काली साड़ी में मिली मस्त भाभी

Kali saree wali bhabhi ki chudai

हैल्लो दोस्तों, में आपको अपने बारे में बताता हूँ, मेरा नाम सतीश है और में राजकोट (गुजरात) से हूँ, सब कहते है कि में दिखने में सुंदर हूँ, मेरी उम्र 22 साल है और में बड़ा शर्मीला हूँ और मेरी बॉडी भी अच्छी है, क्योंकि में रोज एक्सरसाईज़ करता हूँ.

अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ, कुछ दिन पहले ही हमने हमारा मकान बनवाया था, जिसके साथ हमने ये कांट्रेक्ट किया था ये कहानी उसकी बीवी की है. अब हमने जिससे हमारा घर बनवाया था, उसके साथ हमारी अच्छी जम गयी थी. हमारे घर का काम 2 महीने तक चला था और तब तक हम दोनों के घर में अच्छे रिश्ते हो गये थे.

एक दिन ऐसा हुआ कि में घर पर था और उसे कुछ सामान लेने घर पर जाना था, लेकिन कोई सामान को पकड़ने वाला नहीं था तो उसने मुझे बुलाया और कहा कि तुम मेरे साथ चलोगे, वैसे मुझे भी कुछ काम तो था ही नहीं तो मैंने हाँ कह दिया. उसका घर हमारे घर से काफ़ी छोटा था और उसके दो बच्चे भी है, जब में उसके घर पहुंचा तो में बाहर ही खड़ा था, तब उसने मुझे अंदर बुलाया और जब में अंदर गया तो में देखता ही रह गया.

अब मेरे सामने मानों कि एक परी खड़ी हो, उसका नाम दिया था, उसकी उम्र 29 साल होगी और वो दिखने में बहुत मस्त लग रही थी ? अब में चौंक गया. उसने ब्लेक कलर की साड़ी पहनी थी और उसकी हाईट 5 फुट 6 इंच कि थी तो वो ऐसी लग रही थी कि जैसे कि काला सांप लिपटा हो. उसकी कमर इतनी पतली थी कि जी कर रहा था कि उसे अभी के अभी बाहों में ले लूँ. उसका फिगर 36-30-36 था और अब उसका फिगर मुझे पागल कर रहा था, मुझे लग रहा था कि में अभी उसकी साड़ी उतार कर उसके उसके पति के सामने ही चोद दूँ, लेकिन मैंने अपनी फीलिंग को कंट्रोल किया और रंग उसका इतना गोरा था कि अगर कोई टच कर ले तो लाल दाग लग जाए.

फिर उसने मुझे पानी दिया और अब में वहाँ बैठकर सोच रहा था कि उसका पति कितना लकी है कि उसको इतनी अच्छी बीवी मिली है. तभी उसके पति को एक कॉल आया तो उसने कहा कि में 15-20 मिनट में आता हूँ, तुम बैठो. फिर मैंने कहा ठीक है और वो चला गया. अब वहाँ में और उसकी पत्नी थे, वो काफ़ी फ्रेंक थी. फिर उसने मुझसे पूछा कि तुम क्या करते हो? और ऐसे ही हमारी बातें शुरू हो गयी. अब मुझे उसके चेहरे पर कुछ अजीब लग रहा था, लेकिन मैंने ध्यान नहीं दिया.

फिर मैंने कहा कि में सी.ए कर रहा हूँ और फाइनल में हूँ. अब जब हम बातें कर रहे थे, तब उसको एक कॉल आया तो उसने बात पूरी की और मुझसे कहा कि मेरे रिलेटिव में एक लड़की है, उसको भी सी.ए करना है अगर तुम उसको अपना नंबर दो तो वो तुमसे बात कर लेगी. फिर मैंने कहा कि ठीक है और मैंने उसको अपना नंबर दे दिया. अब उसने मेरे बारे में सब कुछ पूछ लिया था, शायद हमने आंधे घंटे तक बातें की और अब हम दोनों की अच्छी जम गयी थी. फिर थोड़ी देर में उसका पति भी आ गया और हम सामान लेकर चले गये.

फिर दूसरे दिन मुझे दिया का कॉल आया तो उसने मुझसे पूछा कि उस लड़की का कॉल आया था क्या? तो मैंने मना कर दिया और थोड़ी देर बात करके मैंने फोन रख दिया. अब जब में रात को फ्री था तब मैंने उसको मैसेज किया, तो उसका रिप्लाई आया कि अभी मेरा पति है अभी मैसेज मत करो.

