किराएदार भाभी को चोदकर बर्थडे सेलिब्रेट किया–1

Kirayedar Bhabhi ko chodkar birthday celebrate kiya-1

सभी पाठको को मेरा प्रणाम। मैं रोहित एक बार फिर से हाज़िर हूं चूत चुदाई के सफर में। मैं 26 साल का लौजवान लौंडा हूं।मेरा लन्ड 7 इंच का है जो किसी भी भाभी,चाची, आंटी और कुंवारी चूत की गहराई में उतर कर उसकी बखिया उधेड़ सकता है।
मुझे विशेष तौर पर पकी पकाई चूत बहुत ज्यादा पसंद है लेकिन मौका मिलने पर कच्ची कलियो को भी मेरे लन्ड का सफर करा देता हूं।
मेरी ये कहानी मेरे स्कूल टाइम के बाद की है।इस टाइम मेरे बोर्ड एग्जाम खत्म हो चुके थे। मैं अभी भी चाचा के घर पर ही रुका हुआ था।क्योंकि मेरा गांव तो फिर था इसलिए मुझे मेरे चाचा चाची के पास ही रहकर पढ़ाई करनी पड़ रही थी।मेरी पिछली कहानियों में आपने पढ़ा कि किस तरह से मैंने मेरी वंदना चाची को चोदा था।

घर पर फ्री होने के कारण मै चाची को जब चाहे तब चोद लेता था क्योंकि चाची भी बच्चो और चाचा के मार्केट जाने के बाद फ्री रहती थी।इसलिए चाची को चोदने में मुझे कोई दिक्कत नहीं होती थी।चाची ऊपर वाले फ्लोर पर रहती थी और नीचे तीन चार किरायेदार रहते थे।
उस टाइम मै चाची को चोद चोदकर बोर हो चुका था। अब मेरे लंड को किसी नई चूत की तलाश थी।तभी एक दिन जब प्रमिला भाभी सीढ़ियों से ऊपर चढ रही थी तो मेरी नज़र उनकी मस्त गांड़ पर पड़ी।उनकी भारी भरकर गांड़ को देखकर मेरा लन्ड हिचकोले खाने लगा।तभी मेरे हाथ अचानक मेरे लन्ड पर पहुंच गए और मै लंड को मसलने लगा।तभी मैंने सोचा क्यों ना प्रमिला भाभी पर ही हाथ साफ किए जाए।

अब मैं धीरे धीरे हवस भारी नज़रों से प्रमिला भाभी को देखने लगा। अब मेरी नजर हमेशा प्रमिला भाभी के जिस्म के ऊपर ही टिकी रहती थी।प्रमिला भाभी हमारी पुरानी किराएदार थी।वो काफी सालों से हमारे मकान में ही रह रही थी।उनके हसबैंड किसी कंपनी में काम करते थे।इसलिए दिन में वो बिल्कुल फ्री ही रहती थी।
प्रमिला भाभी लगभग 38 साल की अच्छी कासी दिखने वाली, भरी पूरी जिस्म की मालकिन है।उनका जिस्म पूरी तरह से गाजराया हुआ हुआ था।उनकी हाथो की गौरी चिकनी कलाइया ऊपर से लेकर हाथो तक बहुत ज्यादा शानदार थी।प्रमिला भाभी के बूब्स लगभग 36 साइज के है जिनका उभार उनकी साड़ी में से बहुत ज्यादा नजर आता है। अब मैं प्रमिला भाभी के इन बड़े बड़े बूब्स को चूसने के लिए तड़प उठा था।

