गाँव की गोरियाँ देसी छोरियां-2

Gaon Ki goriyan Desi Chhoriyan-2

मैं- उन्हें तो अभी टाइम लगेगा, अभी तो वे कपड़े ही खोल रहे होंगे. तुम चाहो तो आज हम अपना खेल खेल सकते हैं.
सुजाता- लेकिन मुझे डर लग रहा है कि कोई आ ना जाए. मुझे कुछ न हो जाए.
मैं- डरो मत.. मैं आराम से करूँगा और कोई नहीं देखेगा.. आओ चलो मेरे साथ.

मैंने उसे अपने दोनों हाथों से अपनी बांहों में उठा लिया और उसी झाड़ी में ले चला.. जहां राहुल सीमा अपने सम्भोग में लीन हो रहे थे.

हम उनसे थोड़ी दूरी पर ही चुदाई का शुभ काम शुरू करने वाले थे. वहां से वो दोनों दिखाई दे रहे, लेकिन हम दोनों उन्हें नहीं दिखने वाले थे.
हालांकि वे देख भी लेते तो क्या कर लेते. हम सब काम एक ही तो कर रहे थे.

सुजाता थोड़ी सी घबराई हुई थी. मैं उसे बांहों में लेकर उसके मम्मों को सहलाने लगा. वैसे ही उसने मुझसे और चिपक कर कसकर पकड़ लिया.

अब तो मेरा लंड बाहर आने को उतावला हो गया था और मैंने उसे बाहर निकाल कर सुजाता के हाथ में थमा दिया. उसने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर महसूस किया और फिर उसे बड़े ध्यान से देखने लगी, वो कहने लगी- आज पहली बार किसी का हाथ में पकड़ा है.
मैंने उससे कहा- अब देख लिया हो, तो इसे प्यार भी करो न.

फिर उसने नीचे बैठ कर मेरे लंड को सहलाते हुए चूम लिया.

सुजाता ने लंड को हिलाते हुए पकड़ा और कहा- यह तो बहुत बड़ा है.. मेरे अन्दर कैसे जाएगा. मेरी चुत तो फट ही जाएगी.
मैं- मेरी जान चिंता मत करो.. मैं बड़े प्यार से और आराम से चोदूंगा.

मैंने कुछ देर तक सुजाता से अपना लंड चुसवाया. उसको भी लंड से खेलना अच्छा लग रहा था. कुछ देर बाद मैंने सुजाता की सलवार को घुटने तक करके घोड़ी बना दिया. अब मैं उसके पीछे खड़ा होकर अपने लंड को उसकी बुर पर रगड़ने लगा.

उसकी बुर अब पूरी तरह गीली हो चुकी थी.. एकदम चुदने के लिए तैयार थी.

मैंने पहले अपनी एक उंगली उसकी सील पैक बुर के अन्दर कर दी.. और अभी अन्दर बाहर करने ही वाला था कि उसके मुँह से ‘आह.. उह…’ की सिसकारियां आने लगीं. कुछ ही देर में चूत की गर्मी और अधिक भड़क उठी और उसकी बुर ने बहुत ज्यादा प्रीकम छोड़ कर चूत को चिकना और लिसलिसा कर दिया था.

अब वो चुदाई के लिए पूरी तरह तैयार थी. मैंने उंगली हटा कर अपने लंड को बुर की फांकों में फंसाया तो वो लंड की गर्मी से समझ गई कि लंड बुर में जाने वाला है. उसने अपनी टांगें और अधिक फैला ली थीं. चूंकि उसको चुदास चढ़ चुकी थी और आने वाले पल का जरा भी अहसास नहीं था. वो बस मस्त हुए जा रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  BHABHI Aor uss ki Sister Behani DIDI ko saari raat choda-4

मैंने हल्का सा दबाव बना कर लंड अन्दर धकेला, तो वो कराह उठी. मैंने उसे सहन करने को कहा और एक जोर का झटका लगा दिया. मेरा आधा लंड उसकी बुर में घुस चुका था.. उसकी आंखों से आंसू टपक पड़े और बुर से खून निकलने लगा था.
यह उसका पहला बार था. उसकी झिल्ली टूट चुकी थी. वो दबी आवाज में कराहते हुए कहे जा रही थी- आह.. बहुत दर्द हो रहा है.. बस्स करो.. मैं मर जाऊंगी. निकाल लो प्लीज़.

