एक अंजान लड़की बनी सेक्स पार्टनर-1

Ek anjan ladki bani sex partner-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम निखिल है और में दिल्ली का रहने वाला हूँ. मेरी उम्र 22 साल, मेरी लम्बाई 5 फुट 11 इंच और मेरे लंड का साईज़ करीब 6 इंच है, जो किसी भी असंतुष्ट चूत की चुदाई करके उसे पूरी तरह से संतुष्ट करने के लिए बहुत अच्छा है और मुझे हर एक चूत को संतुष्ट करने का अनुभव भी बहुत ज्यादा है और आज में आप सभी चाहने वालों को अपना एक ऐसा ही सेक्स अनुभव बताने जा रहा हूँ, जिसमें मैंने एक अंजान लड़की को बहुत जमकर चोदा और उसे अपनी चुदाई से पूरी तरह से संतुष्ट किया.

दोस्तों यह मेरी सच्ची घटना है और कुछ समय पहले मेरे साथ घटित हुई और में उम्मीद करता हूँ कि यह आप सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी.

दोस्तों यह घटना मेरे साथ आज से करीब 6 महीने पहले घटित हुई. में उस समय अपने बीटेक के पेपर देकर फ्री हुआ था और उससे करीब दो महीने पहले ही मेरी गर्लफ्रेंड से मेरी बातचीत बिल्कुल बंद हो गई थी, इसलिए में थोड़ा उदास रहता था और सारा दिन में अपने घर पर ही रहता था, लेकिन में हर शाम को सिगरेट पीने के लिए ही अपने घर से बाहर निकलता था और उसके बाद घर पर आकर टी.वी. या अपने लेपटॉप पर लगा रहता था, लेकिन हर सप्ताह रविवार को में अपने दोस्तों के साथ बार में ड्रिंक करने के लिए जरुर जाता था और अगर जब मेरा मूड अच्छा नहीं होता था तो में बिना दोस्तों को कॉल किए अकेला ही वहां पर चला जाया करता था.

यह बात जून के आखरी सप्ताह की है, जब में एक दिन अकेला ही बार में ड्रिंक करने के लिए चला गया, क्योंकि में उस दिन थोड़ा खुश था. फिर मैंने बार में बियर लाने का ऑर्डर कर दिया था और बियर आने के बाद बहुत आराम से बैठकर उसे पीने लगा था और दोस्तों एक बात तो में आप सभी को बताना ही भूल गया कि में जब कभी मुझे बेटाईम पीने की याद आ जाए तो उसके लिए में अपनी कार में एक बोतल हमेशा साथ में रखता था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चुटकी की चुदाई

फिर में बैठा हुआ ड्रिंक कर रहा था और इधर उधर देख रहा था. तभी मेरी नज़र पास ही में बैठी हुई एक लड़की पर पड़ी. में आप लोगों को क्या बताऊँ दोस्तों वो क्या चीज़ थी? वो ऊपर से लेकर नीचे तक बिल्कुल कयामत थी, उसका वो गोरा बदन, लंबे काले बाल, गुलाबी रसभरे होंठ, सुराही जैसी गर्दन, एकदम गोल उभरे हुए बूब्स मुझे अपनी तरफ आकर्षित कर रहे थे. दोस्तों में उसके सेक्सी जिस्म को देखने में इतना खो गया था कि में अब ड्रिंक करना बिल्कुल ही भूल गया था और में बस मन ही मन यही बात सोच रहा था कि काश मुझे एक बार ये लड़की मिल जाए तो मज़ा आ जाए. यह अगर एक बार मुझसे हाँ कह दे तो में इसको जन्नत की सैर करवा दूँ और चुदाई के बहुत मज़े दूँ और इसकी चूत के मज़े में भी लूँ.

फिर मैंने देखा कि वो बहुत देर से एकदम अकेली बैठी हुई थी, शायद वो किसी का इंतज़ार कर रही थी और में अपनी आखें फाड़ फाड़कर लगातार उसी को देख रहा था.