प्रमिला भाभी खुद को बहुत अच्छी तरीके से रखती थी। यहां तक कि मुझे कभी उनके बूब्स की दरारों को देखने का भी मौका नहीं मिला।बस पीछे से कभी कभी उनकी गौरी चिकनी पीठ ज़रूर दिख जाती थी।उनको देखकर लगता था कि उन्होंने कभी दूसरे लंड को चूत नहीं दी होगी।
प्रमिला भाभी की कमर लगभग 32 साइज की और उनकी मस्त शानदार गांड़ लगभग 34 साइज की होगी।जब वो चलती है तो उनकी गांड ज्यादा नहीं मटकती है।वो हमेशा ही उनके बड़े बड़े बूब्स को अच्छी तरह से छुपाकर रखती थी।मैंने कभी बार उनके बूब्स देखने की कोशिश की लेकिन मेरे हाथ कुछ भी नहीं लगा।

प्रमिला भाभी इतनी ज्यादा शानदार माल है कि हर एक लंड उनको देखकर पिघल जाए। अब सोचो ज़रा इतनी मस्त माल जब मेरे सामने रहती हो तो मेरी क्या हालत होती होगी। अब मैं प्रमिला भाभी को चोदने की इच्छा में मेरे लन्ड को रोज ज़ोर ज़ोर से मसलता था। लेकिन फिलहाल प्रमिला भाभी को चोदने का कोई भी मौका हाथ नहीं लग रहा था।
अगर वो ठीफ चालू टाइप की होती तो मैं उनको जल्दी ही मेरे लन्ड के नीचे ले आता।लेकिन वो अलग ही टाइप की माल थी इसलिए उनको चोदना इतना भी आसान नहीं था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सीमा भाभी के साथ सोने का मौका-1

एक दिन जब मैं वंदना चाची को चोद रहा था तो प्रमिला भाभी को चोदने की इच्छा में मै फुल स्पीड वंदना चाची को चोदने लगा।खतरनाक चुदाई की वजह से वंदना चाची को बहुत ज्यादा दर्द हुआ।वो भयंकर दर्द से तड़प रही थी और मैं बिना रुके चाची की ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था।थोड़ी देर में ही मैंने चाची की हालत खराब कर दी थी। अब चुदाई खत्म होने के बाद चाची ने पूछा– आज तो कुछ ज्यादा ही जोश चढ़ा हुआ था तुझे।मेरी जान ही निकाल दी तूने तो।
मैं– हां चाची आज कुछ ज्यादा ही जोश था।
चाची– क्यो, ऐसा क्या हो गया? क्या किसी दूसरी को चोदने की इच्छा हो रही है?
मैं– हां ऐसा ही समझ लो चाची।
चाची– अच्छा तो ये बात है। सलोनी या शिखा को बुलाऊ क्या?
मैं– नहीं चाची।

चाची– तो फिर और क्या बात है?कौन है और?
अब मैंने सोचा चाची जो सोचेगी वो सोच लेगी लेकिन अब चाची को बता ही देता हूं।
मैं– चाची, वो मै प्रमिला भाभी को चोदना चाहता हूं।
मेरी बात सुनकर पहले तो चाची एकदम से चौंकी।
चाची– ओह! तो इतना जोश तुझे प्रमिला भाभी का चढ़ा हुआ था।
मैं– हां चाची।
चाची– हूं,वैसे वो माल तो अच्छी है।तुझे भरपूर मज़ा मिलेगा लेकिन वो तुझे चूत देगी नहीं।वो इस मामले में बहुत ज्यादा सख्त है।एक बार एक किरायेदार ने उनकी चूत लेने की कोशिश की थी तब उन्होंने उसको ज़ोरदार थप्पड़ मारा था।
मैं– अरे यार चाची प्लीज ऐसे डराओ मत ना।
चाची– मै डरा नहीं रही हूं।तुझे सच्चाई बता रही हूं।