लेकिन मैं अब रुकने वाला नहीं था, मैंने पूरी ताकत से एक और झटका दिया और पूरा लंड बुर में समा गया. न चाहते हुए भी उसके मुँह से चीख निकल गई. जो उन दोनों ने सुन ली. राहुल और सीमा उधर सामने चुदाई के खेल में लगे थे. सुजाता की चीख से उन दोनों की कामक्रीड़ा में व्यवधान आया और वो दोनों हमारी ओर गौर और आश्चर्य से देखने लगे.

मैंने उनके देखने पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया. मैंने अपने लंड को सुजाता की चुत में अन्दर बाहर करना जारी रखा. अब तक दस बारह चोटें लग चुकी थीं जिससे सुजाता को भी दर्द कम हो गया और वो भी आगे पीछे करने लगी थी.

तभी राहुल और सीमा पास आकर खड़े हुए तो हम भी उन्हें देखकर रुक गए. हम दोनों भी चुदाई रोक कर उसी मुद्रा में खड़े हो गए थे.

राहुल ने कहा- रुक क्यों गए.. जारी रखो यार.. हम दोनों भी शुरू करते हैं.
वो दोनों ने भी हमारे पास ही कुत्ते कुतिया बन कर चुदाई करना शुरू कर दिया. इधर हम दोनों भी फिर से चालू हो गए.
हम दोनों जोड़े एक ही पोजीशन में चुदाई करने लगे थे.. खूब मजा आ रहा था.

यह एक अलग ही मज़ा था. चुदाई करते समय दूसरे को चुदाई करते देखना भी हम चारों को एक अलग सी उत्तेजना दे रहा था. मुझे सुजाता से दूध दबाते हुए चुदाई करने बड़ा मजा आ रहा था. मेरे जैसे राहुल भी सीमा की चूचियों को भींचता हुआ चुदाई कर रहा था.

इतनी अधिक उत्तेजना बढ़ गई थी कि राहुल अचानक झड़ गया और तभी मैं भी निकल गया.

हम चारों शिथिल हो गए थे. कुछ देर चूमा चाटी का दौर चला और हम चारों अपने कपड़े पहन कर जाने को तैयार हो गए.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

सीमा, राहुल, सुजाता और मैंने हम चारों ने खेत में संभोग किया था। फिर आज मैंने और राहुल ने प्लान बनाया कि हम सब एक साथ ग्रुप सेक्स करेंगे। इसके लिए हमने सीमा और सुजाता को भी बताया तो वो दोनों तो समझो कि इसी बात का इंतजार में थी। हम सबको उस दिन सेक्स में एक अलग मजा आया था तो उसे आज फिर दोहाराने का प्लान बना दिया। बस अब हम सबको उसके लिए एक सही दिन का इंतजार था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी की रंडी सहेली ने मेरे लंड के मजे लिए

वो दिन भी जल्दी आ गया। उस दिन गांव में मेला था और लोग उस मेले में व्यस्त थे, सारे अपना काम धाम छोड़कर गांव में मेले का आनंद ले रहे थे। यह दिन हमें सही लगा और हम चारों ने वही जगह चुनी जहाँ हमने पिछली बार सेक्स का मजा लिया था। आज कोई भी खेत में नहीं था.
तो मैं और राहुल खेत में गए और उसी जगह पहुँच गए जहां एक बार पहले ग्रुप सेक्स का खेल हो चुका था। आज कुछ नया करना था जो हमारे एकदम कुछ हट के था। सबको इसमें एक अलग अनुभव आना था, खूब मजा आने वाला था।

नियत स्थान पर पहुंचने के उपरांत सभी ने सारे कपड़े निकाल दिए. सीमा आज अपनी चूत शेव करके आई थी तो उसकी चूत एकदम चमचमा रही थी। सुजाता की चुत पर कुछ बाल थे। मेरे लंड के आसपास भी बहुत झांटें थी और राहुल ने भी कुछ दिन पहले ही शेव किया होगा, ऐसा लग रहा था।

हम सब खड़े खड़े एक दूसरे की चुत और लण्ड को देख रहे थे। अजीब लग रहा था.
फिर मैं सीमा को अपने पास खींचकर उसे किस करने लगा तो उसने भी मेरा लण्ड अपने हाथ में पकड़ लिया. हमारी इस हरकत को देखकर वो दोनों भी वासना के खेल में कूद गए।

सुजाता सीमा की ओर मुंह करके खड़ी हुई तो सीमा उसके मम्मों को सहलाने लगी, सुजाता भी उसकी चूचियों को अपनी उंगलियों से दबाने लगी। सुजाता के पीछे राहुल खड़ा होकर अपना लण्ड उसके कूल्हों पर रगड़ने लगा। और मैं सीमा की गांड पर हाथ फेरकर चांटें मारने लगा। क्या मजा था … क्या नशा था।