फिर में समझ गया कि उसके दिमाग़ में कुछ और है और जब दूसरे दिन उसका पति हमारे घर आया, तो मैंने उसको मैसेज किया. तब उसका रिप्लाई आया और मैंने उसको पूछा कि कल क्यों मना किया था? क्या तुम्हारे पति को पसंद नहीं अगर तुम किसी और से बात करो.

फिर उसने बोला कि वो मुझ पर शक़ करता है और उसका किसी और के साथ अफेयर चल रहा है और वो मुझ पर कभी भी ध्यान ही नहीं देता है. ये सब सुनकर तो में सोच में पढ़ गया कि इतनी सुंदर बीवी को छोड़कर, वो बाहर जा रहा है, लेकिन लोग सच ही कहते है कि हमें दूसरो की चीज़ ही अच्छी लगती है. फिर क्या था? हमारी रोज बातें होने लगी और अब उसका पति हमारे घर आता और में उससे बात करने लग जाता. अब में कभी-कभी सेक्स की भी बातें कर लेता था.

फिर एक दिन उसने बोला कि शायद 3 साल से उसने सेक्स ही नहीं किया है. फिर मैंने उससे कहा कि अगर आपका पति आपके साथ सेक्स नहीं करता है तो आप क्या करेंगी? आप भी इंसान है आपको भी तो सेक्स चाहिए, अगर वो बाहर किसी और से सेक्स करता है तो आप क्यों नहीं कर सकती हो?

उसने बोला कि सही बात है और थोड़ी देर के बाद हमने फोन रख दिया. अब में उसे सेक्स के मैसेज करने लगा था और उसे भी अच्छा लग रहा था. फिर एक दिन जब उसका पति दोपहर को हमारे घर आया तो में उसके घर चला गया और उसके बच्चे दोपहर को स्कूल जाते है तो अब मेरा काम आसान हो गया. अब वो बेडरूम में थी, तो में सीधा चला गया और मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और गर्दन पर किस करने लगा.

फिर उसने मुझे धक्का मारकर बेड पर गिरा दिया और बाहर चली गयी, तो अब मुझे लगा कि शायद में उसे पसंद नहीं आया और में चला गया. अब में डर गया था कि अगर में उसको पसंद नहीं आया तो वो उसके पति को सब बता देगी. फिर मैंने घर जाते ही उसको मैसेज किया और सॉरी बोला.

फिर मैंने कहा कि मुझे नहीं पता था कि तुम्हें अच्छा नहीं लगेगा, प्लीज तुम अपने पति को कुछ नहीं बताना. फिर उसने मैसेज किया कि नहीं मुझे बुरा नहीं लग़ा. में तो डर गयी थी, क्योंकि मैंने पहले कभी भी दूसरे मर्द के साथ ऐसा नहीं किया है ना, इसलिए मुझे लगा कि कोई देख लेगा इसलिए मैंने मना किया. अब मेरी तो लॉटरी लग गयी थी तब मुझे कुछ शांति हुई और में फिर नॉर्मल हो गया और खुश भी इतना ही हुआ.

फिर दूसरे दिन में उसके घर गया, तब वो सोई हुई थी और में जाकर उसके बाजू में लेट गया और उसके गालों पर किस दिया. फिर वो जाग गयी और डर भी गयी तो वो कहने लगी कि तुम जाओ यहाँ से कोई देख लेगा तो बहुत बुरा होगा. तब मैंने कहा कि यहाँ कौन है? तुम्हारा पति मेरे घर पर है और बच्चे स्कूल गये हुए है तो अब में उसके पास गया तो पर्फ्यूम की क्या मस्त खुशबू आ रही थी? फिर मैंने दुबारा से उसके गालों पर किस किया तो वो अब भी यही कह रही थी कि तुम जाओ यहाँ से कोई आ जायेगा.

फिर मैंने कहा कि एक शर्त पर में जाता हूँ, तो उसने पूछा कि क्या? तो मैंने कहा कि होंठो पर किस करने दो तब में जाऊंगा. फिर उसने कहा कि ठीक है, लेकिन सिर्फ़ किस ही और उसके बाद तुम्हें जाना पड़ेगा. मैंने कहा कि ठीक है, फिर में उसके होंठो के पास गया और मैंने अपने होंठो को उसके होंठो पर रख दिया, तो क्या मज़ा आया था? उसके बिल्कुल गुलाबी होठ थे और इतने मुलायम थे कि क्या बताऊँ? अब 5 मिनट तक किस्सिंग के बाद उसे भी बड़ा मज़ा आने लगा और मैंने एक हाथ उसके बूब्स पर रखा और ऊपर से ही मसलने लगा, क्या मज़ा आ रहा था? कि क्या बताऊँ आपको यार?

