फैमिली सेक्स कहानी

(Family Sex Kahani)

मेरा नाम विराट है में आपको बताने जा रहा हूं आपकी बहन की कहानी अच्छी लगी तो जरूर बताना
मेरी बहन का नाम पिंकी है वो आगरा में रहती है उनकी शादी हो चुकी है उनके 2 बच्चे भी है एक लड़की 7 साल की ओर एक लड़का 3 साल का है जीजा है ओर उनके पापा घर में रहते है में गर्मी की छट्टियों में दीदी के घर जाता रहता हूं एक दिन सुबह 9 बजे जीजा ओर पापा काम पर चले गए फिर दीदी ने अपना 12 बजे काम ख़त्म किया फिर हम दोनों बाते करने लगे खाना खाया और हम दोनों लेट गए बच्चे भी सो गए थे 1 बजे बाते करने फिर शुरू किया 5 मिनट बाद दीदी के फोन पर मैसेज आया।

इसके लिखा था कि और तुम कैसे हो दीदी ने मुझे देखते ही फोन छुपा लिया मैने पूछा कि दीदी कोन है दीदी ने बोला कोई नहीं बस ऐसे ही फिर में आराम करने लगा तो दीदी उस मैसेज का रिप्लाई कर रही थी दीदी ने सोचा कि यह सो गया है दीदी बात करने लगी में दीदी का फोन देख रहा था दीदी ने लड़के से कहा कि में बहुत दिनों से तुम्हें याद कर रही हूं आज तो मेरा भाई भी आ गया है तो हम दोनों बात नहीं कर पाएंगे बाय बोल कर फोन में सेक्सी वीडियो देखने लगी में भी देख रहा था सेक्सी वीडियो देखते ही मेरा लन्ड लंबा और मोटा हो गया।

मेरी दीदी ने फोन बंद करके सोने जा रही थी तभी उसकी नज़र मेरे लन्ड पर पड़ी मेरा लंद देख कर रह गई फिर 20 मिनट बाद मैने उसकी चूचियों पर हाथ लगाया तो चूची मुलायम थी मुझे डर लगने लगा कि कहीं मुझे देख लिया जा तो मेरी खेर नहीं में भी सो गया 6 बजे सब उठे जीजा भी आ गए थे सबने मिलके चाय पी और बाते करी रात 9 बजे खाना खाया और सोने गया में ओर पापा बाहर वाले कमरे में सोते है दीदी ओर जीजा एक कमरे में रात के 12 बजे में पानी पीने बाहर आया तो देख कमरे कि लाइट तो बंद है तो आवाज अंदर से कैसे आ रही है मैने झककर देख तो जीजा दीदी को चोद रहे थे दीदी की छूट बड़ी ही मस्त थी जीजा का लन्ड मेरे इतना ही था 6 इंच का लौड़ा मेरे दीदी की छूट में जा रहा था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मेरी दीदी चिला रही थी आ..आ.. ऊफ उफ़ आई सौ आ आ आआ ओर डालो जीजा तेरी छूट में दर्द होता है लेकिन चुद्वना नहीं छोड़ती क्या बात है नाम पिंकी है अच्छे अच्छे मेरी चूट मर कर ढीले हो जाते है जीजा ने जोश में आकर दीदी को जोर जोर से चोदने लगे मेरा भी में करने लगा कि में भी जाके दीदी की चूट में लन्ड दू जीजा 5 मिनट बाद झर गए फिर दीदी के ऊपर से चूचे दबाने लगे थे दीदी उठ कर बाहर आने ही वाली थी तो में लेटिंग में जाकर झुप गया दीदी आई बर्तरूम में हाथ मुंह धोने लगी वैसे ही में लेटिग में सोचा कि यह सही वक्त्त है बाहर निकाल जाता हूं में लेतिंग में से निकला तो देखा दीदी एक दम सेक्सी लगी रही थी जैसे कि अभी चुदाने जा रही हो।

दीदी ने मुझे देखा तो आपने हाथ एक। चूची पर ओर एक chut पर रखा लिया ओर बोला की तुम इतनी रात को यह क्या कर रहे हो मैने बोला दीदी के लेटींग आया था मैने पूछा कि दीदी आप यहां क्या कर रही हो वो भी नंगी होकर दीदी ने बोला कुछ नहीं गर्मी ज्यादा हो रही थी तुम जाकर सो जाओ में कमरे में आकर गया फिर सुबह 7 बजे मैने चाय पी खाना बना ओर 9 बजे जीजा ओर पापा काम पर चले गए लेकिन मैने सोचा लिया था कि दीदी को आज में चोदूंगा फिर दीदी ने कहा नहा ले मैने नहा कर फ्री हो गया दीदी ने भी काम खत्म किया फिर वो भी नहाने गई तो मेभी दीदी को नहाते हुए देखा तो मेरा लंद फिर से खड़ा हो गया आगे की कहानी पार्ट 1 में ।।।

अगर आपको हमारी साइट पसंद आई तो अपने मित्रो के साथ भी साझा करें, और पढ़ते रहे प्रीमियम कहानियाँ सिर्फ HotSexStory.xyz में।