मैं– अब वो सब छोड़िए और प्रमिला भाभी को आप चुदाने के लिए पटाओ।
चाची– मै कैसे पटाऊ? वो नहीं पटेगी।
मैं– चाची कोशिश करने से तो सब कुछ हो जाता है।और मै आपसे इसलिए कह रहा हूं क्योंकि वो आपकी बात बहुत ज्यादा मानती है और आप दोनों फ्रेंड की तरह रहती हो।
चाची– अच्छा।
मैं– हां चाची, दूसरी बात वो भी दिनभर रूम पर अकेली रहती है और रात को पता नहीं उनके हसबैंड उनको कितना चोद पाते होंगे।ये तो आप अच्छी तरह से जानती ही हो।
चाची– बात तो तेरी सही है।लंड की जरूरत तो उनको भी होगी ही।
मैं– हां चाची, अब आप ही प्रमिला भाभी को प्लान बनाकर पटाओ।
चाची– ठीक है मै कोशिश करती हूं।
तभी मैंने फिर से चाची की चूत में लंड फंसाया और उनकी दे दना दन चुदाई कर दी।आज मैंने चाची को फूल मूड में पेला था।

अब आगे की कहानी वंदना चाची की कलम से……… रोहित ने मुझे चोद चोदकर मेरी चूत का भोसड़ा बना दिया था।उसके लन्ड कभी कभी तो मेरी जान ही निकाल देता था।लेकिन ये भी सच है कि मुझे रोहित के लंड से चुदाने में बहुत ज्यादा मज़ा आता है। अब रोहित हमारी किरायेदार प्रमिला भाभी को चोदना चाहता था।
प्रमिला भाभी बहुत ही अच्छी इंसान है।जहां तक मुझे लगता है अभी तक उन्होंने अपने पति के अलावा किसी दूसरे लंड को चूत में नहीं लिया है।लेकिन अब मुझे उनकी चूत में रोहित का लंड डलवाना था।प्रमिला भाभी से मेरी अच्छी बात पटती थी।वो मेरी हर बात मानती थी।एक दिन जब हम दोनों मार्केट से वापस आ रहे थे तो सुनी सड़क देखकर मैंने हिम्मत करके प्रमिला भाभी से कहा– अगर आप बुरा नहीं मानो तो भाभी मै आपसे एक बात पूछूं?
प्रमिला– हैं पूछो ना।

मैं– इस उम्र में चूत में बहुत ज्यादा खुजली होती है।आप खुद को कैसे सम्हालती है?
मेरी बात सुनकर पहले तो प्रमिला भाभी चौंक गई।उन्होंने कुछ नहीं कहा।मैंने फिर से उनसे पूछा– बताओ ना भाभी।
प्रमिला– लेकिन तू क्यों जानना चाहती है?
मैं– अरे यार मेरी चूत में बहुत दिनों से खुजली हो रही है।मुझे चैन ही नहीं पड़ रहा है।बार बार चूत खुजानी पड़ती है।एक वो है उनको तो बस दुकान से ही फुर्सत नहीं है।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhabhi Ki Gaand Tel Lagake Chodi Maine

प्रमिला– हां वंदना यही हाल मेरा भी है।इस निगोडी चूत में बहुत ज्यादा खुजली चलती हैं। और वो तो बस 15–20 दिन में एक दो बार डालकर खुद तो शांत कर लेते हैं और मेरी तो हालात खराब होती रहती है।
मैं– फिर आप खुद को शांत कैसे करती है?
प्रमिला– अब क्या बताऊं यार?
मैं– बताओ ना भाभी।
प्रमिला–बस चूत में खीरा ककड़ी डालकर टाइम पास करना पड़ता है।

मैं– अच्छा।लेकिन भाभी खीरा ककड़ी डालने से शांति नहीं मिलती है।लंड का काम तो लंड ही करता है।
प्रमिला–बात तो तेरी सही है।लेकिन मै सिर्फ मेरी पति के अलावा किसी दूसरे का नहीं ले सकती हूं।
मैं– हां भाभी ये बड़ी परेशानी है।
प्रमिला– तू भी खीरा ककड़ी डालने की आदत डाल ले।थोड़ी तो शांति मिल ही जाएगी।
मैं– हां भाभी। मैं भी कोशिश करूंगी।