तभी मेरे पास मेरे एक दोस्त का कॉल आ गया और मैंने उससे बात करना शुरू किया, वो मुझसे आज के प्रोग्राम के बारे में पूछने लगा. फिर मैंने उससे बहाना बनाकर कह दिया कि आज मेरा मुड बिल्कुल भी ठीक नहीं है, तुम अकेले ही चले जाओ और उससे यह बात कहकर मैंने तुरंत फ़ोन रख दिया, लेकिन दोस्तों फोन रखने के तुरंत बाद जब मैंने जैसे ही उसकी तरफ पलटकर देखा तो वो वहाँ पर नहीं थी, शायद वो चली गई थी. में अब भी उसी के बारे में सोच रहा था और फिर कुछ देर बाद में अब अपने पीने पर ध्यान लगाने लगा था और कुछ देर बाद में अपनी ड्रिंक को खत्म करके उस बार से बाहर निकल गया और में पार्किंग की तरफ जाने लगा. दोस्तों उस समय रात के करीब 10.30 बजे थे और मॉल में उस समय बहुत कम लोग ही बचे हुए थे, एक वो जो अंदर फिल्म देख रहे थे और दूसरे वो हमारे जैसे लोग जो वहां पर पीने के लिए आए हुए थे. अब में पार्किंग की तरफ़ जा रहा था और मुझे हल्का सा नशा था और फिर मैंने एक जगह पर रुककर अपनी सिगरेट जला ली थी और पीने लगा था.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी माँ और पागल भिकारी की चुदाई कहानी-2

मैंने देखा कि एक लड़की सीड़ियों पर बैठकर रो रही थी और जब मैंने उसके पास जाकर देखा तो मुझे पता चला कि यह वही लड़की थी, जो कुछ देर पहले बार में बिल्कुल अकेली बैठी थी. मुझे अपनी आखों पर बिल्कुल भी विश्वास नहीं था और उसके पास जाकर बहुत ध्यान से देखने के बाद मुझे विश्वास हुआ. फिर मैंने मन ही मन सोचा कि बेटा यही अच्छा मौका है, मार दे मौके पे चौका और में उसके अब एकदम पास चला गया और मैंने उससे पूछा कि तुम इस तरह से क्यों रो रही हो? लेकिन उसने मुझसे कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है और प्लीज आप मुझे अपने हाल पर छोड़ दीजिए. दोस्तों में उसका यह जवाब सुनकर थोड़ा सा उदास हो गया और फिर में वहां से निकलकर अपनी गाड़ी की तरफ़ बढ़ गया.

फिर मुझे अहसास हुआ कि नहीं यार जो भी हो वो लड़की रो रही है. उसके साथ कुछ तो बात हुई है? अब मैंने अपनी कार से पानी की बोतल निकाली और में वापस उसके पास चला गया और में उससे बोला कि यह लो आप पानी पी लीजिए, लेकिन उसने एक बार फिर से वही बात दोहराई तो मैंने बोला कि ठीक है में आपसे आपकी कोई भी बात नहीं जानना चाहता और मुझे आपके बारे में कुछ भी नहीं पूछना आप बस पानी पी लीजिए और रोना बंद कर दीजिए.

वो बोली : तुम सारे लड़के एक जैसे होते हो, जहाँ लड़की देखी लार टपकाने लगते हो.

दोस्तों मुझे उस समय उसके मुहं से यह बातें सुनकर गुस्सा तो बहुत आया था, लेकिन में यह बात सोचकर शांत हो गया कि यार जो भी हो, वो कोई समस्या में है, मुझे उसकी तो कुछ मदद करनी चाहिए. उस समय में वो सभी बातें पूरी तरह से भुला चुका था और उसके बाद मैंने एक बार फिर से उससे पानी पीने के लिए बोला. इस बार उसने झटके से वो पानी की बोतल मेरे हाथ से ले ली और उसने उसे एक साईड में रख दिया था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  BABITA ji (TV serial wali) ki Chudai kari.

अब मैंने उससे कहा कि अगर आपको इसे एक साईड में ही रखना था तो यह मेरी गाड़ी में रखी हुई बहुत अच्छी थी और फिर उसने मेरी पूरी बात को सुनकर बोतल को उठा लिया और फिर थोड़ा सा पानी पी लिया और अब वो थोड़ी सी शांत हो गयी, लेकिन अब भी उसकी आँखो से थोड़े से आँसू बाहर निकल रहे थे. में भी अब उसके पास में बैठ गया और मैंने उससे कहा कि पार्किंग में रो रोकर क्या बाढ़ लाने का इरादा है क्या? तो वो बोली कि में किसी भी अंजान आदमी के साथ बात नहीं करती हूँ.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!