गर्लफ्रेंड की रंडी माँ को खूब चोदा-3

Girlfriend ki randi maa ko khoob choda-3

Girlfriend mom sex, फिर मैंने कहा कि हाँ आंटी आपने बिल्कुल ठीक कहा, लेकिन आज तक मैंने कभी किसी के साथ चुदाई नहीं की है, इसलिए मुझे चुदाई करने का ऐसा कोई खास अनुभव नहीं है, लेकिन मेरे लंड में गरमी बहुत है वो जरुर में आज आपकी चूत डाल दूंगा और आपकी चूत के साथ साथ अपने लंड को भी शांत करूंगा.

फिर वो बोली कि इस बात की तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो में तुम्हे वो सब कुछ सिखा दूँगी. मुझे उम्मीद है कि तुम आज पहली चुदाई में ही सब कुछ सीखकर अगली बार बिना बताए मुझे जरुर चोद सकते हो. फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है जैसी आपकी मर्जी, मुझे तो अपने लंड का जोश ठंडा करना है और उससे आपका भी फायदा होगा.

फिर उन्होंने मेरा लंड अपने मुहं में ले लिया और लंड को अपने मुहं के अंदर बाहर करने लगी. मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था इसलिए में अब आंटी के सर को पकड़कर अपने लंड पर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और यह देखकर आंटी बोली कि तुम मुझसे झूठ बोल रहे हो कि तुमने किसके साथ पहले कभी सेक्स नहीं किया. फिर मैंने कहा कि नहीं आंटी में सच कह रहा हूँ और यह सब तो मैंने इससे पहले ब्लूफ़िल्मो में देख था.

फिर वो बोली और क्या क्या देखा था बताओ? अब मैंने उनसे कहा कि में आपको बताऊँगा नहीं करके दिखा दूंगा. फिर वो बोली की हाँ ठीक है और वो दोबारा ज़ोर से मेरे लंड को अपने मुहं में अंदर बाहर करने लगी. फिर करीब दस मिनट तक वो लगातार मेरे लंड को अपने मुहं में लिए रही, क्योंकि मेरा यह अनुभव पहली बार था, इसलिए में उनके मुहं में ही हल्का हो गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्स कहानी- वो राधा थी-1

फिर आंटी बोली कोई बात नहीं, पहली बार में यह सब होता है और फिर उन्होंने अपनी जीभ से मेरे लंड को चाट चाटकर साफ कर दिया और वो मज़े लेकर लंड को चाटने लगी और मेरा लंड कुछ देर बाद धीरे धीरे एक बार फिर से खड़ा होने लगा. उन सब कामो में हमें समय का पता ही नहीं चला और देखते ही देखते पूजा के आने का भी समय हो गया, लेकिन आंटी अभी तक झड़ी नहीं थी और हम दोनों अपने आप में मस्त थे. हमें दुनिया की कोई चिंता नहीं थी.

अब में उषा आंटी की चूत को सहला रहा था और दूसरे हाथ से उनके बूब्स को दबा रहा था उसके बाद आंटी ने मुझसे कहा कि तुम अब मेरी चूत को चूसो और अब में उनकी चूत को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. उनकी चूत गीली हो चुकी थी और उसमें से कुछ पानी जैसे निकल रहा था में उसको चूसने लगा और वो ज़ोर ज़ोर से आआहह उफ्फ्फ्फ़ कर रही थी. हाँ ज़ोर से चूसो पी जाओ आज तुम इसका पूरा रस.

फिर कुछ देर बाद वो जोश में आकर मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी और में चूसता गया और अब वो मुझसे कह रही थी कि अब तुम मुझे चोदो अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है. फिर मैंने भी बिना समय खराब किए अपना लंड उनकी चूत के मुहं पर रखा और एक हल्का सा झटका मार दिया तो मेरा आधा से ज्यादा लंड उनकी चूत में बहुत आसानी से फिसलता हुआ अंदर चला गया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  बारिश का वो दिन: गर्ल फ्रेंड की चुदाई-1

फिर मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उनकी चूत में घुस गया और वो हल्की सी अवाज़ में चिल्लाने लगी आह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ हाँ और करो बहुत मज़ा आ रहा है मेरे राजा, मुझे ऐसे ही चोदते रहो उूउउहहहह आईईईई और में अपनी तरफ से ज़ोर ज़ोर से झटके देने लगा. फिर करीब 7 मिनट तक में लगातार धक्के देता रहा और उसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि अब तुम रुको. में तुम्हारे ऊपर आती हूँ.

फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है और फिर में उनके कहने पर नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गई और उन्होंने अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़कर अपनी चूत के मुहं से मिलाया और मेरे लंड पर अपनी चूत का दबाव बनाती चली गई, जिसकी वजह से मेरा पूरा लंड उनकी चूत में घुसता चला गया. अब वो ज़ोर ज़ोर से उचक उचककर मेरे लंड को अपनी चूत के अंदर बाहर लेने लगी और में उनकी गांड को पकड़कर उनको ऊपर नीचे कर रहा था.

फिर मैंने अपना हाथ उनके बूब्स पर रखा और उनको दबाने लगा. वो और ज़ोर ज़ोर से अवाज़ निकालने लगी उूुउउहह आह्ह्ह्हह्ह में मर गई और बोलने लगी कि आज बहुत दिनों के बाद मुझे ऐसा लंड मिला है. वो ज़ोर ज़ोर से झटके मारते हुए मुझसे कह रही थी आज बहुत मज़ा आ रहा है, तुम मुझे हर रोज आकर ऐसे ही चोदा करो, जिससे तुम्हे भी मेरे साथ मज़े करने का मौका मिलेगा और मुझे कहीं किसी और से अपनी प्यासी चूत को शांत करवाने बाहर नहीं जाना पड़ेगा, हम दोनों मिलकर यहीं पर ऐसे मज़े कर लिया करेंगे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  SANIYA Mirza (Tennis Payer) ki Chudai kari

फिर करीब 15 मिनट के बाद उषा आंटी मेरे ऊपर से हट गई और वो मुझसे कहने लगी कि आज बहुत मज़ा आया और तुम एक असली मर्द हो और तुम्हारे लंड में बहुत दम है, जिसने मेरी चूत को आज बिल्कुल शांत कर दिया है. तब मैंने उनसे कहा कि आपको तो मज़ा आ गया, लेकिन अभी मुझे मज़ा नहीं आया और यह कहते हुए में उनके ऊपर चड़ गया और उनकी चूत में अपना लंड डाल दिया. वो कहने लगी कि अब बस करो प्लीज और नहीं, में मर जाऊँगी.

तब मैंने अपने होंठो को उनके होंठो पर रख दिया और ज़ोर से उनके होंठो को चूसने लगा, जिसकी वजह से अब वो बिल्कुल भी आवाज़ नहीं कर पा रही थी और में ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा और उषा आंटी को ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. फिर करीब 15 मिनट बाद में भी हल्का हो गया और हल्का होकर उषा आंटी के पास में ही लेट गया. वो अपने हाथों से मेरे होंठो को छूते हुए बोली कि आज बहुत मज़ा आया तुम्हारा दिल जब चोदने का करे तो तुम मेरे पास आ जाया करो. दोस्तों आज भी में उनके घर जाता हूँ और उनको खूब चोदता हूँ.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!