भाभी की बात सुनकर ये तो कन्फर्म हो गया कि प्रमिला भाभी को इस टाइम लंड की सख्त जरूरत है।बस अब इनको कैसे भी करके रोहित के लंड के नीचे लाना है।
मैं– भाभी आपने कभी पोर्न वीडियो देखा है?
प्रमिला– ये क्या होता है?
मैं– अरे वो मूवी जिसमे लड़का लड़की चुदाई करते हैं।
प्रमिला– कहां देखते हैं ऐसी मूवी।
मैं– अरे भाभी कल आप दिन में मेरे पास आना। मैं आपको अच्छी सेक्स मूवी मसाला दिखाऊंगी।
भाभी– ठीक है मै आ जाऊंगी।

अब घर पहुंचने के बाद रोहित भूखे शेर की तरह मेरे ऊपर टूट पड़ा और मेरे होंठो को चूसते हुए मेरे मस्त शानदार बूब्स को ज़ोर से रगड़ डाला।फिर उसने फटाफट मेरे ब्लाउज को खोलकर मेरे नंगे बदन को मसल डाला और फिर जल्दी जल्दी मेरे बूब्स को चूसने लगा। मैं प्यार से उसे मेरे बूब्स को चुसवा रही थी।फिर बूब्स को अच्छी तरह चूसने के बाद रोहित ने मुझसे पूछा– चाची, आपने प्रमिला भाभी से बात की क्या?
मैं– हां बात तो की है मैंने।
रोहित– अच्छा तो क्या कहा भाभी ने।बताओ ना।
मैं– अरे सब्र तो कर बता रही हूं ना।
रोहित– बताओ ना। अब सब्र नहीं हो रहा है।
रोहित जानने के लिए बहुत ज्यादा उतावला हो रहा था। फिर मैंने उसे बताया
मैं– उनसे बात करके ये पता लग गया कि उन्हें लंड की सख्त जरूरत है लेकिन फिर भी वो किसी दूसरे का लंड चूत में लेने के लिए तैयार नहीं है।
रोहित– ओह यार ये भाभी भी,बहुत ज्यादा नखरे दिखा रही है।सीधे सीधे क्यो नहीं बोल देती कि वो लंड लेने के लिए तैयार है।
मैं– अच्छा।तुझे क्या लगता है वो इतनी आसानी से मान जाएगी।

रोहित– तो कैसे भी करके जल्दी से मनाओ यार। यहां मेरे लन्ड को चैन नहीं पड़ रहा है।
मैं– बस थोड़ा सा इंतजार और कर ले।फिर तो प्रमिला भाभी की चूत तेरे लंड के नीचे आ ही जायेगी।
रोहित– जल्दी लाओ भाभी।
इतना कहकर रोहित ने जल्दी से मुझे बेड पर पटका और फिर तुरंत मेरी पैंटी निकाल कर मेरे मुंह पर मार दी। अब रोहित ने फटाफट मेरी टांगे मोड़ कर, लंड मेरी चूत में घुसा कर ताबड़तोड़ चुदाई कर डाली।कुछ ही पल में उसने मेरी चीखे निकाल दी।फिर मेरी चूत में लंड का गरम गरम पानी निकाल कर लंड को शांत किया लेकिन तब तक मेरी वो मेरी जान निकाल चुका था।
अब अगले दिन मैने रोहित को घर से बाहर भेज दिया ताकि प्रमिला भाभी को कोई शर्म नहीं आए। अब मैंने मौका देखकर प्रमिला भाभी को ऊपर के फ्लोर पर बुला लिया। मैं खुद प्रमिला भाभी को सेक्स वीडियो दिखाने के लिए बहुत ज्यादा उत्साहित थी। अब हम दोनों बेड पर अच्छी तरह से बैठ गए। अब मैंने फटाफट मोबाइल में सेक्स वीडियो चालू कर दिया।कुछ देर के फॉर प्ले के बाद वीडियो में धमाधाम चुदाई होना शुरू हो गई।प्रमिला भाभी चुपचाप सिमट कर वीडियो देख रही थी।वो अपनी जगह से हिल भी नहीं रही थी।वो खुद के होंठो को दांतों से काट रही थी। थोड़ी सी देर के बाद वो कांपने लगी। मैं समझ चुकी थी कि प्रमिला भाभी झड़ चुकी है।जब आधे घंटे बाद वीडियो खत्म हुआ तो वो बहुत ज्यादा गरम हो चुकी थी।फिर वो भागकर बाथरूम में घुस गई और चूत में उंगलियां करके खुद को शांत किया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभियाँ हो गई रखैल बीवियां-1