फिर थोड़ी देर के बाद वो मुझसे दूर हुई और कहा कि अब तुम जाओ, अब और नहीं, लेकिन में नहीं गया और में फिर से उसके बूब्स को मसलने लगा. उसने कहा कि फिर कभी यार, अभी तुम जाओ, अगर वो घर आ गये तो बहुत बुरा होगा, अब मुझे मौका मिलेगा तो में आपको बुला लूंगी, लेकिन अभी तुम जाओ और फिर में चला गया. अब घर जाकर मैंने उसे मैसेज किया कि कैसा लगा?

उसने कहा कि सच बताऊँ तो बहुत अच्छा लगा, वो कभी ऐसा करते ही नहीं है, वो तो सिर्फ़ कपड़े उतारे और काम करके सो जाते है और में सारी रात तड़पती रहती हूँ. फिर मैंने कहा कि में हूँ ना, में तुम्हें सब मज़ा दूँगा और बस 15 दिन ऐसे ही निकल गये. फिर एक दिन उसका पति मेरे पास आया और मुझसे कहा कि में 5-6 दिन के लिए बाहर जा रहा हूँ तो काम बंद रहेगा. अब में तो मन ही मन में खुश हो रहा था और फिर मैंने उसको तुरंत ही कॉल किया और उसको बताया तो उसने कहा कि मुझे तो कुछ पता ही नहीं है.

फिर मैंने कहा अगर सच होगा तो में आऊंगा और सब करूँगा, तो उसने कहा कि अगर ऐसा होगा तो ठीक है में तुम्हें मना नहीं करूँगी, तुम आ जाना. फिर करीब रात को 11 बजे मुझे मैसेज आया कि हाँ ये बात सच है, वो जाने वाले है, वो आज रात को ही 11:30 बजे निकलने वाले है.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने कहा कि में 1 बजे आऊंगा तो उसने बोला ठीक है, लेकिन संभाल कर आना, कोई देख ना ले, तो मैंने कहा कि ठीक है. अब में रात को 11 बजे घर से निकल गया और घर पर कहा कि में कुछ दिनों के लिए मेरे दोस्त के मम्मी और पापा नहीं है तो में वहाँ पर ही सोऊंगा और में चला गया. अब में रात के 12:30 बजे तक बाहर घूमता रहा और फिर में उसके घर गया तो उसके घर का दरवाजा खुला था.

फिर जैसे ही में अंदर गया तो मैंने देखा कि अन्दर मोमबत्ती जली हुई थी और सारी लाईट ऑफ थी. उसने लाल कलर की साड़ी और ब्लेक कलर का ब्लाउज पहना हुआ था. अब मोमबत्ती की रोशनी में लाल साड़ी क्या लग रही थी यार क्या बताऊँ? अब तो में जाते ही उस पर टूट पड़ा.

अब मैंने जाते ही किसिंग करनी शुरू कर दी, कभी गालों पर, तो कभी गले पर, तो कभी पेट पर. अब बहुत मज़ा आ रहा था और वो तो आहें भर रही थी. अब 10 मिनट तक सिर्फ़ हमने किसिंग ही की. फिर मैंने बाद में उसकी साड़ी निकाली और उसने मेरा शर्ट निकाला, अब वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्लाउज और पेटीकोट में थी. अब उसने मुझे काटना शुरू कर दिया था अब मुझे दर्द हो रहा था और मज़ा भी आ रहा था. अब उसने मेरी पेंट उतारी और बाद में मेरी अंडरवेयर भी उतार दी. तब तक तो मेरा लंड खड़ा हो चुका था और वो देखती ही रह गयी.

फिर वो मेरा लंड चूसने लगी और अब वो मेरा लंड ऐसे चूस रही थी जैसे उसने कभी लंड देखा ही ना हो, वो कभी जीभ से चाट रही थी तो कभी लंड को चूस रही थी. अब मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.

