कामवाली को पटाकर खूब चोदा-1

Kamwali ko patakar choda-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम कपिल है और मेरी उम्र 26 साल है, में गुजरात का रहने वाला हूँ और मेरी लम्बाई 5.11 और मेरा वजन 68 किलो अच्छा दिखता सुंदर शरीर और मेरे लंड का आकार 6.5 है, में वैसे भावनगर का रहने वाला हूँ, लेकिन में पहले अपनी पढ़ाई और अब अपनी नौकरी भी में अहमदाबाद से कर रहा हूँ और इसलिए में एक फ्लेट किराए लेकर पर अपने मकान मालिक के साथ रहता हूँ.

दोस्तों मेरा अपने ऑफिस जाने का समय रात का होता है तो इसलिए में पूरे दिन अपने फ्लेट पर बिल्कुल अकेला रहता हूँ और वैसे तो में सब लड़को में बहुत शरमीले स्वभाव का हूँ, लेकिन मेरी भी कुछ ख्वाहिशे इच्छाए होती है, वैसे में जब अपने रूम पर होता हूँ तो में अधिकतर समय सिर्फ़ छोटे कपड़े ही पहनता हूँ, इसलिए उन कपड़ो से मेरी छाती पूरी खुली रहती है और उसमें से मेरे बदन का आकार साफ साफ दिखते है.

अब में अपनी तारीफ को यहीं पर रोककर सीधे अपनी आज की कहानी पर आता हूँ, जिसमें मैंने मेरे घर पर घर का काम करने आने वाली एक लड़की को चोदा और उसके सेक्सी बदन के बहुत मज़े लिए. दोस्तों वैसे तो में पिछले कुछ सालों से सेक्सी कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ, लेकिन मुझे लिखने का इतना कोई अनुभव नहीं है, इसलिए में आप सभी लोगों से आग्रह करना चाहता हूँ कि आप लोग मेरी गलतियों को माफ़ जरुर करे.

दोस्तों हमारी रसोई में काम करने के लिए एक सेक्सी आंटी हर दिन आती है और वो कुछ देर रुककर रसोई में खाना बनाकर साफ सफाई करके तुरंत चली जाती है, क्योंकि वो बहुत थक जाती है और वो सीधी अपने घर पर जाती है.

दोस्तों में अपने काम पर से आकर सीधा सो जाता हूँ और फिर वो हर दोपहर को करीब ही 2.30 बजे बर्तन साफ करने आती है, क्योंकि 2.30 बजे मेरे रूम पर कोई भी नहीं होता है, इसलिए में तब तक सोया रहता हूँ और में हमेशा अपने फ्लेट का दरवाजा खुला ही रख देता हूँ ताकि वो आंटी सीधी आकर खाना बनाकर, बर्तन साफ करके चली जाए और में दोपहर को सोते वक्त सिर्फ़ अपनी अंडरवियर में ही होता हूँ और में कभी कभी तो पूरा नंगा ही सो जाता हूँ, लेकिन जब आंटी आती है, तब में अपने बदन पर कंबल डाल लेता हूँ, क्योंकि उसके रसोई में जाकर बर्तन साफ करने के लिए रास्ता मेरे बेडरूम से ही गुजरता है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  नौकरानी के साथ उसकी माँ और भाभी को चोदा-2

एक दिन रसोई में खाना बनाते समय आंटी ने मुझसे कहा कि अब बर्तन साफ करने के लिए उसकी एक लड़की है और जिसका नाम निकिता है, वो आएगी क्या आपको इससे कोई दिक्कत तो नहीं है? तो मैंने उनसे कहा कि मुझे इसमें कोई भी आपत्ति नहीं है, आपका काम है आप कैसे भी करो चाहो आप करो या किसी से करवाओ, मेरा तो काम हो रहा है और वो कुछ देर बाद मुझसे बात करके अपने काम में लग गई.

फिर कुछ देर बाद अपना काम खत्म करके वो चली गई. फिर दूसरे दिन दोपहर को जब में सो रहा था, तभी किसी ने दरवाजे पर लगी घंटी बजाई तो में उठकर शॉर्ट पहनकर दरवाजा खोलने चला गया, जो पहले से ही खुला पड़ा था और फिर मैंने देखा कि सामने एक लड़की खड़ी हुई थी और में उसको देखकर बहुत चकित हो गया, क्योंकि इतने अच्छे आकार का फिगर मैंने बहुत कम देखा था, उसके बहुत बड़े आकार के बूब्स थे, दिखने में वो एकदम सेक्सी पटाका लग रही थी और उसने जीन्स टी-शर्ट पहनी हुई थी जिससे उसकी भरी हुई जांघे और उभरी हुई गांड दिखाई दे रही थी.