अब मैंने प्रमिला भाभी से दूसरा वीडियो देखने के लिए कहा तो उन्होंने कहा– नहीं अब और ज्यादा देखने की मेरी हिम्मत नहीं है।
मैं– अरे भाभी, देख लो।रोज रोज ऐसे वीडियो देखने का चांस नहीं मिलेगा।वो तो आज रोहित नहीं है इसलिए पूरा मौका मिल रहा है।
प्रमिला– अरे यार लेकिन अब मै नहीं देख पाऊंगी।
मैं– अरे भाभी,हिम्मत करो।आओ और मज़ा लेते हैं।
अब मैं प्रमिला भाभी का हाथ पकड़ कर वापस उन्हें बेडरूम में ले गई और फिर से उन्हें ज़ोरदार चुदाई वाला वीडियो दिखा दिया।
दूसरा वीडियो देखने के बाद तो भाभी की हालत बहुत ज्यादा पतली हो गई थी।फिर भाभी वीडियो देखकर वापस नीचे वाले फ्लोर में चली गई।
कुछ देर बाद रोहित वापस आ गया।
रोहित– आज का प्लान कितना सफल रहा चाची?
मैं– तू चिंता मत कर।एक दो दिन बाद तुझे पक्का प्रमिला भाभी की चूत मिलने वाली है।आज मैंने भाभी को बहुत ज्यादा गरम कर दिया था।वीडियो देखने के बाद तो उनकी हालत बहुत ज्यादा खराब हो चुकी थी।

रोहित– ओह चाची आपने तो कमाल कर दिया।
मैं– क्या करू तेरी इच्छा पूरी करने के लिए इतना सबकुछ करना पड़ रहा है।
रोहित– हां चाची,अब मैं भी क्या करू,ये लंड मान ही नहीं रहा है।
मैं– हां मेरी तेरी प्रोब्लम समझती हूं।
अब मैंने फिर दूसरे दिन प्रमिला भाभी को बुलाकर उन्हें सेक्स वीडियो दिखाया और आज फिर से उनकी चूत को पिघला डाला।फिर तीन चार दिन तक मैंने उनकी चूत को खूब जमकर पिघलाया। अब मैं चाहती थी कि खुद प्रमिला भाभी आगे होकर कहे कि उनको चूत में लंड लेना है। अब इसके लिए मुझे मास्टरस्ट्रोक खेलना था।

अब अगले दिन बिना बुलाए ही खुद प्रमिला भाभी मेरे पास आ गई। अब मैंने उनकी भावनाओ को समझते हुए सेक्स वीडियो चालू कर दिया।भाभी चुदासी होकर सेक्स वीडियो देख रही थी।उनका पूरा ध्यान चुदाई पर लगा हुआ था तभी मैंने भाभी से कहा– भाभी अगर आप किसी को कुछ नहीं बताओ तो मैं आपको आज एक स्पेशल चीज दिखाऊं?
प्रमिला– हां ,दिखाओ ना। मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगी।
मैं– पक्का ना?
भाभी– हां पक्का।
अब मैंने तुरंत मेरी और रोहित की चुदाई का वीडियो चाकू कर दिया।हम दोनों की चुदाई देखकर प्रमिला भाभी भौचक्की हो गई।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!