सकी. मैंने सोचा था कि में थोड़ी सी पीकर उसको भूल जाउंगी, लेकिन में वो भी नहीं कर पाई और मुझे इस बात का बहुत दुःख है और इसलिए में रो रही हूँ. में कुछ भी नहीं कर सकती और मुझे बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहा है.

में : फिर तो हम दोनों को एक साथ में बैठकर रोना चाहिए, लेकिन मुझे नहीं लगता कि इन सबसे कोई फायदा होता है.

वो : लेकिन आप मेरे साथ क्यों रोयेंगे?

में : क्योंकि अभी दो महीने पहले मुझे भी लात मारी गई है.

वो : तो आप इसलिए बार में आए थे.

में : वो किस लिए?

वो : आपकी गर्लफ्रेंड को भूलाने के लिए.

में : जो मेरा अब है ही नहीं उसको याद करके और रोने से क्या फ़ायदा? और आपको भी अब नहीं रोना चाहिए.

वो : जी ऐसा क्यों?

में : क्योंकि आपका मेकअप खराब होने की पूरी संभावना है और आप उस खराब मेकप में एकदम चुड़ैल लगोगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  KANGANA RANOT (Film Actress) ki pyar se Chudai

तो वो मेरी यह बात सुनकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी और मुझसे बोली कि आप बातें बड़ी अच्छी करते है.

में : जी में तो बिना सोचे समझे कुछ भी बोलता हूँ और अब आप इसको अच्छी बातें बोलते है तो कोई बात नहीं है.

दोस्तों अब हमारी थोड़ी सी बातें होने लगी थी और हमने एक दूसरे का नाम पूछा तब उसने मुझे बताया कि वो नौकरी करती है और किराये पर एक फ्लेट लेकर अकेली ही रहती है. अब मैंने मन ही मन सोचा कि मेरा अब काम बन सकता है और में थोड़ा सा उसकी बातों में ज्यादा रूचि दिखाने लगा था. अब उसका मूड बहुत हद तक अच्छा हो गया था और वो अच्छा महसूस कर रही थी.

अब 12:30 बजे का समय हो गया था और बातें करते करते हमे समय का पता ही नहीं चला और अब वो मुझसे कहने लगी कि मुझे अपने रूम पर जाना है, में अब बहुत लेट हो गई हूँ और अब तो मुझे ऑटो वालों का भी कोई भरोसा नहीं है.

में : तो डरने की कोई बात नहीं है, मुझे भी गाड़ी चलानी आती है.

वो : अरे नहीं यार आप पहले ही मेरी वजह से बहुत लेट हो गए हो.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

में : कोई बात नहीं है और मुझे कोई समस्या नहीं है यार वैसे भी में अभी अपने घर पर नहीं जाने वाला.

वो : धन्यवाद यार.

में : अब मुझसे धन्यवाद बोलकर पगली तू क्या मुझे रुलाएगी?

वो : ठीक है में नहीं बोलती.

दोस्तों अब वो हंसने लगी. फिर में उसे उसके फ्लेट पर छोड़ने चला गया और इस बीच हमारे मोबाईल नंबर भी एक दूसरे को के पास चले गए थे और उसको फ्लेट पर छोड़कर में उससे गुडबाय बोलकर अपने घर के लिए निकल गया और अभी मुझे निकले हुए पांच मिनट भी नहीं हुए थे कि उसका मेरे मोबाईल नंबर पर कॉल आ गया और फिर मैंने उससे बात करनी शुरू की.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  एयरहोस्टेस की चुदाई का अनुभव-1

में : हाँ जी बोलिए क्या इतनी जल्दी हमारी याद आ गई?

वो : अरे यार मुझे आपसे वो एक बात पूछनी थी.

में : हाँ तो पूछिये, आपको रोका किसने है?

वो : यार मेरा बहुत ड्रिंक करने का मन है, लेकिन अगर आपके पास है तो.

में : हाँ है मगर उसका टेक्स लगेगा.

वो : जी वो कैसा टेक्स?

में : आपको मेरे साथ पीनी पड़ेगी.

फिर थोड़ा सा सोचने के बाद उसने झट से हाँ बोल दिया और फिर मैंने मन ही मन सोचा कि यार आज तेरी तो लोटरी लग गयी, यह लड़की तुझसे पूरी तरह से आकर्षित हो गई है और अब बात बन सकती है. अब मैंने उससे पूछा कि हमे पीनी कहाँ है?

वो : आप मेरे फ्लेट पर आ जाइए.

में : ठीक है, जब तक आप नीचे आओगे में आपकी बिल्डिंग के ठीक सामने आपको खड़ा मिलूँगा.

वो : हाँ ठीक है, लेकिन थोड़ा जल्दी से आ जाओ.

फिर मैंने फोन पर अपनी बात को वहीं पर खत्म किया और अपनी कार को मैंने उसके फ्लेट की तरफ़ वापस मोड़ लिया और में जब पहुंचा तो मैंने देखा कि वो नीचे एक कोने में खड़ी होकर मेरा इंतजार कर रही थी. फिर मैंने बोतल निकाली और में उसके पास जाकर बोला कि यह लो, आ गई तुम्हारी लाल परी.

वो : थोड़ा आराम से अगर किसी ने देख लिया तो पंगा हो जाएगा.

में : हाँ हाँ ठीक है.

फिर हम दोनों उसके फ्लेट में पहुंचे. उसका फ्लेट 4th मंजिल पर था. उसने मुझे वहां पर पहुंचते ही उसके बेडरूम में ले जाकर बैठा दिया और ए.सी. को चालू कर दिया और फिर वो मुझसे बोली कि में अभी कुछ देर में अपने कपड़े बदलकर आती हूँ और वो बाथरूम में अपने कपड़े बदलने के लिए चली गई और जब वो बाहर निकलकर आई तो मैंने देखा कि उसने काले कलर का नाईट सूट पहना हुआ था. दोस्तों में आप सभी को किसी भी शब्दों में क्या बताऊँ कि वो क्या मस्त लग रही थी, उसको देखकर मेरा मन कर रहा था कि में इस साली को पकड़कर अभी चोद दूं, लेकिन में यह बात सोचकर रह गया कि पीने के बाद देखता हूँ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेलगर्ल रेशमा की चुदाई-2

फिर उसके बाद वो किचन में से कुछ खाने का सामान और कोल्ड ड्रिंक लेकर आ गई, हमने पेग बनाने शुरू कर दिए और बातें करने लगे, वो अब मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में मुझसे पूछने लगी, लेकिन दोस्तों में अब उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछने में कोई भी जल्दबाज़ी नहीं करना चाहता था. मैंने मन ही मन सोचा कि जो भी होगा, वो देखा जाएगा. अब तक हम दोनों ने करीब 3-3 पेग ले लिए थे और वो धीरे धीरे अपना असर हम दोनों पर करने लगी थी, तो हम दोनों और भी पास आकर बैठ गये थे और फिर हमारी बातें धीरे धीरे सेक्स की बातों की तरफ बढ़ती जा रही थी. तभी अचानक से उसने मुझसे पूछा कि आपने कभी सेक्स किया है?

में : हाँ मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ बहुत बार सेक्स किया है और क्या कभी तुमने भी कुछ किया है या नहीं?

वो : हाँ मैंने भी किया है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!