फिर मुझे थोड़ी सी शरम भी आई, क्योंकि में उस समय उसके सामने सिर्फ़ शॉर्ट ही पहने खड़ा था और वो भी बहुत ऊपर हो गयी थी, जिसकी वजह से मेरी अंडरवियर भी दिखाई दे रही थी, वो लड़की भी मेरी अंडरवियर को देखकर शरमा गई थी, लेकिन फिर उसने मुझसे कहा कि वो मेरे घर पर बर्तन साफ करने आई है और वो ही निकिता है, जिसके बारे में कल उसकी माँ ने मुझसे कहा था.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  नौकर से चुदी

दोस्तों मुझे तो पहले उसकी कही बात पर बिल्कुल भी यकीन ही नहीं हुआ कि वो मेरे घर पर काम करने आई है और में कुछ देर तक लगातार उसको खा जाने वाली नजर से घूर घूरकर देखता रहा और फिर मैंने उसे अंदर बुलाया और किचन के अंदर ले जाकर सब कुछ समझा दिया और अब मैंने उससे कहा कि हर रोज दरवाजा पहले से ही खुला होगा, तुम बिना घंटी बजाए अंदर आ जाना, वो मेरी सभी बातें समझ गई और फिर मैंने अपने शरीर पर कंबल डाल लिया और अब में लेटकर सोने की कोशिश करने लगा, लेकिन अब बहुत देर तक लेटे रहने के बाद भी मुझे नींद नहीं आ रही थी और वो मेरे दिमाग़ से निकल ही नहीं रही थी, मुझे अब बस बार बार उसे पकड़कर चोदने के ही ख्याल आ रहे थे.

दोस्तों अब में उसको कैसे भी अपनी बातों में फंसाकर अपनी तरफ करना चाहता था, लेकिन मुझे नहीं मालूम था कि वो मेरे बारे में क्या सोचती है, में डरता था कि कहीं वो अच्छी लड़की निकली तो? और उसकी इन कामों में अगर बिल्कुल भी रूचि नहीं हुई तो क्या होगा? और में किसी शरीफ लड़की के साथ जबरदस्ती करके उसको चोदना नहीं चाहता था.

एक दिन दोपहर को जब दरवाजा खुलने की आवाज़ आई तो मैंने अपना मोबाईल का वीडियो चालू कर दिया और फिर अपने फोन को मैंने पास में सेट कर दिया और उसके बाद मैंने अपने चेहरे पर कंबल को डाल लिया और मेरा एक पैर दिखाई दे, इसलिए मैंने कंबल को अपने एक पैर से हटा लिया और अब मेरी छाती और मुहं पूरा ढका हुआ था, लेकिन नीचे से में सिर्फ़ अंडरवियर में ही था और अब तक मेरा लंड भी खड़ा हो गया था और में अब पूरी तरह से सेट था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Kaamwali aur kaamsutra

अब मुझे कुछ देर बाद किचन से बर्तन उठाने की आवाज़ आई और फिर मेरे रूम का दरवाजा भी खुला, लेकिन मुझे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था, में बस आवाजे सुन सकता था.

फिर मैंने उसे गेलरी में जाते हुए सुना कुछ देर बाद वो अपना सभी काम पूरा करके चली गयी और फिर मैंने तुरंत उठकर अपने मोबाईल पर वो वीडियो देखा कि उसका मुझे देखकर कैसी प्रतिक्रिया होती है और मैंने देखा कि वो जब मेरी रूम में आई, तब वो मुझे देखती है और शरमा जाती है और वापस चली जाती है, लेकिन मेरे मुहं पर कंबल होने की वजह से वो भी मुझे बिल्कुल बेफिक्र होकर देखती है, उसके गेलरी में जाकर मुझे ऐसी हालत में देखती और कुछ देर खड़ी मुस्कुराती रहती है और उसके बाद वो चली गई. दोस्तों मुझे उसकी यह सभी हरकते देखकर अब मुझ में भी बहुत हिम्मत आ जाती है कि वो भी कोई शरीफ नहीं है और शायद वो भी मुझसे चुदवाना चाहती है.

फिर दूसरे दिन मैंने जानबूझ कर बर्तन साफ करने का साबुन कहीं छुपा दिया और फिर में वैसा ही सो गया जैसे मैंने पिछले दिन किया था. फिर जब वो आई तो तब तक मैंने अपने मोबाईल का वीडियो चालू कर दिया था. फिर से मैंने उसके अंदर आने की आवाज़ सुनी और वो गेलरी में चली गई.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!