फिर थोड़ी देर के बाद मेरा होने वाला था और मैंने उसे बोला, तो उसने कहा कि मुँह में नहीं गंदा लगता है, तो मैंने कहा कि ठीक है और बाहर निकाल दिया. अब मेरी बारी थी फिर मैंने उसका ब्लाउज निकाला तो उसने नीचे लाल कलर की ब्रा पहनी थी और नीचे भी लाल कलर पेंटी पहनी थी. अब में तो पागल हो रहा था आप ही सोचिए की उसका रंग इतना गोरा था और उस पर लाल कलर की ब्रा पहनी हुई थी, तो वो कैसी लगेगी?

बस फिर मैंने फिर से किसिंग शुरू कर दी और साथ में ब्रा और पेंटी भी निकाल दी. अब उसके 36D साईज के बूब्स मेरे सामने थे और उसके बड़े-बड़े बूब्स और उसमें उसका ब्राउन कलर का निप्पल क्या लग रहे थे? अब मेरे से रहा नहीं गया और मैंने सीधा उसके बूब्स पर काट लिया. तो उसके मुँह में से आहह निकल गया. फिर उसने कहा कि धीरे करो में पूरी रात यहीं पर ही हूँ.

फिर में धीरे-धीरे बूब्स सक करने लग गया, अब उसके निपल 1 इंच तक तन चुके थे और अब में उस निपल को चूस रहा था. फिर मैंने उसके पूरे बूब्स चूस-चूस कर लाल कर दिए. अब नीचे की बारी थी अब में पेट से होता हुआ नीचे गया और उसकी टाँगे फैलाई. उसका रंग इतना गोरा था कि उसमें से सिर्फ़ एक चीरा दिख रहा था.

फिर मैंने अपने हाथों से दोनों लिप्स को अलग किया तो उसमें एक छोटा सा छेद था बहुत छोटा सा, मुझे ऐसा लग रहा था कि वो पहले कभी चुदी ही नहीं थी. फिर जैसे ही में थोड़ा पास गया और चाटना शुरू किया तो वो झड़ गयी. अब में समझ चुका था कि उसके पति ने उसकी चूत को कभी नहीं चाटा है, अब मैंने लगातार चाटना शुरू किया और अब में कभी लिप को चाटता तो कभी उसकी चूत में उंगली करता और वो सिर्फ़, अहह अम्म्म्मम ओहह्ह्ह्ह अहहहहहहहहहहः ऐसा करती रहती. अब वो जोर से मेरा मुँह उसकी चूत में दबा रही थी और अब में समझ गया कि, वो फिर से झड़ने वाली है और थोड़ी देर में, वो झड़ गयी.

अब मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी टांगो को फैलाक़र जैसे ही में अपना लंड डालने गया, तो उसने कहा कि धीरे से करना प्लीज. फिर मैंने कहा कि ठीक है और में अपना लंड उसकी चूत के पास ले गया और थोड़ी देर तक चूत के ऊपर ही रगड़ा. फिर वो बोली अब डाल भी दो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है तो मैंने झट से अपने लंड को धक्का दिया और मेरा लंड अंदर चला गया. अब उसके मुँह से आआआहह की आवाज़ निकल गयी.

अब उसे दर्द भी बहुत हुआ और अब उसकी आँखों से आंसू आ गये थे. फिर मैंने कहा कि तुम्हें बहुत दर्द हो रहा है तो में बाहर निकाल देता हूँ, फिर उसने कहा कि नहीं इतने सालों से नहीं किया है ना इसलिए दर्द हो रहा है, तुम लगातार करो. अब में धीरे-धीरे अपने लंड को आगे पीछे करने लगा तो फिर थोड़ी देर में उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी अह अममममा और करो अहहहह ओोहोहोहोहहू मज़ा आआआ रहा है कहने लगी.

अब में कभी ऊपर तो कभी वो मेरे ऊपर थी. अब हमने अलग अलग पोजिशन में करीब 15 मिनट तक चुदाई की. अब बाद में में झड़ने वाला था और उसने कहा कि अंदर नहीं, कुछ हो जायेगा तो मैंने बाहर उसके ऊपर मेरा सारा पानी निकाल दिया. अब में उसके बाजू में सो गया. फिर उसने मुझसे कहा कि मुझे आज बहुत मज़ा आया मेरे पति ने कभी भी ऐसा कुछ किया ही नहीं है वो सिर्फ़ मेरे ऊपर चढ़ जाते है और अपना माल निकाल कर सो जाते है. आज जो तुमने किया है, वो मुझे बहुत अच्छा लगा है. फिर थोड़ी देर के बाद दुबारा उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया. अब वो मेरा लंड चूस ही रही थी कि मेरी माँ ने मुझको जगा दिया और में जाग गया और देखा तो ये एक सपना था.