फिर मैं और राहुल दोनों खड़े हो गए और उन दोनों नंगी लड़कियों को अपने लण्ड चूसने के लिए कहा। लेकिन यहां पर पार्टनर बदल दिए, सुजाता मेरा लण्ड और सीमा राहुल का लण्ड घुटनों पर बैठकर चूसने लगी। हम उनके बालों को पकड़ सहलाने लगे थे।

कुछ देर बाद उन दोनों को खड़े होने को कहां, वे खडी हुई तो हम दोनों ने नीचे बैठ कर उन दोनों की चुत चाटनी शुरू कर दी। उधर ऊपर सीमा और सुजाता … वो दोनों भी एक दूसरी के मम्मों को चूसने लगी थी।
अब हमारी कामवासना की गाड़ी ने रफ्तार पकड़ ली थी।

मैंने सुजाता को झुकाया और उसकी चुत पर लण्ड रगड़ने लगा। सीमा ने भी राहुल के सामने घोड़ी बन कर अपनी चुत के उभार को राहुल के लण्ड को अंदर लेने के लिए आगे कर दिया। राहुल ने अपना लण्ड सीमा की चूत में घुसा दिया और हिलाने लगा। राहुल का लण्ड मेरे लण्ड से छोटा और पतला था। सीमा को थोड़ा भी दर्द नहीं हुआ और वो चुपचाप आराम से चुद रही थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बीवी को दोनों तरफ से चुदवाया-2

कुछ देर बाद अब हम दोनों ने एक साथ सिर्फ एक लड़की को चोदना था तो हमने पहले सीमा को चुना क्योंकि वो पहले कई बार चुद चुकी थी. इसमें मैं नीचे लेटा और सीमा अपनी चूत मेरे लण्ड पर रखते हुए लंड निगलती हुई बैठ गई और मेरी ऊपर झुक गयी. इससे उसकी गांड थोड़ी ऊपर की ओर उठ गयी।

अब राहुल ने अपने लण्ड पर थूक लगाकर सीमा की गांड में घुसाया। सीमा ने पहले भी कई बार गांड मरवा रखी थी तो उसे दर्द कम ही हुआ। सुजाता मेरे चेहरे पर अपनी चुत रख कर बैठ गई। मैं उसकी चुत को मेरी जीभ से चाटने लगा, उसमें उसे बहुत मजा आ रहा था।

यह खेल चलता रहा! कुछ समय बाद मैंने सीमा को नीचे लिटाया और उसके दोनों पैर अपने कन्धों पर लेकर मेरे लण्ड को चुत में घुसेड़ कर जोर जोर से धक्के मारने लगा। सीमा भी मुझे कसकर पकड़कर ऊपर की ओर अपने कूल्हे उठाकर साथ देने लगी।

उधर सुजाता भी राहुल के लण्ड पर बैठ कर उछल रही थी। कुछ देर बाद हमने पार्टनर चेंज किया और मैं सुजाता को झुकाकर मेरा लण्ड उसकी गांड में डालने लगा. सुजाता ने पहले कभी गांड नहीं मरवायी थी तो उसे काफी दर्द हुआ और वो बिदकने लगी. जैसे कैसे मैंने सुजाता की गांड का उद्घाटन कर ही दिया और झटके मारने लगा. सुजाता को काफी दर्द हो रहा था पर वो शान कर रही इथी.

उधर राहुल ने सीमा को घोड़ी बनाकर उसकी चुत में अपना लण्ड घुसेड़ दिया और धक्के मारने लगा। जैसे ही वो झड़ने वाला था तो उसने अपना लण्ड निकालकर सीमा के कूल्हों पर सारा वीर्य छोड़ दिया और निढाल होकर जमीन पर लेट गया।

मेरा अभी झड़ा नहीं था तो अभी भी मैं सुजाता की गांड को बुरी तरह से चोद रहा था, अब तो वो भी मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी। सीमा और राहुल अब हमारी ओर देख रहे थे। सीमा के चहरे से लग रहा था कि उसे भी इस प्रकार गांड मरवाने की चाह होगी।

मेरा लण्ड वीर्य छोड़ने वाला था तो मैंने अपना लण्ड निकाल कर सुजाता के कूल्हों पर छोड़ा तो उसकी धार सुजाता की पीठ तक गयी।

अब सब शांत हो गए थे और सब साफ करके कपड़े पहन कर अपने अपने घर लौट गए।

मेरी कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल अवश्य करें!
मैं जरूर आपके लिए और कहानी लिखूंगा।
आपका रेक्स

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!